MICR क्या है और MICR कोड कैसे पता करें (MICR in Hindi)

MICR क्या है और MICR कोड कैसे पता करें (MICR in Hindi)

MICR Kya Hai In Hindi : – आपने कभी Notice किया होगा कि Bank Cheque में सबसे नीचे सफ़ेद पट्टी के अन्दर चुम्बकीय स्याही से कुछ शब्द लिखे होते हैं. जिनको हम MICR कोड कहते हैं.

पर क्या आप जानते हैं MICR कोड क्या होता है, MICR कोड कैसे पता करें, MICR कोड कैसे बनता है, MICR और IFSC कोड में अंतर क्या है.

अगर आप इन सब के बारे में नहीं जानते हैं तो इस लेख को पूरा पढ़े इसमें आपको MICR कोड के बारे में पूरी जानकारी मिलेगी साथ में ही इस लेख में हम आपको MICR कोड को पढने वाले डिवाइस MICR Kya hai, MICR डिवाइस के उपयोग, MICR डिवाइस के फायदे और नुकसानों के बारे में बताएँगे. 

तकनीकी के नजरिये से इस लेख में आपको बहुत उपयोगी जानकारी मिलेगी, इसलिए इस लेख को पूरा अंत तक जरुर पढ़ें. तो आपका ज्यादा समय न लेते हुए शुरू करते हैं इस लेख को और जानते हैं MICR क्या होता है.

MICR क्या है (What is MICR in Hindi)

MICR का पूरा नाम Magnetic Ink Character Recognition है जिसे हिंदी में चुम्बकीय स्याही चरित्र पहचान कहते हैं. MICR कंप्यूटर की एक इनपुट डिवाइस होती है. जिसकी मदद से Cheque पर चुम्बकीय स्याही से लिखे Character की पहचान की जाती है.

किसी भी Bank Cheque में नीचे चुम्बकीय स्याही में Bank Account के बारे में Detail लिखी होती है, जैसे कि बैंक का नाम, ब्रांच का नाम, और City का नाम लिखा होता है. यह सारी Details Digit में लिखी होती है जिसे MICR Code कहते हैं. 

MICR कोड को लिखने के लिए एक विशेष प्रकार की स्याही और Font का इस्तेमाल किया जाता है. MICR Device में एक स्कैनर लगा रहता है जिसकी मदद से MICR कोड को पढ़ा जाता है.

MICR कोड 9 अंकों का होता है जिसके पहले के 3 अंकों में शहर का नाम, बीच के 3 अंकों में Bank का नाम और अंतिम के 3 अंकों में Branch का नाम लिखा होता है,

MICR का पूरा नाम (MICR Full Form in Hindi)

  • MICR Full Form – Magnetic Ink Character Recognition
  • MICR का पूरा नाम – चुम्बकीय स्याही चरित्र पहचान

MICR की शुरुवात कब हुई

MICR की शुरुवात 1958 में अमेरिकन बैंक एशोसियन ने किया था. इसमें चुम्बकीय स्याही में Printed E -13B Font का इस्तेमाल किया गया था.

1959 के अंत तक चुम्बकीय स्याही का उपयोग करके Check Print किये गए. धीरे – धीरे MICR की तकीनीकी में और सुधार हुआ. और इनका उपयोग पूरी दुनिया में होने लगा. आधुनिक MICR स्पष्टता के साथ चुम्बकीय स्याही को पढने में सक्षम हैं.

भारत में MICR की शुरुवात 1980 के दशक में हुई. भारतीय रिजर्व बैंक ने देशभर में सुरक्षित और तेजी से Transaction करने के लिए इस पद्धिति का उपयोग किया था.

MICR डिवाइस का उपयोग (Uses of MICR Device)

MICR Character Recognition पर आधारित एक तकनीकी है जिसका इस्तेमाल Bank Cheque में लिखे MICR कोड को पढने के लिए किया जाता है.

बैंकों में प्रतिदिन अधिक संख्या में Cheque Process होने के कारण MICR डिवाइस का इस्तेमाल किया जाता है.

MICR के फायदे (Advantage of MICR Code in Hindi)

MICR के निम्न फायदे हैं –

  • MICR प्रणाली में तैयार Data human और Machine readble होता है.
  • MICR में डेटा को तेजी से इनपुट किया जा सकता है.
  • MICR तकनीकी धोखाधड़ी और मशीनीकरण के खिलाफ एक बढ़ी हुई सुरक्षा है.
  • MICR तकनीकी की मदद से बैंकों में काम को तेजी और अधिक सटीकता के साथ किया जाता है.

MICR के नुकसान (Disadvantage of MICR in Hindi)

MICR के कुछ नुकसान भी हैं जो निम्न प्रकार से हैं –

  • MICR पद्धिति के लिए Data तैयार करने में अधिक समय लगता है.
  • MICR Reader सिर्फ किसी विशेष प्रकार की Ink और Font को ही पहचान पाते हैं.
  • MICR Reader बहुत महंगे होते हैं.

MICR कोड क्या होता है (What is MICR Code in Hindi)

MICR कोड एक 9 Digit का नंबर होता है जो किसी Bank को पहचानने में मदद करता है. MICR कोड में बैंक का नाम, ब्रांच का नाम और शहर का नाम होता है जिसकी मदद से Cheque Clearing Process को तेजी से किया जाता है.

MICR कोड किसी Cheque के सबसे नीचे सफ़ेद रंग की पट्टी में लिखा मिलता है जिसे बैंक की भाषा में MICR Band कहा जाता है. सभी बैंक ब्रांच का एक Unique MICR कोड होता है.

