कंप्यूटर Keyboard क्या है जानिए इसके प्रकार हिंदी में – What is Keyboard in Hindi

Computer Keyboard Kya Hai इन हिंदी : आपने कंप्यूटर में कीबोर्ड तो जरुर देखा होगा और आप जानते भी होंगे कि Keyboard कंप्यूटर में क्या काम है. 

पर आप अभी भी कीबोर्ड के बारे में बहुत कुछ नहीं जानते होंगे जैसे कि Keyboard कितने प्रकार का होता है, इसमें सभी Key का क्या काम है, कीबोर्ड की खोज किसने की और इसी प्रकार की तमाम सारी जानकारी हम आपको आज के इस लेख के द्वारा देने वाले हैं.

इस लेख को अंत तक पूरा पढ़िए इससे आपको बहुत कुछ सीखने को मिलेगा और लेख के अंत में हमने आपको Keyboard की उन सारी Shortcut Key की List दी है जो आपको पता होनी चाहिए, तो आइये बिना देरी के शुरू करते हैं इस लेख को और जानते हैं कंप्यूटर कीबोर्ड क्या होता है.

कंप्यूटर कीबोर्ड क्या है – What is Keyboard in Hindi

इस लेख में निम्न विषयों को बताया गया है

कीबोर्ड (संगणक कुंजीपटल) कंप्यूटर का एक प्रमुख इनपुट डिवाइस होता है जिसमें ऊपर बटन दिखाई देते हैं और इन बटन के द्वारा कंप्यूटर को निर्देश दिया जाता है. बिना इनपुट डिवाइस के कंप्यूटर को निर्देश नहीं दिया जा सकता है. 

कीबोर्ड की मदद से कंप्यूटर को Typing के द्वारा निर्देश दिया जाता है. कीबोर्ड को प्राइमरी इनपुट डिवाइस भी कहते हैं. 

कंप्यूटर कीबोर्ड क्या है – What is Keyboard in Hindi

कीबोर्ड के अविष्कारक (Inventor of Keyboard in Hindi) 

आज हम जिस कीबोर्ड का इस्तेमाल करते हैं उसका अविष्कार सबसे पहले सन 1868 में क्रिस्टोफ़र लैथम शोल्स ( Christopher Latham Sholes) ने किया था.

कीबोर्ड का हिंदी में नाम (Keyboard Meaning in Hindi)

कीबोर्ड को हिंदी में संगणक कुंजीपटल कहते हैं.

कीबोर्ड का पूरा नाम (Keyboard Full Form)

कीबोर्ड का फुल फॉर्म इस प्रकार से है – 

  • K – Keys (कुंजी)
  • E – Electronic (इलेक्ट्रोनिक)
  • Y – Yet (अभी तक)
  • B – Board (बोर्ड)
  • O -Operating (ऑपरेटिंग)
  • A – A To Z (ए से ज़ेड तक)
  • R – Response (प्रतिक्रिया)
  • D – Directly (सीधे)

कीबोर्ड के फुल फॉर्म का मतलब है -इलेक्ट्रॉनिक बोर्ड को ऑपरेट करके A से लेकर z कुंजी के माध्यम से कीबोर्ड  से ऑपरेटिंग प्रतिक्रिया देना है.

कीबोर्ड का चित्र – Picture of keyboard

कीबोर्ड के प्रकार (Type of Keyboard In Hindi)

कीबोर्ड को दो भागों में वर्गीकृत किया जाता है –  संरचना और कार्यपद्धिति के आधार पर 

संरचना के आधार पर कीबोर्ड का विवरण

अपनी बनावट ( Layout ) के आधार पर कीबोर्ड को दो भागों में वर्गीकृत किया जाता है –

  • QWERTY Keyboard 
  • Non QWERTY Keyboard 

QWERTY Layout Keyboard 

यह पूरी दुनिया में सबसे अधिक प्रयोग किये जाने वाले कीबोर्ड हैं, इसे भी चार भागों में बांटा गया है – 

QWERTY – इस तरह के कीबोर्ड में पहले के 6 अक्षर Q, W, E, R, T, Y होते हैं. भारत में इसी कीबोर्ड का सबसे अधिक प्रयोग होता है. 

