E-Rupi क्या है और कैसे काम करता है (E-Rupi Kya Hai In Hindi)

E-Rupi Kya Hai In Hindi: नमस्कार दोस्तों, स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग के एक और नए लेख में जिसमें हम आपको e-Rupi क्या है, e-Rupi काम कैसे करता है, e-Rupi की विशेताएँ तथा e-Rupi के फायदे और नुकसानों के बारे में जानकारी देने वाले हैं.

आज के समय में भारत में सबसे अधिक डिजिटल पेमेंट किया जाता है, इसी मुहिम को आगे बढ़ाने में भारत सरकार ने e-Rupi को लांच किया था जो कि एक इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट सिस्टम है.

e-Rupi का फायदा आज भारत में अनेक सारे लोग उठा रहे हैं लेकिन फिर भी कई ऐसे यूजर हैं जिन्हें e-Rupi के बारे में पर्याप्त जानकारी नहीं है, और उन्हें e-Rupi के संबंध में अनेक सारे डाउट होते हैं. आप लोगों की इसी समस्या को ध्यान में रखते हुए हमने सोचा क्यों ना आज आपको e-Rupi के बारे में ही जानकारी दी जाय.

तो चलिए आपका अधिक समय लिए बिना शुरू करते हैं इस लेख को और जानते हैं e-Rupi क्या है पूरी जानकारी हिंदी में . 

E-Rupi क्या है और कैसे काम करता है (E-Rupi Kya Hai In Hindi)

E- Rupi जैसा कि इसके नाम से ही पता चल रहा होगा e लगा हुआ है जिसका दिमाग मे एक ही मतलब आता है इलेक्ट्रॉनिक से जुडा है चलो जानते है विस्तार से e-Rupi के बारे मे.

E-Rupi क्या है (What is e-Rupi in Hindi)

e-Rupi डिजिटल पेमेंट करने का एक तरीका है जिसे भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 2 august 2021 को शुरू किया गया था. E- Rupi एक कैशलेस बाउचर आधारित पेमेंट का तरीका है जो उपभोक्ता को बिना कार्ड या बिना इंटरनेट बैंकिंग के वाउचर को प्रयोग का मौका देता है.

e-Rupi से पहले भी यहाँ बहुत से Digital Payment app है लेकिन ये उन सब से थोड़ा अलग है. यह एक वाउचर के रूप मे मिलता है जैसे कोई गिफ्ट वाउचर मिलते है. इसकी सबसे खास बात जो इसको दूसरे डिजिटल पेमेंट app से अलग करती है e-Rupi मे हमे ना इंटरनेट एकाउंट की जरूरत पड़ती है ना ही कोई बैंक एकाउंट की जरूरत होती है.

अब हम जानते है e-Rupi किसके अंतर्गत काम करता है e-Rupi NPCI के अंतर्गत काम करता है NPCI का पूरा नाम National Payment corporation of India है. दूसरे डिजिटल पेमेंट की तुलना मे इसके ये सब feature इसको खास बनाते है. यह एक आसान और संपर्क रहित पेमेंट करने का सबसे अच्छा तरीका है. इसमें पेमेंट करने के लिए किसी की पर्सनल जानकारी की जरूरत नही है. इस से पता चलता है की e-Rupi कितना फ़ायदेमंद है.

E-Rupi को कौन जारी कर सकता है

E-Rupi को लागू करने के लिए NPCI ने कुछ बैंको के साथ tie-up किया है अगर सरकार को e-Rupi जारी करना होता है तो वो इन बैंको के साथ tie-up करेगा हम आपको बताते है वो कौन से बैंक है जो e-Rupi जारी कर सकता है.

  • State bank of India
  • ICICI बैंक,
  • PNB बैंक,
  • HDFC बैंक,
  • AXIS बैंक,
  • Bank of Baroda

ये सारे बैंक e-Rupi को जारी भी करते है और स्वीकार भी करते है वही Canara बैंक, इंडस्ट्रियल बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, यूनियन बैंक, इंडियन बैंक सिर्फ e-Rupi को जारी करते है इसको स्वीकार नही.

E-Rupi काम कैसे करता है

E-Rupi का काम करने का तरीका दूसरे डिजिटल पेमेंट से थोड़ा अलग है चलो हम विस्तार से जानते है e-Rupi क्यों इतना खास है कैसे ये काम करता है.

जैसे सरकार को गरीब लोगो को दवाई के लिए रुपये देने है तो इसमें सबसे बड़ी मुश्किल ये होती है की ये पैसा का उपयोग कही और तो नही हो रहा ये सब पता करना मुश्किल होता है और जैसे सारे गरीब लोगो के पास अकाउंट भी नही होता है. इन सब मुश्किल का हल है e-Rupi चलो बताते है कैसे?

E-Rupi एक वाउचर या QR code के रूप मे मिलेगा और इसका सबसे बड़ा फायदा ये है ये QR-code unique होते है ये सिर्फ अगर दवाई के लिए है तो ये दवाई के स्टोर मे ही चलेगा जिससे इसका उपयोग सिर्फ दवाई लेने को ही किया जायेगा.

