एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्या है इसके प्रकार और उदाहरण हिंदी में » TECHSHOLE

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्या है इसके प्रकार और उदाहरण हिंदी में

Application Software In Hindi: सभी लोग अपने मोबाइल, कंप्यूटर या टेबलेट में अनेक प्रकार के एप्लीकेशन का इस्तेमाल करते हैं, और इसमें सभी प्रकार के एप्लीकेशन का अलग – अलग काम होता है जैसे कोई मनोरंजन के लिए होते हैं, कोई गेमिंग के लिए तो कोई अन्य विशेष कामों के लिए.

लेकिन क्या आप जानते हैं कि आखिर ये Application Software क्या है, एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर कितने प्रकार के होते हैं, एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर का क्या काम है और एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर तथा सिस्टम सॉफ्टवेयर में क्या अंतर है.

अगर आपको एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के बारे में अधिक जानकारी नहीं हैं तो आज का यह लेख आपके लिए महत्वपूर्ण होगा, इस लेख के माध्यम से हम आपको एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं. तो बने रहिये लेख के अंत तक.

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्या है (Application Software in Hindi)

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर (Application Software) एक प्रकार के सॉफ्टवेयर होते हैं जिन्हें किसी विशेष कार्यों के लिए डिजाईन किया गया है. ये सॉफ्टवेयर यूजर के कार्यों को पूरा करने के लिए यूजर की मदद करते हैं. इन्हें End – user Program या केवल App भी कहा जाता है.

यूजर पहले सिस्टम सॉफ्टवेयर के साथ Interact करता है और फिर एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के साथ. एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को मैनेज करने का काम सिस्टम सॉफ्टवेयर का होता है.

यूजर एक विशेष उद्देश्य के लिए एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करते हैं. एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को या तो इनस्टॉल किया जाता है या फिर यूजर इन्हें ऑनलाइन Access कर सकते हैं. एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को जरुरत पड़ने पर इनस्टॉल किया जा सकता है और काम पूरा होने पर अनस्टाल भी किया जा सकता है. एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर User Friendly होते हैं.

कुछ एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल बिल्कुल फ्री में कर सकते हैं और कुछ का इस्तेमाल करने के पैसे देने पड़ते हैं. एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के कुछ उदाहरण हैं वर्ड प्रोसेसिंग सॉफ्टवेयर, स्प्रेडशीट सॉफ्टवेयर, प्रेजेंटेशन, ग्राफिक्स आदि हैं.

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर की परिभाषा (Definition of Application Software in Hindi)

एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर एक प्रकार का कंप्यूटर प्रोग्राम है जो एक विशेष प्रकार के कार्य करता है. प्रत्येक प्रोग्राम को एक विशेष प्रक्रिया के साथ यूजर की सहायता के लिए डिज़ाइन किया गया है, जो उत्पादकता, रचनात्मकता या संचार से संबंधित हो सकता है.

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के उदाहरण (Example of Application Software)

Application Software के कुछ उदाहरण निम्न प्रकार से हैं –

  • Microsoft Product (MS Word, Excel, Power Point, Access इत्यादि.)
  • Internet Browser (Chrome, Opera mini, Fire Fox, Safari इत्यादि.)
  • Word Processing Software (MS Word, Notepad, Wordpad इत्यादि.)
  • Multimedia Software (Media Player, Video Player इत्यादि.)
  • Database Software (MS Access, Oracle इत्यादि.)
  • Mobile Application (मोबाइल में इस्तेमाल होने वाले एप्प)

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के प्रकार (Types of Application Software in Hindi)

वैसे तो हम अनेक प्रकार के एप्लीकेशन का इस्तेमाल करते हैं पर सभी प्रकार के एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को 2 भागों में बांटा जाता है –

  • General Purpose Software (सामान्य उद्देशीय सॉफ्टवेयर)
  • Specific Purpose Software (विशेष उद्देशीय सॉफ्टवेयर)

चलिए अब इनके बारे में एक – एक कर विस्तार से जानते हैं –

#1 – General Purpose Software (सामान्य उद्देशीय सॉफ्टवेयर)

सामान्य उद्देशीय सॉफ्टवेयर ऐसे एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के समूह को कहा जाता है जिसका इस्तेमाल यूजर अपनी आवश्यकतानुसार सामान्य कार्यों को पूरा करने के लिए करता है. General Purpose Application Software का इस्तेमाल करना बहुत ही आसान होता है क्योकि इन्हें इस प्रकार से डिजाईन किया जाता है कि एक Normal User भी आसानी से इनका इस्तेमाल कर सके.