MICR कोड का इस्तेमाल Transaction को सुरक्षित और तेजी से करने के लिए किया जाता है, Cheque Clearing Process में MICR कोड का इस्तेमाल किया जाता है.

MICR में अधिकतर उपयोग होने वाली चुम्बकीय स्याही E-13B और CMC – 7 है.

MICR कोड कैसे बनता है?

MICR कोड 9 अंकों का एक नंबर होता है, जिसके सभी Digit का कुछ न कुछ मतलब होता है.

  • MICR Code के पहले के 3 Digit शहर का नाम बताते हैं.
  • बीच के 3 Digit Bank का नाम बताते हैं.
  • अंतिम के 3 Digit Branch का नाम बताते हैं.

चलिए एक उदहारण के द्वारा इसे समझते हैं. माना किसी बैंक के ब्रांच का MICR कोड 600-002-007 है तो इसमें –

  • 600 शहर का नाम है, हर शहर का अलग – अलग कोड होता है जिसे City Code कहते हैं.
  • 002 बैंक का कोड है.
  • 007 Branch का कोड है.

तो इस प्रकार से बनता है MICR Code.

MICR कोड कैसे पता करें

MICR कोड को आप बहुत ही आसानी से पता कर सकते हैं. MICR कोड को पता करना के लिए कुछ तरीके निम्न प्रकार से हैं –

#1 – बैंक चेक के द्वारा MICR कोड पता करें

आप MICR कोड को अपने बैंक चेक के द्वारा आसानी से पता कर सकते हैं. MICR कोड बैंक चेक के नीचे की तरफ आपको लिखा मिल जाएगा. बैंक चेक के नीचे एक सफ़ेद रंग की पट्टी के अन्दर MICR कोड लिखा मिलता है.

#2 – वेबसाइट के द्वारा MICR कोड पता करें

MICR कोड को पता करने का दूसरा आसान तरीका है ऑनलाइन वेबसाइट के द्वारा. ऑनलाइन आपको बहुत सारी ऐसे वेबसाइट मिल जायेंगी जहाँ से आप MICR कोड का पता कर सकते हैं.

  • Online Website के माध्यम से MICR कोड को पता करने के लिए सबसे पहले आप MICR Code Search Website पर आ जाइये.
  • इसके बाद Bank का नाम, State, District, और Branch का नाम Select कर लीजिये.
  • इन सब को select करने के बाद आपको अपने Branch का MICR कोड Screen पर Display हो जायेगा.

इन्हें भी पढ़े 

MICR कोड और IFSC कोड में अंतर (MICR vs IFSC in Hindi)

MICRकोड बिलकुल IFSC कोड से अलग है इन दोनों के बीच में निम्न अंतर है –

  • IFSC कोड का इस्तेमाल Money Transfer (NEFT और RTGS) में किया जाता है जबकि MICR का इस्तेमाल Cheque Clearing में किया जाता है.
  • IFSC कोड दो बैंकों के भीतर Money Transfer  को आरम्भ करने के लिए किया जाता है जबकि MICR कोड Cheque Clearing में तेजी और सुरक्षा लाने के लिए इस्तेमाल होता है.

FAQ For MICR in Hindi

MICR क्या होता है?

MICR एक प्रकार की Input Device होती है जिसकी मदद से Bank Cheque में चुम्बकीय स्याही से लिखे MICR कोड को पढ़ा जाता है.

MICR का पूरा नाम क्या है?

MICR का पूरा Magnetic Ink Character Recognition है जिसे हिंदी में चुम्बकीय स्याही चरित्र पहचान कहते हैं.

MICR कौन सा डिवाइस है?

MICR कंप्यूटर की Input Device है.

MICR का मुख्यतः उपयोग कहाँ किया जाता है?

MICR का मुख्यतः उपयोग बैंकों में किया जाता है.

MICR कोड को पढ़ने वाले उपकरण को क्या कहते हैं?

MICR कोड को पढने वाले डिवाइस को Magnetic Ink Character Recognition Device कहते हैं.

एमआईसीआर में सी का अर्थ क्या है?

एमआईसीआर (MICR) में सी (C) का अर्थ – “Character” होता है. जिसे हिंदी में “अक्षर” कहते है.

निष्कर्ष: एमआईसीआर क्या है हिंदी में

तो दोस्तों इस लेख में बस इतना ही, उम्मीद करते हैं इस लेख को पढने के बाद आपको MICR Kya Hai के बारे में उपयोगी जानकारी मिली होगी.

हमारी हमेशा से कोशिस यह रहती है कि अपने लेख में पूरी जानकारी सटीकता के साथ लिखें, अगर हमारे द्वारा लिखे गए लेख में कोई त्रुटी रह जाती है तो आप कमेंट बॉक्स में हमें बता सकते हैं.

इस लेख What Is MICR In Hindi को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर जरुर करें जिससे उन्हें भी तकनीकी के बारे में सही जानकारी मिलती रहे.

Ranjeet Singh
Ranjeet Singh

नमस्कार ! मेरा नाम रणजीत सिंह है और मुझे इन्टरनेट पर लोगो की मदद करने में रूचि है. साथ ही Techshole.com का Fownder हु. इस Best Hindi Blog पर Blogging और Earn Money Online इत्यादि इन्टरनेट से जुडी जानकारी हिंदी में शेयर करता हु! हमारे ब्लॉग पर आने के लिए धन्यवाद.

Leave a Comment