इंटरनेट क्या है निबंध, लाभ, उपयोग, कैसे काम करता है | Internet In Hindi

Internet Kya Hai In Hindi: इंटरनेट का इस्तेमाल हम सभी दैनिक जीवन में करते है, और आज इंटरनेट और कंप्यूटर मानव जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है. इंटरनेट मानवीय सभ्यता की सबसे बड़ी खोजों में से एक हैं जिसने पूरी दुनिया को आपस में जोड़ा है.

आधुनिक समय में इंटरनेट का इस्तेमाल इतना अधिक किया जा रहा है लेकिन फिर भी बहुत सारे लोगों तो पता नहीं होता है कि आखिर ये Internet क्या है. वे गूगल पर इंटरनेट से सम्बंधित तमाम प्रकार के प्रश्नों के जवाब ढूंढते रहते हैं, जैसे कि इंटरनेट का मालिक कौन है, इंटरनेट की ख़ोज किसने की, इंटरनेट कैसे चलता है, भारत में इंटरनेट कब आया आदि प्रकार के सवाल लोगों के जहन में उठते रहते हैं.

आपके सवालों का संतोषपूर्ण जवाब देने के लिए हमने यह लेख लिखा है. इस लेख में हमने कोशिस की है कि आपको इंटरनेट से सम्बंधित सारी जानकारी उपलब्ध करवाई जाए जिससे कि आपके मन में इंटरनेट से सम्बंधित सारे Doubt Clear हो सकें.

इस लेख में आपको अपने सवालों के जवाब के साथ अनेक सारी जानकारी भी मिलने वाली है जैसे कि इंटरनेट क्या है, इंटरनेट का इतिहास, इंटरनेट की खोज किसने की, इंटरनेट के प्रकार, इंटरनेट के उपयोग, इंटरनेट की सेवाएँ, इंटरनेट के फायदे और नुकसान.

इंटरनेट क्या है इसका निबंध, लाभ, उपयोग और कैसे काम करता है (Internet in Hindi)

यह लेख अन्य लेखों की तुलना में बड़ा हो सकता है लेकिन इसमें आपको बहुत सारी जानकारी प्राप्त होने वाली है, इसलिए आप इस लेख को पूरा अंत तक जरुर पढ़ें. तो चलिए आपका ज्यादा समय न लेते हुए शुरू करते हैं इस लेख को और जानते हैं इंटरनेट क्या है इस पर निबंध हिंदी में.

इंटरनेट क्या है (What is Internet in Hindi)

अनुक्रम दिखाएँ

Internet दो शब्दों से मिलकर बना है Inter और Network. जिसमें Inter का मतलब होता है एक दुसरे से जुड़ा हुआ और Network का मतलब होता है जाल. इंटरनेट एक ऐसा जाल है जिसके द्वारा दुनिया भर के कंप्यूटर को आपस में जोड़ा जाता है. ये कंप्यूटर वायर्ड या वायरलेस तरीके से आपस में जुड़े रहते हैं और डाटा का आदान – प्रदान करते हैं.

सीधे शब्दों में कहें तो Internet एक ग्लोबल नेटवर्क है जिसके द्वारा दुनिया भर के कंप्यूटर और अन्य इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस आपस में जुड़े रहते हैं और आसानी से डेटा का Transfer करते हैं. इंटरनेट दुनिया का सबसे बड़ा नेटवर्क है. इंटरनेट पर डिवाइस एक दुसरे से ताम्बे के तारों, फाइबर ऑप्टिकल केबल या वायरलेस कनेक्शन के द्वारा आपस में जुड़े रहते हैं. इंटरनेट सूचना तकनीकी की सबसे आधुनिक प्रणाली है.

हिंदी में इंटरनेट का मतलब अंतरजाल होता है, कई लोग इसे short में Net भी कहते हैं. इंटरनेट लोगों तथा कंप्यूटरों को विश्वस्तर पर आपस में एक साथ जोड़ता है.