कुछ सामान्य उद्देशीय एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर निम्न प्रकार से हैं –

  • Word Processing Software – Word Processing Software का इस्तेमाल Text की Formatting के लिए किया जाता है.
  • Multimedia Software – Multimedia Software का इस्तेमाल वीडियो, ऑडियो और टेक्स्ट के संपादन में किया जाता है.
  • Graphic Application Software – Graphic Application Software का उपयोग ग्राफ़िक डिजाईन में किया जाता है.
  • Entertainment Software – इस प्रकार के सॉफ्टवेयर का उपयोग हम अपने दैनिक जीवन में मनोरंजन के लिए करते हैं.
  • Gaming Software – इस प्रकार के सॉफ्टवेयर की मदद से हम अपने कंप्यूटर या मोबाइल में अनेक प्रकार के गेम खेल सकते हैं.
  • Internet Browser – इस प्रकार के सॉफ्टवेयर की मदद से कोई भी यूजर Web Pages को Surf कर सकता है.

#2 – Specific Purpose Software (विशेष उद्देशीय सॉफ्टवेयर)

विशेष उद्देशीय सॉफ्टवेयर इस प्रकार के सॉफ्टवेयर के समूह को कहा जाता है जिनका किसी विशेष काम को पूरा करने के उद्देश्य से बनाया जाता है. इस प्रकार के सॉफ्टवेयर को लोगों के आवश्यक कार्यों को पूरा करने के लिए बनाया जाता है. Specific Purpose Software बनाने में खर्चा भी अधिक लगता है.

कुछ विशेष उद्देशीय सॉफ्टवेयर निम्न प्रकार से हैं –

  • Accounting Software – इस प्रकार के सॉफ्टवेयर की मदद से हम अपने बैंक खाते से लेन – देन कर सकते हैं.
  • Online Booking Software – इस प्रकार के सॉफ्टवेयर के माध्यम से आप ऑनलाइन होटल, रेल, बस, प्लेन आदि की टिकट बुक कर सकते हैं.
  • Database Software – डेटाबेस किसी भी एप्लिकेशन से संबंधित डेटा का एक संग्रह है. हर एप्लिकेशन में कुछ डेटाबेस होता है जहां यूजर के बारे में डेटा स्टोर होता है. इसके लिए डेटाबेस सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल किया जाता है.
  • Educational Software – इस प्रकार के सॉफ्टवेयर Student को Education से सम्बंधित Content प्रदान करवाते हैं.

 तो दोस्तों अब आप समझ गए होंगे कि General Purpose Software और Specific Purpose Software में क्या अंतर होता है. अब जानते हैं एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के क्या कार्य होते हैं.

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के कार्य (Function of Application Software in Hindi)

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के कुछ प्रमुख कार्य निम्न हैं –

  • Data के manipulating में
  • सूचना के प्रबंधन में
  • मनोरंजन में
  • विशेष कार्यों को पूरा करने के लिए

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के फायदे (Advantage of Application Software in Hindi)

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के निम्न फायदे हैं –

  • एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर की मदद से यूजर अपने विशेष कार्यों को पूरा कर सकता है.
  • आवश्यकता न होने पर यूजर एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को Uninstall भी कर सकता है.
  • एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर यूजर की सटीक आवश्यकताओं को पूरा करती है.
  • एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को नियमित रूप से अपडेट किया जाता है जिससे कि यूजर नवीनतम संस्करण का लाभ उठा सके.
  • अगर हमें Data में किसी प्रकार की हेर फेर करने की जरुरत होती है तो एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर की मदद लेनी पड़ती है.

