फाइल ट्रांसफर प्रोटोकॉल क्या है और FTP काम कैसे करता है

FTP Full Form Kya Hai In Hindi: आज के इस लेख में हम आपको FTP Protocol क्या है, FTP प्रोटोकॉल काम कैसे करता है, FTP प्रोटोकॉल के प्रकार, FTP प्रोटोकॉल के फायदे, नुकसान, FTP Command और FTP तथा HTTP प्रोटोकॉल में अंतर के विषय में पूरी जानकारी देने वाले हैं.

हमें उम्मीद है कि आपको इंटरनेट पर इस लेख को पढने के बाद आपको FTP के विषय में जानने के लिए किसी अन्य लेख पर नहीं जाना पड़ेगा. इसलिए आप इस लेख को पूरा अंत तक जरुर पढ़ें.

फाइल ट्रांसफर प्रोटोकॉल क्या है और FTP काम कैसे करता है (FTP in Hindi)

तो चलिए आपका अधिक समय न लेते हुए शुरू करते हैं इस लेख को और जानते हैं FTP प्रोटोकॉल क्या होता है हिंदी में.

FTP क्या है (What is FTP in Hindi)

FTP यानि File Transfer Protocol एक क्लाइंट – सर्वर नेटवर्क प्रोटोकॉल है जो TCP/IP कनेक्शन पर कंप्यूटर के बीच फाइलों को ट्रांसमिट करने की अनुमति देता है. TCP/IP के अंतर्गत FTP को एक एप्लीकेशन लेयर प्रोटोकॉल माना जाता है. FTP प्रोटोकॉल के द्वारा फाइलों के आदान – प्रदान में End user के कंप्यूटर को लोकल होस्ट कहा जाता है और दूसरा कंप्यूटर रिमोट सर्वर होता है.

क्लाइंट FTP प्रोटोकॉल के द्वारा सर्वर पर फाइल को अपलोड, डाउनलोड, Rename, Delete, Move, Copy आदि कर सकते हैं, इसके लिए क्लाइंट को FTP सर्वर पर Login करना होता है.

FTP सर्वर में Login करने के बाद क्लाइंट अपने होस्टिंग सर्वर और कंप्यूटर पर मौजूद फाइलों को एक साथ एक्सेस कर सकता है. जब एक वेब डेवलपर वेबसाइट बनाता है तो वह FTP प्रोटोकॉल के द्वारा ही सर्वर पर फाइल अपलोड कर सकता है. FTP प्रोटोकॉल क्लाइंट से कम्युनिकेशन के लिए आमतौर पर पोर्ट नंबर 21 का इस्तेमाल करते हैं.

FTP सर्वर को इस्तेमाल करने के लिए एक सॉफ्टवेयर की जरुरत पड़ती है. दुनियाभर में वेब डेवलपर के द्वारा FTP सर्वर के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला लोकप्रिय सॉफ्टवेयर FileZilla है. इसके अलावा भी अनेक सारे सॉफ्टवेयर मौजूद हैं जिनके द्वारा क्लाइंट FTP सर्वर को एक्सेस कर पाता है.

FTP क्लाइंट के उदाहरण

जैसा कि हमने ऊपर बताया FTP सर्वर को एक्सेस करने के लिए कुछ विशेष सॉफ्टवेयर की जरुरत पड़ती है, जिन्हें FTP क्लाइंट भी कहते हैं. कुछ प्रमुख FTP सॉफ्टवेयर के उदाहरण निम्नलिखित हैं जिनका उपयोग सर्वाधिक किया जाता है.

  • FileZilla
  • Cyberduck
  • FireFTP
  • WinSCP

FTP का फुल फॉर्म (FTP Full Form in Hindi)

FTP का पूरा नाम File Transfer Protocol है जिसे कि हिंदी में फाइल स्थानांतरण प्रोटोकॉल भी कहा जाता है.

FTP का इतिहास (History of FTP in Hindi)

FTP का पहला specification 16 अप्रैल, 1971 को RFC114 के रूप में प्रकाशित किया गया था, और इसे MTI यूनिवर्सिटी (Massachusetts Institute of Technology) के छात्र अभय भूषण ने विकसित किया था. FTP को डेवलप करने का मुख्य उद्देश्य इन्टरनेट का पूर्वज ARPANET नेटवर्क पर NCP (नेटवर्क कण्ट्रोल प्रोग्राम) के द्वारा सुरक्षित रूप से फाइलों को ट्रान्सफर करना था.

जैसे – जैसे इन्टरनेट प्रचलित होने लगा और यह पूरी दुनिया में फैलने लगा तो FTP में NCP के स्थान पर TCP/IP का इस्तेमाल होने लगा, और FTP को भी अपडेट किया जाने लगा.