इंटरनेट की परिभाषा (Definition of Internet in Hindi)

इंटरनेट एक वाइड एरिया नेटवर्क (WAN) है जिसके द्वारा दुनियाभर के कंप्यूटर और इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस एक दुसरे से आपस में जुड़कर डेटा का आदान – प्रदान करते हैं.

इंटरनेट का हिंदी में मतलब (Internet Meaning in Hindi)

इंटरनेट को अंग्रेजी के एक शब्द Internetworked से लिया गया है. हिंदी में इंटरनेट को अंतरजाल कहते हैं. सामान्य भाषा में इंटरनेट को हिंदी में महाजाल भी कहा जाता है.

इंटरनेट का पूरा नाम (Internet Full Form in Hindi)

इंटरनेट का फुल फॉर्म Inter Connected Network (इंटर कनेक्टेड नेटवर्क) होता है.

इंटरनेट का इतिहास (History of Internet in Hindi)

इंटरनेट के इतिहास की बात करें तो 1969 में ARPANET नाम से एक नेटवर्क स्थापित किया गया जिसे कि चार यूनिवर्सिटी के  कंप्यूटरों को जोड़कर बनाया गया था. यह अमेरिकी सेना के लिए बनाया गया था क्योंकि शीत युद्ध के दौरान अमेरिकी सैनिक बेहतर संचार सेवा चाहती थी. यहीं से इंटरनेट की शुरुवात हुई.

1972 तक ARPANET में 37 कंप्यूटर जुड़ चुके थे और अगले ही साल इसका विस्तार इंग्लैंड और नार्वे में भी हो गया. शुरुवात में इंटरनेट को गोपनीय जानकारी भेजने के लिए इस्तेमाल किया जाता था.

धीरे – धीरे जब ARPANET को सामान्य लोगों द्वारा प्रयोग में लाया जाने लगा तो इसका नाम टेलनेट रख दिया गया. 1982 में नेटवर्क के लिए सामान्य नियम बनाये गए इन नियमों को Protocol कहा गया. 1990 में ARPANET को हमेशा के लिए समाप्त कर दिया गया और इस नेटवर्क को Internet नाम दिया गया.

6 अगस्त 1991 में इंटरनेट पर पहली वेबसाइट बनी, जिसमें कि world wide प्रोजेक्ट के बारे में जानकारी थी. इस वेबसाइट को Tim Berners-Lee ने बनाया था. इस वेबसाइट का URL http://info.cern.ch/hypertext/WWW/TheProject.html है. जो कि आज भी Live है. 

बस यहीं से इंटरनेट की शुरुवात हुई और धीरे – धीरे यह पूरी दुनिया में फ़ैल गया. आज इंटरनेट लोगों की एक आम जरुरत बन चूका है.

भारत में इंटरनेट का इतिहास (Internet History in India)

भारत में इंटरनेट का पहली बार इस्तेमाल 15 अगस्त 1995 में हुआ था. उस समय की सबसे बड़ी टेलिकॉम कम्पनी VSNL (विदेश संचार निगम लिमिटेड) ने भारत में इंटरनेट की सुविधा प्रदान की थी.

बस यहीं से भारत में इंटरनेट की शुरुवात हुई और 1996 में Radifmail नाम से एक Email वेबसाइट की शुरुवात हुई. 2000 में भारत में Technology Act लागू हुआ और इसी साल Yahoo इंडिया और MSN इंडिया की भी शुरुवात हुई. आज भारत में इंटरनेट इस्तेमाल करने के मामले में दुनिया का दूसरा देश बन चुका है.

इंटरनेट का मालिक कौन है

अक्सर अनेक सारे लोग इंटरनेट पर यह सर्च करते हैं कि इंटरनेट का मालिक कौन है. हर एक वस्तु का कोई न कोई मालिक जरुर होता है पर इंटरनेट के केस में यह बात सही नहीं है क्योंकि इंटरनेट का मालिक कोई भी नहीं है. किसी भी देश, कम्पनी, या सरकार का इंटरनेट पर पूर्ण रूप से अधिकार नहीं है. पूरी दुनिया में इंटरनेट के मुख्य रूप से 5 डेटाबेस हैं, जहाँ पर हर प्रकार का डेटा स्टोर रहता है.

