नेटवर्क हब क्या है इसके प्रकार और काम कैसे करता है (Network Hub In Hindi)

Network Hub Kya Hai In Hindi: किसी भी नेटवर्क को बनाने के लिए अनेक डिवाइस का इस्तेमाल किया जाता है, और ये सभी डिवाइस मिलकर एक नेटवर्क का निर्माण करते हैं. नेटवर्क बनाने के लिए इन्हीं डिवाइस में से एक डिवाइस होता है Hub. हब की मदद से Multiple कंप्यूटर को दुसरे नेटवर्किंग डिवाइस के साथ कनेक्ट किया जा सकता है.

आज के इस लेख में हम जानेंगे कि Network Hub क्या है, हब कितने प्रकार का होता है, हब काम कैसे करता है, हब के उपयोग, हब की विशेषताएं, हब के फायदे और नुकसान क्या है.

नेटवर्क हब क्या है इसके प्रकार और काम कैसे करता है (Network Hub In Hindi)

इस लेख को पढने के बाद आपके मन में हब से जुड़े सारे Doubt clear हो जायेंगे, इसलिए आप इस लेख को पूरा अंत तक जरुर पढ़ें.तो चलिए बिना समय गंवाए शुरू करते हैं इस लेख को और जानते हैं नेटवर्क हब क्या है.

नेटवर्क हब क्या है (What is Hub in Network in Hindi)

हब एक नेटवर्किंग डिवाइस होता है जिसकी मदद से अनेक कंप्यूटर या अन्य नेटवर्क डिवाइस को आपस में कनेक्ट किया जा सकता है जिससे कि वे आपस में डेटा और संसाधनों को शेयर कर सकते हैं. हब के द्वारा नेटवर्क के आकार को बढाया जा सकता है क्योंकि हब में अनेक port उपलब्ध होते हैं जिसके द्वारा विभिन्न नेटवर्क डिवाइस को कनेक्ट किया जा सकता है.

Multiple port उपलब्ध होने के कारण हब को Multiple port repeater भी कहा जाता है. हब सिग्नल को amplify और regenerate करता है. Hub का इस्तेमाल LAN Connectivity के लिए होता है. हालाँकि आज के समय में हब के स्थान पर स्विच का इस्तेमाल ज्यादा होने लगा है.

सीधे शब्दों में कहें तो हब एक नेटवर्क डिवाइस है जिसकी मदद से अनेक नेटवर्क डिवाइस को एक साथ कनेक्ट किया जा सकता है.

नेटवर्क हब के प्रकार (Type of Hub in Hindi)

हब को 3 भागों में वर्गीकृत किया जा सकता है –

  • Passive Hub (निष्क्रिय हब)
  • Active Hub (सक्रिय हब)
  • Intelligent hub (बुद्धिमान हब)

#1 – Passive Hub (निष्क्रिय हब)

Passive Hub आने वाले सिग्नल को Allied इलेक्ट्रॉनिक्स नेटवर्क के माध्यम से नेटवर्क हब में rebroadcasting करने से पहले सिग्नल को amplify or regenerate नहीं करते हैं. इनका इस्तेमाल कनेक्टर के रूप में किया जाता है. ये हब LAN की performance में कोई सुधार नहीं करते हैं.

कुल मिलकर कहें तो Passive Hub सिग्नल को इनपुट पोर्ट के माध्यम से प्रसारित करते हैं और आउटपुट पोर्ट के माध्यम से Send करते हैं. ये सिग्नल को amplify और regenerate नहीं करते हैं और अधिकतम मीडिया दुरी को सीमित करते हैं.

#2 – Active Hub (सक्रिय हब)

Active Hub को मल्टीपोर्ट रिपीटर भी कहते हैं. ये आने वाले इलेक्ट्रिकल सिग्नल को amplify करते हैं जिनमें डेटा पैकेट होते हैं. एक्टिव हब में खुद की पॉवर सप्लाई होती है. ये रिपीटर की तरह कार्य करते हैं और signal को generate कर सकते हैं. Passive Hub की तुलना में Active Hub अधिक काम करता है. Active Hub में अनेक feature होते हैं जिसकी मदद से नेटवर्क समस्याओं को दूर किया जा सकता है.

#3 – Intelligent hub (बुद्धिमान हब)

Intelligent hub उन सभी कार्यों को कर सकता है जिसे एक Active Hub और Passive Hub कर सकते हैं. Intelligent hub नेटवर्क संसाधनों को प्रभावी रूप से मैनेज कर सकते हैं जिससे कि नेटवर्क की performance बढती है.

Intelligent hub के द्वारा नेटवर्क में आने वाली समस्या के वास्तविक location का पता लगाया जा सकता है जिससे कि उत्पन्न हुई समस्या का जल्दी निवारण किया जा सकता है.

हब काम कैसे करता है (How Does Hub Work in Hindi)

हब सभी नेटवर्क उपकरणों के बीच एक केंद्रीय कनेक्शन के रूप में काम करते हैं और एक डेटा प्रकार को handle करते हैं, जिसे फ्रेम कहा जाता है. यदि कोई फ्रेम प्राप्त होता है, तो उसे amplify करने के बाद destination कंप्यूटर के पोर्ट पर ट्रांसमिट किया जाता है. हब में इसके प्रत्येक पोर्ट के लिए एक फ्रेम पास किया जाता है, चाहे वह केवल एक पोर्ट के लिए destined हो.

