एक्सेस पॉइंट क्या है (एक्सेस पॉइंट और राऊटर में अंतर) Access Point in Hindi

Access Point Kya Hai In Hindi: अगर आप IT सेक्टर या टेक्नोलॉजी में रूचि रखते हैं तो आपने कभी ना कभी इंटरनेट के Access Point का नाम जरुर सुना होगा, पर क्या आप जानते हैं Access Point क्या है, एक्सेस पॉइंट काम कैसे करता है, एक्सेस पॉइंट का इस्तेमाल कहाँ किया जाता है, एक्सेस पॉइंट के फायदे व नुकसान क्या है तथा एक्सेस पॉइंट और राऊटर में क्या अंतर है.

यदि आपको एक्सेस पॉइंट के बारे में उपरोक्त सभी जानकारी नहीं है तो चिंता की कोई बात नहीं, क्योंकि एक्सेस पॉइंट को सीखने के लिए आप एकदम सही ब्लॉग पर हैं.

एक्सेस पॉइंट क्या है (एक्सेस पॉइंट और राऊटर में अंतर) Access Point in Hindi

आज के इस लेख के माध्यम से हम आपको एक्सेस पॉइंट क्या है के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करने वाले हैं, इसलिए एक्सेस पॉइंट को बारीकी से समझने के लिए इस लेख को अंत तक जरुर पढ़ें. तो चलिए आपका अधिक समय ना लेते हुए शुरू करते हैं इस लेख को एक्सेस पॉइंट क्या है हिंदी में.

एक्सेस पॉइंट क्या है (What is Access Point in Hindi)

एक्सेस पॉइंट या वायरलेस एक्सेस पॉइंट एक ऐसा नेटवर्किंग डिवाइस होता है जो किसी वायरलेस डिवाइस को वायर्ड नेटवर्क में कनेक्ट करता है. नेटवर्क के सभी कंप्यूटर तथा अन्य डिवाइस को आपस में जोड़ने के लिए केबल या तारों के स्थान पर एक्सेस पॉइंट का इस्तेमाल करना सहज और आसान होता है.

एक्सेस पॉइंट का इस्तेमाल LAN Connectivity में किया जाता है या कह सकते हैं Local Area Network बनाने में एक्सेस पॉइंट का इस्तेमाल किया जाता है. एक्सेस पॉइंट का इस्तेमाल बिज़नस, ऑफिस, कॉलेज या किसी बड़ी बिल्डिंग में किया जा सकता है.

एक्सेस पॉइंट को आप एक वायरलेस राऊटर की भांति समझ सकते हैं जिसमें राऊटर के सभी गुण होते हैं लेकिन इसकी रेंज राऊटर से अधिक होती है, और यह बड़ी मात्रा में नेटवर्क ट्रैफिक को भी कंट्रोल कर सकता है.

आसान शब्दों में समझे तो वायरलेस एक्सेस पॉइंट एक ऐसा सब डिवाइस है जो लोकल एरिया नेटवर्क में किसी दूर स्थित डिवाइस को जोड़ने में मदद करती है.

एक्सेस पॉइंट काम कैसे करता है (Access Point Work in Hindi)

एक एक्सेस पॉइंट ईथरनेट केबल के द्वारा वायर्ड राऊटर, स्विच या हब से जुडकर काम करता है. यह वायरलेस डिवाइस को लोकल एरिया नेटवर्क (LAN) और इन्टरनेट से कनेक्ट होने की अनुमति देता है.

एक्सेस पॉइंट की कार्यप्रणाली को एक आसान उदाहरण से माना आप एक बिल्डिंग में सबसे ऊपर के फ्लोर में रहते हैं, और बिल्डिंग में राऊटर लगा है. आप अपने डिवाइस को वाई-फाई से कनेक्ट करना तो चाहते हैं लेकिन राऊटर की सीमित रेंज के कारण आप वाई – फाई कनेक्ट करने में असमर्थ हैं.

यही पर आप एक्सेस पॉइंट का इस्तेमाल कर सकते हैं और एक ईथरनेट केबल के द्वारा राऊटर को कनेक्ट कर सकते हैं और वाई–फाई का लाभ उठा सकते हैं.  

एक्सेस पॉइंट कॉन्फ़िगरेशन के प्रकार (Access Point Configurations)

एक्सेस पॉइंट Flexible Device होता हैं इनको नेटवर्क में निम्नलिखित प्रकार से कॉन्फ़िगर किया जा सकता है.

