SMPS(एसएमपीएस) क्या है इसके प्रकार और काम कैसे करता है (SMPS in Hindi)

SMPS (Switch Mode Power Supply) In Hindi: क्या आप जानते हैं कंप्यूटर SMPS क्या है? SMPS कितने प्रकार का होता है? SMPS कैसे काम करता है? कंप्यूटर में SMPS का क्या काम है? और SMPS के फायदे और नुकसान क्या हैं?

अगर आप ऊपर पूछे गए सवालों का जवाब नहीं जाते हैं तो चिंता की कोई बात नहीं, आज के इस लेख में हमने आपको SMPS के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिस की है जिससे कि आपको भी SMPS से जुड़े सवालों का जवाब मालूम हो सके.

आज के इस लेख में SMPS क्या होता है के बारे में विस्तार से जानेंगे.

SMPS क्या है (What is SMPS in Hindi)

SMPS (स्विच मोड पावर सप्लाई) कंप्यूटर का एक हार्डवेयर होता है जो कि एक Electronic Circuit है. SMPS (Switch Mode Power Supply) कंप्यूटर के अलग – अलग हार्डवेयर उपकरणों के लिए बिजली की आपूर्ति करता है.

एसएमपीएस का चित्र (SMPS Image)

कोई भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस होता है जिसके अन्दर अनेक छोटे नाजुक Part होते हैं जिन्हें काम करने के लिए बिजली की जरुरत होती है. अगर बात करें टीवी, फ्रीज़, ओवन आदि की तो ये 220 से लेकर 240 Volt तक बिजली का इस्तेमाल करते हैं.

अगर इस Voltage को Direct कंप्यूटर के Part को देंगे तो वे जल जायेंगे तो इसके लिए कंप्यूटर में SMPS का इस्तेमाल  होता है जो कंप्यूटर के अन्दर उपकरणों को आवश्यकतानुसार Power Suppy करता है. SMPS AC Current को DC में परिवर्तित करके Power Supply करता है.

एसएमपीएस का चित्र (SMPS Image)

SMPS का पूरा नाम क्या है (SMPS Full Form in Hindi)

SMPS का पूरा नाम (Full Form) Switched-Mode Power Supply (स्विच मोड पावर सप्लाई) होता है.

SMPS के प्रकार (Types of SMPS in Hindi)

Market में अनेक प्रकार के Power Supply मौजूद हैं पर जो सबसे ज्यादा प्रयोग किये जाते हैं वो निम्न प्रकार से हैं –

  • DC – DC Convertor  (डीसी – डीसी कन्वर्टर)
  • Forward Converter (फॉरवर्ड कन्वर्टर)
  • Flyback Converter (फ्लाईबैक कन्वर्टर)

#1 – DC – DC Convertor (डीसी – डीसी कन्वर्टर)

इस प्रकार के SMPS में AC Mains से प्राप्त Power को High Voltage DC के रूप में Rectified और Filter किया जाता है. इसके बाद High DC Voltage को स्विच किया जाता है और Current step-down transformer के Primary Side से गुजर जाता है.

Step-down transformer के दूसरी तरफ Rectified और Filter में Output को Collect किया जाता है जिसे Output के रूप में Power Supply के लिए भेज दिया जाता है.

#2 – Forward Converter (फॉरवर्ड कन्वर्टर)

Forward Converter प्रकार के Convertor Current को Choke के माध्यम से लेकर जाते हैं चाहे ट्रांजिस्टर काम करता हो या नहीं. जब ट्रांजिस्टर पूरी तरह से बंद हो जाता है तो यह काम डायोड करता है.

Off Period के दौरान ट्रांजिस्टर के अन्दर लगा डायोड Load के माध्यम से उर्जा प्रवाह करने के लिए करंट का वहन करता है. On Period के दौरान चोक Energy को Store करता है और Energy का एक भाग Output Load में भेजता है. 

#3 – Flyback Converter (फ्लाईबैक कन्वर्टर)

Flyback Converter में जब स्विच On रहता है तो inductor का चुंबकीय क्षेत्र ऊर्जा स्टोर करता है. जब स्विच खुली अवस्था में होता है तो ऊर्जा Output Voltage Circuit में खाली हो जाती है. Flyback Convertor में Duty cycle Output Voltage के द्वारा निर्धारित की जाती है.

SMPS के कनेक्टर (Connector of SMPS in Hindi)

SMPS के कुछ Connector निम्न प्रकार से हैं –

ATX 24 Pin Power Connector (एटीएक्स 24 पिन पावर कनेक्टर)

यह एक मदरबोर्ड कनेक्टर है जो कि मदरबोर्ड और उससे जुड़े अन्य Component को Power Supply करता है. इसमें कुल 24 पिन होते हैं. पुराने मदरबोर्ड में 20 पिन होते हैं और Modern मदरबोर्ड में 24 पिन कनेक्टर की जरुरत होती हैं.

ATX 4 Pin Power Connector (एटीएक्स 4 पिन पावर कनेक्टर)

यह कनेक्टर 4 पिन का होता है जो CPU को Power Supply करता है.

SATA Power Connector (साटा पावर कनेक्टर)

ये भी 4 पिन कनेक्टर होते हैं जो हार्ड डिस्क और ROM को Power Supply करते हैं.

