माइक्रो कंप्यूटर क्या है इसके भाग, उदाहरण (Micro Computer In Hindi)

Micro Computer Kya Hai In Hindi: आज के इस लेख में हम आपको Micro Computer क्या है, माइक्रो कंप्यूटर का इतिहास, माइक्रो कंप्यूटर की विशेषतायें तथा माइक्रो कंप्यूटर के फायदे और नुकसानों के बारे में जानकारी देंगे.

आज के समय में कंप्यूटर के बारे में जानकारी होना बहुत महत्वपूर्ण हो गया है, इसलिए हमने आपके लिए अपने ब्लॉग में कंप्यूटर से सम्बंधित महत्वपूर्ण लेख प्रकाशित किये हैं जिन्हें आप कंप्यूटर वाले केटेगरी में जाकर पढ़ सकते हैं और कंप्यूटर के बारे में सटीक और उचित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

माइक्रो कंप्यूटर क्या है इसके भाग और उदाहरण (Micro Computer In Hindi)

माइक्रो कंप्यूटर को हम पर्सनल कंप्यूटर भी कहते हैं क्योंकि ये कंप्यूटर एक ही यूजर के उपयोग के लिए डिजाईन किये गए हैं. आज के समय में माइक्रो कंप्यूटर का इस्तेमाल सबसे अधिक किया जाता है. दैनिक कार्यों को करने के लिए माइक्रो कंप्यूटर बहुत महत्वपूर्ण होते हैं.

माइक्रो कंप्यूटर के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए इस लेख को अंत तक पढना जारी रखें, तो चलिए आपका अधिक समय ना लेते हुए शुरू करते हैं इस लेख को और जानते हैं माइक्रो कंप्यूटर क्या है हिंदी में विस्तार से.  

माइक्रो कंप्यूटर क्या है (Micro Computer in Hindi)

माइक्रो कंप्यूटर एक छोटे आकार के कंप्यूटर होते हैं जिनमें CPU के स्थान पर माइक्रो प्रोसेसर का इस्तेमाल किया जाता है. माइक्रो कंप्यूटर को एक व्यक्ति के उपयोग करने के लिए डिजाईन किया गया है. माइक्रो कंप्यूटर एक पुराना शब्द है अब इस शब्द के स्थान पर पर्सनल कंप्यूटर का इस्तेमाल किया जाता है. माइक्रो कंप्यूटर को एक समय में एक ही व्यक्ति इस्तेमाल कर सकता है.

माइक्रो कंप्यूटर में माइक्रो प्रोसेसर, RAM, ROM, इनपुट और आउटपुट पोर्ट interconnecting वायर सभी एक यूनिट में रखे जाते हैं जिसे कि मदरबोर्ड कहते हैं. माइक्रो कंप्यूटर का इस्तेमाल सामान्य उद्देश्य कार्यों को करने के लिए घरों, स्कूल, कॉलेज, ऑफिस आदि स्थानों में किया जाता है.

माइक्रो कंप्यूटर का इतिहास (History of Micro Computer in Hindi)

Micro Computer शब्द 1970 में अस्तित्व में आया. 1971 में Intel 4004 माइक्रोप्रोसेसर और फिर क्रमशः 1972 और 1974 में Intel 8008 और Intel 8080 माइक्रोप्रोसेसर के आने से Micro Computer का निर्माण होना शुरू हुआ.

दुनिया का पहला माइक्रो कंप्यूटर Micral था जिसे 1973 में Realisation d’Etudes Electroniques (R2E) के द्वारा लांच किया गया था, जो कि Intel 8008 माइक्रोप्रोसेसर पर आधारित था. 1974 में, Intel 8008 पर आधारित MCM/70 माइक्रो कंप्यूटर को Micro Computer Machines Inc. द्वारा लांच किया गया था.

Micral और MCM के बाद Altair 8800 पहला सफल माइक्रो कंप्यूटर बना जिसका इस्तेमाल व्यवसायों में किया जाता था.

जैसे – जैसे माइक्रो प्रोसेसर के डिजाईन में विकास होता गया वैसे वैसे माइक्रो कंप्यूटर की प्रोसेसिंग क्षमता में भी विकास हुआ. 1990 तक माइक्रो कंप्यूटर पूरी दुनिया में फैलने लगे. आज के समय में माइक्रो कंप्यूटर मानव जीवन का एक अभिन्न हिस्सा बन गया है.

