डाटाबेस क्या है प्रकार और काम कैसे करता है (Database In Hindi)

Database Kya Hai In Hindi: आज के इस लेख के द्वारा हम आपको Database क्या है, डेटाबेस काम कैसे करता है, डेटाबेस के प्रकार, डेटाबेस की आवश्यकता, डेटाबेस के उपयोग, डेटाबेस के फायदे और नुकसानों के बारे में विस्तृत जानकारी देने वाले हैं.

डेटाबेस व्यापक रूप से इस्तेमाल किया जाने वाला एक टर्म है, जिसके बारे में आज के समय में हर किसी को जानकारी होना आवश्यक है. आप चाहें किसी भी क्षेत्र में चलें जाएँ डेटाबेस शब्द आमतौर पर आपको सुनने में आएगा. डेटाबेस की पूरी जानकारी लेने के लिए आपको लेख को अंत तक पढना होगा.

डाटाबेस क्या है इसके प्रकार और काम कैसे करता है (What Is Database In Hindi)(1)

तो चलिए आपका अधिक समय न लेते हर शुरू करते हैं आज का यह लेख और जानते हैं डेटाबेस क्या है हिंदी में विस्तार से.

डेटाबेस को समझने से पहले यह जान लेना भी आवश्यक है कि डेटा क्या होता है?

डेटा क्या है (What is Data in Hindi)

डेटा शब्द का इस्तेमाल किसी भी प्रकार के रिकॉर्ड को संदर्भित करने के लिए किया जाता है. जैसे आपके पास बहुत सारे लोगों का नाम, नंबर, उम्र, लम्बाई आदि की जानकारी है तो यह भी एक डेटा होता है, आपके मोबाइल में जो कांटेक्ट लिस्ट है वह भी डेटा कहलाता है.

वैसे डेटा के बारे में हम आपको अपने पिछले एक लेख में बता चुके हैं, इसलिए यहाँ पर हमने आपको डेटा के बारे में संक्षिप्त जानकारी दी है. आप हमारे ब्लॉग में डेटा क्या है वाले लेख को पढ़कर डेटा के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

डेटाबेस क्या है (What is Database in Hindi)

डेटाबेस एक विशेष प्रकार के सॉफ्टवेयर प्रोग्राम होते हैं जिनमें डेटा को व्यवस्थित रूप में स्टोर करके रखा जाता है. या सरल शब्दों में कहें तो डेटा के Organized Collection को डेटाबेस कहा जाता है.

डेटाबेस में डेटा को Row और Column के रूप में व्यवस्थित करके स्टोर किया जाता है, जिससे कि जरुरत पढने पर डेटा को आसानी से एक्सेस किया जा सके. इंटरनेट पर बहुत सारी वेबसाइट डेटाबेस का इस्तेमाल करती हैं, जैसे सोशल मीडिया वेबसाइट, सरकारी वेबसाइट, e-commerce वेबसाइट आदि.

डेटाबेस का एक उदाहरण MS Excel है, जिस प्रकार आप MS Excel में किसी भी प्रकार के डेटा को Row और Column में Create करके हार्ड डिस्क में स्टोर कर सकते हैं, जिससे कि जरूरत पड़ने पर आप उसे आसानी से एक्सेस कर सकें. उसी प्रकार इन्टरनेट में वेबसाइट विशेष सॉफ्टवेर में डेटाबेस को Create करके सर्वर में स्टोर करते हैं.

एक उदाहरण से समझते हैं, जैसे फेसबुक के पास अपने हर यूजर का डेटा होता है जिसे वह डेटाबेस में स्टोर करके रखता है, माना आप अपने किसी दोस्त की प्रोफाइल फेसबुक पर देखते हैं तो आपके सामने उस दोस्त की सारी इनफार्मेशन या डेटा आ जाती है. जैसे उसका नाम, प्रोफाइल पिक्चर, जगह का नाम, जन्मदिन आदि.  

यह डेटाबेस के कारण ही संभव हो पाता है क्योंकि फेसबुक के डेटाबेस में आपके दोस्त का डेटा व्यवस्थित तरीके से स्टोर करके रखा गया है, इसलिए आप इसे आसानी से एक्सेस कर पाते हैं. 

डेटाबेस काम कैसे करता है (Database Work in Hindi)

डेटाबेस की कार्यप्रणाली को मुख्य रूप से चार भागों में बांटा जाता है Create, Read, Update और Delete जिसे कि Crud भी कहते हैं. डेटाबेस की कार्यप्रणाली को Database Operation भी कहते हैं.

Create – सबसे पहले डेटाबेस को किसी सॉफ्टवेयर के माध्यम से Create किया जाता है, जैसे कि आप Excel फाइल बनाते हैं.

Read – डेटा को Create करने के बाद डेटा को Read यानि की पढ़ा जाता है.

