बैंडविड्थ क्या है इसके प्रकार काम कैसे करता है (Bandwidth In Hindi)

Network Bandwidth Kya Hai In Hindi: आज के समय में इंटरनेट हमारे जीवन का एक बहुत बड़ा हिस्सा बन चुका है, जिस प्रकार से रोटी, कपडा, मकान हमारी बुनियादी जरूरतें हैं उसी प्रकार की जगह इंटरनेट ने हम इंसानों के जीवन में ले ली है. हम अपने छोटे से छोटे काम को करने के लिए इंटरनेट का सहारा लेते हैं, क्योंकि इंटरनेट पर हर प्रकार की जानकारी उपलब्ध है. चाहे आप मनोरंजन करना चाहते हैं, किसी भी विषय में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, या कुछ नयी चीजें सीखना चाहते हैं इंटरनेट पर सब कुछ मौजूद है.

इंटरनेट को चलाते समय हम एक शब्द को व्यापक रूप से सुनते हैं वह हैं Bandwidth (बैंडविड्थ). अधिकतर लोगों को बैंडविड्थ के विषय में जानकारी नहीं होती है. तो आज के इस लेख में हम यही जानेंगे कि Bandwidth क्या है, बैंडविड्थ काम कैसे करता है, बैंडविड्थ कितने प्रकार का होता है, बैंडविड्थ को कैसे मापा जाता है, बैंडविड्थ और इंटरनेट स्पीड में अंतर क्या है इत्यादि.

बैंडविड्थ क्या है इसके प्रकार और काम कैसे करता है (Network Bandwidth In Hindi)

अगर आप भी बैंडविड्थ के विषय में जानकारी प्राप्त करते स्वयं के इंटरनेट नॉलेज को बढ़ाना चाहते हैं तो इस लेख को पूरा अंत तक अवश्य पढ़ें.

तो चलिए आपका अधिक समय न लेते हुए शुरू करते हैं इस लेख को और जानते हैं बैंडविड्थ किसे कहते हैं हिंदी में विस्तार से.

बैंडविड्थ क्या है (What is Bandwidth in Hindi)

नेटवर्क में एक निश्चित समय में कितना डेटा एक स्थान से दुसरे स्थान में ट्रान्सफर किया गया है, इसे मापने की विधि को बैंडविड्थ कहते हैं. आमतौर पर Bandwidth को Bit Per Second में मापा जाता है. जैसे MBps, GBps. Bandwidth शब्द किसी नेटवर्क की संचरण क्षमता अर्थात Transmission Capacity को व्यक्त करता है.

सरल शब्दों में कहें तो नेटवर्क या इंटरनेट कनेक्शन में एक बिंदु से दुसरे बिंदु तक एक निश्चित समय में अधिकतम डेटा ट्रान्सफर की मात्रा को बैंडविड्थ कहा जाता है. बैंडविड्थ इंटरनेट कनेक्शन की Quality और Speed के लिए एक महत्वपूर्ण फैक्टर है.

Bandwidth Meaning in Hindi

बैंडविड्थ का मतलब (Meaning) होता है कि नेटवर्क में एक निश्चित समय में अधिकतम कितना डेटा ट्रान्सफर हो सकता है. Bandwidth दो शब्दों से मिलकर बना है Band + Width. जिसमें Band का मतलब तरंगों की पट्टी तथा Width का मतलब चौड़ाई से होता है.  

बैंडविड्थ को कैसे मापा जाता है (How to Measure Bandwidth in Hindi)

बैंडविड्थ को बिट रेट (Bit Rate) में व्यक्त किया जाता है, और इसे Bit Per Second में मापा जाता है. जैसे Kbps, Mbps, Gbps आदि. यहाँ Kbps का मतलब है Kilobit Per Second इसी प्रकार से Mbps का पूरा नाम Megabit Per Second तथा Gbps का पूरा नाम Gigabit Per Second है. ये सभी डेटा ट्रान्सफर की माप को बताते हैं.

अधिकतर इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर (ISP) बैंडविड्थ को up to कहकर भी बेचते हैं, जैसे कि up to 20 Mbps. इसका मतलब होता है कि आपको अधिकतर 20 Mbps की स्पीड मिल सकती है. लेकिन कनेक्शन का इस्तेमाल करते समय यह स्पीड रहे इसकी कोई गारंटी नहीं होती है. अलग – अलग समय और परिस्थितियों में स्पीड भी अलग – अलग हो सकती है.

