Hindi vs Hinglish vs English : कौन सी भाषा Blogging के लिए सही है?

Hindi vs Hinglish vs English Blogging In Hindi : किस भाषा में ब्लॉग को start करें. यह सवाल हर किस के मन में रहता है की अपना ब्लॉग किस भाषा में शुरू करें.

क्यों की यदि आपको इस विषय में सही जानकरी नही है तो आप एक Successful Blogger नही बन सकते है. ब्लॉग्गिंग में किसी भी भाषा में ब्लॉग को स्टार्ट कर सकते है. लेकिन अपने इंग्लिश ब्लॉग, Hindi Blog और Hinglish Blog देखे होंगे.

इन सभी Blogs की भाषा अलग है. अब आपको हम बताते है किस Hindi VS Hinglish VS English किस भाषा में Blogging की शुरुआत करें और क्या Blogging हिंदी में करना चाहिए.

इस लेख (Hindi vs Hinglish vs English Blogging In Hindi) में हम बताने वाले है

  • Blogging किस भाषा में करें.
  • क्या Blogging हिंदी में करना चाहिए.
  • Blogging के लिए हिंदी भाषा क्यों बेहतर हैं?
  • Hinglish Blog क्या है.
  • hinglish language examples
  • क्या Blogging Hinglish भाषा में करना चाहिए.
  • Hindi VS Hinglish : कौन सी भाषा Blogging करें ?
  • हमारी राय Hindi vs Hinglish ब्लॉग्गिंग के लिए
  • Hindi या English : किस भाषा में Blogging करें?
  • Hindi में Blogging करने के फायदे
  • Hindi में Blogging करने से नुकसान
  • English में Blogging करने के फायदे
  • English में Blogging करने से नुकसान
  • Hindi VS HInglish VS English : कौन सी भाषा Blogging के लिए सही है?

Blogging किस भाषा में करें? Blogging Kis Bhasha Me Kare

हर कोई आज कल ब्लॉगिंग से पैसे कमाना चाहता हैं “ Blogging किस भाषा में करें” यह सवाल और समस्या हर एक Blogger के मन में होता है.

शुरुआत से Blogging करने के लिए सही Niche का चुनाव और सही भाषा का चुनाव होना अति आवश्यक होता है.

ब्लॉगिंग Hindi vs Hinglish या English किसी भाषा मे शुरुआत करें जिससे हम एक Successful Blogger बन सकें.

आपको यह मालूम होना चाहिए कि गूगल ने कोई जानकारी नही दी गयी है की गूगल Hindi vs Hinglish में कौन सी भाषा को सवश्रेष्ठ मानता हैं.

इस विषय में हमने पता लगाया है की Hindi vs Hinglish में से Blogging के लिए कौन सी भाषा सवश्रेष्ठ हैं.

इसलिए आपको यह लेख Hindi vs Hinglish vs English पूरा पढना चाहिए ताकि Blogging में भाषा को लेकर कंफ्यूजन दूर हो सकें.

इसके साथ ही आपको हम हमारे Blogging का अनुभव भी share करेगें जिससे आपके मन में Hindi Blog vs Hinglish Blog से जुड़े सारें सवालों के जवाब आसानी से मिल पाए.

अब हम आपको बताने वाले है की क्या Blogging हिंदी में करना चाहिए या नही.

Blogging hindi language में करने से क्या फायदा है और Hindi Blog पर Blogging करने से कितने पैसे मिलते है.

क्या Blogging हिंदी में करना चाहिए? – Kya Blogging Hindi Me Karna Chahiye?

आज कल Hindi Blogging में Bloggers बहुत ही ज्यादा संख्या में Hindi Blog बना रहे है. क्यों की Google पर Hindi में सर्च करने वाले Visiter की संख्या भी 2013 से लगातार बढ़ रही है.

50 करोड़ से भी ज्यादा लोग आज पूरी दुनिया में Hindi भाषा का ज्ञान रखते है. इससे यही सिद्ध होता है की Hindi भाषा में Blogging करना सही है.