इंटरनेट की खोज किसने की

इंटरनेट की खोज कर पाना किसी एक व्यक्ति के लिए संभव नहीं था. हजारों वैज्ञानिकों और इंजिनियर ने मिलकर इस विशाल नेटवर्क की स्थापना की. 1967 में शीतयुद्ध के दौरान ARPANET (Advance Research Project Agency Network) नाम से इंटरनेट की शुरुवात हुई. जिसमें कि अमेरिका के चार यूनिवर्सिटी के कंप्यूटरों को आपस में जोड़ा गया था.

अगर आप इंटरनेट के असली अविष्कारक के बारे में जानना चाहते हैं तो यह Bob Kahn और Vint Cerf हैं जिन्होंने के उन framework का आविष्कार किया जिनका इस्तेमाल आज भी किया जा रहा है. उन्होंने इंटरनेट के लिए नियम निर्धारित किये और उन्हें TCP (ट्रांसमिशन कण्ट्रोल प्रोटोकॉल) का नाम दिया गया. बाद में उन्होंने एक और protocol को जोड़ा जिसे IP (Internet Protocol) कहते हैं.

जिस इंटरनेट का इस्तेमाल आज हम करते हैं उसमें अभी तक TCP/ IP Protocol का इस्तेमाल किया जाता है.

इंटरनेट कैसे बनाया जाता है

इंटरनेट को बनाने के लिए सबसे पहले डेटाबेस सर्वर स्थापित किये जाते हैं और इसके बाद इन सर्वर को IP और TCP टेक्नोलॉजी के द्वारा फाइबर केबल की मदद से आपस में जोड़ दिया जाता है.

इसके बाद इन केबल की मदद से दुनिया के अन्य बड़े सर्वर को जोड़ दिया जाता है और इस प्रकार से इंटरनेट का जाल बनकर तैयार हो जाता है. ऑप्टिकल केबल को दुनियाभर के देशों की बड़ी – बड़ी कंपनिया समुद्र में बिछाती हैं. भारत में टाटा कम्युनिकेशन ने समुद्र में ऑप्टिकल केबल बिछाई हुई हैं.

अब वह डेटाबेस राऊटर के माध्यम से कंप्यूटर से वायर्ड या वायरलेस तरीके से जुड़े होते हैं. जिसके द्वारा आप बड़ी आसानी से इंटरनेट चला सकते हैं.

इंटरनेट कैसे चलता है

“Internet क्या होता है” पढने पर आपके मन में यह सवाल भी आ रहा होगा कि आखिर इंटरनेट चलता कैसे है. तो चलिए इसका जवाब भी जानते हैं.

जैसा कि हमने लेख में पहले जाना कि इंटरनेट में अनेक सारे कंप्यूटर और इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस आपस में जुड़े रहते हैं. हमें इंटरनेट चलाने के लिए इंटरनेट सर्विस प्रदाताओं से कनेक्शन लेना पड़ता है.

चूँकि इंटरनेट सर्विस प्रदाता इंटरनेट से जुड़े रहते हैं तो वे हमें इंटरनेट से जुड़ने का एक रास्ता प्रदान करते हैं, और जब हमें यह कनेक्शन मिल जाता है तो हम अपने कंप्यूटर या मोबाइल में इंटरनेट चला सकते हैं. इंटरनेट को हम अपने कंप्यूटर में वायर्ड या वायरलेस तरीके से एक्सेस कर सकते हैं. 

इंटरनेट के प्रकार (Type of Internet in Hindi)

इंटरनेट एक सावर्जनिक नेटवर्क है जिसका इस्तेमाल कोई भी कर सकता है. लेकिन इंटरनेट भी दो प्रकार के होते हैं. तो चलिए अब इंटरनेट के प्रकार के बारे में जानते हैं –

  • Intranet (इंट्रानेट)
  • Extranet (एक्सट्रानेट)

1 – Intranet क्या है

Intranet भी एक प्रकार का इंटरनेट नेटवर्क है. लेकिन यह नेटवर्क प्राइवेट होता है. इंट्रानेट का इस्तेमाल अधिकतर कम्पनी अपने कंप्यूटर को सुरक्षित तरीके से कनेक्ट करने के लिए करती है. बिना Username और Password के इसे इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है.

