सर्वर क्या है और इसके प्रकार और सर्वर कैसे काम करता है (Server in Hindi)

Internet Server Kya Hai In Hindi: क्या आपने कभी सर्वर शब्द के बारे में सुना है और क्या आपको कंप्यूटर सर्वर के बारे में जानकारी है, यदि नहीं तो आज के इस लेख के माध्यम से हम आपको बताने वाले हैं कि Server क्या है, सर्वर काम कैसे करता है, सर्वर कितने प्रकार के होते हैं और सर्वर डाउन क्यों होता है.

इंटरनेट के माध्यम से आप जितनी भी इनफार्मेशन को एक्सेस कर पाते हैं, वह सब किसी न किसी सर्वर में स्टोर रहता है तभी आप उन्हें एक्सेस कर पाते है. जैसे ब्लॉग पढना, विडियो देखना, कोई एप्लीकेशन डाउनलोड करना, मेल भेजना या प्राप्त करना, चैट करना आदि.

सर्वर क्या है और इसके प्रकार और सर्वर कैसे काम करता है (internet Web Server in Hindi)

इंटरनेट में सर्वर सबसे महत्वपूर्ण भाग होते हैं जो डाटा को स्टोर करते हैं तथा यूजर की request पर डाटा ट्रान्सफर करने का कार्य करते हैं. हर एक इंटरनेट यूजर को सर्वर के विषय में जानकारी होना आवश्यक है इसलिए आप इस लेख को पूरा अंत तक जरुर पढ़ें. हमें पूरी उम्मीद है कि इस लेख को पढने के बाद आपके मन में सर्वर से जुड़े सभी डाउट दूर हो जायेंगे.

तो चलिए आपका अधिक समय न लेते हुए शुरू करते हैं इस लेख को और जानते हैं सर्वर किसे कहते हैं हिंदी में.

सर्वर क्या होता है (What is Server in Hindi)

Server एक High Power कंप्यूटर होते हैं जिसमें सर्वर सॉफ्टवेयर को इनस्टॉल कर दिया जाता है. ये सर्वर डाटा को Collect करते हैं और यूजर की request पर डाटा यूजर तक पहुंचाते हैं. जो यूजर या कंप्यूटर डाटा को प्राप्त करते हैं उन्हें क्लाइंट कहते हैं. सर्वर नेटवर्क के द्वारा डाटा को ट्रान्सफर करते हैं.

इंटरनेट पर यूजर को सर्विस देने का कार्य सर्वर ही करते हैं. जब यूजर ब्राउज़र के द्वारा सर्च इंजन में कुछ Query सर्च करता है तो सर्च इंजन यूजर को ढेर सारी वेबसाइट दिखाता है. इन सभी वेबसाइट का डाटा किसी न किसी सर्वर में स्टोर रहता है. जब यूजर वेबसाइट पर क्लिक करता है तो सर्वर यूजर की request पर डाटा यूजर तक पहुंचाता है.

इंटरनेट पर आप जो भी कार्य करते हैं उन सभी के लिए अलग – अलग सर्वर होते है. जैसे मेल भेजने और प्राप्त करने के लिए mail server, चैट करने के लिए Chat Server, एप्लीकेशन को संचालित करने के लिए एप्लीकेशन सर्वर आदि जिनके बारे में हम आगे जानेंगे.  

सर्वर काम कैसे करता है (How Does Server Work in Hindi)

सर्वर कैसे काम करते हैं इसे समझने के लिए हम इस उदाहरण को देखते हैं. जब आप YouTube पर कुछ विडियो सर्च करते हैं तो यह एक request होती है. यह request इंटरनेट के माध्यम से YouTube के सर्वर के पास पहुँचती है जहाँ YouTube का सारा डाटा स्टोर रहता है.

YouTube का सर्वर अपने डाटा सेंटर से यूजर के द्वारा request किये गए विडियो को ढूंड कर लाता है और उसे यूजर को भेज देता है. जिस कारण आप YouTube पर विडियो देख पाते हैं.

इसी प्रकार फेसबुक पर आप कई साल पहले पोस्ट किये गए फोटो को भी देख सकते हैं. वह फोटो भी फेसबुक के सर्वर में स्टोर रहती है और जब आप उस फोटो देखने के लिए Request करते हैं तो फेसबुक का सर्वर वह फोटो आपको दिखाता है. इस प्रकार से सर्वर काम करते हैं.

सर्वर के प्रकार (Types of Server in Hindi)

अलग – अलग उद्देश्यों के लिए सर्वर भी अनेक प्रकार के होते हैं. आपका CPU भी एक प्रकार का सर्वर है जो कि आपके पर्सनल इनफार्मेशन को स्टोर करता है, और जब आप कंप्यूटर Open करते हैं तो आप CPU में स्टोर इनफार्मेशन को एक्सेस कर पाते हैं. इसे Local Server कहते हैं. इसी तरह सर्वर अनेक प्रकार के होते हैं. चलिए कुछ प्रमुख प्रकार के सर्वर के बारे में जान लेते हैं. 