QWERTZ – इस तरह के कीबोर्ड में पहले के 6 अक्षर Q, W, E, R, T, Z होते हैं. इस प्रकार के कीबोर्ड का उपयोग जर्मनी और मध्य यूरोप में अधिक किया जाता है. 

AZERTY – इस प्रकार के कीबोर्ड की पहली लाइन में A, Z, E, R, T, Y का इस्तेमाल किया जाता है. इस layout के कीबोर्ड में Q और W को A, Z से replace कर दिया गया है. इसका प्रयोग फ्रांस में अधिक होता है. 

 QZERTY – इस प्रकार के कीबोर्ड में W को Z से replace कर दिया गया है. इटली में इस प्रकार के कीबोर्ड का इस्तेमाल अधिक किया जाता है. 

Non QWERTY Keyboard 

इस प्रकार के कीबोर्ड में QWERTY का इस्तेमाल नहीं किया गया है, इसमें उन्ही Key को अहमियत दी गयी है जो अधिक प्रयोग किये जाते हैं. Non QWERTY Keyboard भी 3 प्रकार के होते हैं. 

Dvork – इस कीबोर्ड का अविष्कार 1930 में अमेरिका के August Dvork ने किया था. इस कीबोर्ड का उपयोग जल्दी टाइपिंग करने के लिए किया जाता है. इसमें बीच में वही Key रहती हैं जो अधिक इस्तेमाल की जाती है. 

Colemak – इस कीबोर्ड को Sahi Colemak ने 2006 में किया था, यह कीबोर्ड Dvork का सुधरा version है अधिकतर बड़ी कंपनी इस कीबोर्ड का इस्तेमाल करती हैं. 

Workman – इस कीबोर्ड को अधिकतर Programming के लिए प्रयोग किया जाता है, क्योकि इसे एक Programmer के हिसाब से ही Design किया गया है. जिससे इस कीबोर्ड से Programming करने में आसानी होती है. 

कार्य पद्धिति के आधार पर कीबोर्ड विवरण

कार्य करने के आधार पर कीबोर्ड पांच प्रकार के होते हैं, इन्हें आधुनिक कीबोर्ड भी कहा जाता है. 

  • Standard Keyboard
  • Laptop Keyboard
  • Gaming Keyboard
  • Virtual Keyboard
  • Folded Keyboard

Standard Keyboard (मानक कीबोर्ड)

हमारे दैनिक जीवन में उपयोग होने वाले कीबोर्ड, बैंक, स्कूल, ऑफिस में इस्तेमाल होने वाले कीबोर्ड को Standard Keyboard कहते हैं. कंप्यूटर पर बेसिक कार्य करने के लिए इस प्रकार के कीबोर्ड को सबसे बेहतर माना जाता है. 

Laptop Keyboard (लैपटॉप कीबोर्ड)

जो कीबोर्ड laptop में प्रयोग किये जाते हैं उन्हें Laptop Keyboard कहते हैं. laptop की संरचना के आधार पर ही इनका आकार तय किया जाता है, इनका कोई निश्चित आकर नहीं होता है. 

Gaming Keyboard (गेमिंग कीबोर्ड)

Gaming Keyboard को कंप्यूटर में गेम खेलने के लिए बनाया गया है. इन कीबोर्ड में कुछ अलग प्रकार की Key होती है जिससे Game खेलने में आसानी होती है. 

Virtual Keyboard (वर्चुअल कीबोर्ड)

यह सबसे Latest Keyboard है. इस प्रकार के कीबोर्ड में कोई बटन नहीं होता है. इसमें एक लाइट Table पर पड़ती है और Table में Keyboard बन जाता है. यह बेहद आकर्षक दीखते हैं. 