इंट्रानेट भी एक प्रकार का नेटवर्क है जिसका इस्तेमाल कोई बाहरी व्यक्ति नहीं कर सकता है. सुरक्षित तरीके से डेटा ट्रान्सफर करने के लिए Intranet का इस्तेमाल किया जाता है.

2 – Extranet क्या है

Extranet भी एक प्रकार का प्राइवेट नेटवर्क होता है जो कि पब्लिक इंटरनेट की मदद से एक ब्रांच से दुसरे ब्रांच में कनेक्ट रहता है. Extranet का इस्तेमाल करने के लिए भी यूजर को Username और Password की जरुरत होती है. पब्लिक इंटरनेट से इंट्रानेट में जाने की प्रक्रिया Extranet कहलाती है.

इंटरनेट के उपयोग (Uses of Internet in Hindi)

आज के समय दुनिया के अधिकतर काम इंटरनेट के जरिये ही होते हैं इसलिए इंटरनेट का इस्तेमाल लगभग सभी कंपनी, स्कूल, कॉलेज आदि करते हैं. इंटरनेट के बिना जीवन अब मुश्किल से लगता है. चलिए जानते हैं इंटरनेट का इस्तेमाल कहाँ – कहाँ होता है. इंटरनेट के कुछ प्रमुख उपयोग निम्न प्रकार से हैं –

1 – संचार में इंटरनेट का उपयोग

संचार का मतलब होता है एक स्थान से दुसरे स्थान तक इनफार्मेशन को Text, Audio, Video आदि के Format में पहुँचाना. इंटरनेट के आने से संचार करना बहुत ही आसान हो गया है. अनेकों सोशल मीडिया एप्प के द्वारा आप किसी दुसरे देश में बैठे व्यक्ति तक भी अपनी बात पहुंचा सकते हैं. विडियो कॉल कर सकते हैं, Text, Voice मैसेज भेज सकते हैं. यह सब करना इंटरनेट के द्वारा भी संभव हुआ है. इंटरनेट ने संचार को इतना आसान बना दिया है कि आप अपने से दूर रह रहे परिजन से इस प्रकार बातें कर सकते हैं जैसे कि वह आपके सामने ही हो.

2 – शिक्षा के क्षेत्र में इंटरनेट का उपयोग

शिक्षा के क्षेत्र में भी इंटरनेट का इस्तेमाल बखूबी किया जाता है. ऑनलाइन एजुकेशन के द्वारा Student घर बैठे किसी भी विषय के बारे में सीख सकते हैं. इंटरनेट पर आपको हर एक Subject के अनेक सारे विडियो क्लास, टुटोरिअल मिल जायेंगे जिनके द्वारा आप घर बैठे भी अपनी शिक्षा प्राप्त कर सकते हो.

Lockdown में इंटरनेट ने शिक्षा में अपना अहम् योगदान दिया, बच्चे Zoom App जैसे एप्लीकेशन के द्वारा घर बैठे अपनी शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं.

इसके साथ ही इंटरनेट पर अनेक सारे Education Platform उपलब्ध हैं जैसे Unacademy, WhiteHat JR आदि, जिनके द्वारा Student घर बैठे नयी Skill को सीख सकते हैं और अपना भविष्य उज्जवल बना सकते हैं.

3 – रिसर्च करने में इंटरनेट का उपयोग

किसी भी विषय के ऊपर रिसर्च करने के लिए शोधकर्ता को अनेक सारे किताबों को पढना पड़ता है, जिससे कि वह उन विषय के बारे में गहराई से जान सके. लेकिन यह सब करने में कई महीनों और सालों का समय लग जाता हैं क्योंकि बहुत सारी जानकारी एकत्र करनी होती है.

