स्टॉक ब्रोकर क्या है और शेयर ब्रोकर के प्रकार (Stock Broker in Hindi)

Stock Broker Kya Hai In Hindi: अगर आप शेयर मार्केट के बारे में सीखना चाहते हैं तो इससे जुड़े छोटे – छोटे टर्म के बारे में जानकारी प्राप्त करें, इनके बारे में जानकारी होना आपके वित्तीय बुद्धि को मजबूत बनाती है. शेयर बाजार से जुडी एक ऐसी ही टर्म है जो कि बहुत महत्वपूर्ण है वह है स्टॉक ब्रोकर. जिसके बारे में हम आपको आज के लेख में जानकारी देंगे.

आज के इस लेख में आपको जानने को मिलेगा कि Stock Broker क्या है, स्टॉक ब्रोकर कितने प्रकार के होते हैं, स्टॉक ब्रोकर कैसे काम करता है और स्टॉक ब्रोकर कैसे बनें.

स्टॉक ब्रोकर क्या है और शेयर ब्रोकर के प्रकार - What is Stock Broker in Hindi

शेयर मार्केट में स्टॉक ब्रोकर का रोल सबसे अधिक महत्वपूर्ण होता है क्योंकि निवेशक सीधे तौर पर शेयर बाजार में निवेश नहीं कर सकता है. ब्रोकर के द्वारा ही निवेशक शेयर बाजार में शेयर को खरीद और बेच सकता है. शेयर खरीदने और बेचने के लिए ब्रोकर कुछ प्रतिशत चार्ज अपने ग्राहकों से करते हैं जिससे उनकी कमाई होती है.

अगर आप स्टॉक ब्रोकर बनना चाहते हैं तो इस लेख को पूरा अंत तक पढ़ें, इसमें हमने आपको स्टॉक ब्रोकर के बारे में बहुत उपयोगी जानकारी प्रदान करवाई है. तो चलिए आपका अधिक समय न लेते हुए शुरू करते हैं इस लेख को और जानते हैं Share Broker क्या है हिंदी में.

स्टॉक ब्रोकर क्या है (What is Stock Broker in Hindi)

अनुक्रम दिखाएँ

जैसा कि आप जानते होंगे हम शेयर मार्केट में जाकर सीधे शेयर नहीं खरीद सकते हैं. शेयर मार्केट से शेयर खरीदने के लिए हमें किसी कंपनी, फ़र्म या इंटरमीडियट की जरुरत होती है. जो यह कंपनी, फ़र्म या इंटरमीडियट होते हैं जिनके द्वारा हम शेयर मार्केट में ट्रेडिंग कर सकते हैं उसे ही स्टॉक ब्रोकर या शेयर दलाल कहते हैं.

स्टॉक ब्रोकर कोई संस्था या व्यक्ति भी हो सकता है जो कि स्टॉक एक्सचेंज में रजिस्टर होता है. जब हम कोई शेयर आर्डर करते हैं तो ये ब्रोकर ही हमारे ऑर्डर को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) या नेशनल स्टॉक एक्सचेंज तक पहुंचाते हैं. इसके लिए स्टॉक ब्रोकर हमसे कुछ फीस चार्ज करते हैं जिसे ब्रोकरेज कहते हैं.

ब्रोकर का हिंदी में मतलब (Stock Broker meaning in Hindi)

ब्रोकर का हिंदी में मतलब होता है दलाल. और स्टॉक ब्रोकर शेयर बाजार के दलाल को कहते हैं.

ब्रोकरेज क्या होता है (What is Brokerage  in Hindi)

स्टॉक मार्केट में शेयर को खरीदने और बेचने के लिए स्टॉक ब्रोकर हमने कुछ फीस चार्ज करता है जिसे कि ब्रोकरेज कहते हैं. हर स्टॉक ब्रोकर का ब्रोकरेज अलग – अलग होता है. अधिकांश डिस्काउंट ब्रोकर बहुत शेयर बाजार में एक ट्रेड के लिए 20 रूपये ब्रोकरेज शुल्क लेते हैं.