बस आपको Hindi Blogging की शुरुआत में अच्छी मेहनत करना है. आज हर कोई अपने Hindi Blogs को Google में Rank करना चाहता है और यह आसान भी नही है, क्यों की English Blogging के जैसे ही Hindi में Blogging करने पर Competition भी उतना High होने वाला है.

यदि आपको Hindi Language में Blog Post लिखने में आसानी होती है और आपको Hindi Blogging में रूचि है तो आपको Blogging हिंदी में करना चाहिए.

Blogging के लिए हिंदी भाषा क्यों बेहतर हैं?

आज कल लोग हिंदी में पढ़ना बहुत ही पसंद करते है और शुद्ध Hindi भाषा में अच्छी तरह हर एक चीजों को आसानी से समझ जाते है.

हिंदी भाषा से लगाव होने के कारण विसिटर आपके लेख को पूरा पढ़ते हैं क्यों की उन्हें यह आसानी से समझ आता है इसी कारण गूगल को सही संकेत मिलते है औऱ आपका Hindi Blog Post रैंक करने लगता है.

Blogging Hindi भाषा में बेहतर इसलिए है क्यों की इसमें अभी ज्यादा कॉम्पीटिशन नही है. Blogging field में English Language के मुकाबले Blogging हेतु Hindi बहुत ही बढिया भाषा है.

Hinglish Blog क्या है?

Hinglish Blog एक ऐसा ब्लॉग होता है जो हिंदी भाषा को english में लिखता है. यह Hindi + English यानि Hinglish भाषा कहलाती है.

जो ब्लॉग हिंदी भाषा को English में Mix कर लिखते है उन्हें ही Hinglish Blog कहते है.

यदि आप गूगल पर सर्च करते है की – “क्या Blogging हिंदी में करना चाहिए” तो आपको इसके पास इंग्लिश में सर्च करने का Option देता है.

यदि आप इस तरह सर्च करते है “Kya Blogging Hindi Me Karna Chahiye” तो आपको इसके पास हिंदी सर्च का Option दिखता है. क्यों की Hinglish बहुत ही कम लोगो को पढने में रूचि रखते है.

Hinglish language examples

हम आपको यह हिंदी भाषा, English और Hinglish language के Examples देने वाले है जो इस प्रकार है.

हिंदी भाषा में Example

“मुझे हिंदी में Blogging करना बहुत ही पसंद है”

English भाषा में Example

“I love blogging in hindi”

Hinglish भाषा में Example – Hinglish language examples

“mujhe hindi Me Blogging karna bahut hi pasand hai”

क्या Blogging Hinglish भाषा में करना चाहिए.

जी हाँ आप ब्लॉग्गिंग Hinglish कर सकते है क्यों की Hinglish Blog को आप गूगल में जल्दी रैंक कर सकते है पर इसे ज्यादा लोग पसंद नही करते है और हिंगलिश भाषा आसानी से समझ नही पाते.

लेकिन आप भी कुछ Top Hindi Blogger जो लाखों कमाते है. उन्ही की तरह आप भी Hinglish Blog को बनाकर आसानी से पैसे कमा सकते है. परन्तु उनमे से ज्यादातर Hindi Blog है.

इन्हें भी पढ़े 

CO-Win App क्या है और CO-Win App Download कैसे करें

Jio Mart क्या है ” देश की नई दुकान” – Jio Mart की पूरी जानकारी हिंदी में

18 जरुरी Best WordPress Plugins For Blog in Hindi (Blogger Always Use)

Gav Me Paise Kaise Kamaye – गाँव में पैसे कमाने के तरीके

Hindi VS Hinglish : कौन सी भाषा Blogging करें ?

यदि आप चाहते है की Hinglish में अपने ब्लॉग के लिए आर्टिकल लिखे तो आपका सही निर्णय हो सकता है क्यों की भारत के अलावा अन्य देशों में Hinglish लिखा और बोला जाने लगा है.

इसके विपरीत Google हिंदी भाषा को भी उच्च श्रेणी में रखने लगा है क्यों की हिंदी को आसानी से किसी भी भाषा में translate किया जा सकता है.

इसलिए यह आपको Decide करना होगा की आप किस भाषा में यानि Hindi VS Hinglish में अपना लेख लिख सकते है.