Folded Keyboard (मुड़ा हुआ कीबोर्ड)

यह भी एक Latest Technology का कीबोर्ड है इसे आप Fold करके अपने साथ कही भी ले जा सकते हैं. और जब काम हो तो इन्हें खोल कर काम भी कर सकते हैं. ज्यादा घुमने वाले के लिए यह best Keyboard है. 

कीबोर्ड के बटन/कुंजी (Key of Keyboard in Hindi)

आपके मन में कभी न कभी यह ख्याल तो जरुर आया होगा कि कीबोर्ड में कितने बटन यानि कुंजी  होते हैं और शायद कभी किसी ने आपसे पूछा भी होगा. 

इसका कोई सटीक जवाब नहीं है क्योकि कीबोर्ड की बनावट के आधार पर उसमें बटनों की संख्या भी अलग अलग होती है.

कीबोर्ड की संरचना आधार कुंजी की संख्या अलग हो सकती है ज्यादातर कीबोर्ड पर 84 बटन होते हैं तो किसी में 101, और किसी – किसी कीबोर्ड में 102 बटन भी होते हैं. 

कीबोर्ड में बटनों के प्रकार और जानकारी (Type of Keyboard Key in Hindi)

उपयोग के आधार पर keyboard key को 6 भागों में वर्गीकृत किया जाता है – 

1 – Function Key  (प्रकार्य कुंजी)

कंप्यूटर कीबोर्ड के सबसे ऊपर के बटन को जो F1 से लेकर F12 तक होते हैं उनको function key कहते हैं. ये कुल 12 Key होते हैं और सभी को किसी विशिष्ट कार्य के लिए उपयोग में लाया जाता है.

F1 से लेकर F12 तक की सभी Key का उपयोग निम्न प्रकार से होता है – 

F1 – F1 की मदद से आप कंप्यूटर में कोई सहायता ले सकते हैं, जैसे आप chrome browser में कोई सहायता चाहते हैं तो F1 को Press करके आप Google के Support Page पर पहुच जाते हो.

F2 – F2 की मदद से कंप्यूटर में किसी File या Folder का नाम बदल सकते हो ( Rename कर सकते हो).

F3 – F3 की मदद से आप Search Box को Open कर सकते हो, जैसे आप chrome पर काम कर रहे हो F3 Press करने से आपके सामने एक Search Box खुल जायेगा जिसमें आप किसी Word को सर्च करके Find कर सकते हो. 

F4 – F4 Key अधिकतर Alt और Ctrl के साथ प्रयोग की जाती है. Alt के साथ F4 का प्रयोग करने से ब्राउज़र में Tab को Close किया जाता है और Alt के साथ F4 का प्रयोग करने से System को shutdown किया जाता है. 

F5 – Computer को refresh करने के लिए F5 का इस्तेमाल किया जाता है. 

F6 – F6 Key का प्रयोग करके आप बिना माउस से ब्राउज़र के Address Bar पर जा सकते हो.  

F7 – F7  Key का प्रयोग मुख्य रूप से Microsoft Word या Outlook में Spelling और Grammar को Check करने के लिए किया जाता है.

F8 – F8 का प्रयोग Window को Safe Mode में लाने के लिए किया जाता है. 

F9 – कंप्यूटर में नयी Window इंस्टाल करने के लिय F9 Key का प्रयोग किया जाता है. 

F10 – F10 का मुख्य रूप से इस्तेमाल Open Window के Menu bar में जाने के लिए किया जाता है. 

F11 – F11 का इस्तेमाल running window या active folder को full screen में open करने के लिए किया जाता है. 

F12 – F12 का इस्तेमाल Firebug, Chrome Developer Tool को Open करने के लिए किया जाता है. 

