(10 अतंर) RAM तथा ROM में क्या अतंर है - RAM And ROM In Hindi

(10 अतंर) RAM तथा ROM में क्या अतंर है – RAM And ROM In Hindi

RAM and ROM Difference in Hindi : कंप्यूटर या मोबाइल में आप लोगों ने RAM और ROM के बारे में तो जरुर सुना ही होगा पर क्या आप जानते हैं RAM और ROM के बीच में सबसे मुख्य अंतर क्या होता है और ROM किस प्रकार से RAM से अलग है, इन सब के बारे में हम आज इस लेख में जानेंगे.

हमारे डिवाइस में 2 प्रकार की Memory होती है एक होती है Primary Memory और एक होती है Secondary Memory.

RAM और ROM दोनों Primary Memory के ही भाग होते हैं. हमने आपको अपने Blog में RAM और ROM के बारे में पहले ही बता दिया है, तब भी इस लेख में हम आपको संक्षिप्त रूप से RAM और ROM के बारे बताएँगे और फिर राम तथा रोम में क्या अंतर है (Different between RAM and ROM Hindi) को विस्तार से बताएँगे.  

RAM क्या होता है – What is RAM in Hindi

RAM कंप्यूटर और मोबाइल की Main Memory होती है जिसमें कंप्यूटर और मोबाइल के सारे Program, Software, Application run होते हैं. 

कंप्यूटर और मोबाइल में चल रहे current work का सारा डाटा RAM में स्टोर होता है. इसमें Store डाटा Temporary स्टोर होता है. 

RAM Volatile होती है, System के Shut Down होने पर या Power Supply off होने पर RAM में Store सारा डाटा हट जाता है. 

RAM 2 प्रकार की होती है

  • SRAM ( Static Random Access Memory )
  • DRAM ( Dynamic Random Access Memory )

ROM क्या होता है – What is ROM in Hindi

ROM भी Primary Memory का ही भाग होता है, जो कंप्यूटर के on होने में मदद करता है. ROM में Store डाटा को हम केवल read कर सकते है. मतलब इसमें एक बार जो डाटा स्टोर रहता है उसे हटा नहीं सकते हैं. 

ROM में निर्माता कंपनी के द्वारा पहले से ही डाटा भर दिया जाता है, इसमें वही डाटा भरा जाता है जो system के लिए important होता है. ROM में स्टोर डाटा Permanent सुरक्षित रहता है. 

ROM Non – Volatile Memory होती है, System के shut down होने पर या Power Supply off होने के बाद ही इसमें डाटा सुरक्षित रहता है.

ROM 4 प्रकार के होते हैं

  • MROM ( Masked Read Only Memory )
  • PROM ( Programable Read Only Memory )
  • EPROM ( Erasable Programable Read Only Memory )
  • EEPROM ( Electricity Erasable Programable Read Only Memory )

कंप्यूटर रैम और रोम को समझिए 

अब RAM और ROM के बीच के मुख्य अंतर को जानते हैं, जिसके बाद आप RAM और ROM के बारे में अच्छे से समझ जाओगे – 

#1 – Full Form (पूरा नाम)

RAM का full form Random Access Memory है जबकि ROM का full form Read Only Memory है.

#2 – Volatile and Non – Volatile Memory 

RAM Volatile Memory होती है, जिसका मतलब है कि RAM में जो भी डाटा स्टोर रहता है वह Temporary रूप से Store रहता है. जब भी आप अपने System को shut down करते हैं तो इसमें स्टोर सारा डाटा erase हो जाता है या मिट जाता है. 

ROM Non-Volatile Memory होती है जिसका मतलब है कि ROM में स्टोर डाटा Permanent रूप से store रहता है. System के Shut Down होने पर या Electricity Power बाद हो जाने पर भी इसका डाटा सुरक्षित रहता है. 

#3 – Structure (संरचना)

RAM एक चिप होती है जो कंप्यूटर या मोबाइल के बोर्ड पर लगी रहती है जबकि ROM मैगनेटिक टेप से बना हुआ एक ऑप्टिकल ड्राईवर होता है. 

#4 – Main Work (मुख्य कार्य)

RAM System में Program, Application Software, Operating System को run करने के काम आती है. और साथ में ही RAM कंप्यूटर और मोबाइल की स्पीड के लिए महत्वपूर्ण होता है. 

ROM System को शुरू करने और Data को Permanent स्टोर करने के काम आता है. इसका प्रयोग कंप्यूटर और मोबाइल में स्टोरेज के तौर पर किया जाता है. 

#5 – Change Data (किसमें डाटा बदल सकते हैं)

RAM में डाटा को बदला जा सकता है. 