हिंदी में लिखना आसान होता है जब की Hinglish में लिखने पर आप Speling की mistake कर सकते है और उन लोगो को हिंगलिश पढने में सही से नही आती है जिन्हें इंग्लिश का ज्ञान नही होता है.

हिंदी भाषा को भारत के लगभग सभी जगहों पर समझा जाता है और इसे आप किसी भी भाषा में ट्रांसलेट कर आसानी से समझ सकते है.

हमारी राय Hindi vs Hinglish ब्लॉग्गिंग के लिए

Hindi vs Hinglish ब्लॉग्गिंग के लिए भाषा का चुनाव आप अपने हिसाब से कर सकते है. परन्तु Hindi vs Hinglish में आप सही भाषा का चुनाव करें.

Hinglish भाषा को ज्यादा लोग समझ नही पाते है और हिंदी को आसानी से हर कोई समझ सकता है और बोल सकता है. हिंदी को कोई भी सॉफ्टवेर आसानी से वौइस् में बोल विजिटर तक आपके लिखे गये ब्लॉग को पंहुचा सकता है.

गूगल भी इंडिया में हिंदी भाषा को ज्यादा प्रमोट कर रहा है . इसलिए हम आपको हिंदी भाषा में अपना ब्लॉग बनाने की सलाह देंगे.

यदि आपको गूगल में हिदी भाषा में जल्दी रैंक करना है तो आप Hinglish कीवर्ड  का इस्तेमाल कर सकते है.

इन्हें भी पढ़े 

Blogger Vs WordPress in Hindi~Which is Better कौन सा Platform बेहतर है? जानिए अंतर

Pro Tips: Successful Blogger Kaise Bane 2020 में | एक Professional Blogger कैसे बनें

Black Friday क्या होता है और इसका इतिहास क्या है? Black Friday Sell/Discount क्यों मिलता है?

शुरुआत से Blogging Kaise Kare – Step by Step – Complete Guide

Black Hat SEO in Hindi – Black Hat SEO Technique in Hindi 2021

Hindi में Blogging करने के फायदे

हिंदी भाषा में ब्लॉग्गिंग करने से बहुत से फायदे है –

  • Hindi में कम कॉम्पीटिशन होने से आपको गूगल में रैंक करने में मुश्किल नहीं होगी यदि आप सही नीच का चुनाव करते है.
  • Hindi भाषा भारत, बांग्लादेश, पाकिस्तान, नेपाल और भी बहुत से देशों में बोली और समझी जाती है इसलिए Hindi में भी ऑडियंस अच्छी खासी है.
  • हिंदी भाषा India में सर्वाधिक बोली जाती है इसलिए आप यदि Hindi Blog Start करते है तो आप आसानी से article लिख सकते है.
  • हिंदी को गूगल बहुत ही अच्छी तवज्जो देता है और हिंदी को किसी भी भाषा में आसानी से Translate किया जा सकता है.
  • English ब्लॉग की तुलना में Hindi Blog पर आसानी से google Adsense approval मिल जाता है.
  • Hindi Blogs पर पोस्ट को ज्यादा लम्बा न भी लिखे तो भी चलता है पर इंग्लिश ब्लॉग में ऐसा नहीं होता है.
  • Hindi को ज्यादातर लोग आसानी से समझ जाते और यह गूगल के Voice assistant को भी आसानी से समझ आती है.

Hindi में Blogging करने से नुकसान

  • हिंदी में ब्लॉग्गिंग करने से आपको गूगल Adsense Ads पर कम CPC देता है जिससे आपकी कमाई English Blog के मुकाबले बहुत ही कम होती है.
  • हिंदी ब्लॉग को रैंक करने के लिए आपको उसमे Hinglish या English Keyword का यूज़ करना अनिवार्य है तभी आपका ब्लॉग गूगल में रैंक करेगा.
  • हिंदी ब्लॉग लिखने में काफ़ी सावधानी रखनी पड़ती है जैसे – वर्तनी, शब्द और उसके अर्थ को सही लिखना.
  • हिंदी में ब्लॉग पोस्ट के लिए सही Keyword Planner Tool का न होना या गलत रिजल्ट दिखाना.