माइक्रो कंप्यूटर के भाग (Parts of Micro Computer in Hindi)

माइक्रो कंप्यूटर के प्रमुख कॉम्पोनेन्ट निम्नलिखित हैं –

1. Input Device – इनपुट डिवाइस वे डिवाइस होते हैं जिनके द्वारा यूजर डिजिटल कंप्यूटर को निर्देश दे सकते हैं. जैसे कि कीबोर्ड, माउस, ट्रैकबॉल आदि.

2. Micro Processor  – माइक्रो कंप्यूटर में CPU के स्थान पर माइक्रो प्रोसेसर का इस्तेमाल किया जाता है. यह पूरे कंप्यूटर को नियंत्रित करता है. यूजर जब इनपुट डिवाइस के द्वारा कोई निर्देश कंप्यूटर को देता है तो माइक्रो प्रोसेसर उसे प्रोसेस करता है.

3. ALU – Arithmetic Logic Unit (ALU) हार्डवेयर में एक डिजिटल सर्किट होता है जिसका कार्य अंकगणित, गणितीय और लॉजिकल गणनाओं को हल करने का होता है. जैसे कि जोड़ना, घटाना, गुणा, भाग आदि.

4. Memoryमेमोरी का इस्तेमाल डेटा को स्टोर करने के लिए किया जाता है. इसे Internal मेमोरी भी कहते हैं. जब कंप्यूटर निर्देशों को प्राप्त करके कोई प्रोग्राम Run करता है तो वह सारा डेटा इंटरनल मेमोरी में होता है. जैसे हार्ड डिस्क, SSD आदि.

5. Output Device – आउटपुट डिवाइस कंप्यूटर से जुड़े रहते हैं. जब डेटा इनपुट के आधार पर पूरी तरह से प्रोसेस कर लिया जाता है और वह यूजर को दिखाने के लिए तैयार होता है तो इन्हीं आउटपुट डिवाइस पर यूजर परिणामों को देख सकता है और उन्हें एक्सेस कर सकता है. आउटपुट डिवाइस मॉनिटर, प्रिंटर, प्लॉटर आदि हैं.

माइक्रो कंप्यूटर के उदाहरण (Example Micro Computer in Hindi)

हम अपने दैनिक जीवन में माइक्रो कंप्यूटर के कई उदाहरण देखते हैं. कुछ माइक्रो कंप्यूटर का इस्तेमाल आप भी स्वयं करते होंगे. माइक्रो कंप्यूटर के कुछ उदाहरण निम्नलिखित हैं –

  • डेस्कटॉप
  • लैपटॉप
  • मोबाइल फ़ोन
  • एंड्राइड स्मार्टफोन
  • नोटबुक
  • टेबलेट
  • कैलकुलेटर
  • सर्वर
  • गेमिंग कंसोल
  • वर्क स्टेशन इत्यादि.

माइक्रो कंप्यूटर की विशेषताए (Feature of Micro Computer in Hindi)

माइक्रो कंप्यूटर की कुछ प्रमुख विशेषताएं निम्नलिखित हैं –

  • माइक्रो कंप्यूटर आकार में  सबसे छोटे कंप्यूटर हैं.
  • माइक्रो कंप्यूटर का इस्तेमाल पर्सनल इस्तेमाल के लिए किया जाता है.
  • माइक्रो कंप्यूटर पर एक समय में एक ही व्यक्ति कार्य कर सकता है.
  • माइक्रो कंप्यूटर की स्टोरेज क्षमता, प्रोसेसिंग स्पीड अन्य कंप्यूटर की तुलना में कम होती है.
  • माइक्रो कंप्यूटर की कीमत अन्य की तुलना में बहुत कम होती है.
  • माइक्रो कंप्यूटर में अनेक प्रकार के सॉफ्टवेयर और एप्लीकेशन होते हैं जिनके द्वारा यूजर विभिन्न कार्यों को कर सकता है.

माइक्रो कंप्यूटर के उपयोग (Uses of Micro Computer in Hindi)

माइक्रो कंप्यूटर का उपयोग केवल सामान्य उद्देश्य कार्यों को करने के लिए किया जाता है. माइक्रो कंप्यूटर के कुछ उपयोग निम्नलिखित हैं –

  • ऑफिस में काम के लिए
  • घरों में सामान्य उपयोग के लिए
  • डॉक्यूमेंट को बनाने के लिए
  • विडियो देखने, गाने सुनने, गेम खेलने के लिए.
  • इन्टरनेट चलाने के लिए.
  • घर से ऑनलाइन बैंकिंग, Shopping, Bill payment जैसे कामों के लिए.
  • विडियो, इमेज एडिटिंग के लिए.