स्टॉक ब्रोकर काम कैसे करते हैं (Stock Broker Work in Hindi)

स्टॉक ब्रोकर अपने ग्राहकों के लिए एक डीमैट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट खुलवाते हैं जिसके द्वारा निवेशक शेयर बाजार में ट्रेड कर सकता है. जब निवेशक शेयर मार्केट में ऑर्डर करता है कि कौन सा शेयर खरीदना है, कब खरीदना है, कितना खरीदना है तो स्टॉक ब्रोकर अपने ग्राहकों के ऑर्डर को मार्केट में पहुंचाते हैं.

एक उदाहरण के द्वारा समझते हैं, माना आपको एक कंपनी X के 50 शेयर खरीदने है तो जब आप शेयर मार्केट में X कंपनी के 50 शेयर खरीदने का ऑर्डर करते हैं तो स्टॉक ब्रोकर आपके ऑर्डर को मार्केट में पहुंचाता है और किसी ऐसे कंपनी या व्यक्ति की तलाश करता है जिसे X कंपनी के 50 शेयर बेचने हैं. जब match हो जाता है तो आपके डीमैट अकाउंट में X कंपनी के शेयर आ जायेंगे और पैसे आपके ट्रेडिंग अकाउंट से कट जाते हैं.

इसी प्रकार जब आप शेयर बेचते हैं तो स्टॉक ब्रोकर मार्केट में ऐसे व्यक्ति या कंपनी को ढूंढते हैं जिसे उस Specific कंपनी के शेयर खरीदने हैं. और match हो जाने पर शेयर आपके डीमैट अकाउंट से कम हो जाते हैं और पैसे आपके ट्रेडिंग अकाउंट में आ जाते हैं. इस प्रोसेस को करने में कुछ समय लगता है, अधिकतम दो दिनों के अन्दर ट्रेड कम्पलीट हो जाती है.

स्टॉक ब्रोकर के प्रकार (Type of Stock Broker in Hindi)

स्टॉक ब्रोकर मुख्य रक से दो प्रकार के होते हैं –

  • Full Service Stocks Broker
  • Discount Stock Broker

#1 – Full Service Stocks Broker (पूर्ण स्टॉक ब्रोकर सेवा)

Full Service Stocks Broker वे ब्रोकर होते हैं जो अपने ग्राहकों को डीमैट अकाउंट खुलवाने के साथ शेयर मार्केट में निवेश करने की टिप्स भी देते हैं, जैसे शेयर कब खरीदें और बेचें, कब ट्रेड करना चाहिए, IPO में निवेश करने की सुविधा आदि.

फुल सर्विस स्टॉक ब्रोकर का कस्टमर सपोर्ट बहुत अच्छा होता है, फुल सर्विस स्टॉक ब्रोकर की अनेक शहरों में ब्रांच होती है. अपने ग्राहकों को अधिक सुविधा प्रदान करवाने के लिए फुल सर्विस स्टॉक ब्रोकर की फीस भी ज्यादा होती है.

भारत में कुछ Popular Full Service Stocks Broker की सूची निम्न हैं –

  • ICICI Direct (आईसीआईसीआई डायरेक्ट)
  • HDFC Securites (एचडीएफसी सिक्योरिटीज)
  • Sharekhan (शेरखान)
  • Motilal Oswal (मोतीलाल ओसवाल)
  • IIFL Securites (आईआईएफएल सिक्यूरिटीज़)
  • SBI Securites (एसबीआई सिक्यूरिटीज़)
  • Axis Securites (एक्सिस सिक्यूरिटीज़)

#2 – Discount Broker (डिस्काउंट ब्रोकर)

जैसे कि नाम से पता चलता है डिस्काउंट ब्रोकर अपने क्लाइंट से शेयर बाजार में ट्रेड करने के फुल सर्विस स्टॉक ब्रोकर की अपेक्षा बहुत कम पैसे लेते हैं. डिस्काउंट ब्रोकर आपको शेयर मार्केट में निवेश करने के लिए एक प्लेटफार्म प्रदान करवा देते हैं लेकिन शेयर मार्केट में निवेश करने की कोई टिप्स नहीं देते हैं.