Hindi या English : किस भाषा में Blogging करें?

यदि आपको हिंदी भाषा का पूरा ज्यादा ज्ञान है और आप हिंदी को आसानी बोल सकते है और समझ सकते है तो आपको हिंदी भाषा का चुनाव करना चाहिए न की इंग्लिश.

आपको हिंदी बिलकुल नही आती है तो आपको हिंदी में Blog बनाने की बजाय, English में अपना ब्लॉग बनाना चाहिए.

इंग्लिश में ब्लॉग बनाने के लिए आपको सही नीच का चुनाव करना होगा. अन्यथा आपको High कॉम्पीटिशन का सामना करना पड़ सकता है.

hindi vs English में आपको जयादा कमाई English ब्लॉग में ही होगी. क्यों की इंग्लिश में आपको Ads Click की CPC हाई मिलती है.

English में Blogging करने के फायदे

  • English में Blogging करने पर आपकी कमाई हिंदी के मुकाबले बहुत ज्यादा होगी.
  • English पूरी दुनिया में बोली और समझी जाती है इस लिए आपको आपके ब्लॉग को Rich अच्छी मिलेगी.
  • English में Blogging करने से आपको Online Earning भी ज्यादा होगी..
  • English ब्लॉग पर हिंदी के मुकाबले अच्छा ट्रैफिक आता है.
  • English ब्लॉग के लिए आसानी से Keyword Planner Tool मिल जाते है जो आपको सही रिजल्ट दिखाते है.

English में Blogging करने से नुकसान

  • English में ब्लॉग्गिंग करने पर आपको Google Adsense approval आसानी से नही मिलता है.
  • इंग्लिश ब्लॉग में आपको high कॉम्पीटिशन मिलता है चाहे आप किसी भी नीच से ब्लॉग्गिंग करते हो.
  • इंग्लिश में आपको Grammar का ध्यान रखना पड़ता है क्यों की इसके एक शब्द से कई अर्थ बनाते है.
  • इंग्लिश में blogging करने के लिए आपको English यानि अंग्रेजी का सही ज्ञान होना चाहिए.

Hindi VS HInglish VS English : कौन सी भाषा Blogging के लिए सही है?

हमने आपको इस लेख में Hindi VS Hinglish VS English भाषाओ के बारें में बताया है अब आपको यह निर्णय लेना है की आप किस भाषा में अपना ब्लॉग स्टार्ट करते है.

यदि आपको इंग्लिश का ज्ञान नही है तो आपको हम हिंदी भाषा में अपना ब्लॉग बनाने की सलाह देते है. इसके आप स्वयं निर्णय लेवे की आपको किस भाषा में ब्लॉग्गिंग करना है.

बहुत से नये ब्लॉगर शुरुआत में ज्यादा कमाई के चक्कर में english ब्लॉग बना लेते है पर उस पर सही तरीके से काम नहीं करने से बिच में ही छोड़ देते है. इस लिए आप अपनी भाषा में अपना ब्लॉग बनाये और लिखते रहिये.

निष्कर्ष

दोस्तों इस लिख में हमने आपको Hindi VS Hinglish VS English : कौन सी भाषा Blogging के लिए सही है? इसके बारें में विस्तार से बताया है. यदि आपको अब भी blogging के लिए Hindi VS Hinglish या इंग्लिश के चुनाव करने में दिक्कत हो रही है तो अभी हमसे comment में बिना किसी संकोच के पुछ सकते है.

Hindi VS Hinglish और Hindi VS englishWhich Better for Blogging को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें.

Ranjeet Singh
Ranjeet Singh

नमस्कार ! मेरा नाम रणजीत सिंह है और मुझे इन्टरनेट पर लोगो की मदद करने में रूचि है. साथ ही techshole.com का Owner हु इस Blog पर में Blogging और Earn Money Online इत्यादि इन्टरनेट से जुडी जानकारी हिंदी में शेयर करता हु! हमारे ब्लॉग पर आने के लिए धन्यवाद .

Hindi VS Hinglish VS English किस भाषा में Blogging की शुरुआत करें और क्या Blogging हिंदी में करना चाहिए.
error:
Copy link
Powered by Social Snap