एजुकेशन लोन क्या है प्रकार, योग्यता, दस्तावेज़ | Education Loan In Hindi

Education Loan Kya Hai In Hindi: सभी माता – पिता अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा दिलाने के लिए अपनी पूरी जमापूंजी खर्च कर देते हैं, लेकिन Hire Education में फीस बहुत अधिक होती है जिसे भरने में माता – पिता की सारी सेविंग ख़त्म हो जाती है और उन्हें अपने बच्चों के भविष्य की चिंता सताने लगती है.

लेकिन अब माता – पिता एजुकेशन लोन लेकर अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा दिला सकते हैं और उनके भविष्य को उज्जवल बना सकते हैं. कई लोग एजुकेशन लोन लेना तो चाहते हैं लेकिन उन्हें एजुकेशन लोन की सही जानकारी नहीं होती हैं.

आपकी इस समस्या को दूर करने के लिए हम आज के इस लेख में आपको Education Loan Kya Hai के बारे में सम्पूर्ण जानकारी देने वाले हैं. इस लेख में आपको वह सब कुछ मिलेगा जो कि हर व्यक्ति को एजुकेशन लोन के लिए आवेदन करने से पूर्व पता होना चाहिए.

तो चलिए बिना समय गंवाए शुरू करते हैं आज का यह लेख और जानते हैं एजुकेशन लोन क्या होता है विस्तार से हिंदी में.

एजुकेशन लोन क्या है इसके प्रकार, योग्यता, दस्तावेज़ Education Loan In Hindi

एजुकेशन लोन क्या है (Education Loan in Hindi)

अनुक्रम दिखाएँ

Education Loan यानि शिक्षा ऋण एक विशेष प्रकार का लोन होता है जिसे कोई माता – पिता अपने बच्चे की अच्छी पढ़ाई के लिए बैंक या वित्तीय संस्थाओं से उधार लेते हैं. और जब कोर्स को पूरा करके छात्र नौकरी पर लग जाता है तो उसे वह लोन ब्याज सहित चुकाना पड़ता है.

पहले की तुलना में आज के समय में एजुकेशन लोन लेना आसान हो गया है, आप घर बैठे ऑनलाइन भी एजुकेशन लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं. छात्रों को उनके पसंदीदा कोर्स को पूरा करने के लिए एजुकेशन लोन बहुत फायदेमंद होता है.

अगर आप एक होनहार विधार्थीं हैं तो एजुकेशन लोन लेकर अच्छा कोर्स करके अपने भविष्य को बेहतर बना सकते हैं. भारत में लगभग सभी बड़े बैंक जैसे SBI, ICICI, PNB, Axis बैंक आदि एजुकेशन लोन की सुविधाएं प्रदान करते हैं, इनके अतिरिक्त कई NBFC भी एजुकेशन लोन की पेशकश करते हैं.

एजुकेशन लोन का उपयोग कहाँ कर सकते हैं

एजुकेशन लोन का उपयोग आप निम्नलिखित कार्यों में कर सकते हैं –

  • कॉलेज की फीस देने के लिए
  • कोर्स के लिए पुस्तकें खरीदने में
  • पढाई के लिए घर से बाहर रहने के खर्चों में
  • विदेश में पढ़ाई करने वाले छात्र अपनी यात्रा में एजुकेशन लोन का उपयोग कर सकते हैं.
  • पाठ्यक्रम को पूरा करने के लिए अन्य खर्चों में, जैसे पढाई के लिए किसी टूर में जाना, प्रयोगशालाओं में, किसी प्रोजेक्ट को पूरा करने में आदि

एजुकेशन लोन के प्रकार (Types Of Education Loan In Hindi)

Education Loan को मुख्य रूप से तीन प्रकार से वर्गीकृत किया जाता है –

  • स्थान के आधार पर
  • कोर्स के आधार पर
  • सिक्यूरिटी के आधार पर

चलिए अब इन तीनों प्रकार के एजुकेशन लोन को एक – एक कर समझते हैं.