1980 में दक्षिणी कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय में सूचना विज्ञान संस्थान के एक शोध वैज्ञानिक Jon Postel ने RFC765 के रूप में FTP के नए वर्शन को विकसित किया. इसके लगभग 5 साल बाद FTP के नए संस्करण को RFC 959 के रूप में प्रकाशित किया गया. इसमें FTP में अनेक प्रकार की क्षमताओं को भी विकसित किया गया, जिसमें फाइल डायरेक्टरी बनाने और निकालने की क्षमता भी थी.

1997 में RFC 2228 के रूप में FTP के एक और नये संस्करण को प्रकाशित किया गया, और इसके 2 साल के बाद IPv6 प्रोटोकॉल को सपोर्ट करने के लिए FTP को RFC 2428 के रूप में प्रकाशित किया गया.

FTP प्रोटोकॉल काम कैसे करता है (How Does FTP Protocol in Hindi)

FTP के काम करने का तरिका बहुत ही सिंपल है, जैसा कि आप अभी तक समझ गए होंगे कि FTP एक क्लाइंट – सर्वर प्रोटोकॉल है जो क्लाइंट और सर्वर के बीच संचार स्थापित करने में मदद करता है.

जब यूजर FTP क्लाइंट या FTP सॉफ्टवेयर के द्वारा होस्टिंग सर्वर पर अनुरोध भेजता है तो सर्वर अपना सारा डेटा एक डायरेक्टरी के रूप में यूजर को बता देता है, लेकिन इसके लिए FTP सॉफ्टवेयर को यूजर के होस्टिंग से कनेक्ट होना चाहिए. यूजर को FTP सर्वर में यूजरनाम और पासवर्ड की आवश्यकता होती है.

जब यूजर किसी फाइल को डाउनलोड या अपलोड करना चाहता है तो क्लाइंट FTP प्रोटोकॉल के द्वारा सर्वर से कम्युनिकेशन करता है और यूजर फाइलों में बदलाव कर सकता है. FTP के द्वारा एक क्लाइंट सर्वर पर फाइलों को अपलोड, डाउनलोड, डिलीट, रीनेम, ट्रान्सफर और कॉपी कर सकता है. FTP पोर्ट 21 पर क्लाइंट को सुनता है.

FTP प्रोटोकॉल के प्रकार (Types of Protocol in Hindi)

FTP प्रोटोकॉल अनेक प्रकार के होते हैं, कुछ प्रमुख प्रकार के FTP प्रोटोकॉल निम्नलिखित हैं –

1 – Anonymous FTP (गुमनाम FTP)

इस प्रकार के FTP का उपयोग करके यूजर बिना यूजरनाम और पासवर्ड के डेटा को ट्रान्सफर कर सकता है. यह FTP प्रोटोकॉल का सबसे बुनियादी रूप है.

2 – Password-protected FTP (पासवर्ड सुरक्षित FTP)

इस प्रकार के FTP का उपयोग करने के लिए यूजर को यूजरनाम और पासवर्ड की जरुरत होती है. यह भी सबसे बुनियादी FTP में से एक है.

3 – File Transfer Protocol Secure (FTP सुरक्षित)

File Transfer Protocol Secure को FTPS के नाम से जाना जाता है, यह FTP बहुत ही पुराना है. इस प्रकार के FTP में सभी डेटा एन्क्रिप्टेड या सुरक्षित रहते हैं. हैकर इन्हें आसानी से हैक नहीं कर सकता है.

4 – SSH File Transfer Protocol

इस प्रकार के FTP को SFTP कहा जाता है. SFTP में सिक्योर कनेक्शन के लिए Secure Sell का इस्तेमाल किया जाता है. SFTP में प्रमाण के लिए यूजर ID, पासवर्ड के साथ SSH Key का इस्तेमाल भी किया जाता है.

FTP का उपयोग (Uses of FTP in Hindi)

  • FTP का मुख्य उपयोग एक सिस्टम से दुसरे सिस्टम में फाइलों के ट्रान्सफर के लिए किया जाता है.
  • FTP का उपयोग सर्वर पर डेटा बैकअप के लिए भी किया जाता है.
  • FTP की मदद से सर्वर पर डेटा को लोड किया जा सकता है.

FTP के फायदे (Advantage of FTP in Hindi)

फाइल ट्रान्सफर प्रोटोकॉल के कुछ प्रमुख फायदे निम्नलिखित हैं –

  • FTP के द्वारा क्लाइंट फाइल को एक साथ कई डायरेक्टरी पर ट्रान्सफर कर सकते हैं.
  • FTP के द्वारा फाइलों को तेज गति से ट्रान्सफर किया जा सकता है.
  • FTP में ऑटोबैकअप की सुविधा होती है जो यूजर के लिए बहुत उपयोगी है.
  • FTP के द्वारा क्लाइंट सर्वर से फाइलों को आसानी से एक्सेस कर सकता है.

