सुपर कंप्यूटर क्या है (दुनिया और भारत के सुपर कंप्यूटर की सूची 2022)

Supercomputer Kya Hai In Hindi – आज हम जिस इंटरनेट और टेक्नोलॉजी के युग में जी रहे हैं वह कंप्यूटर के बिना पूरी नहीं हो सकती है, अब दुनिया में छोटे से लेकर बड़ा काम भी कंप्यूटर में ही होता है. हम अपने दैनिक जीवन के कार्यों को डिजिटल कंप्यूटर के द्वारा करते हैं. वही वैज्ञानिक अपनी रिसर्च के लिए सुपर कंप्यूटर का उपयोग करते हैं.

हम जिस कंप्यूटर का इस्तेमाल करते हैं वह इतने अधिक Powerful नहीं होते हैं, और ये कंप्यूटर केवल सामान्य उद्देश्य के कार्यों को कर सकते हैं. लेकिन वही दूसरी ओर सुपर कंप्यूटर बहुत शक्तिशाली कंप्यूटर होते हैं जो बड़ी कुशलता से अपने कार्य को करते हैं, इनका इस्तेमाल विशेष कार्यों के लिए ही किया जाता है.

सुपर कंप्यूटर क्या है कैसे काम करता है (दुनिया और भारत के सुपर कंप्यूटर की सूची)

टेक्नोलॉजी के इस युग में हर व्यक्ति को पता होना चाहिए कि Supercomputer क्या है, सुपर कंप्यूटर काम कैसे करता है, सुपर कंप्यूटर को किसने बनाया, सुपर कंप्यूटर कहाँ उपयोग किया जाता है तथा सुपर कंप्यूटर के फायदे और नुकसान क्या हैं. यह सब जानकारी आपको इस लेख में मिलेगी.

इस लेख में हमने आपको सुपर कंप्यूटर के विषय में पूरी जानकारी देने का प्रयास किया है, अगर आप इस लेख को पूरा अंत तक पढ़ते हैं तो सुपर कंप्यूटर के बारे में जानने के लिए आपको किसी अन्य लेख पर नहीं जाना पड़ेगा.

तो चलिए आपका अधिक समय ना लेते हुए शुरू करते हैं इस लेख को और जानते हैं सुपर कंप्यूटर क्या होता है हिंदी में विस्तार से.

सुपर कंप्यूटर क्या है (Supercomputer in Hindi)

Supercomputer बहुत ही Advance कंप्यूटर होते हैं जिनका इस्तेमाल विशेष प्रकार के कार्यों में किया जाता है. ये कंप्यूटर बहुत फ़ास्ट होते हैं और तेजी के साथ जटिल समीकरणों को हल करने में सक्षम होते हैं. ये दुनिया के सबसे शक्तिशाली कंप्यूटर होते हैं. सुपर कंप्यूटर की स्पीड को FLOPS (Floating Point Operation Per Second) में मापा जाता है.

सुपर कंप्यूटर आकार में बहुत बड़े होते हैं और ये सामान्य उद्देश्यों कामों के लिए इस्तेमाल नहीं होते हैं. ये पूरी अलग तरह से काम करते हैं. इनकी कार्यक्षमता मानव की सीमाओं से भी बहुत आगे होती है. जिन जटिल समीकरणों को एक मानव हल नहीं कर सकता है उसे ये कंप्यूटर कुछ ही सेकंड में हल कर देते हैं.

सुपर कंप्यूटर पर कई लोग मिलकर एक साथ काम करते हैं. ऐसे कंप्यूटरों का उपयोग मुख्य रूप से वैज्ञानिक और इंजीनियरिंग कार्यों के लिए किया जाता है जिनमें अत्यधिक उच्च गति की गणना की आवश्यकता होती है. दुनिया का पहला Supercomputer 1960 में बनकर तैयार हुआ था जिसका नाम CDC 1604 था.

SuperComputer Quick Review In Hindi

मुख्य बिंदु विवरण
कंप्यूटर का नामसुपर कंप्यूटर
दुनिया के सुपर कंप्यूटरFugaku, Sunway TaihuLight, Summit, Sierra इत्यादि.
भारत के सुपर कंप्यूटरPARAM Siddhi-AI, Pratyush, Mihir इत्यादि.
सुपर कंप्यूटर की कीमतकरोड़ और अरबों रुपए (लगभग)
भारत का पहला सुपर कंप्यूटरPARAM 8000
दुनिया का पहला सुपर कंप्यूटरइल्लीआक 4
विश्व का सबसे तेज सुपर कंप्यूटरFugaku Super Computer
सुपर कंप्यूटर की पूरी जानकारी

Supercomputer Meaning in Hindi

Supercomputer एक अंग्रेजी का शब्द है, इसे हिंदी में महासंगणक कहा जाता है.