1 – Root access point (रूट एक्सेस पॉइंट)

इस प्रकार के Configurations में एक एक्सेस पॉइंट वायर्ड LAN से जुड़ा रहता है और वायरलेस यूजर के लिए कनेक्शन पॉइंट प्रदान करता है. अगर एक से अधिक एक्सेस पॉइंट को इस Configurations के द्वारा जोड़ा जाता है तो एक यूजर बिना कनेक्शन खोये एक लोकेशन से दुसरे लोकेशन में जा सकता हैं.

2 – Repeater access point (रिपीटर एक्सेस पॉइंट)

एक रिपीटर किसी अन्य रिपीटर या एक्सेस पॉइंट, जो कि वायर्ड नेटवर्क के द्वारा जुड़े रहते हैं, को डेटा भेजकर वायरलेस यूजर और वायर्ड नेटवर्क के बीच ट्रैफिक को forward करता है.

3 – Bridge access point (ब्रिज एक्सेस पॉइंट)

एक्सेस पॉइंट को कई नेटवर्क में ज्वाइन करने के लिए root या non-root ब्रिज के रूप में कॉन्फ़िगर किया जा सकता है. इस Configurations में एक एक्सेस पॉइंट एक non-root ब्रिज के साथ वायरलेस लिंक establish करेगा. इसके बाद ट्रैफिक के वायरलेस लिंक के द्वारा वायर्ड नेटवर्क पर भेज दिया जाता है.

एक्सेस पॉइंट का इस्तेमाल कहाँ किया जाता है

एक्सेस पॉइंट का इस्तेमाल आमतौर पर बड़े संगठनों में, ऊँची इमारतों में या स्कूल, कॉलेजों में किया जाता है. एक्सेस पॉइंट के द्वारा लोकल एरिया नेटवर्क की रेंज बढ़ाई जा सकती है और नेटवर्क में अधिक डिवाइस को कनेक्ट किया जा सकता है.

एक एरिया के क्षेत्रफल के अनुसार एक से अधिक एक्सेस पॉइंट को इनस्टॉल किया जा सकता है. जब अधिक एक्सेस पॉइंट को लगाया जाता है तो उन्हें Server Room में नेटवर्क एडमिन के द्वारा मैनेज किया जाता है. एक से अधिक एक्सेस पॉइंट को इनस्टॉल किये जाने पर एक कंट्रोलर सॉफ्टवेयर या हार्डवेयर की मदद ली जाती है.

एक्सेस पॉइंट के फायदे (Advantage of Access Point in Hindi)

एक्सेस पॉइंट के अनेक सारे फायदे मिलते हैं इसलिए इसका इस्तेमाल व्यापक रूप से किया जाता है. एक्सेस पॉइंट के कुछ प्रमुख फायदे निम्नलिखित हैं –

  • एक साधारण वायरलेस राऊटर के द्वारा केवल 10 – 20 यूजर इन्टरनेट एक्सेस कर सकते है, जबकि एक्सेस पॉइंट के द्वारा 50 या इससे अधिक लोग इन्टरनेट एक्सेस कर सकते हैं.
  • एक बड़े क्षेत्र में वायरलेस कनेक्शन बनाने के लिए एक्सेस पॉइंट फायदेमंद डिवाइस है.
  • एक एक्सेस पॉइंट 100 से लेकर 300 मीटर तक की दूरी को कवर कर सकता है.
  • एक्सेस पॉइंट का नेटवर्किंग मोड Flexible है, आपके पास वायरलेस क्लाइंट, वायरलेस ब्रिज, मल्टी-पॉइंट ब्रिज, आदि एक्सेस पॉइंट चुनने के विकल्प मौजूद हैं.
  • एक्सेस पॉइंट बड़ी मात्रा में नेटवर्क ट्रैफिक को भी हैंडल कर सकता है.  

एक्सेस पॉइंट के नुकसान (Disadvantage of Access Point in Hindi)

एक्सेस पॉइंट के फायदों के साथ – साथ इसके कुछ नुकसान भी हैं. एक्सेस पॉइंट के कुछ नुकसान निम्नलिखित हैं –

  • वायरलेस एक्सेस पॉइंट को इनस्टॉल करना महंगा है.
  • आप वायरलेस एक्सेस पॉइंट का इस्तेमाल अकेले नहीं कर सकते हैं, इसके साथ आपको ईथरनेट, हब, कंट्रोलर जैसे उपकरणों की आवश्यकता होती है.
  • वायरलेस नेटवर्क, केबल नेटवर्क की तुलना में अधिक तेज और स्थिर नहीं होता है वायरलेस एक्सेस पॉइंट तभी अच्छा काम करता है जब केबल नेटवर्क बनाने में विफल हो.

Access Point और Router में अंतर

हालाँकि एक्सेस पॉइंट और राऊटर के काम लगभग समान ही हैं लेकिन ये दोनों एक दुसरे से बहुत भिन्न हैं. एऔतेर और एक्सेस पॉइंट के बीच कुछ अंतर को हमने आपको नीचे टेबल के द्वारा बताया है.