लेकिन इंटरनेट के आने से यह काम कुछ ही घंटों में किया जाता है. क्योंकि शोधकर्ता को जिस भी विषय के बारे में जानकारी चाहिए वह इंटरनेट पर पहले से उपलब्ध मिलती है. शोधकर्ता इंटरनेट पर सर्च करके एक विषय में बारे में बहुत साड़ी जानकारी एकत्र कर सकता है. इंटरनेट के द्वारा शोधकर्ता कम समय में अधिक जानकरी प्राप्त कर सकता है.

4 – ऑनलाइन बुकिंग में इंटरनेट का उपयोग

एक समय था जब ट्रेन, हवाई जहाजों की टिकट आदि को Book करने के लिए लम्बी कतारों में खड़े रहना पड़ता था. लेकिन इंटरनेट के आने से यह कतारें ख़त्म हुए. आप ऑनलाइन ट्रेन, बस , हवाई जहाज, आदि की टिकट बुकिंग कर सकते हैं. इनके अलावा आप अपने दैनिक जीवन में उपयोग होने वाली वस्तुओं जैसे गैस की बुकिंग भी ऑनलाइन कर सकते हैं. इंटरनेट के आने से लोगों को लम्बी कतारों से छुटकारा मिला.

5 – बैंकिंग में इंटरनेट का इस्तेमाल

वर्तमान समय में बैंकिंग में भी इंटरनेट का इस्तेमाल बखूबी किया जाता है. एक ओर जहाँ पहले किसी भी प्रकार की लेन – देन के लिए बैंक में जाना पड़ता था वहीँ इंटरनेट का उपयोग बढ़ने से आप ऑनलाइन घर बैठे चुटकियों में पैसों की लेन – देन कर सकते हैं.

6 – बिल पेमेंट में इंटरनेट का उपयोग

इंटरनेट के द्वारा आप ऑनलाइन अपने गैस, बिजली, पानी आदि के बिलों का भुगतान कर सकते हैं. आप जब कहीं घुमने निकलते हैं तो आपको ज्यादा cash की जरुरत नहीं पड़ती है. ऑनलाइन पेमेंट के द्वारा आप अपने खर्चों का भुगतान कर सकते हैं.

7 – नौकरी ढूंढने में इंटरनेट का उपयोग

अपनी योग्यता के अनुसार नौकरी प्राप्त करने के लिए इंटरनेट का सहारा लिया जाता है. इंटरनेट के द्वारा आप पता कर सकते हैं कि किस कंपनी में कौन से पद के लिए vacancy है, इंटरव्यू की Timing क्या है, किस प्रकार की job है. आजकल बहुत सारे लोग इंटरनेट के द्वारा ही जॉब प्राप्त करते हैं.

8 – बिज़नस मीटिंग में इंटरनेट का उपयोग

इंटरनेट के द्वारा बिज़नस मीटिंग भी किये जाते हैं. और आजकल बिज़नस स्टाफ ऑनलाइन मीटिंग को ही ज्यादा प्राथमिकता देते हैं.

9 – नए दोस्त बनाने में इंटरनेट का उपयोग

लोग अकेलेपन को दूर करने के लिए नए दोस्त बनाने के लिए भी इंटरनेट की मदद लेते हैं.सोशल मीडिया के द्वारा लोग नए लोगों से जुड़ते हैं उनसे बातें करते हैं और दोस्ती करते हैं, जिससे कि उन्हें अकेलेपन का अहसास नहीं होता है.

10 – मनोरंजन के क्षेत्र में इंटरनेट का उपयोग

इंटरनेट का इस्तेमाल लोग मनोरंजन के लिए भी करते है. इंटरनेट पर Movie, Funny  Video आदि देखकर लोग खाली समय में अपना मनोरंजन करते हैं. जिन्हें गेम खेलना पसंद है वह गेम खेलकर अपना मनोरंजन करते हैं.

