लीज्ड लाइन कनेक्शन क्या है (Leased Line और ब्रॉडबैंड कनेक्शन में अंतर)

Leased Line connection in Hindi: टेक्नोलॉजी के इस युग में यूजर के कंप्यूटर तक इंटरनेट पहुंचाने के लिए इंटरनेट सर्विस प्रदाता (IPS) के पास ढेर सारे विकल्प हैं. लेकिन जब भी बात एक High Speed और भरोसेमंद इंटरनेट कनेक्शन की होती है तो इसमें लीज्ड लाइन कनेक्शन का नाम जरुर आता है.

पर क्या आप जानते हैं Leased Line Connection क्या है, लीज्ड लाइन कैसे काम करता है, लीज्ड लाइन की विशेषतायें क्या हैं, लीज्ड लाइन के अनुप्रयोग, लीज्ड लाइन और ब्रॉडबैंड में अंतर तथा लीज्ड लाइन के फायदे और नुकसान क्या हैं.

लीज्ड लाइन कनेक्शन क्या है (Leased Line और ब्रॉडबैंड कनेक्शन में अंतर) Leased Line connection in Hindi

यदि आपको उपरोक्त प्रश्नों का जवाब मालूम नहीं है तो आप इस लेख को अंत तक पढ़ें, हमें पूरा भरोसा है कि इस लेख को पढने के बाद आपको लीज्ड लाइन कनेक्शन के बारे में पर्याप्त जानकारी मिल जायेगी और आपको Same Information के लिए किसी अन्य ब्लॉग पर जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी.

तो चलिए दोस्तों आपका अधिक समय लिए बिना शुरू करते हैं आज का यह लेख और जानते हैं- लीज्ड लाइन कनेक्शन क्या है हिंदी में विस्तार से.

 लीज्ड लाइन कनेक्शन क्या है (Leased Line Connection in Hindi)

Leased line एक प्रकार का कनेक्शन लाइन होता है जो दो या दो से अधिक साइट्स को कनेक्ट करता है और ये fixed line इंटरनेट कनेक्शन होता है यानी की इसमें data flow मे fluctuation नही होता है इंटरनेट की स्पीड एक दम कांस्टेंट रहती है जैसे की कनेक्शन लेते समय 90 Mbps की स्पीड ले रखी है तो expire date तक ये 90 Mbps की ही स्टेंट स्पीड देगा.

यह भी ब्रॉडबैंड की तरह ही काम करता है बस इनका काम करने का तरीका अलग होता है जैसे की ब्रॉडबैंड मे कंपनी की एक ही केबल से बहुत से user को इंटरनेट provide करती है लेकिन लीज्ड लाइन एक की कंपनी या user की खुद की होती है अगर बात करे इसकी किराये की तो इसमे monthly या साल का किराया लिया जाता है जैसा user को अच्छा लगे ये ब्रॉड बैंड या अन्य कनेक्शन की तुलना मे महंगा होता है.

लीज्ड लाइन कनेक्शन के लिए आमतौर पर फाइबर केबल का उपयोग किया जाता है, यह यूजर को High Speed इंटरनेट के साथ ज्यादा बैंडविड्थ उपलब्ध करवाती है.

लीज्ड लाइन काम कैसे करता है

लीज्ड लाइन कनेक्शन वास्तव में सर्विस प्रदाता और यूजर के बीच एक अनुबंध है जिसमें यूजर इंटरनेट कनेक्शन को लीज यानि किराये पर लेता है. जैसा कि हम आपको ऊपर बता चुके हैं लीज्ड लाइन कनेक्शन में आमतौर पर फाइबर ऑप्टिक केबल का उपयोग होता है.

फाइबर ऑप्टिक केबल Light Pluses को ट्रांसमिट करती है, इसमें ट्रांसमिट होने वाला डेटा प्रकाश की गति से ट्रेवल करता है. सर्विस प्रदाता यूजर की आवश्यकता के अनुसार एक निश्चित बैंडविड्थ और स्पीड का कनेक्शन इनस्टॉल कर देते हैं. कनेक्शन इनस्टॉल हो जाने के बाद यूजर इंटरनेट एक्सेस कर सकता है.

लीज्ड लाइन का अनुप्रयोग

Leased line का प्रयोग ज्यादातर company या Bank मे होता है. जैसे की एक बैंक से उसकी शाखाओं को जोड़ने के लिए किया जाता है और लीज्ड लाइन लेने का कंपनी का सबसे बड़ा कारण इसकी high और constant स्पीड जिस से की काम मे कोई बाधा नही आये और काम सुचारू ढंग से चल सके और लीज्ड लाइन अच्छा customer support देता है.

लीज्ड लाइन की विशेषतायें (Leased Line Feature in Hindi)

लीज्ड लाइन कनेक्शन की प्रमुख विशेषतायें निम्नलिखित हैं –

  • स्पीड – लीज्ड लाइन अच्छी स्पीड से इंटरनेट एक्सेस करने की सुविधा देते हैं. लीज्ड लाइन की स्पीड सर्विस प्रदाता के अनुसार 10Gbps तक हो सकती है.
  • एक समान स्पीड – लीज्ड लाइन कनेक्शन में डाउनलोड और अपलोड की स्पीड एक समान होती है.
  • अच्छा कस्टमर सपोर्ट – लीज्ड लाइन कनेक्शन में सर्विस प्रदाता अच्छा सपोर्ट देते हैं.
  • डेडिकेटेड बैंडविड्थ – लीज्ड लाइन कनेक्शन में डेडिकेटेड बैंडविड्थ मिलती है, यानि आपको बैंडविड्थ किसी अन्य के साथ शेयर नहीं करना होता है.
  • भरोसेमंद परफॉरमेंस – लीज्ड लाइन Expiry date तक एक समान स्पीड देते हैं. यूजर को परफॉरमेंस को लेकर ज्यादा समस्या नहीं आती है.