Access Point Vs Router
एक्सेस पॉइंट बनाम राऊटर
Router (राऊटर)Access Point (एक्सेस पॉइंट)
एक राऊटर कई end user डिवाइस के लिए वायर्ड या वायरलेस कनेक्टिविटी की सुविधा प्रदान कर सकते हैं.एक एक्सेस पॉइंट मुख्य रूप से वायरलेस डिवाइस जैसे कि स्मार्टफोन, लैपटॉप, टेबलेट आदि में कनेक्टिविटी की सुविधा देते हैं.
एक वायरलेस राऊटर एक्सेस पॉइंट की तरह काम कर सकता है.एक्सेस पॉइंट वायरलेस राऊटर की भांति काम नहीं कर सकते हैं.
वायरलेस राऊटर का उपयोग आमतौर पर छोटे संगठनों, घरों में किया जाता है.एक्सेस पॉइंट का इस्तेमाल बड़े बिज़नस, ऊँची इमारतों, बड़े स्कूल या कॉलेज आदि में किया जाता है.
राऊटर एक हब के रूप में कार्य करता है जो लोकल एरिया नेटवर्क स्थापित करता है और इसमें सभी उपकरणों और संचार का प्रबंधन करता है.एक्सेस पॉइंट लोकल एरिया नेटवर्क के अन्दर एक सब – डिवाइस है जो वायरलेस डिवाइस को कनेक्ट करने के लिए एक और लोकेशन प्रदान करता है, और नेटवर्क में अधिक डिवाइस को कनेक्ट करने में सक्षम बनाता है.
Difference Between Access Point and Router In Hindi

Access Point Company Name

आज के समय में एक्सेस पॉइंट के अनेक सारे ब्रांड मार्केट में available हैं जैसे कि –

  • Netgear
  • D – Link
  • Ruckus
  • Ubiquity

FAQ: Access Point in Hindi

एक्सेस पॉइंट क्या है समझाइये?

एक्सेस पॉइंट एक ऐसा डिवाइस होता है जो किसी वायरलेस डिवाइस को वायर्ड नेटवर्क में कनेक्ट होने की अनुमति देता है.

WAP का फुल फॉर्म क्या है?

WAP का फुल फॉर्म Wireless Access Point होता है.

एक्सेस पॉइंट का उपयोग कहाँ किया जाता है?

एक्सेस पॉइंट का उपयोग लोकल एरिया नेटवर्क में होता है, जैसे बिज़नस, कॉलेज, बिल्डिंग इत्यादि में.

एक नेटवर्क में कितने एक्सेस पॉइंट का इस्तेमाल किया जा सकता है?

एक नेटवर्क में आप नेटवर्क के क्षेत्रफल के अनुसार एक से अधिक एक्सेस पॉइंट का इस्तेमाल कर सकते हैं.

इन्हें भी पढ़े

निष्कर्ष: एक्सेस पॉइंट क्या है हिंदी में

कुल मिलाकर कहें तो एक्सेस पॉइंट एक ऐसा नेटवर्किंग डिवाइस होता है जो लोकल एरिया नेटवर्क में स्थित किसी दूर रखे उपकरण को नेटवर्क में जोड़ने में मदद करता है. एक बिज़नस, बड़ी बिल्डिंग, कॉलेज आदि स्थानों के लिए एक्सेस पॉइंट एक कारगर डिवाइस है.

तो यह थी एक्सेस पॉइंट के बारे में पूरी जानकारी, इस लेख में हमने आपको Access Point क्या है, एक्सेस पॉइंट काम कैसे करता है, एक्सेस पॉइंट के फायदे और नुकसान तथा एक्सेस पॉइंट और राऊटर के बीच अंतर बताया है.

हमें पूरी उम्मीद है कि इस लेख को पढने के बाद आप एक्सेस पॉइंट को अच्छे से समझ गए होंगे. लेकिन अगर अभी भी आपके मन में एक्सेस पॉइंट को लेकर कोई भी सवाल हैं तो अप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं. हम जल्दी ही आपके सवालों का जवाब देने की कोशिस करेंगे.

और अंत में आपसे निवेदन करेंगे कि इस लेख को सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करें, ताकि उन्हें भी एक्सेस पॉइंट के बारे में जानकारी मिल सके.

5/5 - (1 vote)

Techshole इंडिया की Best हिंदी ब्लॉग में से एक बनने की दिशा में अग्रसर है. यहाँ इस ब्लॉग पर हम Blogging, Computer, Tech, इंटरनेट और पैसे कमाए से सम्बन्धित लेख साझा करते है.

Leave a Comment