11 – शौपिंग करने में इंटरनेट का उपयोग

इंटरनेट के द्वारा लोग Online Shopping करते हैं जिससे कि समय की बचत भी होती है. पहले Shopping करने के लिए बाजार में जाना पड़ता था और लगभग पूरा दिन Shopping में निकल जाता था. लेकिन इंटरनेट के प्रचलित होने से शौपिंग करना बहुत आसान हो गया है.

12 – फाइल को अपलोड या डाउनलोड करने में इंटरनेट का उपयोग

किसी फाइल को डाउनलोड करने के लिए इंटरनेट का इस्तेमाल किया जाता है. इंटरनेट के द्वारा दुनिया के लगभग सभी Server आपस में Connect रहते हैं इसलिए किसी भी प्रकार की फाइल इंटरनेट पर आसानी से उपलब्ध मिल जाती है. इंटरनेट के उपयोग फाइल को अपलोड करने के लिए भी किया जाता है.

13 – दुनिया से अपडेट रहने में

दुनिया के किस कोने में क्या चल रहा है इंटरनेट के द्वारा इसका आसानी से पता चल जाता है. देश – विदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए भी लोग इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं.

14 – ऑनलाइन पैसे कमाने में

इंटरनेट का उपयोग दुनिया भर के लोग ऑनलाइन पैसे कमाने के लिए करते हैं, Blogging , Affiliate Marketing, Youtube, Freelancing आदि ऐसे माध्यम हैं जिनके द्वारा लोग इंटरनेट की मदद से ऑनलाइन लाखों रूपये की कमाई कर रहें हैं.

इंटरनेट की सेवाओं का परिचय

इंटरनेट की अनेक सेवाएँ हैं जिनमें से कुछ सेवाओं का जिक्र हमने नीचे किया है 

  • फाइल ट्रान्सफर प्रोटोकॉल (FTP) – FTP का इस्तेमाल एक कंप्यूटर नेटवर्क से दुसरे कंप्यूटर नेटवर्क में फाइल ट्रान्सफर करने के लिए किया जाता है.
  • आर्ची (Archie) – FTP में स्टोर फाइल को खोजने के लिए आर्ची का इस्तेमाल किया जाता है.
  • इलेक्ट्रॉनिक मेल (E-mail) – ईमेल के माध्यम से सूचनाओं या संदेशों को भेजा या प्राप्त किया जाता है.
  • वर्ल्ड वाइड वेब (www) – www के द्वारा यूजर अपनी सेवाओं या संस्था से सम्बंधित सूचना को पूरी दुनिया में कहीं भी भेज सकता है.
  • यूज़नेट – यूज़नेट के द्वारा यूजर अलग – अलग समूहों से अपने लिए जरुरी सूचना एकत्र कर सकता है.
  • टेलनेट – टेलनेट के द्वारा यूजर अपने डेटा का हस्तांतरण कर सकता है. इसका इस्तेमाल करने के लिए Username और Password की जरुरत होती है.

इंटरनेट के फायदे (Advantage of Internet in Hindi)

इंटरनेट के अनेक सारे लाभ होते हैं –

  1. इंटरनेट की मदद से आप ऑनलाइन जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.
  2. इंटरनेट की मदद से आप कम समय में अधिक चीजें सीख सकते हो.
  3. इंटरनेट के जरिये आप Messaging App के द्वारा विडियो, फाइल, ऑडियो आदि बड़ी आसानी से भेज सकते हो.
  4. ऑनलाइन सर्विस में इंटरनेट का सबसे बड़ा फायदा है, इंटरनेट के माध्यम से आप Online बुकिंग, Recharge, Bill Payment, Shopping जैसे ढेरों चीजें कर सकते हो.
  5. इंटरनेट के द्वारा आप ऑनलाइन शिक्षा भी प्राप्त कर सकते हो.
  6. विडियो कालिंग के द्वारा आप दूर बैठे अपने परिजन से इस प्रकार बातें कर सकते हो जैसे कि वह आपके सामने ही हो.
  7. जीवन में मनोरंजन भी बहुत जरुरी है. इंटरनेट में मनोरंजन के लिए बहुत सारे चीजें उपलब्ध हैं.
  8. किसी भी सरकार योजना के बारे में सम्पूर्ण जानकारी आप इंटरनेट से प्राप्त कर सकते हैं.
  9. दुनिया से up to date रहने के लिए इंटरनेट बहुत आवश्यक है.
  10. इंटरनेट से आप अपने मनपसंद गाने, विडियो. मूवी को डाउनलोड कर सकते हैं.
  11. इंटरनेट के द्वारा आप नयी मूवी को घर बैठे देख सकते हो, आपको सिनेमा हॉल जाने की जरुरत नहीं है.
  12. इंटरनेट के द्वारा आप ऑनलाइन पैसे कमा सकते हो और Boss Free Life जी सकते हो.
  13. अपनी बात, राय, विचार, प्रतिभा या अनुभव को हम इंटरनेट के द्वारा दुनिया के कोने – कोने तक पहुंचा सकते हैं.