लीज्ड लाइन और ब्रॉडबैंड कनेक्शन में अंतर

 लीज्ड लाइन और ब्रॉडबैंड दोनों का इस्तेमाल इंटरनेट एक्सेस करने के लिए किया जाता है, लेकिन ये दोनों कनेक्शन एक – दुसरे से बिल्कुल विपरीत हैं. लीज्ड लाइन कनेक्शन और ब्रॉडबैंड के बीच कुछ अंतर निम्नलिखित हैं –

लीज्ड लाइन कनेक्शनब्रॉडबैंड
लीज्ड लाइन मे केवल जिसने कनेक्शन लिया है वही एक्सेस ले सकता है.ब्रॉडबैंड सर्विस मे कई सारे लोग एक साथ इंटरनेट एक्सेस कर सकते है .
लीज्ड लाइन मे स्पीड फिक्स रहती है बदलती नही है.ब्रॉडबैंड की स्पीड बदलते रहती है.
लीज्ड लाइन मे ट्रैफिक नही होता हैं.ब्रॉडबैंड कनेक्शन में ट्रैफिक हो सकता है.
लीज्ड लाइन कनेक्शन wire के द्वारा होता है इसमें fiber cable का प्रयोग होता है.ब्रॉडबैंड कनेक्शन wire-less होता है.
लीज्ड लाइन कनेक्शन का इस्तेमाल अब बहुत कम मात्रा में किया जाता है और ये महंगा है.ब्रॉडबैंड कनेक्शन का इस्तेमाल व्यापक रूप से किया जाता है और ये सस्ता भी है.
Difference between leased line and broadband connection In Hindi

लीज्ड लाइन कनेक्शन के फायदे (Advantage of leased line Connection)

लीज्ड लाइन कनेक्शन के कुछ प्रमुख फायदे निम्नलिखित हैं –

  • लीज्ड लाइन की स्पीड ज्यादा होती है.
  • लीज्ड लाइन को किसी के साथ share नही करना पड़ता है जिस से की इसकी स्पीड तेज रहती है
  • Customer support बहुत अच्छा है किसी भी प्रकार की समस्या आने पर service provider तुरंत मदद करता है.
  • इसमें download और upload स्पीड बराबर होती है
  • Data fluctuation नही होता है.
  • अन्य इंटरनेट कनेक्शन की तुलना में लीज्ड लाइन अधिक सुरक्षित होते हैं.

लीज्ड लाइन के नुकसान (Disadvantage of leased line Connection)

Leased line कनेक्शन में अनेक सारी कमियां थी, इसलिए इसे ब्रॉडबैंड और वायरलेस कनेक्शन से प्रतिस्थापित कर दिया गया है. Leased line के कुछ नुकसान निम्नलिखित हैं –

  • Leased line का सबसे बड़ा नुकसान तो उसका महंगा होना है ये अन्य कनेक्शन की तुलना मे महंगा है
  • Leased line को इंस्टाल करने मे बहुत समय लग जाता है.
  • इसका इंस्टलेशन कठिन है.

भारत में बेस्ट लीज्ड लाइन प्रदाता

भारत में कुछ सबसे बेस्ट लीज्ड लाइन प्रदान करवाने वाली कंपनियां निम्नलिखित हैं –

  • Airtel
  • Jio
  • Vodafone
  • Railtel आदि.

FAQ: leased line Connection in Hindi

लीज्ड  लाइन कनेक्टिविटी क्या है?

लीज्ड  लाइन  कनेक्टिविटी या कनेक्शन एक प्रकार का हाई स्पीड इंटरनेट कनेक्शन है जो दो या दो से अधिक साइट्स को कनेक्ट करता है और इसकी स्पीड constant होती है.

लीज्ड लाइन की अधिकतम स्पीड कितनी हो सकती है?

अलग – अलग सर्विस प्रदाता के अनुसार लीज्ड लाइन की स्पीड 2Mbps से लेकर अधिकतम 10Gbps तक होती है.

क्या लीज्ड लाइन में स्पीड समान रहती है?

 जी हाँ, लीज्ड लाइन की Uploading और Downloading की स्पीड बराबर होती है इसमें कोई भी फर्क नही होता है

इन्हें भी पढ़े

निष्कर्ष: लीज्ड लाइन कनेक्शन क्या है हिंदी में

आज के इस लेख में हमने आपको leased line Connection क्या है और यह कैसे काम करता है की पूरी जानकारी बहुत ही आसान शब्दों में बताई है, तथा साथ ही लीज्ड लाइन कनेक्शन के फायदे और नुकसानों के बारे में भी आपको जानकारी दी है.

हमें पूरी उम्मीद है कि इस लेख को अंत तक पढने के बाद आप लीज्ड लाइन कनेक्शन को अच्छी तरह से समझ गए होंगें, अगर आपको इस लेख में दी गई जानकारी पसंद आई तो इसे सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें.

5/5 - (1 vote)

नमस्कार ! मेरा नाम रणजीत सिंह है और इस Best Hindi Blog का संस्थापक हूँ. मुझे ब्लॉग्गिंग, एसईओ और डिजिटल मार्केटिंग जैसे विषयों पर गहरी नॉलेज है! हमारे ब्लॉग पर आने के लिए धन्यवाद.

Leave a Comment