Lump Sum क्या है म्यूच्यूअल फण्ड एकमुश्त निवेश कैसे करें – Lump Sum in Hindi

Lump Sum Investment Kya Hai In Hindi: शेयर बाजार के बारें में तो आप जानते ही होंगे जिसकें म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करने के दो तरीके होते हैं एक SIP और दूसरा Lump Sum Investmet. SIP के बारे में हम आपको पिछले लिखे में बता चुकें हैं, आज के इस लेख के द्वारा हम आपको बताने वाले हैं Lump Sum Kya Hai, Lump Sum निवेश कैसे करें, Lump Sum के फायदे व नुकसान तथा Lump Sum और SIP में क्या अंतर है.

अगर आप भी शेयर बाजार में रूचि रखते हैं या फिर म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश की योजना बना रहे हैं तो आपको Lump Sum के बारे में जरुर जानना चाहिए, क्योंकि म्यूच्यूअल फण्ड से अच्छा पैसा कमाने के लिए Lump Sum अच्छा माध्यम है.

Lump Sum क्या है म्यूच्यूअल फण्ड एकमुश्त निवेश कैसे करें - Lump Sum Kya Hai In Hindi

Lump Sum से आप SIP की तुलना में अधिक Return प्राप्त कर सकते हैं, वह कैसे, यह जानने के लिए लेख को पूरा अंत तक जरुर पढ़ें. तो चलिए आपका अधिक समय न लेते हुए शुरू करते हैं आज का यह लेख.

एकमुश्त निवेश क्या है (What is Lump Sum in Hindi)

Lump Sum या एकमुश्त निवेश ऐसे निवेश को कहते हैं जब निवेशक म्यूच्यूअल फण्ड में एक बार में बहुत सारा पैसा एक निश्चित समय अवधि के लिए निवेश करता है.

 अगर आसान भाषा में कहें तो जिस प्रकार से आप बैंक में Fixed Deposit (FD) अकाउंट खुलवाते हैं, जिसमें आप एक बार में बहुत सारा पैसा बैंक में एक निश्चित समय अवधि के लिए जमा कर देते हैं, और जब वह समय अवधि समाप्त हो जाती है तो आप अपने पैसे को ब्याज सहित निकाल लेते हैं. ठीक इसी प्रकार से Lump Sum निवेश भी है.

म्यूच्यूअल फण्ड में अच्छे return प्राप्त करने के लिए Lump Sum एक अच्छा तरीका है. जब शेयर मार्केट में किसी कारणवश भारी गिरावट आती है तो सभी म्यूच्यूअल फण्ड के कीमतों में भी गिरावट आ जाती है. इस समय पर आप एक अच्छे म्यूच्यूअल फण्ड में Lump Sum निवेश कर सकते हैं क्योंकि उस समय में आपको म्यूच्यूअल फण्ड बहुत कम दाम में मिल जाते हैं.

एकमुश्त निवेश की परिभाषा (Definition of Lump Sum in Hindi)

जब म्यूच्यूअल फण्ड में एक साथ बहुत सारा पैसा एक तय समय के लिए निवेश किया जाता है तो इसे Lump Sum निवेश कहा जाता है.

Lump Sum meaning in Hindi

Lump Sum का हिंदी मतलब एकमुश्त निवेश होता है.

म्यूच्यूअल फण्ड में एकमुश्त निवेश कैसे करें

अगर आप म्यूच्यूअल फण्ड में एकमुश्त निवेश करना चाहते हैं तो उसकी प्रोसेस हमने आपको नीचे बताई है –

  • सबसे पहले म्यूच्यूअल फण्ड पर रिसर्च करें.
  • म्यूच्यूअल फण्ड सेलेक्ट करने के बाद म्यूच्यूअल फण्ड हाउस की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर अकाउंट बनायें.
  • KYC की प्रोसेस को Complete करें.
  • एक निश्चित रकम और निश्चित समय अवधि निर्धारित करें.
  • अब एकमुश्त निवेश करें, निवेश करने में आप अपने सलाहकार की भी मदद ले सकते हैं.

