बोनस शेयर क्या है और इसके फायदें | Bonus Share Kya In Hindi

Bonus Share Kya Hai In Hindi – हेलो दोस्तों स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग Techshole के एक और नये लेख में. जैसा कि आप जानते हैं हम अपने ब्लॉग में आपके लिए शेयर मार्केट से जुड़े ढेर सारे आर्टिकल लेकर आते रहते हैं जिससे कि आपको शेयर मार्केट की अच्छी समझ हो सके. इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए आज हम बोनस शेयर पर चर्चा करेंगें.

शेयर मार्केट में अनेक सारे ऐसे टर्म होते हैं जिनके बारे में एक नए निवेशक को ठीक से पता नहीं होता है, बोनस शेयर भी इसी में से एक है. इस लेख में आपको जानने को मिलेगा कि बोनस शेयर क्या है, कंपनियां बोनस शेयर क्यों जारी करती है, निवेशकों को बोनस शेयर से क्या लाभ मिलता है, बोनस शेयर किसे मिल सकता है और बोनस शेयर की गणना कैसे की जाती है.

तो चलिए बिना किसी देरी के शुरू करते हैं आज का यह आर्टिकल – बोनस शेयर क्या है हिंदी में.

बोनस शेयर क्या है (What is Bonus Share in Hindi)

बोनस शेयर वे अतिरिक्त शेयर होते हैं जिसे कंपनी अपनी शेयर धारकों को बिल्कुल फ्री में देती है. जैसा कि इसके नाम से ही स्पष्ट हो रहा है कि ऐसे शेयर जिसे बोनस के रूप में दिया जा रहा है.

बोनस शेयर क्या है और इसके फायदें Bonus Share Kya In Hindi

जब कोई कंपनी बोनस शेयर देने की घोषणा करती है तो उसमें रिकॉर्ड तारीख तक जिस भी निवेशक के Demat अकाउंट में उस कंपनी के शेयर मौजूद होते हैं उन सभी शेयरधारकों को बोनस शेयर मिलता है. किस निवेशक को कितना बोनस शेयर मिलेगा इसकी गणना निवेशक के पास पहले से ही मौजूद कंपनी के शेयर के आधार पर की जाती है.

बोनस शेयर जारी करने से शेयर के दाम गिर जाते हैं और मार्केट में कंपनी के शेयरों की तरलता बढती है. बोनस शेयर देने की प्रोसेस को Capitalization of Profit कहा जाता है.

कंपनियां बोनस शेयर क्यों देती है?

यहाँ पर आपके मन में एक सवाल आ रहा होगा कि आखिर क्यों कंपनियां फ्री में शेयर बांटकर आपका नुकसान करती है. अगर आप ऐसा सोच रहे हैं कि बोनस शेयर वितरित करके कंपनियों को नुकसान होता है तो ऐसा नहीं है.

जब कोई कंपनी बोनस शेयर जारी करती है तो उसके शेयरों की संख्या तो बढ़ जाती है लेकिन शेयरों का मूल्य अधिक नहीं होता है. बोनस शेयर जारी करने से शेयरों के दाम घट जाते हैं. जब किसी कम्पनी के शेयर प्राइस घट जाते हैं तो निवेशक आसानी से उस कंपनी के शेयर खरीद सकते हैं.

इस प्रकार से बोनस शेयर जारी करके कंपनी के निवेशकों की संख्या बढ़ जाती है और मार्केट में उसके शेयर की डिमांड भी होती है. इसके अलावा बोनस शेयर निकालने से कंपनी पर निवेशकों का भरोसा बढ़ता है, जिससे निवेशक लंबे समय तक कंपनी के शेयरधारक बने रहते हैं.

बोनस शेयर जारी करने के लिए क्या शर्तें हैं?