सुपर कंप्यूटर कैसे काम करता है (Supercomputer Work in Hindi)

सुपर कंप्यूटर आकार में बड़े कंप्यूटर होते हैं, इनकी मेमोरी भी बहुत अधिक होती है और प्रोसेसिंग यूनिट भी बहुत फ़ास्ट होता है.

Supercomputer के काम करने का तरीका भी अलग होता है. यह सीरियल प्रोसेसिंग का उपयोग करने के बजाय parallel processing का उपयोग करता है. यह एक समय में कई कार्यों को कर सकता है. यहाँ पर एक सवाल यह भी आता है कि serial processing और parallel processing में क्या अंतर है?

एक साधारण कंप्यूटर एक समय में एक ही काम करता है जिससे यह एक अलग Series में काम करता है, जिसे कि serial processing कहा जाता है. दूसरी ओर सुपर कंप्यूटर समस्याओं को कई pieces में विभाजित कर देता है और इन सब pieces पर एक साथ तेजी से काम करता है इसे parallel processing कहा जाता है.

Parallel processing में अगर आप एक समय में कंप्यूटर को दो या इससे अधिक निर्देश देते हैं तो यह दोनों को एक ही समय में दक्षता से कर सकता है.

सुपर कंप्यूटर का इतिहास (History of Supercomputer in Hindi)

अगर कंप्यूटर के आविष्कार की बात करें तो इसे बनाने में केवल एक ही इंसान का योगदान नहीं है. समय – समय पर अनेक लोगों ने कंप्यूटर को बनाने में अपना योगदान दिया है. तब कहीं जाकर ऐसे Advance Supercomputer का विकास हो पाया है.

Supercomputer के विकास में सबसे महत्वपूर्ण योगदान Seymour Cray का है, इन्हें ही Supercomputer का जनक कहा जाता है. दुनिया का पहला सुपर कंप्यूटर CDC1604 को 1960 में Seymour Cray ने ही डिजाईन किया था. यह सुपर कंप्यूटर वैक्यूम ट्यूबों को ट्रांजिस्टर से बदलता है, वैज्ञानिक प्रयोगशालाओं में यह काफी लोकप्रिय था.

IBM ने अपने स्वयं के वैज्ञानिक कंप्यूटर, IBM 7030, जिसे आमतौर पर IBM स्ट्रेच के रूप में जाना जाता है, 1961 में बनाया था. 1964 में Seymour Cray के CDC 6600 ने स्ट्रेच को उस समय दुनिया का सबसे तेज कंप्यूटर में बदल दिया.

Seymour Cray ने 1972 में Cray Research Inc. को शुरू करने के लिए CDC को छोड़ दिया, Cray ने पूर्व डिजाईन के आधार पर नये – नये Supercomputer का उत्पादन जारी रखा.

तो इस प्रकार से Supercomputer का विकास हुआ. आज के समय में पूरी दुनिया में हजारों सुपर कंप्यूटर मौजूद हैं.

दुनिया के सुपर कंप्यूटर की सूची (Best Supercomputer in World)

वैसे दुनिया में अनेक सारे सुपर कंप्यूटर हैं, पर यहाँ हमने आपको स्पीड के आधार पर 10 Best Supercomputer के बारे में बताया है.

  • Fugaku – फुगाकु
  • Summit – शिखर सम्मेलन
  • Sierra –  सिलसिला
  • Sunway TaihuLight – सनवे ताइहुलाइट
  • Perlmutter – पर्लमटर
  • Selene – सेलिन
  • HPC5 – एचपीसी5
  • Frontera -फ्रोंटेरा
  • Tianhe -टियान
  • Dammam -दम्मम

भारत में सुपर कंप्यूटर (Super Computer in India)

भारत का पहला सुपर कंप्यूटर 1991 में बना जिसका नाम PARAM 8000 था, इसे खुद भारत ने ही बनाया था. आज भारत के पास 40 से भी अधिक सुपर कंप्यूटर मौजूद हैं. जनवरी 2022 के अनुसार Pratyush Cray XC 40 भारत का सबसे तेज सुपर कंप्यूटर है जो कि पुणे के IITM में स्थित है.