2 – Navigation Key (नेविगेशन कुंजी)

Navigation Key का मुख्य रूप से उपयोग Window या Webpage को Edit करने और Move करने के लिए किया जाता है. एक Standard Keyboard में 10 Navigation Key होती हैं जो इस प्रकार से हैं- 

Arrow Key – सभी Keyboard में यह Key पाई जाती है, ये Key चार होती है Up, Down, Right, Left. इनके उपयोग से बिना माउस के webpage को इधर – उधर Move कर सकते हैं. कंप्यूटर में Game खेलने के लिए अधिकतर arrow Key का प्रयोग होता है. 

Home Key – Home Key का इस्तेमाल कर्सर को webpage या document के Start में लाने के लिए किया जाता है. 

End Key – End Key का इस्तेमाल कर्सर को webpage या document के end में ले जाने के लिए किया जाता है. 

 Insert Key – Insert Key का इस्तेमाल कंप्यूटर में Typing करते समय Insert Mode को on करने और Overtyping Mode में Switch करने के लिए किया जाता है. 

 Delete Key – Delete Key का इस्तेमाल Typing करते समय कर्सर के बाद के Word को डिलीट करने के लिए किया जाता है. 

 Page Up – कर्सर को Page के Top में ले जाने के लिए Page Up का इस्तेमाल किया जाता है. 

 Page Down – कर्सर को Page के Down में ले जाने के लिए Page Down का इस्तेमाल किया जाता है. 

3 – Typing Key (Alphanumeric Key) (अल्फ़ान्यूमेरिक कुंजी)

Typing Key का इस्तेमाल कंप्यूटर कीबोर्ड में सबसे अधिक होता है. कीबोर्ड में A से Z तक के सभी Latter Key, Functional Key के नीचे सभी Numeric Key, कीबोर्ड में सभी Symbol और Punctuation Key Typing Key के अंतर्गत आती है. 

Typing Key को Alphanumeric Key भी कहते हैं क्योकि इसमें Alphabet और Number दोनों शामिल होते हैं. Typing Key का इस्तेमाल कंप्यूटर में document या page में Typing के लिए किया जाता है. 

4 – Numeric Keypad (न्यूमेरिक कीपैड)

Numeric Keypad का इस्तेमाल नंबर को जल्दी से enter करने के लिए किया जाता है. इसमें Calculator की तरह ही Key होते हैं. कंप्यूटर के Right Side में छोटा सा Keypad जिसमें 0 – 9 तक नंबर, +, -, *, /, . चिन्ह के बटन होते हैं उसे ही Numeric Keypad कहते हैं. 

5 – Control Key (नियंत्रण कुंजी)

Control Key का प्रयोग अकेले या किसी अन्य Key के साथ किसी महत्वपूर्ण कार्य को पूरा करने के लिए किया जाता है. सामान्यतः सबसे ज्यादा Esc, Alt, Ctrl और Window Key का इस्तेमाल Control Key के रूप में किया जाता है. इसके अलावा Menu, Page Break, PrtSc, Scroll Key का प्रयोग भी Control Key के रूप में किया जाता है. 

 ESC – किसी Command को cancel करने और window को इनस्टॉल करने के लिए इस Key का इस्तेमाल होता है. 

 Alt – Alt Key का प्रयोग अलग – अलग command देने के लिए इस्तेमाल होता है. इस Key को अधिकतर किसी अन्य Key के साथ इस्तेमाल किया जाता है. जैसे – 

  • alt + F4 – shut down 
  • alt + shift + tab – अन्य Window में जाने के लिए 

Ctrl Key – Ctrl Key का इस्तेमाल Shortcut के लिए किया जाता है. जैसे – 

  • Ctrl  + B – Blod 
  • Ctrl + C – Copy 
  • Ctrl + V – Paste 
  • Ctrl + U – Underline 

 Window Key – Window Key का इस्तेमाल Window bar को open करने के लिए किया जाता है. 

PrtSc Key – Window के साथ PrtSc को press करने से पुरे Page का Screenshot लिया जा सकता है.

6 – Special Key (विशेष कुंजी)

कीबोर्ड में कुछ अन्य विशेष प्रकार की Key होती हैं जो Special Key के अंतर्गत आती हैं, ये Key इस प्रकार से हैं.

