HTTP और HTTPS क्या है – HTTP और HTTPS में क्या अंतर है?

http vs https in Hindi: हमें पता है की आप Google पर यही खोजते हुए आये है की HTTP क्या है? (http in hindi) और HTTPS क्या है? (https in hindi) और यह कैसे काम करता है इसके अलावा आपको हम इस पोस्ट में HTTP और HTTPS में क्या अंतर है? बताने वाले है.

तो चलिए शुरुआत से शुरू करते हुए Http full form और https full form के बारे विस्तार से जानते है.

HTTP & HTTPS क्या है? http full form क्या होता है और HTTP और HTTPS में क्या अंतर है?

दरअसल हम जब भी किसी ब्राउज़र के तहत वेबसाइट ब्राउज़ करते है तो हमे उस वेबसाइट के URL के शुरुआत में http:// या https:// दिखाई देता है. क्यों की यह दोनों internet protocol होते है. हमे पता है की आप इंटरनेट का उपयोग करते है, तो आपको Hyper Text Transfer Protocol के बारे विस्तार से पूरी तरह जानना चाहिए.

HTTP क्या है (http full Form In Hindi)

HTTP का पूरा नाम (full form) हाइपरटेक्स्ट ट्रांसफर प्रोटोकॉल (Hypertext Transfer Protocol) होता है.

HTTP का उपयोग किसी भी Web Page तक पहुँचने और उस page के Text, Image, Video, Audio और अन्य किसी भी file को transfer करने में किया जाता है.

http एक नेटवर्क प्रोटोकॉल है जो Web Browser से सर्वर के बीच सूचनाओ का आदान प्रदान करता है और Word Wide Web में ही एचटीटीपी का उपयोग होता है.

http प्रोटोकॉल यह सुनिश्चित करता है की वेबसाइट में transfer होने वाला डाटा किस format में होगा. यह सर्वर को अलग- अलग कमांड्स के साथ डाटा transfer करने में सक्षम होता है.

web पेजों को खोलने के लिए आज हमें किसी भी Browser में http को लिखना नही पड़ता है क्यों की यह BY default ही http का उपयोग करता है. जब हम किसी भी Url को डालते है तो Automatic ही एचटीटीपी पर दिखाई देने लगता है.

एचटीटीपी प्रोटोकॉल का ज्यादा उपयोग सभी नयी वेबसाइटों के लिए किया जाता है. यह प्रोटोकॉल किसी भी वेबसाइट के लिए सुरक्षित नही होता है. इसमें ब्राउज़र से सर्वर तक जाने वाले डाटा को चोरी किया जा सकता है. http किसी भी Online money transfer के लिए सुरक्षित नही होता है.

तो आपको पता चल  ही गया होगा की HTTP क्या है और HTTP Full Form क्या होता है. तो चलिए जानते है HTTPS क्या होता है? और https Full Form क्या होता है.

HTTP कैसे काम करता है?

एचटीटीपी का उपयोग तब होता है जब हम किसी विशेष फ़ाइल या वेब पृष्ठ तक पहुंचने के लिए अपने वेब ब्राउज़र में एक किसी URL को दर्ज करते हैं. तो एचटीटीपी प्रोटोकॉल सर्वर से जानकारी प्राप्त करता है और वेब पेज पर उस अनुरोध को सामने दिखता है . इसके लिए पृष्ठ के पते से पहले आपको http लिखना होता है.

जैसे : – http://techshole.com

HTTPS क्या है (https Full Form In Hindi)

HTTPS का पूरा नाम (full form) हाइपरटेक्स्ट ट्रान्सफर प्रोटोकॉल सिक्योर (Hypertext Transfer Protocol Secure) होता है.

HTTPS एचटीटीपी का एडवांस version होता है. यह http से बहुत ही सिक्योर होता है. आज कल बहुत से वेबसाइट इसी प्रोटोकॉल का इस्तेमाल करते है. https का उपयोग करने के लिए किसी भी वेबसाइट को SSL Certificate को लगाने की आवश्यकता होती है.

HTTPS प्रोटोकॉल एक एडवांस SSL (Secure Sockets Layer) सर्टिफिकेट को Use करके Encrypt करता है, जो की सर्वर और ब्राउज़र के बीच एक सुरक्षित Layer का काम करते हुए एक encrypted कनेक्शन को तेयार करता है, जिससे कोई भी जानकारी सर्वर और ब्राउज़र के बीच transfer होने समय चोरी नही हो पाती है.

यह किसी भी online money transfer करने के लिए बिल्कुल सुरक्षित होता है. HTTPS का इस्तेमाल करने वाली वेबसाइटों के लिए यह एक डिजिटल प्रमाणपत्र होता है. इस प्रमाणपत्र को देने वाली कंपनियों मुख्य है जैसे Let’s Encrypt, cloudflare.

किसी भी वेबसाइट के लिए Free SSL लगाने के लिए Cloudflare SSL काफी बढिया होता है और यह आपको फ्री CDN भी देता है.

HTTPS कैसे काम करता है?

https प्रोटोकॉल ब्राउज़र और सर्वर के बीच में एक सुरक्षा परत बनता है जिससे कोई भी हैकर आपके द्वारा ब्राउज किये डाटा को read नही कर पता है. यह डाटा को encrypted करते हुए transfer करता है इस लिए यह बहुत ही सुरक्षित होता है.