SMPS के भाग (Part of SMPS in Hindi)

एक कंप्यूटर SMPS के अन्दर कुछ मुख्य Part और उनके कार्य निम्न प्रकार से हैं –

  • Rectifier – इसे डायोड भी कहते हैं, यह AC Power को DC में बदलता है.
  • Transformer – Transformerआने वाले Voltage को कण्ट्रोल करता है.
  • Transistor – Power को Switch करने का काम ट्रांजिस्टर का होता है.
  • Heat Sink – ट्रांजिस्टर के गर्म होने पर यह Heat को Absorb कर लेता है.
  • Capacitor – Rectifier के द्वारा Convert की गयी अनियमित DC को Filter करके Smooth DC में बदलता है.
  • Fuse – Circuit को Heavy Voltage से बचाते हैं.
  • Choke Coil – DC Current को Smooth करता है.

SMPS कैसे काम करता है (How Does SMPS Work in Hindi)

SMPS का मुख्य काम होता है कंप्यूटर हार्डवेयर को बिजली की पूर्ति करना जिसके लिए वह AC Current को को DC में परिवर्तित करता है और उसे Device के उपयोग करने योग्य बनाता है. इसके लिए सबसे पहले AC Power को वायर के द्वारा SMPS में Input किया जाता है.

Current सबसे पहले AC Filter के पास पहुँचता है. NTC, Fuse, line Filter, PF Capacitor की मदद से AC Current को स्थिर किया जाता है. इसके बाद Current को Rectifier और Filter के पास भेज दिया जाता है जो कि Current को AC से DC में Convert करते हैं.

अब प्राप्त DC Current को ट्रांजिस्टर के पास भेजा जाता है यहं पर NPN ट्रांजिस्टर और Switching Cycle की मदद से DC Current को एक बार फिर से Clean AC Current में परिवर्तित किया जाता है. यहाँ तक की सारी Process SMPS के Primary Circuit में होती है.

इस प्रक्रिया में जो Output AC Current प्राप्त होता है उसे Circuit के दुसरे भाग में मौजूद Rectifier और Filter के पास भेज दिया जाता है जो कि AC Current को Pure DC Current में परिवर्तित कर देता है. बार – बार Current को परिवर्तित करने की प्रक्रिया दुहराने से Finally हमें Stable DC Current मिलता है.

तो यह थी SMPS की कार्यप्रणाली जो कि आपको समझ में आ गयी होगी.

SMPS के कार्य (Function of SMPS in Hindi)

SMPS के प्रमुख कार्य निम्न प्रकार से हैं –        

  • SMPS Electronic Device को चालू करने के लिए Power Supply करता है.
  • कंप्यूटर के अन्दर बहुत सारे Component होते हैं जिन्हें SMPS आवश्यकतानुसार Power Supply देता है.
  •  SMPS Wall Voltage AC Power को Lower Voltage DC Power में Convert कर देता है.

SMPS के फायदे (Advantage of SMPS in Hindi)

SMPS के फायदे निम्न प्रकार से हैं –

  • SMPS कम Power की कमी को भी आसानी से पूरा कर सकता है.
  • SMPS आकार में छोटा और वजन में हल्का होता है.
  • SMPS सभी Electronic Device को उनकी आवश्यकतानुसार Power Supply करता है.
  • Input Voltage चाहे कितना ही अनियमित क्यों न हो लेकिन SMPS Output Voltage बिल्कुल Stable ही रखता है.
  • SMPS की Output Range बहुत उच्च होती है. 

SMPS के नुकसान (Disadvantage of SMPS in Hindi)

SMPS के कुछ नुकसान भी हैं जो कि निम्न प्रकार से हैं –

  • SMPS में Function जटिल होते हैं.
  • SMPS में उच्च तीव्रता का Electrical Noise होता है.
  • SMPS में Output Voltage एक ही होता है.
  • SMPS लगाने से Electronic Device की Cost बढ़ जाती है.

FAQ For SMPS in Hindi

SMPS का पूरा नाम क्या है?

SMPS का पूरा नाम Switched- Mode Power Supply होता है.

SMPS का क्या काम होता है?

SMPS का मुख्य काम कंप्यूटर के हार्डवेयर को आवश्यकतानुसार बिजली की आपूर्ति करना होता है.

इन्हें भी पढ़े 

हमने क्या सीखा: SMPS क्या है हिंदी में

तो दोस्तों उम्मीद करते हैं इस लेख को पढने के बाद आपको समझ आ गया होगा कि SMPS क्या है. SMPS कंप्यूटर हार्डवेयर के अंतर्गत आता है. यहाँ हमने आपको बताया एसएमपीएस कैसे काम करता है.

 अपने Blog Techshole में कंप्यूटर वाले Category में हमने आपको कंप्यूटर के बहुत सारे उपकरणों के बारे में बताया है जिन्हें आप पढ़ सकते हैं. अगर लेख से सम्बंधित आपके कोई सवाल हैं तो कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं हम जल्द ही आपके सवालों का जवाब देने की कोशिस करेंगे. इस लेख Switch Mode Power Supply (स्विच मोड पावर सप्लाई इन हिंदी) को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना मत भूलना.

Ranjeet Singh
Ranjeet Singh

नमस्कार ! मेरा नाम रणजीत सिंह है और मुझे इन्टरनेट पर लोगो की मदद करने में रूचि है. साथ ही Techshole.com का Fownder हु. इस Best Hindi Blog पर Blogging और Earn Money Online इत्यादि इन्टरनेट से जुडी जानकारी हिंदी में शेयर करता हु! हमारे ब्लॉग पर आने के लिए धन्यवाद.