प्लॉटर क्या है और इसके प्रकार (What is Plotter in Hindi)

What is Plotter in Hindi: आज के इस लेख के माध्यम से हम आपको Plotter के बारे में जानकारी देने वाले हैं. आप में से शायद बहुत कम लोग कंप्यूटर की इस डिवाइस के बारे में जानते होंगें. प्लॉटर एक बहुत ही उपयोगी डिवाइस हैं जिसका इस्तेमाल बहुत महत्वपूर्ण कामों के लिए किया जाता है.

आज के इस लेख में आपको प्लॉटर क्या है, प्लॉटर के प्रकार,प्लॉटर के कार्य, प्लॉटर के फायदे और नुकसानों के बारे में जानने को मिलेगा. इसलिए इस लेख को पूरा पढ़ें ताकि आपको आपके सारे सवालों का जवाब मिल सके, तो आइये बिना देरी के शुरू करते हैं इस लेख को और जानते हैं Plotter Kya Hai विस्तार से.

प्लॉटर क्या है (What is Plotter in Hindi)

प्लॉटर कंप्यूटर की एक आउटपुट डिवाइस होती है जो प्रिंटर की तरह ही होता है. प्लॉटर का उपयोग वेक्टर ग्राफ़िक को छापने के लिए किया जाता है. प्लॉटर का उपयोग सामान्य रूप से बड़े आकार के मैप, ग्राफ, पोस्टर, चार्ट, 3D Print आदि को प्रिंट करने के लिए किया जाता है.

जिस प्रकार से सामान्य प्रिंटरों में कागज़ को प्रिंट करने के लिए डॉट्स की एक श्रंखला और टोनर का इस्तेमाल होता है लेकिन प्लॉटर में कागज़ पर निरंतर लाइनों को खीचने के लिए पेन, मार्कर या अन्य किसी लेखन उपकरण का इस्तेमाल किया जाता है.

प्लॉटर किसी भी इमेज को प्रिंट करने में समय लेता है, बड़े आकार और विचित्र दिखने वाली आकर्तियों को प्रिंट करने के लिए प्लॉटर घंटे भर का समय भी ले सकता है.

प्लॉटर की खोज किसने की?

प्लॉटर का आविष्कार 1953 में Remington Rand ने किया था. इसका इस्तेमाल UNIVAC कंप्यूटर के साथ Technology Drawing बनाने के लिए किया गया था. 

पहले Computer Aided Design (CAD) के लिए प्लॉटर का बहुत इस्तेमाल होता था लेकिन Wide – Format  Printer के आने से धीरे – धीरे प्लॉटर का इस्तेमाल कम होता जा रहा है,

प्लॉटर के प्रकार (Types of Plotter in Hindi)

प्लॉटर मुख्य रूप से दो प्रकार के होते हैं –

  • Drum Pen Plotter
  • Flatbed Plotter

1 – Drum Pen Plotter (ड्रम पेन प्लॉटर)

Drum Pen Plotter में किसी इमेज को बनाने के लिए पेन का इस्तेमाल किया जाता है. Drum Pen Plotter को रोलर प्लॉटर भी कहते हैं. इनमें एक बेलनाकार ड्रम होता है जो कि कागज़ को आगे पीछे घुमाता है, जबकि स्याही पेन बाएं से दाए चलते हैं जिसकी मदद से कागज़ को प्रिंट किया जाता है. प्लॉटर एक इमेज को इंच प्रति सेकंड में प्रिंट करता है.

ड्रम पेन प्लॉटर में एक मेकनिकल उपकरण भी होता है जिसमें इंक, पेन, पेन्सिल रखें जाते हैं इस उपकरण को Robotic Drawing Arm भी कहा जाता है.

Drum Plotter
Drum Pen Plotter

2 – Flatbed Plotter (फ्लैटबेड प्लॉटर)

Flatbed Plotter को टेबल प्लॉटर भी कहा जाता है. इस प्रकार के प्लॉटर में एक बड़ी क्षैतिज सतह होती है जिस पर कागज रखा जाता है. इसमें दो Robotic Drawing Arm का इस्तेमाल होता है यह दोनो ही रंगीन पेन और पेन्सिल होते हैं. Drawing Arm कागज़ के ऊपर चलता है और कागज पर चित्र को बनाता है

Flatbed Plotter
Flatbed Plotter

प्लॉटर के कार्य (Work of Plotter in Hindi)

प्लॉटर के कार्य निम्नलिखित हैं

  • प्लॉटर का इस्तेमाल बड़ी आकृति के चार्ट, ग्राफ, चित्र, मैप आदि प्रकार की हार्ड कॉपी को प्रिंट करने के लिए किया जाता है.
  • प्लॉटर के इस्तेमाल से बैनर, पोस्टर आदि को भी प्रिंट किया जा सकता है.
  • 3D प्रिंट भी प्लॉटर की मदद से प्रिंट किये जा सकते हैं.