#1 – स्थान के आधार पर एजुकेशन लोन

छात्र कहाँ पढ़ाई करने के लिए लोन ले रहा है उसके आधार पर 2 प्रकार के एजुकेशन लोन होते हैं,

घरेलु शिक्षा ऋण (Domestic Education Loan)

जब छात्र भारत के ही कॉलेज में पढ़ाई करने के लिए एजुकेशन लोन लेता है तो उसे Domestic एजुकेशन लोन मिलता है. इस प्रकार के लोन का उपयोग आप केवल भारत में पढ़ाई करने में कर सकते हैं.

विदेशी शिक्षा ऋण (Overseas Education Loan)

जब छात्र भारत के बाहर कॉलेजों में पढने के लिए एजुकेशन लोन लेता है तो उसे Overseas एजुकेशन लोन कहते हैं.

#2 – कोर्स के आधार पर एजुकेशन लोन

कोर्स के आधार पर मुख्य रूप से तीन प्रकार के एजुकेशन लोन होते हैं –

स्नातक शिक्षा ऋण (Undergraduate Education Loan)

जब छात्र स्नातक की पढ़ाई पूरी करने के लिए या स्नातक की डिग्री प्राप्त करने के लिए बैंक या वित्तीय संस्थाओं से लोन लेता है तो उसे Undergraduate एजुकेशन लोन कहते हैं.

स्नाकोत्तर शिक्षा ऋण (Postgraduate Education Loan)

जब छात्र स्नातक की पढ़ाई पूरी करने के बाद आगे की पढ़ाई जारी रखने के लिए बैंक या वित्तीय संस्थाओं से लोन लेता है तो उसे Postgraduate एजुकेशन लोन कहते हैं. इस लोन का उपयोग आप मास्टर की पढ़ाई करने के लिए कर सकते हैं, जैसे M.Sc, MA, MBA, M.Com आदि.

करियर विकास ऋण (Career Development Loan)

जब छात्र अपने करियर को बेहतर बनाने के लिए कोई विशेष कोर्स करता है और उस कोर्स को करने के लिए जब वह बैंक या वित्तीय संस्थाओं से लोन लेता है तो उसे Career Development Loan कहते हैं.

#3 – सिक्यूरिटी के आधार पर एजुकेशन लोन

कई बैंक और NBFC सुरक्षित एजुकेशन लोन प्रदान करवाते हैं तो कई सारे असुरक्षित एजुकेशन लोन प्रदान करवाते हैं. सिक्यूरिटी के आधार पर मुख रूप से दो प्रकार के एजुकेशन लोन होते हैं.

सुरक्षित शिक्षा ऋण (Secured Education Loan)

ऐसा एजुकेशन लोन जो किसी सम्पति के द्वारा सुरक्षित होते हैं उसे Secured एजुकेशन लोन कहते हैं. Secured एजुकेशन लोन में ऋणदाता आपकी कोई मूल्यवान सम्पति को गिरवी रखते हैं ताकि अगर किसी कारणवश आप लोन की राशि का भुगतान नहीं कर पाते हैं तो वह आपकी सम्पति से लोन की भरपाई कर सकें.

असुरक्षित शिक्षा ऋण (Unsecured Education Loan)

ऐसा एजुकेशन लोन जो किसी प्रकार की सम्पति के द्वारा सुरक्षित नहीं होते हैं उसे Unsecured एजुकेशन लोन कहते हैं. असुरक्षित शिक्षा ऋण में आपको अपनी किसी प्रकार की सम्पति ऋणदाता के पास गिरवी नहीं रखवानी पड़ती है. कई सारे बैंक और NBFC असुरक्षित शिक्षा ऋण की पेशकश करते हैं.

एजुकेशन लोन लेने के लिए योग्यता

भारत में एजुकेशन लोन लेने के लिए बैंक और NBFC की निम्नलिखित योग्यता और शर्तों को पूरा करना होता है.

