(Barcode) बारकोड क्या है पूरी जानकारी हिन्दी में (What is Barcode in Hindi)

Barcode Kya Hai In Hindi: Computer के युग में क्या आप जानते हैं Barcode Kya Hai, बारकोड को क्यों इस्तेमाल करते हैं, बारकोड कितने प्रकार का होता है, बारकोड के फायदे और नुकसान क्या हैं. और भारत का बारकोड क्या है.

जब भी आप दुकान से कोई भी सामान खरीते हैं जो Packed रहता है तो उसमें पीछे की तरफ कुछ काली और सफ़ेद खड़ी रेखाएं आपको देखने को मिलती होंगी. रेखाओं के इन समूह को बारकोड कहा जाता है तो विस्तार से जानते है What is Barcode in Hindi.

अगर आप ऊपर सवालों का जवाब नहीं जानते हैं तो इस लेख को अंत तक पूरा पढ़िए. इसमें आपको बारकोड से जुडी बहुत सारी महत्वपूर्ण जानकारी मिलेगी.

साथ में ही इस लेख में आप जान पाएंगे कि बारकोड को कैसे बनाते हैं, तो बने रहिये इस लेख के अंत तक और जानिए Barcode क्या है.

बारकोड क्या होता है (What is Barcode in Hindi)

बारकोड (Barcode) किसी प्रोडक्ट का आंकडा या सूचना बारे में जानकारी लिखने का एक तरीका है, बारकोड में किस भी प्रोडक्ट की पूरी जानकारी होती है जैसे कि मूल्य, प्रोडक्ट की मात्रा, उत्पाद किस देश में बना है, Manufacturing Date, Expiry Date आदि जानकारी बारकोड में होती है.

 बारकोड में बाइनरी भाषा में प्रोडक्ट के बारे में लिखा होता है. बारकोड को केवल मशीन से पढ़ा जाता है. बारकोड को पढने वाले उपकरण को बारकोड रीडर (Barcode  Reader) कहते हैं. जो कंप्यूटर का एक Input Device है.

बारकोड प्रोडक्ट के पीछे प्रिंट किया रहता है यह नंबर और लाइन के format में रहता है. बारकोड में खड़ी सफ़ेद और काली रेखाएं होती हैं. जिसमें Binary Language में प्रोडक्ट की जानकारी होती है.

बारकोड का इतिहास (History of Barcode in Hindi)

बारकोड का अविष्कार 1948 में Drexel University के दो छात्रों Norman J Woodland और Bernard Silver ने मिलकर किया था. इसका Design bullseye के सामान था.

1952 में Woodland और Silver को एक पेटेंट प्राप्त हुआ. जब एक दुकानदार को अपने इन्वेंटरी प्रबंध और ग्राहक Check out सिस्टम को Automatically बनाना था. इस तकनीकी को बहुत सारे लोगों ने पसंद किया और धीरे – धीरे बारकोड के ऊपर बहुत सारी कंपनी काम करने लगी.

1960 David Collins ने रेल गाड़ियों पर नजर रखने के लिए एक प्रणाली विकसित की जिसमें पहली बार बारकोड का इस्तेमाल किया गया था.

1974 में ओहियो के ट्रॉय मार्श के सुपर मार्किट में पहला UPC स्कैनर लगाया गया. 26 जून 1974 को दुनिया में पहला बारकोड स्कैन किया गया.

धीरे – धीरे Technology में बदलाव आने के कारण बारकोड में और भी अधिक Feature add किये गए. आधुनिक समय में 2D बारकोड भी उपलब्ध हैं जिसमें अधिक डेटा को स्टोर किया जा सकता है.

तो यह था बारकोड का इतिहास अब जानते हैं बारकोड कितने प्रकार के होते हैं.

बारकोड के प्रकार (Type of Barcode in Hindi)

अपनी संरचना के आधार पर बारकोड मुख्य रूप से 2 प्रकार के होते हैं –

#1 – Linear Barcode (रेखीय बारकोड)

Linear Barcode (रेखीय बारकोड) को 1D (1 Dimension)/एक विमीय बारकोड भी कहा जाता है. इस प्रकार के बारकोड में कुछ Space में काली और सफ़ेद खड़ी रेखाएं होती हैं. इनमें केवल Text Data ही स्टोर रहता है. पहले 1D बारकोड का ही इस्तेमाल किया जाता था.

Linear Barcode in Hindi 

रेखीय बारकोड का इस्तेमाल सामान्यतः डेली जरुरत की वस्तुओं में किया जाता है. जैसे कि साबुन, तेल, बिस्कुट, आदि में.

#2 – QR Code (Quick Response Code)

QR Code को 2D/द्विविमीय बारकोड भी कहते हैं. यह नयी तकनीकी के बारकोड हैं. इस प्रकार के बारकोड वर्गाकार आकृति के होते हैं. QR Code में 1D बारकोड की अपेक्षा अधिक जानकारी स्टोर की जा सकती है. आज के समय में QR Code जैसे बारकोड का बहुत अधिक इस्तेमाल किया जाने लगा है.