#1 – Web Server (वेब सर्वर)

वेब सर्वर ऐसे सर्वर को कहते हैं जो इंटरनेट पर मौजूद वेबपेज या ब्लॉग / वेबसाइट के डाटा को स्टोर करते हैं. इन सर्वर को होस्टिंग भी कहा जाता है. इसमें टेक्स्ट, इमेज, विडियो, ऑडियो आदि स्टोर रहते हैं. वेब सर्वर यूजर की Request पर प्रतिक्रिया करने के लिए HTTP (Hypertext Transfer Protocol) का इस्तेमाल करते हैं.

#2 – Application Server (एप्लीकेशन सर्वर)

एप्लीकेशन सर्वर या App Server ऐसे सर्वर को कहा जाता है जिन्हें विशेष रूप से एप्लीकेशन को स्टोर, इनस्टॉल और संचालित करने के लिए डिजाईन किया गया होता है. एप्लीकेशन सर्वर में आप एप्लीकेशन को बना भी सकते हैं और उसे संचालित भी कर सकते हैं.

#3 – Mail Server (मेल सर्वर)

Mail Server ऐसे सर्वर को कहा जाता है जिन्हें Email को भेजने और प्राप्त करने के लिए डिजाईन किया गया होता है. मेल सर्वर में e-mail का डाटा स्टोर रहता है. मेल सर्वर क्लाइंट कंप्यूटर से e-mail प्राप्त करते हैं और उन्हें दुसरे मेल सर्वर पर भेजते हैं.

#4 – File Server (फाइल सर्वर)

फाइल सर्वर ऐसे सर्वर को कहा जाता है जो फाइल को ट्रान्सफर करने के काम में आते हैं. फाइल सर्वर में इंटरनेट पर मौजूद सभी फाइल स्टोर रहती हैं.

#5 – Chat Server (चैट सर्वर)

इंटरनेट पर चैट मैसेज करने के लिए Chat Server का इस्तेमाल किया जाता है. यह बहुत Powerful सर्वर होते हैं. इनकी मदद से यूजर Real – Time messaging का लाभ उठा पाते हैं. जैसे आप Whatsapp पर किसी को मैसेज भेजते हैं तो वह मैसेज तुरंत उस व्यक्ति के पास पहुँच जाता है जिसे आपने भेजा है. यह सब Chat Server के द्वारा ही संभव हो पाता है.

#6 – Fax Server (फैक्स सर्वर)

फैक्स सर्वर ऐसे सर्वर को कहते हैं जो इंटरनेट पर फैक्स के ट्रान्सफर में काम आते हैं. इस प्रकार के सर्वर Fax को Receive तथा Send करते हैं. फैक्स सर्वर बड़े पैमाने पर संगठनों द्वारा इस्तेमाल किया जाता है.

#7 – Multimedia Server (मल्टीमीडिया सर्वर)

Multimedia Server ऐसे सर्वर को कहा जाता है जो ऑडियो, विडियो, इमेज को स्टोर करते हैं तथा इन्हें distribute करने में मदद करते हैं. इंटरनेट पर विडियो, ऑडियो वेबसाइट इस सर्वर का इस्तेमाल करते है.

#8 – List Server (लिस्ट सर्वर)

लिस्ट सर्वर ऐसे सर्वर को कहा जाता है, जो मेलिंग लिस्ट को मैनेज करने का काम करते हैं. जैसे – Newsletters, विज्ञापन आदि.

#9 – FTP Server (एफटीपी सर्वर)

FTP Server का पूरा नाम File Transfer Protocol है. यह सर्वर फाइल को एक जगह से दूसरी जगह में ट्रान्सफर के काम आती है. FTP सर्वर एक बहुत पुरानी सर्वर है जो फाइल को सुरक्षित रूप से ट्रान्सफर करती है.

#10 – Proxy Server (प्रॉक्सी सर्वर)

प्रॉक्सी सर्वर ऐसे सर्वर को कहा जाता है जो यूजर और इंटरनेट के बीच में काम करता है. यह सर्वर यूजर की Request को अपनी IP एड्रेस के द्वारा इंटरनेट तक पहुंचाता है, और इंटरनेट से डाटा लेकर यूजर तक पहुंचाता है.प्रॉक्सी सर्वर के पास खुद का IP एड्रेस होता है. इंटरनेट पर सिक्योरिटी के लिए प्रॉक्सी सर्वर का इस्तेमाल किया जाता है.

#11 – Database Server (डाटाबेस सर्वर)

Database Server सबसे अलग प्रकार के सर्वर होते हैं. इस प्रकार के सर्वर अन्य सर्वर में स्टोर डाटा को स्टोर तथा मैनेज करने का कार्य करते हैं. डाटाबेस सर्वर को केवल authorized person ही एक्सेस कर पाता है.

