मॉनिटर क्या है इसके प्रकार सहित पूरी जानकारी (Type of Monitor in Hindi)

Monitor Kya Hai In Hindi: आप लोगों ने कंप्यूटर में काम करने वाले डिस्प्ले यूनिट मॉनिटर को देखा होगा और इसमें विडियो गेम, मूवी या कोई अन्य काम भी किये होंगे.

लेकिन क्या आप जानते हैं कंप्यूटर मॉनिटर क्या है, मॉनिटर की फुल फॉर्म क्या है, मॉनिटर की खोज किसने की, मॉनिटर कितने प्रकार के होते हैं, मॉनिटर के कार्य और मॉनिटर की विशेषताएँ क्या है.

अगर आप ऊपर पूछे गए सवालों का जवाब नहीं जानते हैं तो इस लेख को पूरा अंत तक जरुर पढ़ें, इसमें हमने आपको Monitor Kya Hai की पूरी विस्तृत जानकारी हिंदी भाषा के आसान शब्दों में दी है जिसे पढने के बाद आपको मॉनिटर के बारे में उपयोगी जानकारी मिलेगी. तो आइये शुरू करते हैं इस लेख को और जानते हैं मॉनिटर क्या होता है.

मॉनिटर क्या है (What is Monitor in Hindi)

मॉनिटर कंप्यूटर की एक आउटपुट डिवाइस है जो कंप्यूटर में इनपुट किये गए डेटा को कंप्यूटर स्क्रीन में दिखाता है. मॉनिटर को Visual Display Unit के नाम से भी जाना जाता है, क्योकि यह Information को स्क्रीन में दिखाता है.

मॉनिटर कंप्यूटर की एक महत्वपूर्ण डिवाइस है, इसके बिना कंप्यूटर अधुरा है क्योकि जब तक हमें पता नहीं होगा की कंप्यूटर में क्या चल रहा है तब तक हम कंप्यूटर में काम नहीं कर पाएंगे.

मॉनिटर CPU से जुड़ा रहता है, जब यूजर कीबोर्ड या माउस के द्वारा डेटा इनपुट करता है या कंप्यूटर को निर्देश देता है तो कंप्यूटर आउटपुट डिवाइस मॉनिटर में उसी समय परिणाम को दिखाता है जिस समय काम किया जाता है. मॉनिटर यूजर को सारी जानकारी Image, Video और Text के रूप में दिखाता है.

कई लोग मॉनिटर को Screen या Display भी बोलते हैं लेकिन इसका वास्तविक नाम मॉनिटर ही है.

मॉनिटर का पूरा नाम (Monitor Full Form in Hindi)

मॉनिटर का Full-Form होता है – Machine Output Number of Information To Organize Report

  • M – Machine
  • O – Output
  • N – Number of
  • I – Information
  • T – To
  • O – Organize
  • R – Report

मॉनिटर की खोज किसने की (Who Invent Monitor in Hindi)

मॉनिटर का अविष्कार 1897 ईस्वी में जर्मन वैज्ञानिक Karl Ferdinand Braun ने किया था. यह एक कैथोड रे मॉनिटर (CTR) था.

मॉनिटर के प्रकार (Type of Monitor in Hindi)

आज के समय में मॉनिटर अपने बनावट, आकार और डिजाईन के आधार पर अनेक प्रकार के आते हैं. कुछ प्रमुख प्रकार के मॉनिटर निम्न हैं –

  • CTR (Cathode Ray Tube)
  • LCD (Liquid Crystal Display)
  • LED (Light Emitting Diode)
  • SED (Surface Conducted Electron Emitting Display)
  • Plasma Monitor

आइये अब इनके बारे में एक – एक कर जानते हैं.

1 – CTR (Cathode Ray Tube)

CTR सबसे ज्यादा प्रयोग होने वाले आउटपुट डिवाइस हैं. ये मॉनिटर इमेज को डिस्प्ले करने के लिए Cathode Ray Tube तकनीकी का इस्तेमाल करती है. CTR तकनीकी का इस्तेमाल टेलीविजन की स्क्रीन बनाने में भी किया जाता है.

CTR computer-monitor
CTR computer-monitor

Cathode Ray Tube मुख्य रूप से एक Vacuum Tube होती है. जिसके एक साइड में इलेक्ट्रान की एक gun होती है और दुसरे साइड में Florescent  Screen होती है.