जबकि ROM में हम डाटा को नहीं बदल सकते हैं. इसमें जो डाटा निर्माता कंपनी के द्वारा डाल दिया जाता है उसे नहीं हटाया जा सकता है. आजकल ऐसे ROM उपलब्ध हैं जिनमें डाटा को बदला जा सकता है पर उनके लिए हमें कुछ विशेष प्रकार के उपकरणों और तकनीकी की जरुरत पड़ती है. 

#6  – Size (आकार)

RAM की Size कम होती है. जबकि ROM की Size अधिक हो सकती है. यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपके पास कितना अधिक डाटा है. 

#7 – Accessibility (एक्सेसिबिलिटी)

 RAM का कार्य Processor के साथ होता है यह उसी Information को स्टोर करता है जिसे Processor जल्दी से Access कर सकें. 

जबकि ROM में Store Information को सीधा Access नहीं कर सकता है वह पहले RAM को कमांड देता है और फिर RAM Processor तक Information को पहुचायेगा. 

#8 – Storage (स्टोरेज)

RAM में डाटा Temporary रूप से स्टोर होता है, जैसे आप इन्टरनेट में कोई ब्राउज़र को खोलते हैं तो उनमे वह वेबसाइट आ जाती हैं जिन्हें आपने पहले विजिट किया था. आप History, कूकीज को clear करके RAM को खाली कर सकते हो. 

ROM में स्टोर डाटा Permanent रूप से स्टोर रहता है. ROM को Store डाटा को मिटाया नहीं जा सकता है इसलिए आपने देखा भी होगा कंप्यूटर और मोबाइल में बैक डेट से डाटा को पुनः रिकवर कर सकते हैं. 

#9 – Coast (कीमत)

RAM की coast महँगी होती है जबकि ROM RAM की तुलना में सस्ती होती है. 

#10  – Trust (भरोसा)

RAM एक भरोसेमंद मेमोरी नहीं होती है, Electricity Power off होते ही इसमें स्टोर डाटा हट जाता है. जैसे आप MS Word में कोई document बना रहें हैं और बीच में बिजली चली जाती है तो आपके द्वारा Type किया गया सब कुछ मिट जाता है. अगर आप इसे Save नहीं करते हो तो. 

ROM एक भरोसेमंद memory होती है. इसमें स्टोर डाटा हमेशा बना रहता है Electricity Supply बंद होने के बाद भी.

RAM और ROM में अंतर  (RAM vs ROM In Hindi)

अंतर RAMROM
पूरा नाम Random Access MemoryRead-Only Memory
भंडारण RAM में डाटा temporary रूप से store रहता है.ROM में डाटा Permanent रूप से Store है.
स्थिर और अस्थिर 
डाटा 
RAM में Shut Down होने पर सारा डाटा मिट जाता है.ROM में Shut Down होने के बाद भी डाटा बना रहता है.
डाटा में बदलाव RAM डाटा को बदल सकते हैंROM में डाटा को बदला नही जा सकता है.
रीडिंग RAM डाटा को पढ़ भी सकते हैं और लिख भी सकते हैं.ROM में डाटा को केवल पढ़ सकते हैं.
पॉवर RAM में डाटा सेव करने के लिए Power की जरुरत होती है.ROM में डाटा को सेव करने के लिए Power की जरुरत नहीं होती है.
स्पीड RAM में डाटा स्टोर तेजी से होता है.ROM में डाटा स्टोर करने के लिए लम्बी प्रोसेस है.
Different Between Computer RAM And ROM in Hindi

अंतिम शब्द : रैम और रोम में अंतर हिंदी में 

इस लेख के माध्यम से हमने आपको RAM और ROM के बीच अंतर (Different between RAM and ROM In Hindi) को अच्छी तरह से समझाया. जिसे पढने के बाद आप RAM और ROM के बीच सारे अंतर को समझ गए होंगे. उम्मीद करते हैं आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह लेख पसंद आया होगा इसकी प्रकार के नॉलेज वाले लेख पढने के लिए हमारे blog पर आते रहिये. और इस लेख को अधिक से अधिक शेयर करें ताकि दुसरे लोगों को भी अच्छी जानकारी मिल सके.

Ranjeet Singh
Ranjeet Singh

नमस्कार ! मेरा नाम रणजीत सिंह है और मुझे इन्टरनेट पर लोगो की मदद करने में रूचि है. साथ ही Techshole.com का Fownder हु. इस Best Hindi Blog पर Blogging और Earn Money Online इत्यादि इन्टरनेट से जुडी जानकारी हिंदी में शेयर करता हु! हमारे ब्लॉग पर आने के लिए धन्यवाद.

Leave a Comment