Dedicated और Non Dedicated सर्वर क्या होता है

ऐसे सर्वर जो 24 घंटे ऑनलाइन रहते हैं उन्हें Dedicated Server कहा जाता है. ये सर्वर बहुत महंगे और Powerful  होते हैं. जैसे गूगल, फेसबुक आदि सर्वर. अगर ये सर्वर कुछ सेकंड के लिए भी बंद हो जाए तो लोगों के अनेक सारे कार्य रुक जायेंगे.

Non Dedicated Server ऐसे सर्वर को कहा जाता है जो कि 24 घंटे ऑनलाइन नहीं रहते हैं. काम ख़तम होने के बाद इन सर्वर को बंद कर दिया जाता है. और फिर जब जरुरत होती है इन्हें ऑनलाइन कर दिया जाता है. जैसे कि स्कूल, घर या ऑफिस में इस्तेमाल होने वाले सर्वर.

सर्वर डाउन क्यों होता है?

आपने अक्सर किसी सरकारी वेबसाइट या बैंक में सुना होगा कि सर्वर डाउन है, पर क्या आप जानते हैं आखिर यह सर्वर डाउन क्या होता है? जब सर्वर बहुत धीरे काम करते हैं या जब सर्वर यूजर की Request को लोड करने में असफल रहते हैं तो इसे सर्वर डाउन या सर्वर Fail कहा जाता है. जिसमें आपको Server Not Found, Server Error इत्यादि मेसज दिखाई देते है.

Server Down होने के अनेक कारण हो सकते हैं. जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया सर्वर हार्डवेयर या सॉफ्टवेयर प्रोग्राम होते हैं, जब इन हार्डवेयर में कोई तकनीकी समस्या आ जाती है तो उस स्थिति में में सर्वर डाउन हो जाते हैं. क्योंकि सर्वर है तो एक मशीन ही, इसलिए मशीन में तकनीकी समस्याएं आती रहती हैं. लेकिन सर्वर में आने वाली तकनीकी समस्या को सर्वर के Technical Staff बहुत जल्दी Solve कर देते हैं.

सर्वर डाउन होने का दूसरा कारण है कैपेसिटी से अधिक ट्रैफिक. प्रत्येक सर्वर एक Capacity होती है कि वह कितना ट्रैफिक हैंडल कर सकता है. लेकिन अगर उस सर्वर पर सर्वर की Capacity से अधिक ट्रैफिक आ जाता है तो उस स्थिति में भी सर्वर Fail या Server Down हो जाता है. अगर सर्वर High Traffic के कारण डाउन होता है तो सर्वर को पुनः लोड होने में अधिक समय लग सकता है. 

Video By As Informer

FAQ: Server Kya Hai In Hindi

वेब सर्वर क्या होता है?

वेब सर्वर इंटरनेट पर मौजूद ब्लॉग और वेबसाइट के डाटा को स्टोर करता है तथा यूजर के Request पर डाटा ट्रान्सफर करता है.

सर्वर डाउन क्यों होता है?

जब सर्वर में कोई तकनीकी समस्या आ जाती है या सर्वर की क्षमता से अधिक ट्रैफिक सर्वर पर आ जाता है तो उस स्थिति में सर्वर डाउन हो जाता है.

अपने कंप्यूटर को सर्वर कैसे बनायें?

अगर आप अपने कंप्यूटर को सर्वर में बदलना चाहते हैं तो आपको सर्वर ऑपरेटिंग सिस्टम इंस्टाल करना होगा, और साथ में ही आपको 24 घंटे इंटरनेट की जरुरत होगी. इसके अलावा आपके कंप्यूटर की स्टोरेज क्षमता अधिक होनी चाहिए और कंप्यूटर में 24 घंटे काम करने की क्षमता होनी चाहिए.

सर्वर का क्या काम होता है?

सर्वर का काम डाटा को स्टोर करना तथा यूजर के द्वारा request किये जाने पर डाटा ट्रान्सफर करने का होता है.

अंतिम शब्द: सर्वर क्या है हिंदी में

लेख का निष्कर्ष निकालें तो सर्वर एक प्रकार के हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर प्रोग्राम होते हैं जो कि डाटा को स्टोर तथा ट्रान्सफर करने का कार्य करते हैं, ये बहुत Powerful  होते हैं. इंटरनेट पर अलग – अलग कार्यों के लिए सर्वर भी भिन्न – भिन्न होते हैं.

तो अब आप समझ गए होंगे कि Server क्या है इन हिंदी, सर्वर काम कैसे करता है, सर्वर कितने प्रकार के होते हैं और सर्वर डाउन क्यों होता है. गर आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया के द्वारा शेयर भी करें.

Editorial Staff
Editorial Staff

Techshole इंडिया की Best हिंदी ब्लॉग में से एक बनने की दिशा में अग्रसर है. यहाँ इस ब्लॉग पर हम Blogging, Computer, Tech, इंटरनेट और पैसे कमाए से सम्बन्धित लेख साझा करते है.

5/5 - (1 vote)

Leave a Comment