मॉडेम क्या है इसके प्रकार और कैसे काम करता है (Modem In Hindi)

Type of Modem In Hindi: क्या आप जानना चाहते हैं Modem क्या है, मॉडेम कितने प्रकार का होता है, मॉडेम के कार्य क्या हैं, मॉडेम कैसे काम करता है और मॉडेम की विशेषताएं क्या हैं तो इस लेख को पूरा अंत तक जरुर पढ़ें. आज के इस लेख में हम आपको मॉडेम के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं.

मॉडेम का नाम शायद आपने पहले सुना होगा, इस नेटवर्किंग डिवाइस के द्वारा आप अपने कंप्यूटर या स्मार्टफ़ोन को सीधे इंटरनेट से कनेक्ट कर सकते हैं टेलीफोन लाइन, केबल या सैटेलाइट कनेक्शन के द्वारा. हालांकि मॉडेम का इस्तेमाल दो LAN नेटवर्क के बीच नहीं होता है लेकिन अपने डिवाइस को इंटरनेट से कनेक्ट करने के लिए मॉडेम एक महत्वपूर्ण डिवाइस है, जिसके बारे में आपको जानकारी होनी चाहिए.

Modem क्या है इसके प्रकार और कैसे काम करता है (Modem In Hindi)

तो हमने सोचा क्यों न आपको आज मॉडेम के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करवाई जाये. मॉडेम के बारे में पूरी इनफार्मेशन प्राप्त करने के लिए इस लेख को अंत तक पढ़ें. तो चलिए शुरू करते हैं बिना किसी देरी के इस लेख मॉडेम क्या है इन हिंदी.

मॉडेम क्या है (Computer Modem in Hindi)

Modem एक नेटवर्किंग हार्डवेयर डिवाइस होता है जो किसी कंप्यूटर को टेलीफोन लाइन, केबल या सैटेलाइट कनेक्शन पर डाटा भेजने और प्राप्त करने की अनुमति देता है.

Modem दो शब्दों से मिलकर बना है जिसमें MO का मतलब Modulator और dem का मतलब Demodulator होता है जो की इसकी कार्यप्रणाली को दर्शाते हैं. मॉडेम Modulation और Demodulation का एक संछिप्त रूप है.

मॉडेम के द्वारा डिजिटल सिग्नल को एनालॉग सिग्नल में परिवर्तित किया जाता है इस प्रक्रिया को Modulation कहते हैं और इसी प्रकार एनालॉग सिग्नल को डिजिटल सिग्नल में बदलने की प्रक्रिया Demodulation कहलाती है. मॉडेम इन दोनों कार्यों को एक साथ पूरा करते हैं और इस कारण से, मॉडेम शब्द modulate और demodulate का एक संयोजन है.

मॉडेम की परिभाषा (Definition of Modem in Hindi)

मॉडेम एक नेटवर्किंग डिवाइस होता है जो Modulation और Demodulation के द्वारा टेलीफोन लाइन से कंप्यूटर नेटवर्क तक डाटा ट्रान्सफर करता है.

मॉडेम का फुल फॉर्म (Modem Full Form in Hindi)

Modem का फुल फॉर्म Modulator / Demodulator होता है जैसे कि हमने ऊपर भी बताया है मॉडेम दो शब्दों Mo और dem से मिलकर बना है.

मॉडेम का इतिहास (History of Modem in Hindi)

1950 के दशक के दौरान उत्तरी अमेरिका air defense के लिए डाटा ट्रांसमिट करने की आवश्यकता से डिजिटल मॉडेम को विकसित किया गया. मॉडेम का उपयोग public switched टेलीफोन नेटवर्क और PSTN पर डाटा संचार के लिए किया जाता था.

पहला commercial मॉडेम 1962 में AT&T के द्वारा बनाया गया जिसका नाम Bell 103 था. इस मॉडेम की स्पीड 300 bits per second थी. 1996 में Dr. Brent Townshend ने 56K मॉडेम का आविष्कार किया, इस मॉडेम की स्पीड 56Kbps थी. पहले मॉडेम की स्पीड को बॉड में मापा जाता था, लेकिन कंप्यूटर तकनीकी विकसित होने के कारण इसे bits per second में मापा जाता है.

1990 दशक के अंत में World Wide Web के लोकप्रिय हो जाने से मॉडेम की मांग में भी तेजी आई. शुरुवात में Dial up मॉडेम ने दुनिया के कई घरों में इंटरनेट एक्सेस की सुविधा प्रदान की. Dial up मॉडेम में इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर से कनेक्ट होने के लिए एक नंबर डायल करना पड़ता था. इन मॉडेम में डाटा ट्रान्सफर की दर अधिकतम 56 Kbps तक थी.