भारत के सुपर कंप्यूटर की सूची

आधुनिक समय में भारत के कुछ प्रमुख सुपर कंप्यूटर की सूची निम्नलिखित है –

  • PARAM Siddhi-AI – परम सिद्धि
  • Pratyush [CRAY XC40] – प्रत्युष
  • Mihir [CRAY XC40] – मिहिर
  • AADITYA – आदित्य
  • Color Blossom [Cray-X30]
  • SAHASRAT – सहशरत
  • PARAM YUVA-II – परम युवा-II
  • PADUM – पदम
  • PARAM Shivay – परम शिवाय

सुपर कंप्यूटर की विशेषतायें (Feature of Supercomputer in Hindi)

Supercomputer की प्रमुख विशेषताएं निम्नलिखित हैं.

  • Supercomputer आकार में बड़े होते हैं, इसलिए इन्हें रखने के लिए अधिक स्थान की आवश्यकता होती है.
  • Supercomputer Multi Tasking होते हैं. एक साथ कई यूजर मिलकर Supercomputer में विभिन्न कामों को कर सकते हैं.
  • Supercomputer की स्पीड को FLOPS (Floating Point Operation Per Second) में मापा जाता है.
  • सुपर कंप्यूटर की कार्य क्षमता बहुत तेज होती है, यह हजारों मनुष्यों के कार्यों को भी अकेले कर सकता है.
  • सुपर कंप्यूटर की कीमत बहुत महँगी होती है, ये करोड़ों में भी आते हैं.
  • सुपर कंप्यूटर कुछ विशेष स्थानों में ही पाए जाते हैं. जैसे वैज्ञानिक अनुसंधानों में, प्रयोगशालाओं, मेडिकल रिसर्च आदि में.

सुपर कंप्यूटर के उपयोग (Uses of Supercomputer in Hindi)

सुपर कंप्यूटर का उपयोग दैनिक जीवन में रोजमर्रा के कामों के लिए नहीं किया जाता है, बल्कि इनका उपयोग कुछ विशेष प्रकार के कार्यों की पूर्ति के लिए किया जाता है, सुपर कंप्यूटर के कुछ प्रमुख उपयोग निम्नलिखित हैं –

  • सुपर कंप्यूटर का उपयोग मौसम विज्ञान में मौसम के पूर्वानुमान के लिए किया जाता है.
  • परमाणु अनुसंधानों में वैज्ञानिक परमाणु विस्फोट प्रभाव का परीक्षण करने के लिए सुपर कंप्यूटर का उपयोग करते हैं.
  • जीवन विज्ञान अनुसंधानों में मानव शरीर की बारीकियों को समझने के लिए सुपर कंप्यूटर इस्तेमाल किये जाते हैं.
  • अंतरिक्ष यानों को डिजाईन करने के लिए सुपर कंप्यूटर का उपयोग किया जाता है. 
  • सैन्य क्षेत्रों में सुपर कंप्यूटर का उपयोग सैनिक नये हथियारों के परिक्षण के लिए करते हैं.
  • सरकारें भी सुपर कंप्यूटर का उपयोग करती हैं और महत्वपूर्ण डेटा को एन्क्रिप्टेड करती हैं.
  • ऐसे एप्लीकेशन जिसमें Real Time Data प्रोसेसिंग की आवश्यकता होती है उनमें भी सुपर कंप्यूटर का इस्तेमाल किया जाता है.
  • जटिल गणनायें जो कि मानव क्षमताओं से परे हैं उन्हें हल करने के लिए भी सुपर कंप्यूटर का इस्तेमाल किया जाता है.
  • Artificial Intelligence के क्षेत्र में सुपर कंप्यूटर का इस्तेमाल किया जाता है.

सुपर कंप्यूटर के फायदे (Advantage of Supercomputer in Hindi)

वैसे Supercomputer के अनेक सारे फायदे होते हैं, लेकिन हम आपको यहाँ पर इसके कुछ प्रमुख फायदों के बारे में बताएँगे.

  • सुपर कंप्यूटर की स्पीड बहुत फ़ास्ट होती है. यह सेकंड से पहले जटिल से जटिल कार्यों को करने में सक्षम होते हैं.
  • सुपर कंप्यूटर की Security बहुत उच्च स्तर की होती हैं, इन्हें हैक कर पाना लगभग असंभव है.
  • सुपर कंप्यूटर जटिल गणनाओं को भी आसानी से Solve कर सकते हैं.
  • एक बार में कई यूजर सुपर कंप्यूटर का इस्तेमाल कर सकते हैं.
  • इंसानी कार्य सीमाओं से सुपर कंप्यूटर बहुत आगे है. यह उन कार्यों को भी करने में सक्षम है जो इंसान की क्षमताओं से परे होते हैं.
  • सुपर कंप्यूटर का इस्तेमाल किसी विशेष प्रकार के कार्यों के लिए ही किया जाता है.
  • सुपर कंप्यूटर बहुर Accuracy के साथ काम करते हैं.
  • सुपर कंप्यूटर मल्टीटास्किंग होते हैं. यह एक साथ अनेक कार्यों को कर सकते हैं.