मान लीजिये आप किसी भी shopping साईट से कोई सामान online खरीद रहे है तो आपको उस सामान को खरीदने के लिए online Payment जरुर की होगी . यदि उस साईट पर SSL नही होता तो आपके पेमेंट की details हैकर चुरा लेता. इस लिए ज्यादातर वेबसाइट पर SSL सर्टिफिकेट लगा होता है ताकि कोई उस वेबसाइट को कोई हैक न कर पाए.

HTTP और HTTPS में क्या अंतर (difference between http and https In Hindi)

विषयHTTPHTTPS
आविष्कार कर्ता विकिपीडिया के अनुसार HTTP की खोज  1989 में CERN में टिम बर्नर्स-ली द्वारा किया गया था.नेटस्केप कम्युनिकेशंस ने सन 1994 में अपने ही नेटस्केप नेविगेटर वेब ब्राउज़र के लिए HTTPS को बनाया था.
ProtocolHTTP एक TCP / IP प्रोटोकॉल का इस्तेमाल  करता है .HTTPS भी HTTP के ही प्रोटोकॉल उपयोग करता है परन्तु यह  एन्क्रिप्टेड TLS / SSL कनेक्शन का इस्तेमाल करते हुए.
URLHTTP से जुड़ा URL http:// से शुरू होता है .HTTPS से जुड़े  URL https:// से होती है.
Securityएचटीटीपी की Security बहुत ही कम होती है इस कारण से हैकर इसके डाटा आसानी से चुरा सकते है.HTTPS एक Security लेयर का उपयोग करता है इसलिए यह  एक सुरक्षित प्रोटोकॉल है.
SSL Certificatehttp को लगाने के लिए किसी भी SSL Certificate की आवश्यकता नही होती है.https को लगाने के लिए वेबसाइट को SSL Certificate की जरूरत होती है.
Speedhttp की speed https की तुलना में बहुत बढिया होती है .https की speed धीमी होती है क्यों की यह अतिरिक्त सुरक्षा लेयर को तेयार करता है. परन्तु आप इसके द्वारा भी अपनी वेबसाइट की speed बढ़ा सकते है.
Trustयह भरोसे के लायक नही होता है.https पर आप विश्वास के साथ भरोसा कर  सकते है.
AMPhttp के साथ Amp का उपयोग नही होता है.Accelerated mobile pages यानि amp के इस्तेमाल के लिए आपको HTTPS SSL लगाना पड़ेगा.
Hackingएचटीटीपी में हैकिंग की गुंजाइश होती है.HTTPS में Hacking की सम्भावना न के बराबर होती है.
Port
HTTP port 80 का उपयोग करता है.
HTTPS पोर्ट 443 का उपयोग करता है.
Ranking FactorHTTP आपकी वेबसाइट की Google रैंकिंग में कोई Improvement नही करता है.यदि website को google पर रैंक करना है तो आपको HTTPS का उपयोग जरुर करना चाहिए.
Data TransferHTTP जब भी Data Transfer करता है तो यह  डेटा को एन्क्रिप्ट नहीं करता है. जिससे हैकिंग का चांस बढ़ जाता है.HTTPS जब भी Data Transfer से पहले ही डेटा को Encrypt करता है.
Useयह नई वेबसाइट ही लगती है जो डेवेलपमेंट में हो.ज्यादातर वेबसाइट, ब्लॉग, HTTPS का उपयोग करते है ताकि यूजर का trust बना रहे.
LockHTTP का उपयोग करने  वाले वाले साईट पर ब्राउज़र RED LOCK दर्शाता है. HTTPS का इस्तेमाल करने वाले वेबसाइट पर ब्राउज़र GREEN Lock दिखाता है.
Paidयह वेबसाइट के URL डिफाल्ट रूप में add होता है इस लिए इसे खरीदना नही पड़ता है.HTTPS को किसी भी वेबसाइट पर लगाने के लिए खरीदने की आवश्यकता होती है.
HTTP और HTTPS में क्या अंतर है

अंतिम शब्द – एचटीटीपी और एचटीटीपीएस क्या है हिंदी में

एचटीटीपीएस आपके वेब ब्राउज़र में सर्च की गयी वेबसाइट के सुरक्षित होने का प्रमाण है इसलिए HTTPS का उपयोग कर रही वेबसाइट का उपयोग करें.

हमने आपको इस पोस्ट HTTP & HTTPS क्या है इनका full form क्या होता है और HTTP और HTTPS में क्या अंतर है? के बारे में विस्तार से बताया है.

यदि आपको इस पोस्ट से जुड़ा कोई प्रश्न है तो हमे कमेंट box में जरुर पूछ लेवें.

पोस्ट को रेटिंग देवें

नमस्कार ! मेरा नाम रणजीत सिंह है और मुझे इन्टरनेट पर लोगो की मदद करने में रूचि है. साथ ही Techshole.com का Fownder हु. इस Best Hindi Blog पर Blogging और Earn Money Online इत्यादि इन्टरनेट से जुडी जानकारी हिंदी में शेयर करता हु! हमारे ब्लॉग पर आने के लिए धन्यवाद.

1 thought on “HTTP और HTTPS क्या है – HTTP और HTTPS में क्या अंतर है?”

  1. Aapne is article me bahut achchi jankari di hai…

    Harek bat ko achche se samjhaya hai…

    Mera bhi ek blog http://www.qora.in hai…

    jisme koi bhi apna question aur answer de sakta hai…

    Please aap ek backlink de dijiye…

    Reply

Leave a Comment