Black Hat SEO क्या है – 10 Black Hat SEO Technique in Hindi

इस लेख में ब्लैक हैट एसीओ, वाइट हैट एसीओ और 10 + Black Hat SEO Technique in Hindi के बारें में विस्तार से बताने वाला हूँ. तो चलिए शुरू करते है – Black Hat SEO Hindi.

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम देवेन्द्र रावत है और मै एक Blogger हूँ. मेरी इस  Popular Hindi Blog  पर  पहली Guest Post है और मेरे ब्लॉग का नाम Hinditechdr.com है.

 Black Hat SEO Technique in Hindi : जब भी हम कोई Blog या Website बनाते हैं तो हमारा मकसद होता है कि हमारे Blog को अधिक से अधिक लोग पढ़ें या हमारे Website के बारे में अधिक लोग जानें.

अपने Blog को लाखों लोगों तक पहुचाने के लिए Search Engine एक बहुत बढ़िया माध्यम है. Search Engine से Traffic लाने के लिए हमें SEO ( Search Engine Optimize ) की जानकारी होना बहुत आवश्यक है. 

हर एक Successful Blogger कभी न कभी Black हट Seo जरुर करता है.

SEO करने के तीन तरीके होते हैं  –

  • White Hat SEO 
  • Black Hat SEO 
  • Gray Hat SEO 

What Is White Hat SEO In Hindi

White Hat SEO तकनीकी होती है जिसमें हम Search Engine की Guideline का पालन करते हुए अपने Blog या Website को Search Engine Result Pages पर रैंक करवाते हैं और Traffic लाते हैं.

What Is Black Hat SEO In Hindi

Black Hat SEO तकनीकी होती है जिसमें हम अपने Blog में Traffic लाने के लिए Search Engine की Guideline का पालन नहीं करते हैं. 

Gray Hat SEO In Hindi

Gray Hat SEO तकनीकी होती है जिसमें हम अपने 95 प्रतिशत White Hat SEO का इस्तेमाल करते हैं और 5 प्रतिशत Black Hat SEO इस्तेमाल करते हैं . 

इस लेख के माध्यम से मैं आपको Black Hat SEO in Hindi की पूरी जानकारी दूंगा .

Black Hat SEO in Hindi – Black Hat SEO Hindi

Black Hat SEO में हम Search Engine की नीतियों के विरुद्ध जाकर अपने Blog या Website को SERP पर रैंक करवाते हैं.

आसान भाषा में कहें तो अगर हम White Hat SEO को Over Optimize कर देते हैं तो वह Black Hat SEO तकनीकी के अन्दर आता है .

SEO करने की इस तकनीकी को Search Engine बिलकुल भी अनुमति नहीं देते हैं.

लेख में आगे बढ़ने से पहले Black Hat SEO के बारे यह में महत्वपूर्ण जानकारी जानना आवश्यक है – 

Black Hat SEO Disclaimer 

Black Hat SEO तकनीकी Search Engine के Guideline के विरुद्ध है . कोई भी Search Engine ( Google, Bing, yahoo ) किसी भी Website या Blog को Black Hat SEO करने की अनुमति नहीं देते हैं .

आप Black Hat SEO तकनीकी का प्रयोग बिलकुल भी न करें और अगर करना चाहे तो इसे अपने Risk पर कर सकते हैं. क्योकि Black Hat SEO में हम Search Engine के Algorithm से छेड़छाड़ करते हैं और अगर Search Engine को पता चले कि कोई उसके Algorithm के साथ छेड़छाड़ कर रहा है तो वह उस Website को Block कर देगा .

अगर Search Engine एक बार किसी Website को Block कर दें तो Website के URL को डालने के बाद भी Website Search Engine में नहीं दिखेगी. गूगल आपकी साईट को  Google Search Console में Index होने से रोक देगा.

हमारा यह Article लिखने का मकसद है कि आप तक Black Hat SEO के बारे में जानकारी पहुचाई जाए . इस Article को लिखने का कोई ऐसा उद्देश्य नहीं है कि हम आपको प्रेरित करें Black Hat SEO करने के लिए .

इन्हें भी पढ़े 

Black Hat SEO Unique Technique in Hindi 

अब जानते हैं Black Hat SEO की कौन सी तकनीकी हैं जिनका प्रयोग हमें नहीं करना चाहिए , वैसे अधिकतर नए Blogger भी जाने अनजाने में Black Hat SEO तकनीकी का प्रयोग करते हैं . जिन तकनीकी के बारे में इस लेख में बात करेंगे . अगर आप नए Blogger हैं तो इन सभी तकनीकी के बारे में जानना भी आवश्यक है.