आधुनिक मॉडेम आमतौर पर DSL और केबल मॉडेम होते हैं जिनको Broadband के नाम से भी जाना जाता है

लेख को यहाँ तक पढने के बाद आप लोग समझ गए होंगे की Modem क्या होता है, अब जानते हैं आखिर मॉडेम काम कैसे करता है.

मॉडेम कैसे काम करता है (How does Modem Work in Hindi)

मॉडेम ऐसा डिवाइस होता है जिसमें Modulation और Demodulation की प्रक्रिया साथ – साथ होती है. मॉडेम का उपयोग एक कंप्यूटर नेटवर्क से दुसरे कंप्यूटर नेटवर्क में टेलीफोन लाइन या केबल डाटा ट्रान्सफर करने का होता है. कंप्यूटर नेटवर्क डिजिटल मोड में कार्य करता है और टेलीफोन लाइन या केबल में एनालॉग मोड का इस्तेमाल किया जाता है.

Modulator transmitting end पर डाटा को डिजिटल मोड से एनालॉग मोड में convert करता है और वहीँ दूसरी ओर Demodulator उसी डाटा को receiving end पर एनालॉग मोड से डिजिटल मोड में Convert करता है.

मॉडेम के प्रकार (Type of Modem in Hindi)

अपनी विशेषताओं के आधार पर मॉडेम कई प्रकार के हो सकते हैं, जिनमें से कुछ प्रमुख प्रकार के मॉडेम के बारे में हमने आपको नीचे बताया है –

1 – Dial up Modem (डायल-अप मॉडेम)

Dial up नेटवर्क पर उपयोग किए जाने वाले मॉडेम टेलीफोन लाइनों पर उपयोग किए जाने वाले एनालॉग फॉर्म और कंप्यूटर पर उपयोग किए जाने वाले डिजिटल फॉर्म के बीच डाटा को convert करते हैं. एक external dial-up modem एक छोर पर कंप्यूटर और दुसरे छोर पर टेलीफोन लाइन में प्लग रहता है.

 इस प्रकार के मॉडेम में इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर से कनेक्ट होने के लिए एक नंबर डायल करना पड़ता है. आधुनिक डायल-अप नेटवर्क मोडेम 56,000 बिट प्रति सेकंड की अधिकतम दर (maximum speed) से डाटा ट्रांसमिट करते हैं.

2 – Broadband Modem (ब्रॉडबैंड मॉडेम)

डीएसएल या केबल इंटरनेट एक्सेस के लिए उपयोग किए जाने वाले ब्रॉडबैंड मॉडेम डायल-अप मोडेम की तुलना में High network speed प्राप्त करने के लिए advance सिग्नल तकनीकी का उपयोग करते हैं.

ब्रॉडबैंड मॉडेम को अक्सर हाई-स्पीड मोडेम के रूप में जाना जाता है, Cellular मॉडेम एक प्रकार का डिजिटल मॉडेम है जो मोबाइल डिवाइस और सेल फोन नेटवर्क के बीच इंटरनेट कनेक्टिविटी स्थापित करता है.

3 – Fax Modem (फैक्स मॉडेम)

Fax Modem का इस्तेमाल कंप्यूटर में फैक्स के रूप में भी कर सकते हैं. इस मॉडेम की मदद से आप अन्य कंप्यूटर से फैक्स प्राप्त कर सकते हैं और दुसरे कंप्यूटर को फैक्स भी भेज सकते हैं.

4 – Cable Modem (केबल मॉडेम)

केबल मॉडेम में coaxial cable का इस्तेमाल किया जाता है जो की मॉडेम के पिछले किनारों से जुड़े रहते हैं.

5 – Removable Modem (हटाने योग्य मॉडेम)

इस मॉडेम को आवश्यकता के अनुसार डाला या हटाया जा सकता है, और इन मॉडेम का उपयोग पारंपरिक लैपटॉप PCMCIA स्लॉट में किया जाता है.

6 – Wireless Modem (वायरलेस मॉडेम)

वायरलेस मॉडेम को Radiofrequency Modem के नाम से भी जाना जाता है, इस प्रकार के मॉडेम को cellular तकनीकी और वायरलेस LAN के साथ काम करने के लिए बनाया गया है.

मॉडेम की विशेषताएं (Feature of Modem in Hindi)

मॉडेम की प्रमुख विशेषताएं निम्नलिखित हैं –

  • Modem में Modulation और Demodulation दोनों प्रोसेस होती है.
  • मॉडेम अनेक प्रकार के ट्रांसमिशन स्पीड में उपलब्ध होते हैं, एक अच्छे मॉडेम की स्पीड 9600bps, 14400bps, 28000bps या 56800bps होती है.
  • मॉडेम कंप्यूटर नेटवर्क को टेलीफोन लाइन, केबल या सैटेलाइट कनेक्शन पर डाटा भेजने और प्राप्त करने की अनुमति देता है.
  • मॉडेम के द्वारा आप अपने डिवाइस को इंटरनेट से जोड़ सकते हैं.
  • मॉडेम सभी सिग्नल को transmit and decode करता है.