आज के समय में धीरे – धीरे इनका इन्तेमल कम होता जा रहा है, इसका मुख्य कारण यह है कि ये बहुत वजनी और महंगे हैं. इनके स्थान पर हलके और सस्ते मॉनिटर का इस्तेमाल हो रहा है.

2 – LCD (Liquid Crystal Display)

जैसा कि हमने जाना CTR मॉनिटर बहुत वजनी थे और अधिक स्थान घेरते थे, लेकिन धीरे – धीरे तकनीकी में विकास हुआ तो मॉनिटर के आकार में भी बदलाव होने लगा. CTR के स्थान पर LCD का उपयोग बढ़ने लगा.

LCD को बनाने में Liquid Crystal का इस्तेमाल होता है, यह आकार में पतले होते हैं और वजन में भी हलके होते हैं. इसलिए इन्हें रखने के लिए ज्यादा जगह की जरुरत नहीं पड़ती है.

LCD Monitor
LCD Monitor

CTR की तुलना में LCD कम बिजली खर्च करती है और यह Heat भी कम पैदा करती है. पहले LCD का इस्तेमाल लैपटॉप में होता था लेकिन अब LCD डेस्कटॉप कंप्यूटर के लिए भी इस्तेमाल की जाती है.

3 – LED (Light Emitting Diode)

LED भी LCD की तरह ही Flat Panel Display और किनारों से थोडा घुमावदार होता है जो आज के समय में मार्किट में आसानी से उपलब्ध हो जाते हैं.

LED Monitor For Computer
LED Monitor For Computer

LED बैक Lighting के लिए Light Emitting Diode का इस्तेमाल करते है.CTR और LCD की तुलना में यह कम बिजली खर्च करती है, और इनसे अधिक टिकाऊ भी रहते हैं.

4 – SSD (Surface Conducted Electron Emitting Display)

SSD High Resolution और Flat Panel Display वाले मॉनिटर होते हैं. इसे Canon और Tosiba ने मिलकर बनाया है. CTR मॉनिटर की तुलना में SSD 50 प्रतिशत कम तक बिजली का इस्तेमाल करते हैं.इस प्रकार के मॉनिटर को बनाने के लिए Electron Emitted Array और फास्फोरस की परत का इस्तेमाल किया जाता है.

Flat-Panel-Display-Computer-Monitor
Flat-Panel-Display-Computer-Monitor

5 – Plasma Monitor

मॉनिटर के कार्य उच्च Contrast वाली स्क्रीन होती है जिसमें VibrantColor और ब्राइटनेस होती है. ये Plasma Discharge सिधांत पर काम करती है. प्लाज्मा डिस्प्ले CTR की तुलना में पतले और LCD की तुलना में अधिक चमकीले होते हैं. सस्ते दामों में LCD उपलब्ध होने के बाद धीरे – धीरे प्लाज्मा मॉनिटर के इस्तेमाल में कमी आने लगी है.

रंग के आधार पर मॉनिटर के प्रकार

रंग के आधार पर मॉनिटर मुख्य रूप से तीन प्रकार के होते है.

  • Monochrome (मोनोक्रोम)
  • Gray Scale (ग्रे – स्केल)
  • Color Monitor (रंगीन मॉनिटर)

1. Monochrome (मोनोक्रोम)

Monochrome (मोनोक्रोम) मॉनिटर Single Color Display होते हैं, ये आउटपुट को Black and White रूप में प्रदर्शित करता है.

2. Gray Scale (ग्रे – स्केल)

Gray Scale (ग्रे – स्केल) मोनोक्रोम जैसे ही होते है, जो आउटपुट को Gray Shades में प्रदर्शित करता है.

3. Color Monitor (रंगीन मॉनिटर)

Color Monitor (रंगीन मॉनिटर) उच्च Resolution में ग्राफ़िक्स को डिस्प्ले करने में सक्षम होते हैं और यह RBG (Red Blue Green) विकरण के समायोजन के रूप में आउटपुट को प्रदर्शित करता है.

मॉनिटर की विशेषताएँ (Feature of Monitor in Hindi)

मॉनिटर की प्रमुख विशेषताएं निम्न हैं –

1 – Resolution

Resolution का मतलब होता है स्क्रीन पर पिक्सल कैसे पैक होता है. Graphic Image में पिक्सल एक एकल बिंदु होता है. मॉनिटर पिक्चर को लाखों पिक्सल में विभाजित करके चित्रों को दिखाता है. जो कि पंक्ति और कॉलम में व्यवस्थित होते हैं.