Update – डेटाबेस को पढने के बाद अगर कोई आवश्यक बदलाव की जरुरत होती है तो डेटाबेस में बदलाव किया जाता है, यानि कि डेटाबेस को Update किया जाता है.

Delete – अंत में यदि किसी इनफार्मेशन को हटाना होता है तो उसे डेटाबेस से डिलीट किया जाता है. इस प्रकार से डेटाबेस ऑपरेशन किया जाता है.

जब डेटाबेस बनकर तैयार हो जाता है तो उसे आसानी से एक्सेस किया जा सकता है. आप किसी भी Specific Information जो डेटाबेस में मौजूद होती है उसे सर्च करके एक्सेस कर सकते हैं.

डेटाबेस के प्रकार (Types of Database in Hindi)

डेटा को किस प्रकार के डेटाबेस में स्टोर, व्यवस्थित और Manipulate किया जाएगा इसके आधार पर डेटाबेस मुख रूप से तीन प्रकार के होते हैं –

  • Network Database (नेटवर्क डेटाबेस)
  • Hierarchical Database (श्रेणीबद्ध डेटाबेस)
  • Relational Database (सम्बंधित डेटाबेस)

1 – श्रेणीबद्ध डेटाबेस (Hierarchical Database)

इस प्रकार के डेटाबेस में डेटा को स्टोर करने के लिए Tree Structure का उपयोग किया जाता है. जिस प्रकार से एक पेड़ की अनेक सारी शाखायें होती हैं उसी सिधांत के आधार पर Hierarchical Database में डेटा को स्टोर किया जाता है. जैसे एक स्कूल में पढने वाले विभिन्न बच्चों का उदाहरण ले लो जिसमें बच्चों के विषय और कक्षायें भिन्न – भिन्न हैं.

इसमें स्कूल Tree है और स्कूल में पढने वाले बच्चे उस वृक्ष की शाखायें हैं. इसमें सभी Nodes लिंक के माध्यम से आपस में जुड़े रहते हैं. यह डेटाबेस का सबसे पुराना मॉडल है जिसे IBM ने 1960 में विकसित किया था.

2  – नेटवर्क डेटाबेस (Network Database)

नेटवर्क डेटाबेस मॉडल एक Powerful डेटाबेस है, लेकिन यह थोडा जटिल भी है क्योंकि इसमें सभी टेबल एक दुसरे से लिंक रहते हैं. यह डेटाबेस मॉडल डेटा को स्टोर करने के लिए नेटवर्क Structure का उपयोग करती है इसलिए इसे नेटवर्क डेटाबेस कहते हैं.

3 – सम्बंधित डेटाबेस (Relation Database)

इस प्रकार के डेटाबेस में डेटा को एक टेबल में Row और Column के रूप में व्यवस्थित किया जाता है, यह बहुत सिंपल डेटाबेस मॉडल है जो कि वर्तमान समय में बहुत अधिक उपयोग किया जाता है. कोई भी यूजर थोड़े बहुत प्रशिक्षण से इस डेटाबेस का इस्तेमाल कर सकता है. जिस प्रकार आप कोई Excel या गूगल Sheet बनाते हैं तो यह Relation Database मॉडल है.

डेटाबेस के तत्व (Element of Database in Hindi)

डेटाबेस के मुख्य रूप से 3 तत्व होते हैं –

  • Field
  • Record
  • Table

चलिए इनको एक – एक कर समझते हैं –

1 – Field – किसी भी डेटाबेस में Column को Field कहा जाता है.

2 – Record – डेटाबेस में मौजूद Row को Record कहा जाता है

3 –Table – Field और Record को मिलाकर एक Complete Table बनता है.

डेटाबेस की आवश्यकता (Importance of Database in Hindi)

आज से कुछ साल पहले की बात करें तो सभी डेटा को कागजों में लिखकर एक फाइल बनाई जाती थी और उसे व्यवस्थित तरीके से रैक में रखा जाता था. जैसे स्कूल के रिजल्ट, ऑफिस में कर्मचारियों की हाजिरी, सरकारी दफ्तर में रिकॉर्ड आदि. हालंकि कागजों में डेटा को व्यवस्थित करके रखा जाता था, जिससे कि Administer किसी भी फाइल को आसानी से खोज लेते थे, लेकिन इसके काफी नुकसान थे जैसे कि –

  • कागजों पर डेटा का खराब हो जाना.
  • किसी कागज़ का खो जाना
  • लिखने में कोई त्रुटी होना.
  • बहुत अधिक समय की खपत
  • डेटा को मैनेज करने के लिए अधिक कर्मचारियों की आवश्यकताएँ.
  • चूहों का कागजों को कुतर देना आदि.