  • आवेदक की नागरिकता भारतीय होनी चाहिए.
  • आवेदक की उम्र 18 वर्ष या इससे अधिक होनी चाहिए.
  • आवेदक का Academic Record अच्छा होना चाहिए.
  • आवेदक के माता – पिता के पास मासिक आय का कोई निश्चित श्रोत होना चाहिए.
  • आवेदक के पास मान्यता प्राप्त कॉलेज में किसी भी डिप्लोमा के लिए Admission Form होना चाहिए.
  • Undergraduate एजुकेशन लोन के लिए आवेदक के पास 12 वीं पास की मार्कशीट होनी चाहिए.
  • Postgraduate एजुकेशन लोन के लिए आवेदक के पास स्नातक की डिग्री होनी चाहिए.

कुछ एजुकेशन लोन प्रदाताओं की इनके अतिरिक्त भी अन्य शर्तें हो सकती है, इसलिए एजुकेशन लोन के लिए आवेदन करने से पहले आप सब शर्तों की जांच कर लीजिये.

एजुकेशन लोन लेने के लिए आवश्यक दस्तावेज

एजुकेशन लोन लेने के लिए आवेदक के पास निम्नलिखित जरुरी दस्तावेजों का होना आवश्यक है –

  • KYC दस्तावेज (आधार कार्ड, पैन कार्ड)
  • आयु प्रमाण (10 वीं की मार्कशीट, आधार कार्ड, वोटर ID कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस)
  • पहचान पत्र (आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर ID)
  • वर्तमान निवास प्रमाण (पानी, बिजली, गैस, टेलेफोन आदि का बिल)
  • Parents का आय प्रमाण (सैलरी स्लिप, फॉर्म 16, पिछले 6 महीने की बैंक स्टेटमेंट आदि)
  • जिस कॉलेज में एडमिशन ले रहे हैं वहाँ का एडमिशन फॉर्म
  • कॉलेज का Fees Structure
  • 10, 12 और स्नातक की मार्कशीट

ये सभी एजुकेशन लोन के लिए बुनियादी दस्तावेज हैं हालांकि कुछ एजुकेशन लोन प्रदाताओं के द्वारा इनके अलावा भी अन्य दस्तावेज लिए जा सकते हैं.

एजुकेशन लोन कितना मिलता है

यदि आप भारत में ही पढाई के लिए एजुकेशन लोन लेते हैं तो आपको 50 लाख रूपये तक का एजुकेशन लोन मिल जाता है लेकिन यदि आप विदेश में शिक्षा के लिए एजुकेशन लोन लेते हैं तो आपको 1 करोड़ तक का एजुकेशन लोन मिल जाता है.

4 लाख रूपये तक का एजुकेशन लोन लेने के लिए किसी प्रकार की सम्पति को जमा करवाने की जरुरत नहीं होती है, 4 लाख से 6.5 लाख तक के एजुकेशन लोन में गारेंटर की आवश्यकता होती है जो कि बच्चे के माता – पिता हो सकते हैं. लेकिन 6.5 लाख से अधिक का एजुकेशन लोन लेने के लिए आपको अपनी किसी सम्पति को जमा रखवाने की जरुरत होती है.

एजुकेशन लोन में ब्याज दरें (Education Loan Intrest Rate)

पर्सनल लोन की तुलना में एजुकेशन लोन में ब्याज दरें बहुत कम होती हैं. आमतौर पर एजुकेशन लोन में ब्याज दरें 7 से 12 प्रतिशत प्रतिवर्ष तक होती है. हालांकि कोर्स और कॉलेज के आधार पर एजुकेशन लोन प्रदाता ब्याज दरों को घटा – बढ़ा सकते हैं.

एजुकेशन लोन कितने समय के लिए मिलता है

एजुकेशन लोन में Repayment कोर्स ख़त्म होने के 6 महीने बाद शुरू हो जाती है लेकिन कई Case में आवेदक की नौकरी ना लगने पर यह समय 1 साल तक भी बढाया जा सकता है. एजुकेशन लोन की पूरी Repayment 5 से 7 साल के अन्दर करनी होती है.