माइक्रो कंप्यूटर में अनेक सॉफ्टवेयर और एप्लीकेशन उपलब्ध होते हैं जिनके द्वारा यूजर विभिन्न छोटे – मोटे कार्यों को कर सकते हैं. आप भी अपने मोबाइल या कंप्यूटर में विभिन्न प्रकार के कार्यों को करते होंगें. वह सब भी माइक्रो कंप्यूटर के उपयोग हैं.

माइक्रो कंप्यूटर के फायदे (Advantage of Micro Computer in Hindi)

माइक्रो कंप्यूटर के अनेक फायदे हैं जैसे कि –

  • माइक्रो कंप्यूटर आकार में छोटे होते हैं, जिस कारण इन्हें एक स्थान से दुसरे स्थान में ले जाना आसान है.
  • माइक्रो कंप्यूटर को Maintain करना भी आसान है, अधिकतर यूजर बिना किसी सहायता के अपने पर्सनल कंप्यूटर में आने वाली समस्याओं को ठीक कर लेते हैं.
  • माइक्रो कंप्यूटर का इस्तेमाल करना आसान है. यूजर थोड़े बहुत परिक्षण के साथ इन्हें इस्तेमाल कर सकता है.
  • अन्य किसी भी कंप्यूटर की तुलना में माइक्रो कंप्यूटर की कीमत बहुत कम होती है. एक सामान्य आय वाला व्यक्ति भी माइक्रो कंप्यूटर को खरीद सकता है.
  • माइक्रो कंप्यूटर को इन्टरनेट से जोड़कर आप विभिन्नं प्रकार की सूचनाओं को प्राप्त कर सकते हैं.
  • निजी उपयोग के लिए माइक्रो कंप्यूटर सबसे Best कंप्यूटर हैं.

माइक्रो कंप्यूटर के नुकसान (Disadvantage of Micro Computer)

माइक्रो कंप्यूटर के नुकसान निम्नलिखित हैं –

  • माइक्रो कंप्यूटर में कम पॉवर के प्रोसेसर का इस्तेमाल किया जाता है, जिससे इनकी परफॉरमेंस सुपर और मेनफ्रेम कंप्यूटर से कम होती है.
  • माइक्रो कंप्यूटर की सिक्यूरिटी अधिक नहीं होती है, इनमें आसानी से कंप्यूटर वायरस प्रवेश कर सकते हैं.
  • सामान्यतः माइक्रो कंप्यूटर की स्टोरेज क्षमता बहुत अधिक नहीं होती है, इसलिए यूजर स्टोरेज के लिए बाहरी डिवाइस जैसे मेमोरी कार्ड, पेन ड्राइव आदि का इस्तेमाल करते हैं.
  • अगर माइक्रो कंप्यूटर को संभाल कर नहीं रखा जाता है तो यह बहुत जल्दी गिरने – टूटने की वजह से खराब हो जाते हैं.
  • माइक्रो कंप्यूटर में अनेक मजेदार गेम, सोशल साईट होती हैं जो व्यक्ति को माइक्रो कंप्यूटर के आदी बना देते हैं. माइक्रो कंप्यूटर की लत से व्यक्ति अपने कार्यों पर ध्यान केन्द्रित नहीं कर पाता है.