इन सबकी कमी को दूर करने के लिए जरुरत पड़ी एक कंप्यूटर डेटाबेस की, जिसमें उपरोक्त सारी समस्याएं ना आयें. टेक्नोलॉजी के विकास होने पर हमने डेटा को कागजों के स्थान पर फाइल के रूप में डेटाबेस बनाकर कंप्यूटर और सर्वर में स्टोर करना शुरू कर दिया, और आज लगभग सभी क्षेत्रों में कंप्यूटराइज्ड डेटाबेस का इस्तेमाल किया जाता है. 

अगर हम आधुनिक डेटाबेस की मुख्य चार आवश्यकताओं के बारे में बात करें तो वह निम्नलिखित हैं  –

  • डेटाबेस के द्वारा डेटा को व्यवस्थित तरीके से स्टोर करके रखा जाता है जिससे कि यूजर कोई इनफार्मेशन आसानी से एक्सेस कर सकता है.
  • डेटाबेस में डेटा का बैकअप बनाना आसान है.
  • डेटाबेस में डेटा को आसानी से Edit, Update, Delete किया जा सकता है.
  • डेटा को मैनेज और हैंडल करना बहुत आसान है.

डेटाबेस के उपयोग (Uses of Database in Hindi)

डेटाबेस का उपयोग आज के समय में कई विभिन्न क्षेत्रों में किया जाता है. डेटाबेस के सभी उपयोगों को एक लेख में बता पाना मुश्किल है इसलिए हमने डेटाबेस के कुछ प्रमुख उपयोग आपको इस लेख में नीचे बताये हैं.

#1 – Ticket Booking – ट्रेन, हवाई जहाज या बसों की ऑनलाइन टिकट बुकिंग में डेटाबेस का इस्तेमाल किया जाता है, टिकट रजिस्ट्रेशन की पूरी जानकारी डेटाबेस में ही स्टोर की जाती है.

#2 – Bankingबैंकिंग के क्षेत्र में डेटाबेस का उपयोग बखूबी किया जाता है, आप अपने मोबाइल में एप्लीकेशन के द्वारा बैंक में पैसों की लेन – देन कर सकते हैं, यह सब डेटाबेस के कारण ही संभव हो पाया है.

#3 – Online Shopping – E-commerce वेबसाइट भी डेटाबेस का इस्तेमाल करती हैं, आप ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइटों में अपनी कई साल पुरानी हिस्ट्री देख सकते हैं, यह डेटाबेस में ही स्टोर रहता है.

#4 – Social Media – किसी भी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे फेसबुक, इन्स्टाग्राम, ट्विटर आदि में लाखों – करोड़ों लोग अपना अकाउंट बनाते हैं, सभी यूजर की जानकारी या डेटा को व्यवस्थित तरीके से रखने के लिए सोशल मीडिया वेबसाइट डेटाबेस का इस्तेमाल करती है.

#5 – शेयर मार्केटशेयर मार्केट में हर दिन अरबों रूपये की लेन – देन होती है, इन सभी का हिसाब रखने के लिए डेटाबेस की जरुरत होती है.

#6 – रिजल्ट वेबसाइट – इन्टरनेट पर अनेक सारी रिजल्ट वेबसाइट मौजूद हैं जिसमें आप Roll Number डालते ही अपने परीक्षा परिणामों को देख सकते हैं, यह सब वेबसाइट भी डेटाबेस का प्रयोग करती हैं.

#7 – ऑनलाइन गेमिंग – जी हाँ, गेमिंग वेबसाइट भी डेटाबेस का इस्तेमाल करती हैं. किसी भी गेम को लाखों – करोड़ों यूजर खेलते हैं, इन सभी के डेटा को व्यवस्थित तरीके से स्टोर करने के लिए डेटाबेस की जरुरत होती है.

#8 – हॉस्पिटल – प्रत्येक हॉस्पिटल डॉक्टर, अन्य स्टाफ और मरीज का डेटा स्टोर करने के लिए डेटाबेस का इस्तेमाल करती हैं.

#9 – स्कूल या कॉलेज  – स्कूल और कॉलेज में प्रत्येक बच्चे की सारी इनफार्मेशन जैसे वह कौन सी क्लास में है, उसके सब्जेक्ट क्या है, स्कूल में उसका परफॉरमेंस, Attendance आदि सभी के लिए डेटाबेस की जरुरत होती है.

#10 – टेलीकम्यूनिकेशन – Telecommunication यानी दूर संचार कंपनियां हर एक ग्राहक के कॉल डिटेल, मासिक बिल आदि का विवरण स्टोर करने के लिए डेटाबेस का इस्तेमाल करती हैं. इन सब के अलावा भी डेटाबेस के बहुत सारे उपयोग हैं.