अगर आप सस्ते में अपना डीमैट अकाउंट खुलवाना चाहते हैं तो डिस्काउंट ब्रोकर आपके लिए बेस्ट है, कई सारे डिस्काउंट ब्रोकर बिलकुल फ्री में भी डीमैट अकाउंट खुलवा देते हैं. डिस्काउंट ब्रोकर आपको IPO, स्टॉक्स, म्यूच्यूअल फण्ड, डिजिटल गोल्ड आदि में निवेश करने की सुविधा प्रदान करवाते हैं.

भारत के कुछ प्रमुख डिस्काउंट ब्रोकर निम्न हैं –

  • Upstox (अपस्टोक्स)
  • Zerodha (ज़ेरोधा)
  • Groww (ग्रोव)
  • Angleone (एंजेलवन)

इसके अलावा अन्य स्टॉक ब्रोकर और ट्रेडिंग एप्लीकेशन है जिनकी जानकारी यहाँ दी गयी है.

स्टॉक ब्रोकर की सर्विस (Stock Broker Service in Hindi)

स्टॉक ब्रोकर अपने ग्राहकों को निम्न सेवाएँ प्रदान करते हैं –

  • स्टॉक ब्रोकर अपने ग्राहकों को शेयर बाजार और अन्य प्रतिभूतियों में निवेश करने की सुविधा देते हैं.
  • क्योंकि ब्रोकर को बाजार के बारे में अच्छी समझ होती है इसलिए वे ग्राहकों को सही सलाह दे सकते हैं कि कब शेयर खरीदें और कब शेयर बेचें.
  • स्टॉक ब्रोकर अपने ग्राहकों की तरफ से शेयर को बेचते और खरीदतें हैं, और सभी कागजी कारवाही को सँभालते हैं.
  • शेयर बाजार में किसी भी नए निवेश के बारे में स्टॉक ब्रोकर अपने ग्राहकों को सूचित करते हैं.
  • शेयर मार्केट में निवेश करने के लिए आवश्यक अकाउंट जैसे डीमैट अकाउंट, ट्रेडिंग अकाउंट open करवाते हैं तथा ट्रेडिंग करने के लिए एक प्लेटफार्म प्रदान करते हैं.
  • स्टॉक ब्रोकर अपने ग्राहकों के निवेश से जुड़े सवालों का जवाब देते हैं.

अच्छे स्टॉक ब्रोकर का चयन कैसे करें  

स्टॉक ब्रोकर का चयन करने से पहले ये सुनिश्चित कर लें कि आपको किस प्रकार के स्टॉक ब्रोकर की जरुरत है. अगर आपको शेयर बाजार में बारे में कुछ भी जानकारी नहीं है तो आप फुल सर्विस स्टॉक ब्रोकर के साथ शेयर बाजार में निवेश की शुरुवात कर सकते हैं.

लेकिन अगर आप अधिक पैसे खर्च नहीं करना चाहते हैं ट्रेडिंग में तो डिस्काउंट स्टॉक ब्रोकर से अपना डीमैट अकाउंट खुलवा सकते हैं. लेकिन ध्यान रहें कि डिस्काउंट ब्रोकर आपको शेयर बाजार से जुडी टिप्स नहीं देते हैं.

ऐसे स्टॉक ब्रोकर को चुनें जो SEBI तथा स्टॉक एक्सचेंज में रजिस्टर हो. क्योंकि अगर आप ऐसे ब्रोकर के पास चले जाते हैं जो SEBI और स्टॉक एक्सचेंज में रजिस्टर नहीं है तो आपके साथ फ्रॉड भी हो सकता है.

स्टॉक ब्रोकर चुनने से पहले ब्रोकर के सारे फीस और चार्ज भी Check कर लें. यह भी जरुर Check करें कि कोई Hidden चार्ज तो नहीं हैं.  

इन सब बातों को ध्यान में रखकर आप एक अच्छे स्टॉक ब्रोकर का चुनाव कर सकते हैं, हमने ऊपर जितने भी ब्रोकर के नाम आपको बताएं हैं वे सभी विश्वशनीय स्टॉक ब्रोकर है आप उनमें से किसी भी ब्रोकर से अपना डीमैट अकाउंट खुलवाकर ट्रेडिंग कर सकते हैं.