बोनस शेयर को जारी करने की कुछ शर्तें निम्नलिखित हैं –

  • कंपनी के वार्षिक बैठक में बोनस शेयर इशू करने को मंजूरी मिलनी चाहिए.
  • बोनस शेयर जारी करने के लिए कंपनी के डायरेक्टर और शेयर धारकों के बीच सहमति होनी चाहिए.
  • SEBI के द्वारा दिए गए नियमों का पालन होना चाहिए.
  • स्टॉक एक्सचेंज को बोनस शेयर जारी करने के बारे में जानकारी होनी चाहिए.
  • अगर कंपनी ने लोन लिया है तो बोनस शेयर जारी करने के लिए उन वित्तीय संस्थाओं की अनुमति लेना भी जरुरी है जहाँ से लोन लिया गया है.
  • कंपनी को पर्याप्त मुनाफा होना चाहिए.

बोनस शेयर किसे मिल सकता है?

कंपनी के उन सारे शेयरधारकों को जो रिकॉर्ड की तारीख से पहले कंपनी के शेयर होल्डर हैं उन्हें बोनस शेयर मिलता है. किसी कंपनी द्वारा निर्धारित कट-ऑफ तारीख को रिकॉर्ड तारीख कहा जाता है. यह वह तारीख होती है जिस दिन कंपनी द्वारा बोनस देने की घोषणा की जाती है.

इस तारीख तक निवेशकों के Demat अकाउंट में कंपनी के शेयर होना जरुरी है. बोनस शेयर प्राप्त करने के लिए निवेशकों को इस रिकॉर्ड तारीख तक कंपनी के शेयरों के मालिक रहना आवश्यक है.

भारत में शेयरों की डिलीवरी के लिए T+2 रोलिंग सिस्टम को फॉलो किया जाता है, जैसे कि आप आजशेयर खरीदते हैं तो वह दो ट्रेडिंग दिनों में आपके Demat Account में दिखेंगें. इस स्थिति में जैसे किसी कंपनी की रिकॉर्ड तारीख आज है और आपने आज ही शेयर ख़रीदे तो आपको बोनस शेयर नहीं मिलेगा क्योंकि शेयर आपके Demat Account में 2 ट्रेडिंग दिनों में डिलीवर होंगें.

बोनस शेयर देने की गणना कैसे की जाती है?

बोनस शेयर शेयर धारकों के द्वारा होल्ड किया गए शेयर पर अतिरिक्त शेयर मिलता है. किस शेयर होल्डर को कितना बोनस शेयर मिलेगा यह एक अनुपात (Ratio) के आधार पर तय किया जाता है.

उदाहरण के लिए मान लीजिये आपके पास X कंपनी के 100 शेयर हैं, और कंपनी ने प्रति 4 शेयर के बदले में एक बोनस शेयर देने की घोषणा की है यानि कि एक अनुपात चार (1:4) में. इसका मतलब है कि आपको 25 बोनस शेयर मिलेंगें. अब आपके पास X कंपनी के शेयरों की कुल संख्या 125 हो जायेगी. अगर यह अनुपात 2:1 है तो, आपको 100 शेयरों पर 200 शेयर मिलेंगें. तब आपके पास कंपनी के कुल 300 शेयर हो जायेगें.

तो दोस्तों इस प्रकार से कंपनी गणना करती है कि किस शेयर धारक को कितने शेयर मिलेंगें.

शेयरधारक के लिए बोनस शेयर के फायदे

बोनस शेयर जारी करने से कंपनी के शेयरधारकों को भी अच्छा फायदा होता है. यहाँ हमने शेयरधारकों को बोनस शेयर से होने वाले कुछ फायदों के बारे में बताया है –

  • शेयरधारकों को फ्री में कंपनी के अतिरिक्त शेयर मिल जाते हैं.
  • जो निवेशक लंबे समय तक कंपनी के शेयरधारक बने रहना चाहते हैं उनके लिए बोनस शेयर फायदेमंद है.
  • अगर कंपनी भविष्य में Dividend देने की घोषणा करती है तो बोनस शेयर के कारण आपको अधिक फायदा होगा, क्योंकि Dividend प्रति शेयर के हिसाब से दिया जाता है.
  • शेयरधारकों को बोनस शेयर पर किसी प्रकार का टैक्स नहीं देना पड़ता है.