यहाँ पर ध्यान देने वाली बात है कि हमने Mbps या Gbps कहा है न कि MBps और GBps. ये दोनों ही एक दुसरे से भिन्न होते हैं. आपको इनमें कोई Confusion ना हो इसलिए हमने दोनों के बीच अंतर को भी इस लेख में नीचे बताया है.

MBps और Mbps में अंतर

MBps और Mbps के बीच अंतर निम्नलिखित हैं. इसके बीच में जो अंतर हैं, वही अंतर KBps और Kbps तथा GBps और Gbps के बीच में भी हैं.

  • MBps का पूरा नाम Megabyte Per Second है. MBps एक बड़ी इकाई है Mbps की तुलना में. 1 MBps = 8 Mbps.
  • Mbps का पूरा नाम Megabit Per Second है. यह एक छोटी इकाई है.

बैंडविड्थ काम कैसे करता है (How Does Bandwidth Work in Hindi)

एक नेटवर्क कनेक्शन में जितनी अधिक बैंडविड्थ होगी वह उतना ही अधिक डेटा एक बार में भेज या प्राप्त कर सकता है. बैंडविड्थ की तुलना हम एक पाइप में बहने वाली पानी की मात्रा से कर सकते हैं. पाइप का व्यास जितना चौड़ा होगा एक बार में उतना ही अधिक पानी पाइप के द्वारा बह सकता है. बैंडविड्थ भी इसी सिद्धांत पर काम करता है.

बैंडविड्थ की क्षमता जितनी अधिक होगी प्रति सेकंड उतना ही अधिक डेटा इसके द्वारा ट्रान्सफर किया जा सकता है. हालांकि बैंडविड्थ बढ़ने पर नेटवर्क कनेक्शन की लागत बढ़ जाती है.

बैंडविड्थ के प्रकार (Types of Bandwidth in Hindi)

बैंडविड्थ कनेक्शन निम्नलिखित दो प्रकार के होते हैं –

  • Symmetrical Connection
  • Asymmetrical Connection

1 – Symmetrical Bandwidth क्या है

इस प्रकार के बैंडविड्थ कनेक्शन में दोनों दिशाओं डाउनलोड तथा अपलोड में डेटा की क्षमता समान होती है उसे सममित बैंडविड्थ (Symmetrical Bandwidth) कहते हैं.

2 – Asymmetrical Bandwidth क्या है

इस प्रकार के बैंडविड्थ में दोनों दिशाओं डाउनलोड और अपलोड में डेटा की क्षमता समान नहीं होती है, उसे असममित बैंडविड्थ (Asymmetrical Bandwidth) कहते हैं.Video By Quick Support

Bandwidth और Speed में अंतर (Bandwidth vs Speed in Hindi)

अधिकतर लोग बैंडविड्थ और इंटरनेट स्पीड को एक समान ही समझते हैं, लेकिन ये दोनों एक दुसरे से बहुत अलग हैं. इस दोनों के बीच के अंतर को एक पंक्ति में वर्णित किया जा सकता है.

आपके डिवाइस पर एक निश्चित समय में कितना डेटा डाउनलोड या अपलोड किया जाएगा इसकी माप बैंडविड्थ से की जाती है, तथा डिवाइस पर डेटा कितनी तेजी से डाउनलोड या अपलोड किया जाएगा इसका निर्धारण इंटरनेट स्पीड से किया जाता है.

बैंडविड्थ की उपयोगिता 

  • जितनी अधिक बैंडविड्थ होगी उतनी ही तेजी से डेटा ट्रान्सफर किया जाता है. यानि आप बड़ी से बड़ी फाइल को आसानी से डाउनलोड या अपलोड कर सकते हैं.
  • अच्छी बैंडविड्थ इंटरनेट यूजर के अनुभव को बेहतर बनाती है. ज्यादा बैंडविड्थ से यूजर बिना किसी Interruption के इंटरनेट इस्तेमाल कर सकता है.  