डेटाबेस के फायदे (Advantage of Database in Hindi)

डेटाबेस के कुछ प्रमुख फायदे निम्नलिखित हैं –

  • डेटाबेस के द्वारा आप इनफार्मेशन को कहीं से भी बहुत आसानी से एक्सेस कर सकते हैं.
  • डेटाबेस में कम स्पेस में भी अधिक डेटा को स्टोर किया जा सकता है.
  • डेटाबेस अधिक सिक्योर होते हैं कोई भी यूजर बिना परमिशन के डेटाबेस को एक्सेस नहीं कर सकता है.
  • लम्बे समय तक डेटाबेस में डेटा को स्टोर करके रखा जा सकता है.
  • पेपर फाइल की तुलना में डेटा को डेटाबेस में स्टोर करना अधिक आसान और सुरक्षित है.
  • डेटाबेस में Backup और Recovery जैसी सुविधायें होती हैं.
  • डेटाबेस में डेटा को फ़िल्टर करना अधिक आसान है.
  • डेटाबेस में यूजर बड़ी आसानी से नयी जानकारी को जोड़ सकता है और किसी Outdated जानकारी को डिलीट कर सकता है.

डेटाबेस के नुकसान (Disadvantage of Database in Hindi)

डेटाबेस के फायदों के साथ – साथ कुछ नुकसान भी हैं जो कि निम्नलिखित हैं –

  • डेटाबेस बनाने के लिए हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर की जरुरत पड़ती है जिनकी कीमत महँगी होती है.
  • डेटाबेस बनाने के लिए व्यक्ति को प्रशिक्षण की आवश्यकता होती है.
  • कभी – कभी डेटाबेस की कम सिक्यूरिटी के कारण हैकर डेटाबेस को हैक कर लेते हैं जिससे बहुत बड़ा नुकसान होता है.

डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम क्या है (What is DBMS in Hindi)

कंप्यूटर में डेटाबेस के निर्माण तथा मेन्टेन करने के लिए कुछ विशेष प्रकार के सॉफ्टवेयर की जरुरत होती है जिसे DBMS (Database Management System) कहा जाता है. DBMS के द्वारा ही यूजर डेटा को Create, Delete, Update कर पाता है. कुल मिलाकर कहें तो डेटा को डेटाबेस में मैनेज करने के लिए आवश्यक सॉफ्टवेयर को डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम कहते हैं.

डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम के उदाहरण (Example of DBMS in Hindi)

कुछ प्रमुख DBMS सॉफ्टवेयर निम्नलिखित हैं –

  • Microsoft Excel
  • Microsoft Access
  • MySQL
  • Oracle
  • Microsoft SQL Server
  • FoxPro
  • NoSQL

FAQ: Database Kya Hai In Hindi

डेटाबेस से आप क्या समझते हैं?

डेटाबेस किसी भी प्रकार के डेटा का एक Collection होता है जिसमें डेटा को व्यवस्थित तरीके से स्टोर करके रखा जाता है.

डेटाबेस का उद्देश्य क्या है?

डेटाबेस का मुख्य उद्देश्य डेटा को व्यवस्थित और सुरक्षित तरीके से मैनेज करना है.

डेटाबेस के प्रमुख तत्व कौन से हैं?

डेटाबेस के तीन प्रमुख तत्व हैं – Field, Record और Table.

डेटाबेस सुरक्षा क्या है?

डेटाबेस सुरक्षा डेटाबेस के अन्दर डेटा को सुरक्षित किये जाने को कहते हैं. डेटाबेस सुरक्षा के द्वारा हैकर से डेटा को सुरक्षित रखा जाता है.

इन्हें भी पढ़े 

आपने सीखा: Database क्या है हिंदी में

इस लेख में हमने आपको Database Kya Hai In Hindi, डेटाबेस के प्रकार, उपयोग, फायदे, नुकसान तथा डेटाबेस से जुडी बहुत महत्वपूर्ण जानकारी आप लोगों के साथ साझा की है. हमने पूरी कोशिस की है कि इस लेख में आपको डेटाबेस क्या है से सम्बंधित पूर्ण जानकारी प्रदान करवा सकें ताकि आपको डेटाबेस के बारे में पढने के लिए किसी एनी लेख पर जाने की जरुरत न पड़ें.

उम्मीद करते हैं आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह लेख जरुर पसंद आया होगा, इस लेख को सोशल मीडिया के द्वारा अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें और इसी प्रकार के ज्ञानवर्धक लेख पढने के लिए हमारे ब्लॉग Techshole में विजिट करते रहें.

5/5 - (1 vote)

Techshole इंडिया की Best हिंदी ब्लॉग में से एक बनने की दिशा में अग्रसर है. यहाँ इस ब्लॉग पर हम Blogging, Computer, Tech, इंटरनेट और पैसे कमाए से सम्बन्धित लेख साझा करते है.

Leave a Comment