अब बात करे जिसको लाभ पहुचना चाहिए उनकी पहचान उनके मोबाइल नंबर का उपयोग कर के किया जायेगा और बैंक द्वारा केवल उस व्यक्ति को वाउचर दिया जायेगा जिसके नाम से आवंटित किया गया हो, और सरकार ने ये भी कहा है कि निजी संस्थान भी इसका उपयोग करे सकते है अपने कर्मचारी को लाभ देने के लिए.

जब e-Rupi जब शुरू हुआ था तब इसमें कुछ बाधाएं थी जैसे की एक वाउचर का अधिकतम मूल्य 10000 रूपये हो सकती थी और e- Rupi को सिर्फ एक बार के लिए ही use कर सकते थे. जिस बहुत से वाउचर को जारी करने की जरूरत पड़ जाती है जब की प्राप्तकर्ता एक ही होता था जो इसकी सबसे बड़ी कमी थी. लेकिन 2022 मे इसमें कुछ चीज़े को update किया और बहुत से बाधाए को दूर किया जैसे वाउचर के मूल्य को बढा कर 1 लाख कर दिया गया और इसको multi-use के लिए कर दिया गया। इसका उपयोग तब तक किया जा सकता है जब तक ये expire नही हो जाता है।

E-Rupi की विशेषता जो इसको दूसरे पेमेंट तरीको से अलग बनाती है

E-Rupi की शुरुआत मे इसको समाज के जरूरत मंद लोगो को देख कर बनाया गया था, जो अभी भी टेक्नोलॉजी से अभी भी बहुत दूर है ये वाउचर के रूप मे जरूरत मंद के लिए लाभ देने के लिए लाया गया. और इसकी खास बात ये थी की जिसको लाभ चाहिए उनको लाभ मिल जाता और इसमें लोगो को किसी अकाउंट की जरूरत नही पड़ती है.

E-Rupi के फायदे (Advantage of e-Rupi)

E-Rupi कनेक्शन के कुछ प्रमुख फायदे निम्नलिखित हैं –

  • E-Rupi का सबसे बड़ा फायदा तो ये है भ्रष्टाचार बहुत कम हो गयी इस से इसको लाभ पहुँचना चाहिए सीधे पहुचेगा.
  • E-Rupi से पैसे का उपयोग सही जगह होगा जहाँ होना चाहिए.
  • E-Rupi मे UPI, अकाउंट आदि चीजों की जरूरत नही होती है.
  • E-Rupi भारत सरकार का पेमेंट सिस्टम है जिसको आप सुरक्षित मान सकते है.
  • Voucher या QR कोड का इस्तमाल किया है या नही इसको भी चेक किया जा सकता है.
  • ये QR कोड जिसको receiver के लिए unique होगा जिस से आप इसका उपयोग कही और नही कर सकते है.

E-Rupi के नुकसान (Disadvantage of e-Rupi)

E-Rupi के कुछ नुकसान निम्नलिखित हैं –

  • E-Rupi जो कि डिजिटल है और टेक्नोलॉजी का उपयोग किया है तो जहाँ टेक्नोलॉजी है वहा स्कैम के चांस भी बहुत है.
  • पूरे देश मे इंटरनेट की स्पीड भी अच्छी होनी चाहिए e-Rupi की सफलता के लिये.

FAQ: e-Rupi Meaning in Hindi

E-Rupi का मतलब क्या है?

E-Rupi इलेक्ट्रॉनिक वाउचर पर आधारित कैशलेस और डिजिटल पेमेंट सिस्टम है.

E-Rupi की शुरुवात किसने की थी?

E-Rupi की शुरुवात भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 2 अगस्त 2021 को की गयी थी.

इन्हें भी पढ़े

अंतिम शब्द: ई-रूपी क्या है हिंदी में  

आज के इस लेख में हमने आपको e-Rupi Kya Hai और यह कैसे काम करता है की पूरी जानकारी बहुत ही आसान शब्दों में बताई है तथा फायदे और नुकसानों के बारे में भी बताया है.

हमारी हमेशा यही कोशिस रहती है कि जिस भी विषय के बारे में हम आपको जानकारी दें उसके बारे में पूर्ण और विस्तृत जानकारी प्रदान करवाए. और हमें पूरी उम्मीद है कि आपको हमारी ये कोशिस जरुर पसंद आती होगी.

अगर आपको हमारे इस लेख को पढ़कर e-Rupi के बारे में उपयोगी जानकारी मिली है तो इस जानकारी को सोशल मीडिया पर अपने अन्य दोस्तों के साथ भी शेयर करें. और इसी प्रकार के ज्ञानवर्धक लेख पढने के लिए हमारे ब्लॉग पर आते रहिये.

नमस्कार ! मेरा नाम रणजीत सिंह है और इस Best Hindi Blog का संस्थापक हूँ. मुझे ब्लॉग्गिंग, एसईओ और डिजिटल मार्केटिंग जैसे विषयों पर गहरी नॉलेज है! हमारे ब्लॉग पर आने के लिए धन्यवाद.

Leave a Comment