बैंडविड्थ इंटरनेट कनेक्टिविटी क्या है

इंटरनेट में किसी एक Specific Time में डेटा ट्रान्सफर करने की दर को बैंडविड्थ कनेक्टिविटी कहते हैं. कनेक्टिविटी का मतलब होता है कि इंटरनेट कनेक्शन का इस्तेमाल करके डिवाइस आपस में जुड़ते हैं.

बैंडविड्थ लिमिट क्या है

इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर के द्वारा प्रदान करवाई जाने वाली बैंडविड्थ की सीमा का पूर्ण इस्तेमाल करने पर बैंडविड्थ लिमिट शब्द का इस्तेमाल का इस्तेमाल किया जाता है. यानि जब आप ISP के द्वारा दी गयी बैंडविड्थ लिमिट को पार कर लेते हैं तो इसे ही बैंडविड्थ लिमिट कहते हैं.

एक अच्छा बैंडविड्थ क्या है (What is Good Bandwidth in Hindi)

यदि आप इंटरनेट कनेक्शन लेने के विषय में विचार कर रहें हैं या फिर आपके पास Already एक इंटरनेट कनेक्शन है तो आपके मन में यह सवाल भी आता होगा कि मेरे लिए एक अच्छी बैंडविड्थ क्या होगी. एक अच्छी बैंडविड्थ इस बात पर निर्भर करती है कि आप किस उद्देश्य से इंटरनेट का इस्तेमाल करना चाहते हैं.

अगर आप केवल ब्राउज़िंग, ऑनलाइन काम या YouTube पर विडियो देखने के लिए इंटरनेट कनेक्शन लगाना चाहते हैं तो 1 – 4  Mbps की बैंडविड्थ आपके लिए बेस्ट होगी.  हालांकि यह इंटरनेट यूजर पर भी निर्भर करता है. अगर आपके इंटरनेट यूजर 4 – 5 हैं तो  आपको Same काम के लिए 6 -10 Mbps बैंडविड्थ की आवश्यकता होगी. इसी प्रकार HD विडियो स्ट्रीमिंग करने के लिए आपको 6 – 10 Mbps बैंडविड्थ की आवश्यकता होगी.

कहने का मतलब है कि हम एक अच्छा बैंडविड्थ उसे कहेंगे जो बिना किसी Interruption के आपके इंटरनेट की आवश्यकताओं को पूरा करने में सक्षम है. इसलिए जब भी आप इंटरनेट कनेक्शन लेने जाते हैं तो पहले अपनी उद्देश्यों को निर्धारित कर लें कि आप क्यों इंटरनेट कनेक्शन लेना चाहते हैं और इस काम के लिए आपको कितनी बैंडविड्थ की आवश्कता होगी.

FAQ Section: Bandwidth meaning in Hindi

बैंडविड्थ क्या होती है?

किसी नेटवर्क में एक स्थान से दुसरे स्थान में एक विशिष्ट समय में अधिकतम डेटा ट्रान्सफर की दर को बैंडविड्थ कहा जाता है.

बैंडविड्थ को किसमें मापा जाता है?

बैंडविड्थ को bps (बिट पर सेकंड में) मापा जाता है.

इन्हें भी पढ़े

निष्कर्ष: बैंडविड्थ क्या है हिंदी में

उम्मीद करते हैं इस लेख में आपको Bandwidth क्या है, बैंडविड्थ काम कैसे करता है, बैंडविड्थ के प्रकार तथा उपयोग और बैंडविड्थ से जुडी सभी जानकारी मिल गयी होगी. हमारी हर लेख में कोशिस रहती है कि आपको आर्टिकल के माध्यम से दिए गए विषय में बारे में पूरी जानकारी प्रदान करवा सकें. यही कोशिस हमने इस लेख में भी की है.

अगर आपने लेख को अंत तक पढ़ा है और तब भी आपके मन में बैंडविड्थ से जुड़े कुछ प्रशन शेष रह गए हैं तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं. यदि इस लेख से आपको कुछ सीखने को मिला है तो लेख को सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करें. 

5/5 - (2 votes)

Techshole इंडिया की Best हिंदी ब्लॉग में से एक बनने की दिशा में अग्रसर है. यहाँ इस ब्लॉग पर हम Blogging, Computer, Tech, इंटरनेट और पैसे कमाए से सम्बन्धित लेख साझा करते है.

Leave a Comment