FTP के नुकसान (Disadvantage of FTP in Hindi)

FTP प्रोटोकॉल के कुछ नुकसान भी हैं जैसे कि –

  • सभी FTP एन्क्रिप्टेड या सुरक्षित नहीं रहते हैं.
  • अगर आप गलत Vendor चुन लेते हैं तो FTP आपकेसम्पूर्ण डेटा की सुरक्षा नहीं कर पाता है, जिससे हैकर brute force attacks के द्वारा हजारों पासवर्ड बनाकर आपके पासवर्ड का पता कर सकते हैं.

FTP और HTTP में अंतर

FTP और HTTP प्रोटोकॉल के बीच प्रमुख अंतर निम्नलिखित हैं –

FTP (फाइल ट्रान्सफर प्रोटोकॉल)HTTP (हाइपर टेक्स्ट ट्रान्सफर प्रोटोकॉल)
FTP का पूरा नाम File Transfer Protocol है.HTTP का पूरा नाम Hypertext Transfer Protocol है.
FTP का इस्तेमाल सर्वर से किसी फाइल को क्लाइंट के सिस्टम पर Move या Copy कर सकते हैं.HTTP सर्वर से डेटा (टेक्स्ट, इमेज, ऑडियो, विडियो आदि) को ब्राउज़र के द्वारा यूजर को दिखाता है.
बड़े फाइलों को ट्रान्सफर करने के लिए FTP अच्छा विकल्प है.छोटे फाइलों को ट्रान्सफर करने के लिए HTTP अच्छा विकल्प है.
FTP में फाइल ट्रान्सफर के लिए बाइनरी कोड का इस्तेमाल होता है.HTTP में फाइल को ट्रान्सफर करने के लिए MIME फॉर्मेट का इस्तेमाल किया जाता है. 
Difference Between FTP and HTTP In Hindi

एफटीपी कमांड (FTP Command in Hindi)

फाइल ट्रान्सफर प्रोटोकॉल की कुछ कमांड निम्नलिखित हैं –

  • USER – यूजर की Identity को सर्वर तक पहुंचाना.
  • PASS – यूजर का पास्वोर्ड सर्वर तक भेजने के लिए.
  • OPEN – एड्रेस को ओपन करने के लिए.
  • GET – रिमोट सर्वर से फाइल प्राप्त करना.
  • SEND – एक ही सिंगल फाइल को भेजना.
  • PUT – एक फाइल को भेजना.
  • CLOSE –  FTP को डिसकनेक्ट करना.
  • QUIT – रिमोट सर्वर को पूरी तरह डिसकनेक्ट करना और FTP को टर्मिनेट करना.

FAQ: FTP Kya Hai In Hindi

फाइल ट्रान्सफर प्रोटोकॉल क्या है?

फाइल ट्रान्सफर प्रोटोकॉल एक नेटवर्क प्रोटोकॉल है जो क्लाइंट को सर्वर से फाइल एक्सेस करने की अनुमति देता है. FTP प्रोटोकॉल मुख्य रूप से दो कंप्यटर के बीच फाइल को ट्रान्सफर करने के लिए उपयोग किया जाता है.

FTP का पूरा नाम क्या है?

FTP का पूरा नाम File Transfer Protocol है.

FTP कौन से पोर्ट पर काम करता है?

FTP दो पोर्ट का इस्तेमाल करता है, कमांड पोर्ट के लिए पोर्ट नंबर 21 और डेटा पोस्ट के लिए पोर्ट नंबर 20 पर काम करता है.

FTP प्रोटोकॉल का आविष्कार किसने किया?

FTP प्रोटोकॉल का आविष्कार अभय भूषण ने 1971 में किया था.

इन्हें भी पढ़े

आपने सीखा: एफटीपी प्रोटोकॉल क्या है हिंदी में

इस लेख में हमने आपको FTP Protocol Kya Hai In Hindi के विषय में पूरी जानकारी दी है, हमें उम्मीद है कि इस लेख को पढने के बाद आपने FTP प्रोटोकॉल के बारे में अनेक सारी उपयोगी चीजें सीखी होंगी, जैसे FTP काम कैसे करता है, FTP के प्रकार, उपयोग, फायदे, नुक्सान, FTP कमांड और FTP तथा HTTP में अंतर.

अगर आपको यह लेख पसंद आया तो इसे सोशल मीडिया के द्वारा अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करें, और अगर आपके मन में अभी भी FTP प्रोटोकॉल से सम्बंधित कोई प्रशन या सुझाव हैं तो हमें कमेंट बॉक्स में जरुर बताएं.

पोस्ट को रेटिंग देवें

Techshole इंडिया की Best हिंदी ब्लॉग में से एक बनने की दिशा में अग्रसर है. यहाँ इस ब्लॉग पर हम Blogging, Computer, Tech, इंटरनेट और पैसे कमाए से सम्बन्धित लेख साझा करते है.

Leave a Comment