#1 – Duplicate Content (प्रतिलिपि सामग्री बनाकर)

बहुत सारे Blogger अपने Blog के लिए खुद Content नहीं लिखते हैं वह दुसरे Website से Copy Paste करते हैं . इसी प्रकार के Content को Duplicate Content कहते हैं . 

अधिकतर नए Blogger इस गलती को करते हैं . अगर आप अपनी Website को Authority Website बनाना चाहते हैं तो बिलकुल भी Copy Paste करके Content नहीं लिखिये .

#2 – Spin Content (घुमावदार सामग्री का उपयोग करके)

बहुत सारे Blogger किसी Top Website ( जो SERP में पहले Page पर Rank कर रही हो ) का Content चुराकर उसे Article Spin Tool के द्वारा Rewrite करके अपनी Website में डाल देते हैं . जिससे उनकी Website भी रैंक करने लगती है. यह तकनीकी भी Black Hat SEO के अंतर्गत आती है .

#3 – Mirror Site (दर्पण साईट बनाकर)

Mirror Site किसी दुसरे Website की Copy होती है , इसकी मदद से Website को जल्दी google में Rank करवाया जा सकता है क्योकि इसमें जो Content होता है वह Duplicate होता है . अगर Search Engine को इस बारे में पता लगता है तो वह आपकी Mirror Site को Block कर देते हैं .

#4 – Keyword Stuffing (बार -बार सूचक शब्दों का प्रयोग)

जब हम अपने Keywords को Over Optimize कर लेते हैं तो इस तकनीकी को Keyword Stuffing कहते हैं . हमे बार – बार अपने एक ही Keyword का प्रयोग नहीं करना चाहिए .

हमें कोशिस करनी चाहिए कि पुरे Article में Maximum 0.5 बार ही अपने Focus Keyword का प्रयोग करना चाहिए और 0.5 प्रतिशत बार अपने Keyword से मिलते – जुलते Word या Synonyms का प्रयोग करना चाहिए .

अगर हम 1000 शब्दों का कोई Article लिखते हैं तो उसमे 5 बार ही अपने Main Keyword का प्रयोग करना चाहिए और 5 बार Synonyms Word का .

#5 – Hidden Text (छुपाकर पाठ को लिख करके)

जब हम अपने Content में किसी Text को Hide कर देते हैं तो उसे Hidden Text कहते हैं . बहुत सारे Blogger Keyword Stuffing की समस्या से बचने के लिए Hidden Text Technique का उपयोग करते हैं . 

इस Hidden Text में वे अपने Keyword का इस्तेमाल करते हैं , जो Keyword User को तो नजर नहीं आते हैं पर Search Engine Bots को दिखाई देते हैं . जिससे Website की रैंकिंग बढती है.

किसी Text को Hide करने के लिए Blogger Text के Color को background के Color के सामान कर देते हैं .

जिस प्रकार किसी Text को Hide किया जाता है उसी प्रकार किसी Link को भी Hide कर सकते हैं . जब हम अपने Content में किसी Link को Hide कर देते अहिं तो उसे Hidden Link कहा जाता है . Hidden Link का प्रयोग अधिकतर Hackers Link छुपाने के लिए करते हैं .

Search Engine में निरंतर बदलाव से अब Hidden Text और Hidden Link जैसे Technique काम नहीं करती है .

#7 – Clocking (क्लोक्किंग करके)

Clocking उस तकनीकी को कहते हैं जिसमे एक ही Webpage को User और Search Engine के Crawler को अलग अलग रूप से दिखाया जाता है. जिससे User का अनुभव ख़राब होता है.

अगर Search Engine को पता चलता है कि आपने Clocking का इस्तेमाल किया है तो वह आपकी Website को Penalize कर देगा.

अपने Blog या Website के लिए एकदम से बहुत सारे Link बनाने के लिए बहुत सारे Blogger Freelancer या Fiverr जैसे Website से Link खरीदते हैं. जो रातों रात आपके Website के Link को हजारों Website में बना देते हैं . 

उनमे से कुछ Link ऐसी Website पर भी बने होते हैं जो Spamy होती है . ऐसी Website पर Link बनाने से कुछ समय के लिए हमारी Website Rank तो करती है पर कुछ समय बाद Down हो जाती है . इसलिए Paid Link कभी भी नहीं खरीदें .

#9 – Spam Comment (स्पैम टिप्पणी करना)

अधिकतर Blogger Comment के द्वारा Backlink बनाते हैं. पर कई Blogger Comment में Spam Link बना देते हैं . वे बहुत सारे Blog में Comment करके बहुत सारे Link बना लेते हैं जो कि बिलकुल भी Relevant नहीं होती है.