एजुकेशन लोन लेने से पहले ध्यान में रखने वाली बातें

एजुकेशन लोन लेने के लिए आपको निम्नलिखित बातों को ध्यान में रखना चाहिए –

  • लोन लेने के लिए सही बैंक या संस्था का चयन करें.
  • एजुकेशन लोन की सभी जानकारी को हासिल करें
  • लोन प्रदाता के द्वारा दिए जा रहे ब्याज दरों को अच्छे से समझिये.
  • रीपेमेंट की शर्तों को समझिये.
  • लोन पर लगने वाले अन्य सभी चार्ज और फीस के बारे में जानकारी प्राप्त करें
  • जब आप एजुकेशन लोन को अच्छे से समझ जायें उसके बाद ही लोन के लिए apply करें.

एजुकेशन लोन के लिए आवेदन कैसे करें

एजुकेशन लोन के लिए आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों प्रकार से आवेदन कर सकते हैं. ऑनलाइन में आप घर बैठे तथा ऑफलाइन में आप सम्बंधित बैंक या वित्तीय संस्था में जाकर एजुकेशन लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं. यहाँ हमने आपको दोनों तरीकों से एजुकेशन लोन की आवेदन प्रक्रिया को समझाया है –

ऑफलाइन एजुकेशन लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया

  • सबसे पहले आप अपने आवश्यक दस्तावेज लेकर सम्बंधित बैंक या वित्तीय संस्था में जाइए और वहाँ के मैनेजर से मिलकर एजुकेशन लोन के बारे में सम्पूर्ण जानकारी हासिल कर लें.
  • इसके बाद एजुकेशन लोन के लिए आवेदन फॉर्म लीजिये और फॉर्म पर सभी इनफार्मेशन को सही – सही fill करें.
  • फॉर्म fill कर लेने के बाद अपने आवश्यक दस्तावेजों के साथ फॉर्म को सबमिट कर लीजिये.
  • अब ऋणदाता आपके एजुकेशन लोन लेने की योग्यता की जांच करेंगे और अगर आप लोन के लिए योग्य पाए जाते हैं तो लोन की राशि 24 से 48 घंटों के अन्दर आपके बैंक अकाउंट में ट्रान्सफर कर दी जाती है.

ऑनलाइन एजुकेशन लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया

  • सबसे पहले आप सम्बंधित बैंक या NBFC के ऑनलाइन पोर्टल में Login कीजिये.
  • इसके बाद Loan वाले सेक्शन में Education Loan को सेलेक्ट करें.
  • अपनी बेसिक Detail को fill करके तथा KYC डॉक्यूमेंट को अपलोड करके अपनी लोन योग्यता की जांच करें.
  • अगर आप लोन के लिए Eligible पाए जाते हैं तो 24 से 48 घंटों में लोन की राशि आपके बैंक खाते में ट्रान्सफर कर दी जाती है.

एजुकेशन लोन के फायदें (Advantage of Education Loan in Hindi)

एजुकेशन लोन के कई सारे फायदे होते हैं, यहाँ कुछ फायदों के बारे में हमने आपको नीचे बताया है –

  • एजुकेशन लोन लेकर छात्र अपने पसंदीदा कोर्स को कर सकते हैं और अपने सपनों को साकार कर सकते हैं.
  • समय पर एजुकेशन लोन का Repayment करने से क्रेडिट स्कोर भी सुधरता है जिससे भविष्य में लोन लेना आसान बन जाता है.
  • एजुकेशन लोन की चुकौती के लिए अधिक समय मिल जाता है.
  • एजुकेशन लोन लेकर आप मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी में दाखिल लेकर अच्छी शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं.
  • एजुकेशन लोन को तब चुकाना पड़ता है जब आप कोर्स कम्पलीट करके नौकरी में लग जाते हैं.
  • आप विदेशों में पढ़ाई कर सकते हैं.
  • पर्सनल लोन की तुलना में एजुकेशन लोन उचित ब्याज दरों पर मिल जाता है.