FAQs: Bonus Share Kya Hai In Hindi

बोनस शेयर का मतलब क्या होता है?

जब कंपनी फ्री में अपने शेयर धारकों को शेयर प्रदान करती है तो उसे बोनस शेयर कहते हैं.

बोनस शेयर में रिकॉर्ड तारीख क्या होती है?

रिकॉर्ड तारीख उस तारीख को कहा जाता है जब कंपनी बोनस शेयर देने की घोषणा करती है. इस तारीख तक जिस भी निवेशक के Demat अकाउंट में कंपनी के शेयर मौजूद होते हैं वही बोनस शेयर के लिए पात्र होते हैं.

क्या बोनस शेयर में टैक्स लगता है?

आयकर अधिनियम 1961 के अंतर्गत बोनस शेयर पर तत्कालीन वित्तीय वर्ष में कोई भी टैक्स नहीं देना पड़ता है, लेकिन आप जो भी प्रॉफिट उस बोनस शेयर पर कमायेंगें उस पर आपको टैक्स देना अनिवार्य है.

एक शेयरधारक को कितना बोनस शेयर मिलता है?

शेयरधारकों को बोनस शेयर उनके द्वारा पहले से ही होल्ड किये गए शेयरों की संख्या के आधार पर मिलता है. कंपनियां एक निश्चित अनुपात में बोनस शेयर प्रदान करती है.

इन्हें भी पढ़े

निष्कर्ष – बोनस शेयर क्या होता है हिंदी में

इस ब्लॉग पोस्ट के द्वारा हमने आपको Bonas Share क्या है और बोनस शेयर से जुडी हर एक महत्वपूर्ण जानकारी बहुत ही आसान शब्दों में समझाई है. बोनस शेयर का फायदा कंपनी और निवेशक दोनों को मिलता है, अगर आप लंबे समय तक किसी कंपनी के शेयर धारक बने रहना चाहते हैं तो बोनस शेयर आपके लिए बहुत फायदेमंद है.

हालाँकि जब आप शेयर बाजार में निवेश करते हैं तो आपके केवल इस बात को ध्यान में रखकर निवेश नहीं करना चाहिए कि कौन से कंपनी बोनस शेयर दे रही है. शेयर बाजार में निवेश करने से पहले आप अच्छी प्रकार से रिसर्च कर लीजिये.

तो दोस्तों इस लेख में इतना ही, उम्मीद करते हैं आपको यह ब्लॉग पोस्ट पसंद आया होगा. अगर अभी भी आपके मन में बोनस शेयर को लेकर कोई सवाल हैं तो हमें बेझिझक कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं. और यदि आपको लेख में दी गयी जानकारी अच्छी लगी तो इस जानकारी को सोशल मीडिया पर शेयर करके अन्य लोगों तक भी पहुंचायें.

नमस्कार ! मेरा नाम रणजीत सिंह है और इस Best Hindi Blog का संस्थापक हूँ. मुझे ब्लॉग्गिंग, एसईओ और डिजिटल मार्केटिंग जैसे विषयों पर गहरी नॉलेज है! ब्लॉग पर पैसा कमाने वाला एप्प, पैसे कैसे कमाए और पैसा कमाने वाला गेम से जुड़े लेख साझा करते है. हमारे ब्लॉग पर आने के लिए धन्यवाद.

2 thoughts on “बोनस शेयर क्या है और इसके फायदें | Bonus Share Kya In Hindi”

  1. Mere pass 1000rs ke share h 100rs rate h yani ki 10 share, company 1share par 1 bonus share de rahi h
    To mere pass 10 ke 20 share ho jayenge par kya mera 1000 bhi 2000 ho jayega???

    Reply
    • आपका एक शेयर दो हो जायेगा, मतलब उसी कीमत में दोगुने शेयर. जब कोई कंपनी शेयर बोनस में देती है तो आपका पैसा भी डबल हो जाता है. यदि कंपनी शेयर स्प्लिट करती है तो शेयर जरुर डबल होते है कीमत नहीं.

      Reply

Leave a Comment