माइक्रो कंप्यूटर और मिनी कंप्यूटर के बीच अंतर

माइक्रो कंप्यूटर मिनी कंप्यूटर
यह 1970 में पेश किया गया एक पर्सनल कंप्यूटर है और सामान्य उद्देश्य के लिए उपयोग किया जाता है.यह 1960 में पेश किया गया छोटा कंप्यूटर है और इसका उपयोग व्यवसाय और वैज्ञानिक अनुप्रयोगों के संचालन के लिए किया जाता है.
माइक्रो कंप्यूटर का उपयोग लोग शिक्षा और मनोरंजन के लिए करते हैं.मिनी कंप्यूटर का उपयोग कंपनियों द्वारा प्रक्रिया के नियंत्रण के निर्माण के लिए किया जाता है.
यह एकल प्रसंस्करण अनुकूलन से बना है.यह डबल प्रोसेसिंग ऑप्टिमाइज़ेशन से बना है.
यह सीपीयू के लिए सिंगल माइक्रोप्रोसेसर का उपयोग करता है जो सभी तर्क और अंकगणितीय संचालन करता है.इसमें मल्टीपल प्रोसेसर का इस्तेमाल होता है.
भंडारण क्षमता गीगाबाइट (GB) के संदर्भ में है.भंडारण क्षमता टेराबाइट (टीबी) के संदर्भ में है.
वे मुख्य रूप से वर्ड प्रोसेसिंग, डेटाबेस या स्प्रेडशीट, ग्राफिक्स और सामान्य कार्यालय अनुप्रयोगों के प्रबंधन के लिए उपयोग किए जाते हैं.वे मुख्य रूप से प्रक्रिया नियंत्रण, वित्तीय और प्रशासनिक कार्यों, जैसे वर्ड प्रोसेसिंग और अकाउंटिंग के लिए उपयोग किए जाते हैं.
यह मिनीकंप्यूटर की तुलना में अधिक लागत प्रभावी और उपयोग में आसान है.माइक्रो कंप्यूटर की तुलना में इसका उपयोग करना अधिक महंगा और कठिन है.
यह मिनी कंप्यूटर की तुलना में गति और प्रदर्शन में बहुत धीमी है.यह माइक्रो कंप्यूटर की तुलना में गति और प्रदर्शन में तेज है क्योंकि इसमें मल्टीप्रोसेसिंग सिस्टम होता है जो विभिन्न उपयोगकर्ताओं को एक साथ संभालने में सक्षम होता है.
माइक्रो कंप्यूटर भंडारण उपकरणों के रूप में मैग्नेटिक टेप और चुम्बकीय डिस्क का उपयोग करता है.मिनी कंप्यूटर द्वितीयक भंडारण के लिए चुंबकीय डिस्क या मैग्नेटिक टेप का उपयोग करता है.
यह मिनी कंप्यूटर की तुलना में कम शक्तिशाली है.यह माइक्रो कंप्यूटर की तुलना में अधिक शक्तिशाली है.
difference between microcomputer and mini computer in hindi

FAQ: : Micro Computer in Hindi

माइक्रो कंप्यूटर क्या है?

माइक्रो कंप्यूटर एक छोटे आकार का कंप्यूटर होता है जिसमें CPU के स्थान पर माइक्रो प्रोसेसर का इस्तेमाल किया जाता है.

माइक्रो कंप्यूटर की शुरुवात कब हुई?

माइक्रो कंप्यूटर शब्द की शुरुवात 1970 में हुई थी. दुनिया का प्रथम माइक्रो कंप्यूटर Micral था जिसे 1973 में Realisation d’Etudes Electroniques (R2E) के द्वारा विकसित किया गया था.

माइक्रो कंप्यूटर कौन – कौन से हैं?

माइक्रो कंप्यूटर के अनेक उदाहरण हैं जैसे कि – डेस्कटॉप, लैपटॉप, स्मार्टफोन, टेबलेट, नोटबुक आदि.

Micro Computer में कितने CPU लगे रहते है?

दरअसल माइक्रो कंप्यूटर में CPU की जगह एक माइक्रो प्रोसेसर यानि सेमीकंडक्टर चिप लगा होता है.

इन्हें भी पढ़े 

निष्कर्ष: माइक्रो कंप्यूटर क्या है इन हिंदी

आज के इस लेख के माध्यम से हमने जाना कि Micro Computer Kya Hai, इसकी विशेषतायें, उपयोग, फायदे और नुकसानों के बारे में भी हमने इस लेख में बात की. हमने पूरी कोशिस की है कि आपको माइक्रो कंप्यूटर के विषय में सटीक जानकारी प्रदान करवा सकें.

अगर आपके इस लेख से सम्बंधित कोई प्रशन हैं तो आप हमें निसंकोच कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं, हम जल्दी ही आपके सवालों का जवाब देने की कोशिस करेंगे. और अगर आपको यह लेख पसंद आया तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी सोशल मीडिया पर जरुर शेयर करें.

5/5 - (1 vote)

नमस्कार ! मेरा नाम रणजीत सिंह है और मुझे इन्टरनेट पर लोगो की मदद करने में रूचि है. साथ ही Techshole.com का Fownder हु. इस Best Hindi Blog पर Blogging और Earn Money Online इत्यादि इन्टरनेट से जुडी जानकारी हिंदी में शेयर करता हु! हमारे ब्लॉग पर आने के लिए धन्यवाद.

Leave a Comment