QR Code (Quick Response Code)

आपने कई सारे डिजिटल पेमेंट एप्लीकेशन में QR Code का इस्तेमाल देखा होगा. जैसे कि Paytm, Google Pay, PhonePe आदि.

बारकोड कैसे काम करता है (How Does Barcode Work in Hindi)

कंप्यूटर केवल मशीन की भाषा (0 और 1) को समझते हैं, बारकोड को 95 खानों में 0 और 1 के रूप में बांटा जाता है और इन 95 खानों को भी 15 अलग खानों में बांटा जाता है.इन  15 खानों में से 12 में बारकोड लिखा जाता है और 3 खानों में गार्ड्स होते हैं.

बारकोड बाएं से दायें की ओर पढ़ा जाता है. बायीं ओर में बारकोड के नंबर 0 से शुरू होकर 1 पर ख़त्म होते हैं जबकि दायीं ओर 1 से शुरू होकर 0 पर ख़त्म होते हैं.

बारकोड में जो Black और White Lining होती है उसी के Space के Combination के आधार पर ही Product की Information को Define किया जाता है.

जब बारकोड रीडर की सहायता से बारकोड को स्कैन किया जाता है तो बारकोड रीडर उसमें लिखी सारी information को डिकोड करके उसे हमारे द्वारा समझी जाने वाली भाषा में बदल देता है.

बारकोड में किसी Product की महत्वपूर्ण Information लिखी होती है जैसे कि Price, Product किस Country में बना है, प्रोडक्ट किस प्रकार का है आदि.

बारकोड कैसे बनाये (How to Create Barcode in Hindi)

अगर आप अपने बिजनस, दूकान, Wi-Fi या किसी भी अन्य चीज के बारकोड बनाना चाहते हैं तो आपको नीचे बताई गयी Simple process को फॉलो करना होगा जिससे आप आसानी से Barcode बना सकते हैं.

Step 1 – सबसे पहले बारकोड बनाने की ऑफिसियल वेबसाइट पर आ जाइये. आप इस लिंक कर क्लिक करके भी बारकोड की Official Website पर आ सकते हैं – https://barcode.tec-it.com/en

Step 2 – अब आपके सामने Image के अनुरूप Interface Open हो जायेगा.यहाँ पर Online Barcode Generator के नीचे आपको बहुत सारे बारकोड के option आ जायेंगे. जैसे कि Linear Codes, Postal Codes, 2D Codes, Banking and Payment. आप जिस भी प्रकार का बारकोड बनाना चाहते हैं उसे Select कर लें.

How to Create Barcode in Hindi

Step 3 – Barcode Type Select करने के बाद आपके सामने बहुत से Option आ जायेंगे. इनमें से आप जिस काम के लिए बारकोड बनाना चाहते हैं उसे Select कर लें.

Step 4 – अब आपका बारकोड बनकर तैयार हो चूका है, आप Download वाले option में जाकर अपना बारकोड डाउनलोड कर लें. 

इस आसन Process को Follow करने पर आप आसानी से बारकोड बना सकते हैं.

बारकोड इस्तेमाल क्यों करते हैं?

अगर आपको इस लेख What is Barcode In Hindi को पढ़ते समय यह ख्याल आ रहा है कि बारकोड का इस्तेमाल क्यों करते हैं, इसके स्थान पर सीधे अक्षरों में बारकोड के अन्दर लिखी जाने वाली information को क्यों नहीं लिखते हैं तो इसका जवाब जानें.

बारकोड के इस्तेमाल से प्रोडक्ट को Track किया जा सकता है, Product में Change हो रही Information के बारे में पता किया जा सकता है.

जैसे किसी प्रोडक्ट के price में बदलाव होते हैं तो इसे कंप्यूटर पर अपडेट किया जा सकता है. Stock में कौन से प्रोडक्ट की मात्रा कितनी है इन सब को बारकोड से ट्रैक किया जा सकता है.

बारकोड को मुख्य रूप से इसलिए इस्तेमाल करते हैं कि डेटा को स्टोर करने में होने वाली त्रुटियों को कम किया जा सके. और समय की बचत भी हो सके.

बारकोड के उपयोग (Uses of Barcode in Hindi)

आजकल बारकोड का इस्तेमाल बहुत सारी Industry में किया जाता है जैसे कि –

  • सभी प्रकार के Packed वस्तुओं में बारकोड का इस्तेमाल किया जाता है.
  • दवाइयों की पैकिंग पर बारकोड का इस्तेमाल किया जाता है.
  • पोस्ट ऑफिस में Speed Post को Track करने के लिए बैकोदे का इस्तेमाल किया जाता है.
  • डिजिटल पेमेंट करने के लिए QR Code का इस्तेमाल किया जाता है.
  • बैंकों में किसी Passbook की जानकारी को Track करने के लिए भी बारकोड का इस्तेमाल किया जाता है.
  • होटल, कॉलेज, हॉस्पिटल जहाँ पर Check in और Check out की वयस्था होती है वहां पर बारकोड का इस्तेमाल किया जाता है.
  • Wi–Fi में भी आप बारकोड का इस्तेमाल कर सकते हैं.
  • Coupons Code, Gift Card, Driving License  आदि में बारकोड का इस्तेमाल करते हैं.   