इसमें यह decide नहीं होता है कि फ्रेम को किस पोर्ट पर भेजा जाना चाहिए. इसलिए फ्रेम को हर पोर्ट पर पहुंचना होता है. जो यह सुनिश्चित करता है कि यह अपने intended destination तक पहुंच जाएगा जो नेटवर्क पर बहुत अधिक ट्रैफिक generate करता है और नेटवर्क को नुकसान पहुंचा सकता है

हब स्विच की तुलना में धीमे होते हैं क्योंकि यह एक ही समय में सूचना भेजने या प्राप्त करने में सक्षम नहीं है. इसलिए हब स्विच की तुलना में सस्ते होते हैं.

हब की विशेषताएं (Feature of Hub in Hindi)

हब के कुछ प्रमुख विशेषताएं निम्न प्रकार से हैं –

  • एक USB Hub अधिकतम 127 तथा एक नेटवर्क हब में अधिकतम 32 कंप्यूटर या अन्य नेटवर्क डिवाइस को जोस सकते हैं.
  • हब 4 से लेकर 24 Size पोर्ट में उपलब्ध होती है.
  • हब की मदद से Multiple नेटवर्क डिवाइस को आपस में जोड़ा जा सकता है जिसे कि डेटा ट्रान्सफर हो सके.
  • हब सिग्नल को amplify or regenerate भी करता है.
  • मल्टीप्ल पोर्ट होने के कारण हब को मल्टीपोर्ट रिपीटर भी कहते हैं.
  • हब का इस्तेमाल छोटे नेटवर्क को बनाने के लिए किया जाता है.
  • नेटवर्क हब half duplex mode में संचालित होते हैं.

हब के उपयोग (Uses of Hub in Hindi)

हब का इस्तेमाल बहुत से कार्यों के लिए किया जाता है जैसे कि –

  • हब का इस्तेमाल छोटे नेटवर्क को बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है जैसे कि Local Area Network या Home Area Network को बनाने में.
  • कई organization और कंप्यूटर लैब में connectivity के लिए हब का इस्तेमाल किया जाता है.
  • बहुत सारे ऑफिस, स्कूल कंप्यूटर सेण्टर में हब का इस्तेमाल किया जाता है.

हब के फायदे (Advantage of Hub in Hindi)

हब के फायदे निम्न हैं –

  • हब के माध्यम से नेटवर्क को Extend किया जा सकता है.
  • हब सभी प्रकार के नेटवर्क मीडिया को सपोर्ट करता है.
  • हब के द्वारा Multiple नेटवर्क डिवाइस को आपस में जोड़ा जा सकता है.
  • हब को स्थापित करना बहुत आसान है.
  • हब की कीमत कम होती है.
  • हब का इस्तेमाल करने से नेटवर्क पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है.

हब के नुकसान (Disadvantage of Hub in Hindi)

हब के फायदों के साथ – साथ इसके कुछ नुकसान भी हैं जैसे कि –

  • हब नेटवर्क ट्रैफिक को फ़िल्टर कर पाने में असमर्थ है.
  • हब में नेटवर्क के लिए Best Path चुनने की क्षमता नहीं होती है.
  • हब एक half duplex डिवाइस है यह Full duplex mode में संचालित नहीं होता है.
  • हब नेटवर्क ट्रैफिक को कम नहीं करता है.
  • बड़े नेटवर्क जैसे WAN, MAN को बनाने के लिए हब एक उपयुक्त डिवाइस नहीं होता है क्योंकि इसके पास सीमित पोर्ट होते हैं.

हब से सम्बंधित सामान्य प्रश्न

हब क्या है?

हब एक नेटवर्क डिवाइस होता है जिसकी मदद से multiple कंप्यूटर या अन्य नेटवर्क डिवाइस को आपस में कनेक्ट किया जा सकता है.

हब का उपयोग कहाँ किया जाता है?

हब का आमतौर पर उपयोग छोटे नेटवर्क को बनाने में किया जाता है.

हब में कितने कंप्यूटर को जोड़ सकते हैं?

USB हब में अधिकतम 127 तथा नेटवर्क हब में अधिकतम 32 कंप्यूटर को जोड़ सकते हैं.

हब कितने प्रकार के होते हैं?

हब मुख्यतः 3 प्रकार के होते हैं – Passive Hub, Active Hub और Intelligent Hub.

हब कौन सा डिवाइस है?

हब एक नेटवर्क डिवाइस होता है. जिसकी मदद से multiple devices को आपस में कनेक्ट किया जाता है.

इन्हें भी पढ़े 

आपने सीखा: Network Hub क्या है हिंदी में

इस लेख को पढने के बाद आपको समझ में आ गया होगा कि नेटवर्क हब क्या होता है और इसका इस्तेमाल कहाँ किया जाता है.

हब छोटे नेटवर्क को बनाने के लिए एक बेस्ट डिवाइस है और यह स्विच की तुलना में सस्ती भी होती है. हब को स्थापित करना भी बहुत सरल है. अगर आप भी अपने घर या ऑफिस में नेटवर्क बनाने के लिए कनेक्टर के रूप में हब का इस्तेमाल कर सकते हैं.

इस लेख में इतना ही उम्मीद करते हैं आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह लेख जरुर पसंद आया होगा, इस लेख पर आप कमेंट बॉक्स में अपनी प्रतिक्रिया भी दे सकते हैं. अगर आपको यह लेख अच्छा लगा तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर करना न भूलें और टेक्नोलॉजी से जुड़े इसी प्रकार के लेख को पढने के लिए हमारे ब्लॉग Techshole पर आते रहिये.

5/5 - (1 vote)

Techshole इंडिया की Best हिंदी ब्लॉग में से एक बनने की दिशा में अग्रसर है. यहाँ इस ब्लॉग पर हम Blogging, Computer, Tech, इंटरनेट और पैसे कमाए से सम्बन्धित लेख साझा करते है.

Leave a Comment