2 – Dot – Pitch 

डॉट पिच एक प्रकार की माप करने की तकनीकी है जो यह दर्शाती है कि दो पिक्सल के मध्य Horizontal दूरी कितनी है. इसे मिलीमीटर में मापा जाता है, यह मॉनिटर की गुणवत्ता को प्रदर्शित करता है.

3 – Size

मॉनिटर की सबसे महत्वपूर्ण विशेषता है इसका आकार. मॉनिटर के आकार को लम्बाई और चोड़ाई में मापा जाता है. कंप्यूटर सिस्टम का मॉनिटर टीवी स्क्रीन की तरह ही होता है. मॉनिटर को Dianalog Inch के terms में मापा जाता है.

4 – Refresh Rate

मॉनिटर की Refresh Rate यह प्रदर्शित करती है कि मॉनिटर को प्रति सेकंड कितनी बार रिफ्रेश करना है. मॉनिटर के लिए प्रति मिनट Refresh Rate आवर्ती में मापी जाती है.

मॉनिटर के फायदे (Advantage of Monitor in Hindi)

मॉनिटर के बहुत सारे फायदे हैं जिनमें से कुछ प्रमुख निम्न है –

  • आधिनुक मॉनिटर (LCD) CTR मॉनिटर की तुलना में कम बिजली का इस्तेमाल करते हैं.
  • पुराने मॉनिटर में कैथोड रे ट्यूब का इस्तेमाल किया जाता था लेकिन आधुनिक मॉनिटर में LED Backlighting, Liquid Crystal Display का इस्तेमाल किया जाता है.
  • मॉनिटर जानकारी को ग्राफ़िक रूप में प्रदर्शित करता है जिससे यूजर को समझने में आसानी होती है.
  • LCD मॉनिटर की हर Image में Sharpness होती है.
  • मॉनिटर प्रभावी लागत के साथ अधिक किफायती होते हैं.
  • टचस्क्रीन माउस और ट्रैकबॉल की तुलना में अधिक Fast होते हैं.

मॉनिटर के नुकसान (Disadvantage of Monitor in Hindi)

एक ओर मॉनिटर के जहाँ बहुत सारे फायदे हैं वही दूसरी ओर इसके कुछ नुकसान भी हैं जैसे कि –

  • मॉनिटर थोड़े महंगे हो सकते हैं.
  • CTR मॉनिटर अधिक स्थान धेरते हैं और ये वजनी भी होते हैं जिसके कारण इन्हें आसानी से एक स्थान से दूसरी स्थान में नहीं रखा जा सकता है.

इन्हें भी पढ़े 

FAQ For Monitor in Hindi

मॉनिटर कौन सा डिवाइस है?

मॉनिटर कंप्यूटर का आउटपुट डिवाइस है.

मॉनिटर का क्या कार्य है?

मॉनिटर का मुख्य कार्य कंप्यूटर को दिए गए निर्देशों को स्क्रीन में प्रदर्शित करना होता है.

मॉनिटर का पूरा नाम क्या है?

मॉनिटर का पूरा नाम Machine Output Number of Information To Organize Report है.

LED का पूरा नाम क्या है?

LED का पूरा नाम Light Emitting Diode है.

निष्कर्ष – मॉनिटर क्या है इन हिंदी       

आज के इस लेख के माध्यम से हमने आपको Monitor Kya Hai की जानकारी आसान शब्दों में देने की कोशिस की है जिसे पढ़कर आप आसानी से मॉनिटर के बारे में समझ सकों.

हमारी हमेशा कोशिस रहती है कि अपने लेख में सम्पूर्ण जानकारी दें जिससे पाठकों को किसी अन्य लेख को पढने की जरुरत न पड़े.

इस लेख में मॉनिटर क्या है इन हिंदी इतना ही, उम्मीद करते हैं आपको हमारे द्वारा लिखा गया. यह लेख What Is Monitor In Hindi जरुर पसंद आया होगा, इसे अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करें और इसी प्रकार के उपयोगी लेख को पढने के लिए हमारे ब्लॉग में आते रहिये.

Ranjeet Singh
Ranjeet Singh

नमस्कार ! मेरा नाम रणजीत सिंह है और मुझे इन्टरनेट पर लोगो की मदद करने में रूचि है. साथ ही Techshole.com का Fownder हु. इस Best Hindi Blog पर Blogging और Earn Money Online इत्यादि इन्टरनेट से जुडी जानकारी हिंदी में शेयर करता हु! हमारे ब्लॉग पर आने के लिए धन्यवाद.

Leave a Comment