सुपर कंप्यूटर के नुकसान (Disadvantage of Supercomputer in Hindi)

Supercomputer के फायदों से साथ कुछ नुकसान भी हैं. जो कि निम्नलिखित हैं. वैसे हम इसे नुकसान के स्थान पर कमियाँ कह सकते हैं.

  • सुपर कंप्यूटर आकार में बहुत बड़े होते हैं, इन्हें एक स्थान से दुसरे स्थान में ले जाना बहुत ही मुश्किल कार्य है.
  • सुपर कंप्यूटर की कीमत बहुत महँगी होती है, ये लाखों, करोड़ों रूपये में आते हैं.
  • सुपर कंप्यूटर को Maintain करने के लिए Expert लोगों की आवश्कता होती है. एक सामान्य व्यक्ति बिना प्रक्षिक्षण के सुपर कंप्यूटर का इस्तेमाल नहीं कर सकता है.
  • पर्सनल उपयोग के लिए सुपर कंप्यूटर का इस्तेमाल नहीं किया जाता है.
  • सुपर कंप्यूटर को काम करने के लिए अन्य कंप्यूटरों की तुलना में अधिक बिजली की आवश्यकता होती है.
  • सुपर कंप्यूटर जब काम करते हैं तो यह बहुत गर्मी पैदा करते हैं.

FAQ: Super Computer In Hindi

सुपर कंप्यूटर की कीमत कितनी होती है?

सुपर कंप्यूटर की कीमत करोड़ों में होती है, यहाँ तक कि सबसे निचले मॉडल की कीमत लाखों और करोड़ो में होती है. High Power के सुपर कंप्यूटर अरबों में भी होते हैं.

सुपर कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया?

सुपर कंप्यूटर के अविष्कार का श्रेय Seymour Cray को जाता है. सुपर कंप्यूटर के विकास में Cray का सबसे महत्वपूर्ण योगदान है.

दुनिया का सबसे तेज सुपर कंप्यूटर कौन है?

नवम्बर 2021 के अनुसार Fugaku supercomputer दुनिया का सबसे तेज सुपरकंप्यूटर है

भारत का पहला सुपर कंप्यूटर का नाम क्या है?

भारत का पहला सुपर कंप्यूटर PARAM 8000 है, इसे 1991 में भारत में ही बनाया गया था.

सुपर कंप्यूटर की स्पीड को किसमें मापा जाता है?

सुपर कंप्यूटर की स्पीड FLOPS (Floating Point Operation Per Second) में मापी जाती है.

Supercomputer को हिंदी में क्या कहते हैं?

Supercomputer को हिंदी में महासंगणक कहा जाता है.

इन्हें भी पढ़े

निष्कर्ष: सुपर कंप्यूटर क्या है हिंदी में 

इस लेख में हमने आपको Supercomputer Kya Hai In Hindi, यह काम कैसे करता है, सुपर कंप्यूटर का इतिहास, इसकी विशेषतायें, उपयोग, फायदे, नुकसान आदि के विषय में पूरी जानकारी प्रदान की है. हमें पूरी उम्मीद है कि आपको यह लेख पसंद आया होगा.

अगर आपके इस लेख से सम्बंधित कोई प्रशन या सुझाव हैं तो आप कमेंट बॉक्स में अपनी प्रतिक्रिया हमें दे सकते हैं, साथ ही इस लेख को सोशल मीडिया के द्वारा अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें जिससे उन्हें भी सुपर कंप्यूटर के बारे में जानने को मिलेगा.

5/5 - (1 vote)

नमस्कार ! मेरा नाम रणजीत सिंह है और मुझे इन्टरनेट पर लोगो की मदद करने में रूचि है. साथ ही Techshole.com का Fownder हु. इस Best Hindi Blog पर Blogging और Earn Money Online इत्यादि इन्टरनेट से जुडी जानकारी हिंदी में शेयर करता हु! हमारे ब्लॉग पर आने के लिए धन्यवाद.

Leave a Comment