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के नुकसान (Disadvantage of Application Software in Hindi)

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के कुछ नुकसान भी हैं –

  • सभी एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर फ्री में उपलब्ध नहीं होते हैं किसी सॉफ्टवेयर के लिए हमें Pay भी करना होता है.
  • एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर बनाने के लिए Programming की Knowledge होनी चाहिए.
  • सभी एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर सही नहीं होते हैं कुछ अप्प्लिकतिओन्न सॉफ्टवेयर Harmful होते हैं जो आपके डिवाइस को नुकसान पहुंचा सकते हैं.

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर और सिस्टम सॉफ्टवेयर में अंतर

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर और सिस्टम सॉफ्टवेयर के बीच अंतर को हमने एक सारणी के द्वारा आपको बताया है –

क्रम संख्यासिस्टम सॉफ्टवेयरएप्लीकेशन सॉफ्टवेयर
1सिस्टम सॉफ्टवेयर कंप्यूटर में तभी इनस्टॉल हो जाते हैं जब operating System को इनस्टॉल किया जाता है.एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को यूजर अपनी आवश्यकतानुसार इनस्टॉल करता है.
2सिस्टम सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल कंप्यूटर हार्डवेयर को संचालित करने के लिए होता है.एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल यूजर के किसी विशेष कार्य को पूरा करने के लिए होता है.
3सिस्टम सॉफ्टवेयर को स्वतंत्र रूप से Run कर सकते हैं.एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को चलाने के लिए सिस्टम सॉफ्टवेयर की आवश्यकता होती है.
4सिस्टम सॉफ्टवेयर के साथ यूजर Interact नहीं कर सकता है क्योकि वह Background में काम करते हैं.एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के साथ यूजर Interact कर सकता है.
5सिस्टम सॉफ्टवेयर कंप्यूटर को संचालित करने के लिए महत्वपूर्ण होते हैं.एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर यूजर के Task को पूरा करने के लिए महत्वपूर्ण होते हैं.
6सिस्टम सॉफ्टवेयर के उदाहरण – ऑपरेटिंग सिस्टम, यूटिलिटी सॉफ्टवेयर, ट्रांसलेटर आदि  हैं.एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के उदाहरण – MS Office, Internet Browser, Multimedia सॉफ्टवेयर आदि हैं.
एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर और सिस्टम सॉफ्टवेयर में अंतर

इन्हें भी पढ़े 

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर से सम्बंधित सामान्य प्रश्न

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्या होते हैं?

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर इस प्रकार के कंप्यूटर सॉफ्टवेयर होते हैं जो यूजर की आवश्यकतानुसार कंप्यूटर में विशेष कार्यों को करते हैं.

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को कितने भागों में बांटा जाता है?

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को दो भागों में बांटा जाता है – सामान्य उद्देशीय सॉफ्टवेयर, विशेष उद्देशीय सॉफ्टवेयर.

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को कैसे बनाते हैं?

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को डेवलपर बनाते हैं. कंप्यूटर Programming Language के द्वारा एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को बनाया जाता है.

हमने सीखा: Application Software क्या है हिंदी में

इस लेख को पूरा पढने के बाद आप लोगों ने सीख लिया होगा कि Application Software क्या है और यह कितने प्रकार के होते हैं. कुल मिलाकर कहें तो एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के बिना यूजर कंप्यूटर में अपने Task को पूरा नहीं कर सकता है. कंप्यूटर में किसी भी प्रकार के कार्य को करने के लिए एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर बहुत महत्वपूर्ण हैं.

दोस्तों इस लेख में इतना ही, उम्मीद करते हैं आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह लेख जरुर पसंद आया होगा इस लेख को अपने दोस्तों के साथ भी सोशल मीडिया पर भी जरुर शेयर करें.

Editorial Staff
Editorial Staff

Techshole इंडिया की Best हिंदी ब्लॉग में से एक बनने की दिशा में अग्रसर है. यहाँ इस ब्लॉग पर हम Blogging, Computer, Tech, इंटरनेट और पैसे कमाए से सम्बन्धित लेख साझा करते है.

Leave a Comment