Tab Key – Type करते समय लाइनों में Same Distance देने के लिए Tab Key का इस्तेमाल होता है, इसके साथ इसका उपयोग कई Shortcut में भी किया जाता है. 

Caps Lock Key – इस Key को On करने पर सारे Latter Capital में लिखे जाते हैं, और Off करने पर सारे Latter Small में लिखे जाते हैं. 

Num Lock Key – इस Key को On करने पर numeric keypad off हो जाता है. 

Shift Key – यह Caps Lock के विपरीत कार्य करता है, जैसे Caps on होने पर Shift के साथ Latter Press करने से small latter type होगा. इसके अलावा इसका प्रयोग Shortcut के लिए भी किया जाता है. 

Space bar Key – पुरे कीबोर्ड में यह सबसे बड़ी Key होती है इसका प्रयोग दो Latter के बीच में space देने के लिए किया जाता है. 

Back Space Key – कर्सर के left साइड के Word को Delete करने के लिए इस key का इस्तेमाल किया जाता है. 

Enter Key – Enter key का इस्तेमाल New Line Create करने के लिए किया जाता है. इसके अलावा भी इस Key के कई महत्वपूर्ण कार्य होते हैं. 

कंप्यूटर कीबोर्ड की शार्टकट बटन (Shortcut Key of Keyboard in Hindi )

कीबोर्ड में कुछ शॉर्टकट key होती हैं जिनके बारे में आपको पता होना जरुरी है, हमने एक सारणी के माध्यम से आपको कंप्यूटर की कुछ शॉर्टकट key के बारे में बताया है – 

Short KeyAction
Ctrl+ASelect All
Ctrl+BBold
Ctrl+CCopy
Ctrl+FFind
Ctrl+IItalic
Ctrl+NNew Page
Ctrl+OOpen
Ctrl+PPrint
Ctrl+SSave
Ctrl+UUnderline
Ctrl+VPaste
Ctrl WClose
Ctrl+XCut
Ctrl+YRepeat
Ctrl+ZUndo
Windwo + EOpen File manager
Alt + FShut Down
Shift + DeleteCut Select Item
Alt+Shift+TabOpen New Window
keybord short key

 कीबोर्ड की विशेषताएं (Feature of Keyboard In Hindi)

कीबोर्ड की मुख्य विशेषताएं निम्न है-

Keyboard Layout (कुंजीपटल लेआउट)

Layout के आधार पर Keyboard 2 प्रकार के होते हैं एक QWERTY और एक Non QWERTY. QWERTY कीबोर्ड का इस्तेमाल Non QWERTY की तुलना में अधिक होता है. 

Non QWERTY कीबोर्ड किसी विशेष प्रकार के काम को करने के लिए बनाये जाते हैं. अलग – अलग देशों में भाषा के आधार पर अलग – अलग कीबोर्ड बनाये गए हैं. 

Keyboard Size (कीबोर्ड का आकार)

अलग अलग कामों के लिए अलग – अलग प्रकार के कीबोर्ड आते हैं. जैसे Gaming, Folded कीबोर्ड. आधुनिक कीबोर्ड को आप अपने साथ बैग में ले जा सकते हो. Laptop Keyboard को laptop के screen की आधार पर ही Design किया जाता है. 

Wireless Keyboard (बिना तार का कुंजीपटल)

कीबोर्ड wired और wireless दोनों रूपों में आते हैं. जहाँ Wired कीबोर्ड कंप्यूटर के द्वारा ही Power लेते हैं वही दूसरी ओर wireless कीबोर्ड को चार्ज करने की जरुरत पड़ती है. 

Port and Interface (पोर्ट और इंटरफ़ेस)

wireless कीबोर्ड ब्लूटूथ के द्वारा कंप्यूटर से कनेक्ट रहते हैं और wired कीबोर्ड USB केबल के द्वारा कंप्यूटर से कनेक्ट रहते हैं. 