स्टॉक ब्रोकर कैसे बने (How to become Stock Broker in Hindi)

स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए आप  Financial Market का कोई कोर्स कर सकते हैं. कॉमर्स, अकाउंट, इकॉनोमी, स्टेटिक्स जैसे विषय आपको स्टॉक ब्रोकर बनने में मदद कर सकते हैं.

स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए निम्नलिखित Step हैं –

स्टॉक ब्रोकर बनने की योग्यता (Stock broker Qualifications)

स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए योग्यताएं नीचे दी गयी हैं –

  • एक स्टॉकब्रोकिंग फ़र्म में कम से कम दो सालों का अनुभव होना जरुरी है.
  • एक सब ब्रोकर (ब्रोकर बनने से पहले) को नौकरी प्राप्त करने के लिए 12 वीं पास होना जरुरी है.
  • न्यूनतम आयु 21 वर्ष होनी चाहिए.
  • एक स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता स्नातक की होनी चाहिए.
  • एक पेशेवर स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए कॉमर्स, बिज़नस, बिज़नस प्रशासन या अर्थशास्त्र जैसे विषयों के ज्ञान को प्राथमिकता दी जाती है.

स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए कोर्स (Stock Broker Course)

उपरोक्त योग्यताओं के साथ कोई व्यक्ति स्टॉक ब्रोकर बन सकता है, लेकिन उम्मीदवार के पास ब्रोकिंग से सम्बंधित कुछ प्रमाण पत्र होते हैं तो वह आसानी से ब्रोकर बन सकता है.

स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए कुछ सर्टिफिकेट कोर्स निम्नलखित हैं –

  • NSE’s Certification in Financial Markets
  • NSE’s Certified Market Professional
  • Certificate Program on Capital Markets
  • A PG Diploma in Capital Market and Financial Services
  • Post Graduate Diploma in Fundamentals of Capital Market Development

भारत में स्टॉक ब्रोकर इंस्टिट्यूट (Stock Broker Institute)

भारत में, कई संस्थान स्टॉक ब्रोकिंग पाठ्यक्रम प्रदान करते हैं. स्टॉक ब्रोकिंग कोर्स प्रदान करने वाले शीर्ष संस्थान निम्नलिखित हैं :

  • Institute of Company Secretaries of India
  • Institute of Capital Market Development
  • All India Centre For Capital Market Studies
  • Mumbai Stock Exchange Training Institute
  • Institute of Financial and Investment Planning
  • Institute of Chartered Financial Analysts of India
  • The Orion Institute of Capital Market
  • The UTI Institute of Capital Market

स्टॉक ब्रोकिंग इंस्टिट्यूट के लिए प्रवेश परीक्षा (Entrance Exams for Stockbroker)

एक बेहतर स्टॉक ब्रोकिंग संस्थानों में प्रवेश पाने के लिए अनेक एंट्रेंस एग्जाम दे सकते हैं, स्टॉक ब्रोकिंग इंस्टिट्यूट में प्रवेश पाने के लिए कुछ प्रवेश परीक्षाएं निम्न हैं  –

  • BSE Certification on Central Depository
  • BSE Certification on Derivatives Exchange
  • BSE Certification on Currency Futures
  • BSE Certification on Securities Markets

स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए आवेदन कैसे करें

अगर आपके पास स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए उपरोक्त सारी योग्यताएं हैं तो नीचे बताये गए Step से आप स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए आवेदन करें –

Step 1 –  स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए पहले आपको स्टॉक एक्सचेंज BSE, NSE के साथ Membership के लिए आवेदन करना होता है. और साथ में Membership Fees देनी होती है. आप इस लिंक से NSE में Membership Fees देख सकते हैं. 

Step 2 – जब आपकी Membership आवेदन स्वीकृत हो जाती हैं तो इसके बाद आपकी एप्लीकेशन को Membership Selection Committee के पास भेजा जाता है.

Step 3 – Membership Selection Committee एप्लीकेशन का मूल्यांकन करती है और इसे  Member Compliance Department में approval के लिए भेजती है.