इन सभी के अलावा भी इंटरनेट के अनेक सारे फायदे हैं जिन्होंने इंसान के जीवन को बहुत ही आसान बना दिया है. अगर हम इंटरनेट के फायदों के बारे में बात करें तो इसे कुछ शब्दों में लिख पाना असंभव है. इंटरनेट आज हर एक व्यक्ति की जरुरत बन गया है.

इंटरनेट के नुकसान (Disadvantage of Internet in Hindi)

एक ओर इंटरनेट के अनगिनत फायदे हैं वहीँ दूसरी ओर इसके कुछ नुकसान भी हैं जैसे कि –

  1. इंटरनेट में सुरक्षा का खतरा होता है, हैकर आसानी से आपके डेटा को चुरा सकते हैं और उसका गलत इस्तेमाल कर सकते हैं.
  2. इंटरनेट में धोखा – धडी का खतरा भी होता है. कई सारे लोग बहकावे में आकर अपने बैंक खाते की जानकारी हैकर को दे देते हैं जिसे कि उनके साथ Fraud हो जाता है.
  3. इंटरनेट पर एक ओर जहाँ सही इनफार्मेशन दी जाती है तो वहीं दूसरी ओर गलत खबर भी बहुत तेजी से इंटरनेट पर फैल जाती है. जिससे लोगों के मन में कई सारे भ्रम पैदा होते हैं.
  4. कंप्यूटर वायरस इंटरनेट के द्वारा किसी भी कंप्यूटर पर पहुँच जाते हैं जिससे कंप्यूटर पर बुरा प्रभाव पड़ता है.
  5. बेवजह इंटरनेट का अधिक इस्तेमाल करने से समय की बरबादी भी होती है. क्योंकि इंटरनेट चलाते समय time का बिल्कुल भी पता नहीं चलता है.
  6. इंटरनेट इस्तेमाल करने के पैसे चुकाने पड़ते हैं.
  7. इंटरनेट पर अनेक सारी अश्लीलता फैलाने वाली वेबसाइट होते हैं जिससे कि बच्चों के दिमाग में बुरा प्रभाव पड़ता है.

इंटरनेट का इस्तेमाल हमेशा सही तरीके से करना चाहिए नहीं तो यह आपके लिए नुकसानदायी ही साबित होगा.

इंटरनेट से जुडी शब्दावली

इंटरनेट में इस्तेमाल किये जाने वाले कुछ महत्वपूर्ण शब्द निम्न प्रकार हैं जिनके बारे में आपको पता होना जरुरी है –

1 – Browser (ब्राउज़र)

वेब ब्राउज़र एक माध्यम होता है जिसके द्वारा यूजर इंटरनेट एक्सेस कर पाता है.

2 – Search Engine (सर्च इंजन)

सर्च इंजन यूजर को www पर मौजूद इनफार्मेशन खोजने में मदद करता है. इंटरनेट में किसी भी जानकारी को खोजने के लिए सर्च इंजन का इस्तेमाल किया जाता है.