Keyboard Short Key (कीबोर्ड शॉर्टकट कुंजी)

कीबोर्ड के Short Key के द्वारा कंप्यूटर को इस्तेमाल करना आसान होता है इससे समय की बचत होती है. 

कीबोर्ड के फायदे (Advantage of Keyboard In Hindi)

  • कीबोर्ड की मदद से किसी भी डेटा को कंप्यूटर में इनपुट कर सकते हैं.
  • अच्छी टाइपिंग स्पीड होने से कीबोर्ड के द्वारा कंप्यूटर में बहुत जल्दी काम कर सकते हैं.
  • Shortcut Key के इस्तेमाल से कंप्यूटर पर काम करना आसान बनता है और समय की भी बचत होती है. 
  • कीबोर्ड ज्यादा महंगा नहीं होता है.

कीबोर्ड के नुकसान (Disadvantage of Keyboard In Hindi)

  • टाइपिंग करने में गलतियाँ हो जाती हैं. 
  • कीबोर्ड की मदद से Diagram बनाना या Designing नहीं कर कर सकते हैं.
  • अगर आपको टाइपिंग नहीं आती है तो आपको डेटा इनपुट करने में बहुत समय लगेगा.
कीबोर्ड किस प्रकार का डिवाइस है?

कीबोर्ड एक इनपुट डिवाइस है.

कीबोर्ड में कितने बटन होते हैं?

एक स्टैण्डर्ड कीबोर्ड में 104 बटन होते हैं.

कीबोर्ड का अविष्कार किसने किया था?

कीबोर्ड का अविष्कार सन 1968 में क्रिस्टोफ़र लैथम शोल्स (Christopher Latham Sholes) ने किया था.

कीबोर्ड में कितने function key होते हैं?

Keyboard में 12 function key (F1 से F12) होते हैं, एप्पल के कीबोर्ड में 19 function key (F1 से F19) हैं.

कीबोर्ड के कितने Layout होते हैं?

कीबोर्ड के दो Layout होते हैं – QWERTY और Non QWERTY.

कीबोर्ड को QWERTY कीबोर्ड क्यों कहा जाता है?

क्योकि इसमें पहले के 6 अक्षर QWERTY होते हैं, इसलिए QWERTY कीबोर्ड कहा जाता है.

कीबोर्ड का सबसे पहला कि कौन सा है?

कंप्यूटर कीबोर्ड में सबसे पहला की Esc (Escape) है जो फंक्शन को लॉक करने और Exit करने में काम आता है.

कीबोर्ड में सबसे लम्बी कुंजी कौन – सी होती है.

कीबोर्ड में सबसे ज्यादा उपयोग होने और सबसे लम्बी और बड़ी कुंजी Space है जो कीबोर्ड में सबसे ज्यादा बार इस्तेमाल की जाती है.

Keyboard में कितने alphabetic keys होते है?

एक सामान्य keyboard में 26 alphabetic keys होते है.

Keyboard में कितने symbols होते है?

एक कंप्यूटर QWERTY keyboard में लगभग 40 symbols (@, #, $, and %) होते है. जो letter और numbers नहीं होते है यह सिर्फ सिम्बल्स होते है

इन्हें भी पढ़े 

निष्कर्ष : Keyboard In Hindi 

उम्मीद करते हैं आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह लेख Keyboard क्या है (What is Keyboard in Hindi) पसंद आया होगा. इस लेख से आपको बहुत कुछ सीखने को मिला होगा. इस लेख को अधिक से अधिक शेयर करके दूसरों तक सटीक जानकारी पहुचाएं.

Ranjeet Singh
Ranjeet Singh

नमस्कार ! मेरा नाम रणजीत सिंह है और मुझे इन्टरनेट पर लोगो की मदद करने में रूचि है. साथ ही Techshole.com का Fownder हु. इस Best Hindi Blog पर Blogging और Earn Money Online इत्यादि इन्टरनेट से जुडी जानकारी हिंदी में शेयर करता हु! हमारे ब्लॉग पर आने के लिए धन्यवाद.