मॉडेम का उपयोग (Uses of Modem in hindi)

मॉडेम के कुछ प्रमुख उपयोग निम्न प्रकार से हैं –

  • आजकल प्रत्येक यूजर डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड या नेट-बैंकिंग के माध्यम से भुगतान , जहां मॉडेम डाटा ट्रांसफर करने में प्रमुख भूमिका निभाता है.
  • कई छोटी और बड़ी कंपनियां अपने कर्मचारियों के लिए एक दूसरे के साथ संचार करने के लिए ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी पर भरोसा करती हैं. इसलिए, यहां ब्रॉडबैंड या सर्वर कनेक्शन की डाउन स्पीड प्राप्त करते समय भरोसेमंद बैकअप की आवश्यकता होती है.
  • कई बड़े संगठनों को हर दिन बड़े पैमाने पर अपने सभी फ्रैंचाइज़ी को डाटा भेजना होता है, मॉडेम के उपयोग से सुरक्षित कनेक्शन के साथ डाटा भेजा जाता है.

मॉडेम और राऊटर में अंतर (Difference between Modem and Router in Hindi)

एक मॉडेम एक छोटा बॉक्स होता है जो केबल के माध्यम से आपके डिवाइस को इंटरनेट से जोड़ता है, जबकि राऊटर आपके डिवाइस में इंटरनेट कनेक्शन distribute करता है. राऊटर स्वतः ही आपको इंटरनेट से नहीं जोड़ता है.

मॉडेम के द्वारा आप अपने डिवाइस को Wide Area Network के साथ कनेक्ट कर सकते हैं, जबकि राऊटर आपके डिवाइस को Local area network या वाई – फाई नेटवर्क से जोड़ता है. राऊटर आपके Devices को एक दुसरे के साथ वायरलेस तरीके से संचार करने की अनुमति देता है.

मॉडेम से सम्बंधित सामान्य प्रश्न

मॉडेम क्या होता है?

मॉडेम एक नेटवर्किंग डिवाइस है जिसका इस्तेमाल टेलीफोन लाइन की मदद से कंप्यूटर नेटवर्क में डाटा ट्रान्सफर करने का होता है.

मॉडेम का कार्य क्या है?

मॉडेम का कार्य टेलीफोन लाइन, केबल या सैटेलाइट कनेक्शन के द्वारा कंप्यूटर नेटवर्क में डाटा को भेजने और प्राप्त करने का होता है.

मॉडेम का अविष्कार किसने किया?

पहला commercial मॉडेम 1962 में AT&T के द्वारा विकसित किया गया था. 1996 में Dr. Brent Townshend ने 56K मॉडेम का आविष्कार किया.

मॉडेम की स्पीड को किसमें मापा जाता है.

पहले मॉडेम की स्पीड को बॉड में मापा जाता था, लेकिन कंप्यूटर तकनीकी विकसित होने के कारण इसे bits per second में मापा जाता है.

Modulation और Demodulation क्या है?

डिजिटल सिग्नल को एनालॉग सिग्नल में परिवर्तित करने की प्रोसेस Modulation कहलाती है तथा एनालॉग सिग्नल को डिजिटल सिग्नल में परिवर्तित करने की प्रोसेस Demodulation कहलाती है.

Modem का पूरा नाम क्या है?

Modem का पूरा नाम Modulate / Demodulate होता है.

इन्हें भी पढ़े

आपने सीखा: मॉडेम क्या है हिंदी में

इस लेख में हमने आपको Modem Kya Hai In Hindi के बारे में जानकारी दी है, लेख को पढने के बाद आप लोग समझ गए होंगे की मॉडेम का क्या कार्य है और मॉडेम कितने प्रकार के होते हैं. आधुनिक दुनिया में मॉडेम एक महत्वपूर्ण नेटवर्किंग डिवाइस है.

इस लेख में इतना ही उम्मीद करते हैं आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह लेख जरुर पसंद आया होगा, इस लेख को सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ भी जरुर साझा करें और इसी प्रकार के Valuable इनफार्मेशन को पढने के लिए हमारे ब्लॉग में आते रहिये.

5/5 - (1 vote)

Techshole इंडिया की Best हिंदी ब्लॉग में से एक बनने की दिशा में अग्रसर है. यहाँ इस ब्लॉग पर हम Blogging, Computer, Tech, इंटरनेट और पैसे कमाए से सम्बन्धित लेख साझा करते है.

Leave a Comment