एकमुश्त निवेश करते समय ध्यान रखी जाने वाली कुछ बातें

अगर आप Lump Sum के द्वारा म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करना चाहते हैं तो नीचे बताई गयी कुछ बातों को ध्यान में रख सकते हैं –

Lump Sum निवेश आपको तभी करना चाहिए जब आपको शेयर बाजार का अच्छा अनुभव है और निवेश करने के लिए आपके पास अच्छी – खासी रकम है.

मार्केट में अनेक सारे म्यूच्यूअल फण्ड हैं, इसलिए निवेश करने से पहले अच्छी तरह रिसर्च कर लें कि कौन सा म्यूच्यूअल फण्ड आपके लिए सही रहेगा.

म्यूच्यूअल फण्ड सेलेक्ट करने के बाद यह निर्णय कर लें कि आपको कितना निवेश करना है और कितने समय के लिए निवेश करना है.

Lump Sum में निवेश करने का समय बहुत महत्वपूर्ण होता है, अगर आप गलत समय में Lump Sum के द्वारा म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करते हैं तो आपको भारी नुकसान भी उठाना पड़ सकता है. Lump Sum निवेश में लाभ कमाने की संभावना तब अधिक होती है जब बाजार में भारी गिरावट हो और बाजार ऊपर चढ़ने की तैयारी कर रहा हो.

Lump Sum निवेश Long term के लिए किया जाए तो इससे अच्छे return प्राप्त हो सकते हैं. शेयर बाजार में उतार – चढ़ाव आते रहते हैं इसलिए बढ़ते बाजार में लालच और गिरते बाजार में डर के कारण म्यूच्यूअल फण्ड को बेचें नहीं. हमेशा Long Term के लिए ही Lump Sum निवेश करें.

Video By Hello Tax

एकमुश्त निवेश के फायदे (Advantage of Lump Sum in Hindi)

एकमुश्त निवेश के फायदे निम्न हैं –

  • अनुभवी और अच्छी रकम वाले निवेशकों के लिए Lump Sum एक अच्छा विकल्प हो सकता है. क्योंकि इस तरीके में वह अपनी जोखिम क्षमता को बढा सकते हैं.
  • Lump Sum में Fixed Deposit की तुलना में अधिक Return मिलता है.
  • Lump Sum निवेश आपको एक बार में बहुत सारा पैसा म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करने का अवसर देता है.
  • समय के साथ आप अपने Lump Sum निवेश को बढा सकते हैं.
  • एकमुश्त निवेश किसी भी स्टॉक ब्रोकर और SEBI से जुड़ी बैंक से शुरू कर सकते है.

एकमुश्त निवेश के नुकसान (Disadvantage of Lump Sum in Hindi)

एकमुश्त निवेश के कुछ नुकसान भी होते हैं जैसे कि –

  • Fixed Deposit की तरह Return मिलने की कोई गारंटी नहीं होती है.
  • गलत समय पर किये गए Lump Sum से आप अपनी पूंजी गँवा सकते हैं.
  • Short Term एकमुश्त निवेश से आप अच्छे Return प्राप्त नहीं कर सकते हैं.
  •  चूँकि Lump Sum में अधिक निवेश करना पड़ता है इसलिए सभी के लिए अच्छा विकल्प नहीं है.