एजुकेशन लोन के नुकसान (Disadvantage of Education Loan in Hindi)

एजुकेशन लोन के फायदों के साथ – साथ कुछ नुकसान भी होते हैं, जो कि निम्नलिखित हैं –

  • एजुकेशन लोन में कई शर्तें होती है जिससे हर किसी को एजुकेशन लोन नहीं मिल पाता है.
  • जिस कोर्स में नौकरी की कोई गारंटी नहीं होती है उनमें एजुकेशन लोन मिलना मुश्किल होता है.
  • अगर आपका अकादमिक रिकॉर्ड अच्छा नहीं है तो आपको शायद ही एजुकेशन लोन मिलेगा.
  • 6.5 लाख से अधिक का एजुकेशन लोन लेने के लिए आपको अपनी किसी सम्पति को ऋणदाता के पास गिरवी रखवाना पड़ता है.

FAQ: Education Loan In Hindi

एजुकेशन लोन कितना मिल सकता है?

भारत में पढ़ाई करने के लिए आप 50 लाख रूपये तक का एजुकेशन लोन ले सकते हैं और विदेशों में पढाई करने के लिए कई बैंक और NBFC 1 करोड़ रूपये तक का पर्सनल लोन प्रदान करवा देते हैं.

एजुकेशन लोन में रीपेमेंट कब से शुरू होती है?

आमतौर पर एजुकेशन लोन में Repayment कोर्स ख़त्म होने के 6 महीने बाद शुरू हो जाती है लेकिन कुछ Case में ऋणदाता 1 साल तक का समय भी दे देते हैं.

एजुकेशन लोन ना चुकाने पर क्या होता है?

अगर आप एजुकेशन लोन नहीं चुकाते हैं तो पहले बैंक आपको एक नोटिस देता है, लेकिन उसके बाद भी अगर आप कुछ एक्शन नहीं लेते हैं तो आप पर Penalty लगाई जाती है और आपकी गिरवी रखी सम्पति पर बैंक का अधिकार हो जाता है.

एजुकेशन लोन कितने ब्याज दरों पर मिलता है?

आमतौर पर एजुकेशन लोन में 7 – 12 प्रतिशत प्रतिवर्ष तक ब्याज दरें होती हैं, लेकिन कुछ बैंकों या NBFC में यह ऊपर – नीचे भी हो सकती हैं.

भारत में कौन से बैंक एजुकेशन लोन देते हैं?

भारत के लगभग सभी बड़े पब्लिक सेक्टर और प्रिवेट सेक्टर के बैंक एजुकेशन लोन देते हैं जिनमें से SBI, PNB, Axis बैंक, ICICI, HDFC बैंक प्रमुख हैं.

इन्हें भी पढ़े

निष्कर्ष: एजुकेशन लोन की जानकारी हिंदी में

आज के इस लेख में हमने जाना कि Education Loan क्या है, यह कितने प्रकार का होता है, एजुकेशन लोन कैसे लें और एजुकेशन लोन के फायदे व नुकसान क्या है. और इसके साथ ही हमने आपको एजुकेशन लोन के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्रदान की है जिससे कि आपको एजुकेशन लोन  लेने में मदद मिल सके.

हमें पूरी उम्मीद है कि इस लेख को पूरा अन तक पढने के बाद आप एजुकेशन लोन के बारे में अच्छी प्रकार से समझ गए होंगें. यदि आपको यह लेख पसंद आया तो इसे सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ शेयर करके एजुकेशन लोन को समझने में उनकी भी मदद करें.

नमस्कार ! मेरा नाम रणजीत सिंह है और इस Best Hindi Blog का संस्थापक हूँ. मुझे ब्लॉग्गिंग, एसईओ और डिजिटल मार्केटिंग जैसे विषयों पर गहरी नॉलेज है! हमारे ब्लॉग पर आने के लिए धन्यवाद.

Leave a Comment