इन सब के आलावा और भी बहुत सारे Industry हैं जहाँ पर बारकोड का इस्तेमाल किया जाता है.

बारकोड के फायदे (Advantage of Barcode in Hindi)

बारकोड इस्तेमाल करने के बहुत सारे फायदे होते हैं जैसे कि –

  • बारकोड को जब बारकोड स्कैनर के द्वारा स्कैन किया जाता है तो कंप्यूटर इसकी गणना मिलीसेकंड में करता है जिससे समय की बचता होती है और काम भी जल्दी हो जाता है.
  • हाथ से डेटा कंप्यूटर में इनपुट करने में त्रुटियाँ हो सकती हैं लेकिन बारकोड में लिखे गए डेटा में त्रुटियाँ न के बराबर होती है.
  • बारकोड के द्वारा किसी प्रोडक्ट को Track कर सकते हैं, और उसके आधार पर Stock को मैनेज कर सकते हैं.
  • बारकोड डिज़ाइन और प्रिंट करने के लिए सस्ते होते है.
  • बारकोड की मदद से किसी भी आवश्यक डेटा को Store किया जा सकता है.

बारकोड के नुकसान (Disadvantage of Barcode in Hindi)

एक ओर जहाँ बारकोड के कई सारे फायदे हैं वहीँ दूसरी ओर इसके कुछ नुकसान भी हैं जैसे कि –

  • अगर बारकोड कट – फट जाये तो इन्हें read करने में Problem होती है.
  • बारकोड को पढने के लिए बारकोड रीडर की जरुरत होती है जो कि थोडा महंगा हो सकता है.
  • हैकर गलत बारकोड बनाकर आपसे स्कैन करवा सकते हैं जिससे आपको नुकसान पहुँच सकता है. इसलिए बारकोड स्कैन करने से पहले सही से जाँच कर लेनी चाहिए.

इन्हें भी पढ़े 

विभिन्न देशों के बारकोड

अलग – अलग देशों के बारकोड भी अलग होते हैं जैसे कि –

  • भारत – 890
  • अमेरिका और कनाडा – 00-13
  • चीन – 690-692
  • ऑस्ट्रेलिया – 93
  • फ़्रांस – 30-37
  • जर्मनी – 40-44
  • जापान – 45-49
  • रूस – 46
  • श्रीलंका – 479
  • यूनाइटेड  किंगडम – 50
  • सिंगापूर- 888
  • स्विट्जरलैंड – 76
  • ब्राजील  – 789
  • स्वीडन – 73
  • हांगकांग – 489

इन बारकोड के आधार पर आप यह पता कर सकते हैं प्रोडक्ट किस देश में बना है.

FAQ For Barcode in Hindi

बारकोड को पढ़ने वाले डिवाइस को क्या कहते हैं?

बारकोड को पढ़ने वाले डिवाइस को बारकोड रीडर कहते हैं.

बारकोड स्कैनर क्या है?

बारकोड स्कैनर एक ऐसी डिवाइस होती है जिसकी मदद से बारकोड को Read किया जा सकता है.

बारकोड का अविष्कार किसने किया?

बारकोड का अविष्कार 1948 में Norman J Woodland और Bernard Silver ने मिलकर किया था.

भारत का बारकोड क्या है?

भारत का बारकोड 890 है.

मोबाइल से बारकोड को कैसे स्कैन करें?

अगर आपके मोबाइल में बारकोड स्कैनर नहीं है तो आप Play Store एक एक एप्लीकेशन डाउनलोड कर सकते हैं जिसका नाम है बारकोड स्कैनर. इसको इनस्टॉल करने के बाद जब आप इसे open करेंगे तो आपके मोबाइल में बारकोड स्कैनर On हो जायेगा.

निष्कर्ष: बारकोड क्या है हिंदी में

तो यह है बारकोड की पूरी जानकारी, हमने कोशिस की है कि इस लेख बारकोड क्या है हिन्दी में आपको बारकोड से जुडी सारी जानकारी दे सकें. जिससे कि आपको इस लेख What is Barcode in Hindi को पढने के बाद किसी अन्य लेख में जाने की जरुरत न पड़े.

उम्मीद करते हैं आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह लेख Barcode Kya Hai In Hindi जरुर पसंद आया होगा. इस लेख को अपने दोस्तों के साथ शेयर भी करें और बारकोड बनाने में अगर आपको कोई Problem आ रही है तो कमेंट बॉक्स में बताएं.

Ranjeet Singh
Ranjeet Singh

नमस्कार ! मेरा नाम रणजीत सिंह है और मुझे इन्टरनेट पर लोगो की मदद करने में रूचि है. साथ ही Techshole.com का Fownder हु. इस Best Hindi Blog पर Blogging और Earn Money Online इत्यादि इन्टरनेट से जुडी जानकारी हिंदी में शेयर करता हु! हमारे ब्लॉग पर आने के लिए धन्यवाद.