3 – Domain Name (डोमेन नाम)

Domain इंटरनेट पर उपलब्ध वेबसाइट का नाम होता है. इंटरनेट पर जितनी भी वेबसाइट मौजूद होती हैं उनका एक Unique नाम होता है इसे ही डोमेन नाम कहते हैं.

4 – URL (यूआरएल)

URL इंटरनेट पर मौजूद वेबसाइट का एक Web Address होता है.

5 – Server (सर्वर)

सर्वर में डेटा स्टोर रहता है. इंटरनेट पर उपलब्ध सभी डेटा किसी ने किसी सर्वर में स्टोर होता है.

इंटरनेट से सम्बंधित सामान्य प्रश्न

इंटरनेट किसे कहते हैं?

इंटरनेट एक नेटवर्क होता है जिसमें दुनियाभर के कंप्यूटर आपस में जुड़कर डेटा का आदान – प्रदान करते हैं.

इंटरनेट को हिंदी में क्या कहते हैं?

इंटरनेट को हिंदी में अंतरजाल कहते हैं.

इंटरनेट का फुल फॉर्म क्या है?

Internet का फुल फॉर्म Interconnected Network है.

इंटरनेट का मालिक कौन है?

इंटरनेट का मालिक कोई भी नहीं है. दुनिया के किसी भी कम्पनी, देश या सरकार इंटरनेट पर एकाधिकार नहीं है.

इंटरनेट का जनक किसे कहा जाता है?

इंटरनेट का जनक Bob Kahn और Vint Cerf को कहा जाता है क्योंकि उनके द्वारा निर्धारित किये गए protocol का इस्तेमाल आज भी किया जाता है.

इंटरनेट का पहले नाम क्या था?

इंटरनेट का सबसे पहले नाम ARPANET था.

भारत में इंटरनेट कब आया?

भारत में इंटरनेट की शुरुवात 15 अगस्त 1995 को हुई थी. VSNL टेलिकॉम कम्पनी ने इंटरनेट की सुविधा प्रदान की थी.

इंटरनेट पर पहली वेबसाइट कौन सी थी?

इंटरनेट पर बनी पहली वेबसाइट का URL http://info.cern.ch/hypertext/WWW/TheProject.html है. जिसे कि 6 अगस्त 1991 में Tim Berners Lee के द्वारा बनाया गया था.

इंटरनेट की स्थापना कब हुई?

इंटरनेट की स्थापना सन 1969 में हुई थी जिसमें कि 4 कंप्यूटर को आपस में जोड़कर एक नेटवर्क बनाया गया था. इसका नाम ARPANET रखा गया था.

इंटरनेट कहाँ से आता है?

इंटरनेट समुद्र के तलहटी में बीचे ऑप्टिकल फाइबर केबल के द्वारा आता है. इन केबल से डेटा सर्वर आपस में कनेक्ट रहते हैं.

इन्हें भी पढ़े 

आपने सीखा: इंटरनेट क्या है हिंदी में

इस लेख को पूरा पढने पर आप लोग अच्छी प्रकार से इंटरनेट के बारे में समझ गए होंगे. अगर आप इंटरनेट का सही तरीके से इस्तेमाल करते हैं तो यह आपके भविष्य को बना सकता है नहीं तो आपके लिए इंटरनेट केवल समय की बरबादी है.

इस लेख में इतना ही उम्मीद करते हैं आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह लेख Internet Kya Hai In Hindi जरुर पसंद आया होगा, इस लेख को सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करें.

Techshole इंडिया की Best हिंदी ब्लॉग में से एक बनने की दिशा में अग्रसर है. यहाँ इस ब्लॉग पर हम Blogging, Computer, Tech, इंटरनेट और पैसे कमाए से सम्बन्धित लेख साझा करते है.

1 thought on “इंटरनेट क्या है निबंध, लाभ, उपयोग, कैसे काम करता है | Internet In Hindi”

  1. Aapka article padhne ke baad feel hota hai ki apne behter research ki hai , keyword ke bare me mene bhi apne sabdo me article likha hai jo ki aapke user ke valuable ho skta ek bar jarur read kare.

    Reply

Leave a Comment