SIP और Lump Sum के बीच में अंतर

Lump Sum और SIP के बीच अंतर को हमने आपको नीचे सारणी के द्वारा बताया है –

SIP (व्यवस्थित निवेश योजना)Lump Sum (एकमुश्त)
SIP में आपको एक निर्धारित समय अवधि के लिए प्रतिमाह एक निश्चित राशि को निवेश करना होता है.Lump Sum में आपको एक निश्चित राशि को एक बार में निश्चित समय अवधि के लिए निवेश करना होता है.
अलग – अलग मार्केट परिस्थिति के कारण SIP में रिस्क कम होता है. एक बार बड़ी राशि निवेश के कारण रिस्क अधिक रहता है.
आप न्यूनतम 500 रूपये से SIP कर सकते हैं.Lump Sum करने के लिए आपको न्यूनतम 5 हजार का निवेश करना होता है.
Lump Sum की तुलना में कम return मिलता है.लम्बे समय के लिए निवेश करने पर अच्छे – खासे return मिलने की संभावना होती है.
SIP Short term और Long term दोनों परिस्थितियों में आदर्श साबित हो सकते हैं.Lump Sum लम्बे समय निवेश और बाजार के द्रष्टिकोण के अनुसार आदर्श साबित हो सकते हैं.
(Difference Between Lump Sum and SIP in Hindi)

Lump Sum (एकमुश्त) निवेश  से सम्बंधित सामान्य प्रश्न

Lump Sum को हिंदी में क्या कहते हैं?

Lump Sum को हिंदी में एकमुश्त कहा जाता है, अर्थात एक बार बड़ी मात्रा में निवेश.

न्यूनतम एकमुश्त निवेश कितने रूपये का कर सकते हैं?

आप न्यूनतम 5000 रूपये का एकमुश्त निवेश कर सकते हैं.

एकमुश्त निवेश किसके लिए बेहतर है?

एकमुश्त निवेश उन निवेशकों के लिए बेहतर है, जिनको शेयर बाजार में अच्छा अनुभव हैं और उनके पास निवेश करने के लिए मोटी रकम है.

Lump Sum में SIP से ज्यादा रिटर्न कैसे मिलते हैं?

Lump Sum का वास्तविक रिटर्न SIP से ज्यादा होता है, इसका कारण यह है कि Lump Sum में आप पूरी राशि को एक ही बार निवेश कर देते हैं, जिससे सम्पूर्ण राशि पर Return मिलना शुरुवात से ही आरम्भ हो जाता है. जबकि SIP में पैसा अलग – अलग समय अंतरालों में जमा किया जाता है जिससे Return मिलने में थोडा समय लगता है.

Lump Sum और SIP में कौन सा निवेश बेहतर है?

Lump Sum और SIP दोनों की अपनी – अपनी विशेषताएं होती हैं और दोनों ही निवेशक की जोखिम क्षमता, वित्तीय लक्ष्यों और आवश्यकताओं के अनुसार उपयुक्त हैं. एक नए निवेशक के लिए जो मासिक तनख्वाह पर काम करता है उसके लिए SIP अच्छा विकल्प है, SIP के द्वारा भी आप लम्बे समय में अच्छे खासे पैसे कमा सकते हैं. जबकि एक अनुभवी और मोटी रकम वाले निवेशक के लिए जो अधिक पूंजी अर्जित करना चाहता है उसके लिए Lump Sum अच्छा तरीका हो सकता है.

इन्हें भी पढ़े

अंतिम शव्द: Lump Sum क्या है हिंदी में 

इस लेख को पढने के बाद आप लोग समझ गए होंगे कि Lump Sum Kya Hai और SIP तथा Lump Sum में क्या अंतर है. शेयर बाजार हमेशा जोखिमों के अधीन रहता है इसलिए किसी भी प्रकार का निवेश करने के लिए आपको अच्छी रिसर्च जरुर कर लेनी चाहिए और अपने वित्तीय सलाहकार की भी मदद लेनी चाहिए.

उम्मीद करते हैं दोस्तों आपको हमरे द्वारा लिखा गया यह लेख जरुर पसंद आया होगा, इस लेख को सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें.

पोस्ट को रेटिंग देवें

नमस्कार ! मेरा नाम रणजीत सिंह है और मुझे इन्टरनेट पर लोगो की मदद करने में रूचि है. साथ ही Techshole.com का Fownder हु. इस Best Hindi Blog पर Blogging और Earn Money Online इत्यादि इन्टरनेट से जुडी जानकारी हिंदी में शेयर करता हु! हमारे ब्लॉग पर आने के लिए धन्यवाद.

Leave a Comment