प्लॉटर के फायदे (Advantage of Plotter in Hindi)

प्लॉटर के मुख्य फायदे निम्न हैं –

  • प्लॉटर की मदद से कागज़ की किसी बड़ी सीट पर डेटा को प्रिंट किया जा सकता है.
  • प्लॉटर बड़े कागज़ में भी उच्च गुणवता के रिज़ॉल्यूशन के साथ प्रिंट करता है.
  • प्लॉटर स्टील, प्लाईवुड, एल्यूमीनियम, प्लास्टिक, कार्डबोर्ड और लगभग किसी भी फ्लैट शीट सामग्री पर प्रिंट कर सकता है.
  • प्लॉटर डिस्क पर सभी पैटर्न और टेम्पलेट को Save कर सकते हैं जिससे एक ही पैटर्न और टेम्पलेट को बार – बार लोड करने की परेशानी ख़त्म हो जाती है.
  • प्लॉटर की मदद से एक ही पैटर्न को High Image Quality के साथ हजारों बार बनाया जा सकता है.

प्लॉटर के नुकसान (Disadvantage of Plotter in Hindi)

प्लॉटर के कुछ नुकसान भी हैं जो कि निम्न प्रकार से हैं –

  • सामान्य प्रिंटर की तुलना में प्लॉटर का आकार बहुत बड़ा होता है. जिसके कारण किसी सीमित स्थान में प्लॉटर का उपयोग करने में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है.
  • प्लॉटर सामान्य प्रिंटर की तुलना में महंगे भी होते हैं.
  • प्लॉटर किसी इमेज को प्रिंट करने में अधिक समय लेते हैं.

प्लॉटर और प्रिंटर में अंतर (Plotter and Printer in Hindi)

जिस प्रकार से प्रिंटर का इस्तेमाल कंप्यूटर से Soft Copy को Hard Copy के रूप में परिवर्तित करने के लिए किया जात है उसी प्रकार से प्लॉटर का इस्तेमाल भी Hard Copy को Printout करने के लिए किया जाता है. जिस कारण से बहुत साए लोगों को Plotter और Printer में अंतर पता नहीं होता है.

लेकिन Plotter और Printer में बहुत सारे अंतर होते हैं जो कि निम्न प्रकार से हैं –

  • सभी Plotter एक Printer ही होते है, लेकिन सभी प्रिंटर प्लॉटर नहीं होते हैं.
  • प्लॉटर का इस्तेमाल Line के द्वारा इमेज को Draw करने के लिए किया जाता है लेकिन प्रिंटर में Dots के द्वारा इमेज को Draw किया जाता है.
  • प्लॉटर के द्वारा बड़े आकार के इमेज को भी Draw किया जा सकता है लेकिन प्रिंटर के द्वारा बड़े आकार के इमेज को Draw नहीं किया जा सकता है.

इन्हें भी पढ़े 

FAQ For Plotter in Hindi

प्लॉटर कौन सा डिवाइस है?

प्लॉटर कंप्यूटर की आउटपुट डिवाइस है.

प्लॉटर का कार्य क्या होता है?

प्लॉटर का कार्य बड़े आकार के आकृतियों को Draw करने के लिए किया जाता है.

प्लॉटर का उपयोग कहाँ किया जाता है?

प्लॉटर का इस्तेमाल Building Map, CAD Application, Engineer Application आदि में किया जाता है.

प्लॉटर कितने प्रकार का होता है?

प्लॉटर मुख्य रूप से दो प्रकार के होते हैं – Flatbed Plotter और Drum Pen Plotter

निष्कर्ष – प्लॉटर क्या है हिंदी में 

तो दोस्तों इस लेख के द्वारा हमने आपको Plotter Kya Hai के बारे में विस्तृत जानकारी देने की कोशिस कि है जिससे कि आप प्लॉटर को अच्छे से समझ सको और प्लॉटर तथा प्रिंटर के बीच अंतर को जान सको. उम्मीद करते हैं कि आपको हमारे हर लेखों की तरह ही इस लेख से भी अच्छी उपयोगी जानकारी मिली होगी. इस लेख What Is Plotter In Hindi को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर जरुर करें. 

Ranjeet Singh
Ranjeet Singh

नमस्कार ! मेरा नाम रणजीत सिंह है और मुझे इन्टरनेट पर लोगो की मदद करने में रूचि है. साथ ही Techshole.com का Fownder हु. इस Best Hindi Blog पर Blogging और Earn Money Online इत्यादि इन्टरनेट से जुडी जानकारी हिंदी में शेयर करता हु! हमारे ब्लॉग पर आने के लिए धन्यवाद.

Leave a Comment