अपने Blog को Spam Comment से बचने के लिए अब लगभग सभी Website के Owner Antispam Plugin का प्रयोग करते हैं . Google भी Comment Links को कोई Value नहीं देते हैं और Spam Comment को Ignore कर देते है. 

#10 – Paid Traffic (भुगतान करके ट्रैफिक लाना)

बहुत सारे Website के Owner दुसरे Website से Traffic खरीदते हैं , ऐसे में उनके Website में Traffic तो आ जाता है पर जो user आते हैं वह एक Page पर जाने के बाद ही Website से Exit कर लेते हैं जिससे उनकी Website का Bounce Rate बढ़ जाता है और Ranking गिरने लगती है.

Black Hat SEO Technique in Hindi -black hat SEO tips in hindi

इन्हें भी पढ़े 

Black Hat SEO Advantage – Black Hat SEO के फायदे 

  • Website जल्दी रैंक करती है .
  • Website में बहुत जल्दी High Traffic आता है .
  • Keyword को जल्दी Rank करवाने में मदद करता है . 
  • कम मेहनत में अच्छा Result मिलता है .
  • Short Time Period में आप अपने किसी Product को बेच सकते हो .

Black Hat SEO Disadvantage – Black Hat SEO के नुकसान 

  • Website Growth कम समय के लिए ही होगी . हालाँकि Black hat SEO में हमारी Website की Fast Growth होती है पर Search Engine में कोई Update आने के बाद हमारी Website की Ranking बहुत गिर जाती है . 
  • Search Engine के द्वारा Website को हमेशा के लिए block कर दिया जायेगा .
  • Black Hat SEO तकनीकी से आपकी Website को हमेशा खतरा बना रहता है .

ब्लैक हैट एसईओ से जुड़ें सवाल – जवाब 

क्या मै किसी अन्य वेबसाइट से कंटेंट को प्रतिलिपि कर सकता हूं?

जी नहीं करना चाहिए, यदि आप किसी अन्य वेबसाइट से कॉपी – पेस्ट करते है तो इससे आपको कुछ भी फायदा नहीं होने वाला है. इससे आपकी छवि गूगल पर स्पैमर की तरह हो जाएगी.

क्या ब्लैक हैट एसईओ करना ब्लॉग/वेबसाइट के लिए सही है?

जी नहीं, ब्लैक हैट एसईओ करने से आपके ब्लॉग पर गलत प्रभाव पड़ सकता है.
जिससे आपकी गूगल रैंकिंग प्रभावित हो सकती है.

घुमावदार सामग्री का उपयोग करना ब्लैक हैट एसईओ तकनीक ही है?

जी हाँ, बार – बार एक ही कंटेंट या पंक्तियों या Spin Content का उपयोग करना ब्लैक हैट एसईओ तकनीक होती है.

क्या बिना ब्लैक हैट एसईओ तकनीक के गूगल पर रैंक किया जा सकता है?

जी बिल्कुल, शानदार और यूजर फ्रेंडली कंटेंट के रेगुलर अपडेट से गूगल पर रैंक किया जा सकता है.

इस लेख में हमने क्या सीखा ?

इस लेख के माध्यम से हमने Black Hat SEO in Hindi के बारे में जाना और 10 Technique of  Black hat SEO in Hindi के बारे में भी चर्चा की . अगर एक Website को Long Terms तक चलाना कहते है तो इस तकनीकी का बिलकुल भी प्रयोग ना करना.

उम्मीद करता हूँ आपको ‘ब्लैक हैट seo हिंदी‘  लेख पसंद आया होगा , इसे अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करें ताकि वे Black Hat SEO का प्रयोग करने से बचें. 

Ranjeet Singh
Ranjeet Singh

नमस्कार ! मेरा नाम रणजीत सिंह है और मुझे इन्टरनेट पर लोगो की मदद करने में रूचि है. साथ ही Techshole.com का Fownder हु. इस Best Hindi Blog पर Blogging और Earn Money Online इत्यादि इन्टरनेट से जुडी जानकारी हिंदी में शेयर करता हु! हमारे ब्लॉग पर आने के लिए धन्यवाद.

9 thoughts on “Black Hat SEO क्या है – 10 Black Hat SEO Technique in Hindi”

  1. All posts are amazing. You have shared a very informative article, it will help me a lot, I do not expect that we believe you will keep similar posts in future. Thanks a lot for the useful post and keep it up. You can get information about any type of fasting festival, Katha, birth anniversary of great men and birthday, national and international day of politicians, actors, cricketers etc.

    प्रतिक्रिया

Leave a Comment