Step 4 – एप्लीकेशन स्वीकृत हो जाने के बाद आपको Provisional Membership का प्रस्ताव पत्र भेजा जाता है. और अंत में आपको SEBI में पंजीकरण करना होता है. पंजीकरण के लिए आपको आवश्यक दस्तावेज जमा करने होते हैं.

Step 5 – SEBI में पंजीकृत होने के लिए SEBI आपके बारे में सब कुछ Check करती है जैसे कि – ऑफिस, मैन पॉवर, संसाधन, फैसिलिटी आदि है या नहीं.

Step 6 – SEBI के साथ Registration  Process पूरी करने के बाद आपको SEBI की तरफ से एक Certificate of Registration  मिलता है. और आपको ट्रेडिंग सिस्टम प्रदान करवा दिया जाता है.

इन सब के अलावा आपको Depository की भी Membership लेनी पड़ती है. स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए काफी सारी कागजी कारवाही और पैसा लगता है. ब्रोकर को ग्राहकों को ट्रेडिंग की सुविधा देने के लिए मोबाइल एप्लीकेशन भी बनानी होती है. तो इस प्रकार से आप स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए आवेदन कर सकते हैं.

स्टॉक ब्रोकर से सम्बंधित सामान्य प्रश्न

ब्रोकर क्या होता है?

शेयर बाजार में ट्रेडिंग करने के लिए निवेशक को एक इंटरमीडियट की जरुरत होती है जो निवेशक की तरफ से शेयर बाजार में ट्रेडिंग करता है, इसे ही स्टॉक ब्रोकर कहते हैं.

ब्रोकर को हिंदी में क्या कहते हैं?

ब्रोकर को हिंदी में दलाल कहा जाता है.

ब्रोकर की ब्रोकरेज फीस कितनी होती है?

अलग – अलग स्टॉक ब्रोकर की ब्रोकरेज फीस भी अलग – अलग होती है. फुल सर्विस ब्रोकर की ब्रोकरेज फीस डिस्काउंट ब्रोकर की अपेक्षा अधिक होती है.

स्टॉक ब्रोकर की सैलरी कितनी होती है?

स्टॉक ब्रोकर्स की सैलरी फिक्स नहीं होती है. उसे अपने ग्राहकों से ब्रोकरेज कमीशन मिलता है. जब भी उसके ग्राहक स्टॉक खरीदते या बेचते हैं, तो उसे एक निश्चित राशि का कमीशन मिलता है. स्टॉक ब्रोकर प्रति माह ₹50 से ₹100 करोड़ का कमीशन कमा सकता है. यह सब उसके ग्राहकों की संख्या पर निर्भर करता है. ग्राहकों की संख्या जितनी अधिक होगी, कमीशन उतना ही अधिक होगा.

आपने सीखा: स्टॉक ब्रोकर क्या है हिंदी में

इस लेख को पढने के बाद आप समझ गए होंगे कि Stock Broker Kya Hai और शेयर बाजार में ब्रोकर कितना महत्वपूर्ण होता है. साथ में ही अगर आप स्टॉक ब्रोकर में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो वह जानकरी भी हमने आपको इस लेख में दी है.

बिना ब्रोकर के शेयर बाजार में ट्रेडिंग करना बहुत मुश्किल होता. ब्रोकर ही शेयरनिवेशक के लिए शेयर बाजार में ट्रेडिंग करना आसान बना देते हैं.

इस लेख में इतना ही, उम्मीद करते हैं आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह लेख जरुर पसंद आया होगा. इस लेख को आप सोशल मीडिया पर भी जरुर शेयर करें जिससे कि अधिक से – अधिक लोगों की मदद हो सके.

5/5 - (1 vote)

नमस्कार ! मेरा नाम रणजीत सिंह है और मुझे इन्टरनेट पर लोगो की मदद करने में रूचि है. साथ ही Techshole.com का Fownder हु. इस Best Hindi Blog पर Blogging और Earn Money Online इत्यादि इन्टरनेट से जुडी जानकारी हिंदी में शेयर करता हु! हमारे ब्लॉग पर आने के लिए धन्यवाद.

Leave a Comment