वेब होस्टिंग क्या है इसके प्रकार, होस्टिंग कहाँ से खरीदें (Hosting In Hindi)

What Is Web Hosting In Hindi: आज के इस लेख में हम आपको Web Hosting क्या है के विषय में जानकारी देने वाले हैं. अगर आप ब्लॉग या वेबसाइट बनाकर ऑनलाइन पैसे कमाने के बारे में विचार कर रहे हैं तो आपको होस्टिंग के विषय में सम्पूर्ण जानकारी होनी चाहिए. जो कि हम आपको इस लेख में देने वाले हैं.

इस लेख में आपको जानने को मिलेगा कि वेब होस्टिंग क्या है, होस्टिंग कितने प्रकार की होती है और वेब होस्टिंग कहाँ से खरीदें.

वेब होस्टिंग क्या है इसके प्रकार और वेब होस्टिंग कहाँ से खरीदें (Web Hosting In Hindi)

एक नया ब्लॉगर जब अपना ब्लॉग बनाने के लिए होस्टिंग खरीदता है तो वह सही जानकारी की कमी के कारण ऐसी होस्टिंग खरीद लेता है जिसके चलते उसे बहुत सारी समस्याओं का सामना करना पड़ता है. इसी बात को ध्यान में रखकर हमने आपको वेब होस्टिंग लेने से पहले ध्यान रखने वाली बातों को भी इस लेख में बताया है.

हमें पूरी उम्मीद है कि अगर आप इस लेख को ध्यानपूर्वक अंत तक पढेंगे तो आपको होस्टिंग के बारे में जानने के लिए किसी अन्य लेख पर जाने की जरुरत नहीं होगी. तो चलिए बिना देरी के शुरू करते हैं हमारा आज का यह लेख – वेब होस्टिंग क्या है इन हिंदी.

वेब होस्टिंग क्या है (What is Hosting in Hindi)

अनुक्रम दिखाएँ

होस्टिंग एक ऑनलाइन स्पेस (जगह) होती है जो वेबसाइट के कंटेंट को स्टोर करती है तथा वेबसाइट को ऑनलाइन रखती है. इंटरनेट पर जितनी भी वेबसाइट मौजूद है, उन सभी का डेटा किसी न किसी सर्वर में स्टोर रहता है जिसके द्वारा यूजर उन वेबसाइट को एक्सेस कर पाता है. इसी सर्वर को होस्टिंग कहा जाता है.

जिस प्रकार से आपके कंप्यूटर में मौजूद फाइल, फोटो, डॉक्यूमेंट, इमेज आदि आपके हार्ड डिस्क में स्टोर रहते हैं उसी प्रकार से वेबसाइट में मौजूद कंटेंट जैसे टेक्स्ट, इमेज, विडियो, फाइल आदि होस्टिंग में ही स्टोर रहते हैं. बिना होस्टिंग के आप वेबसाइट नहीं बना सकते हैं.

एक होस्टिंग को सम्भालना बहुत जटिल और खर्चीला है इसलिए हम होस्टिंग को इन्टरनेट पर उपलब्ध होस्टिंग प्रदाता कंपनियों से खरीदते हैं. उनके पास Powerful सर्वर, Technical Staff और होस्टिंग को मेन्टेन करने के लिए अनेक सारे Resource रहते हैं.

कुल मिलाकर कहें तो होस्टिंग एक Server है जो आपके वेबसाइट के कंटेंट को स्टोर करती है और वेबसाइट को 24*7 Live रखती है.

वेब होस्टिंग के प्रकार (Types of Web Hosting in Hindi)

वेब होस्टिंग मुख्य रूप से 6 प्रकार की होती है जो कि निम्नलिखित है –

  • Shared Web Hosting
  • Dedicated Web Hosting
  • VPS Hosting
  • Cloud Hosting
  • Reseller Hosting
  • Managed WordPress Hosting

#1 – Shared Web Hosting (शेयर्ड वेब होस्टिंग)

जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है इस प्रकार की होस्टिंग को अनेक वेबसाइट के साथ शेयर किया जाता है. Shared Web Hosting में एक ही सर्वर में हजारों वेबसाइट होस्ट रहती हैं, या कहें तो स्टोर रहती हैं. आप शेयर्ड वेब होस्टिंग को होस्टल या किराये पर लिए गए एक कमरे की तरह मान सकते हैं, जिसमें अनेक सारे दोस्त साथ रहते हैं.

Shared Web Hosting शुरुवाती ब्लॉगर के लिए बेस्ट है, क्योंकि एक नए ब्लॉग पर ट्रैफिक भी अधिक नहीं होता है, और इसका दूसरा सबसे बड़ा फायदा है कि इसकी कीमत अन्य होस्टिंग की तुलना में कम होती है. शेयर्ड होस्टिंग को मैनेज करना भी बहुत आसान होता है क्योंकि इसका cPanel बहुत बेसिक होता है.

Shared Hosting के फायदे होने के साथ – साथ इसके कुछ नुकसान भी होते हैं. शेयर्ड वेब होस्टिंग की स्पीड ऊपर – नीचे होते रहती है और सिक्योरिटी के मामले में भी यह होस्टिंग उतनी बेहतर नहीं है. लेकिन अगर आप नए ब्लॉगर हैं तो बेझिझक इस होस्टिंग का इस्तेमाल कर सकते हैं.

#2 – Dedicated Web Hosting (समर्पित वेब होस्टिंग)

Dedicated Web Hosting बिल्कुल विपरीत होती है Shared Hosting के. इस प्रकार की होस्टिंग में पूरा सर्वर एक ही वेबसाइट को दिया जाता है. आप Dedicated Web Hosting को अपने घर की तरह समझ सकते हैं, जहाँ केवल आप और आपका परिवार रहता है.

Dedicated Hosting बहुत फ़ास्ट वेब होस्टिंग है. यह होस्टिंग ऐसी वेबसाइट के लिए उपयुक्त है जिनमें मिलियन में ट्रैफिक आता है. जैसे कि Amazon, Flipkart आदि वेबसाइट. यह होस्टिंग बहुत सिक्योर होती है.

Dedicated Hosting का नुकसान यह है कि इसको इस्तेमाल करने वाले व्यक्ति को टेक्निकल नॉलेज की जरुरत पड़ती है और यह वेब होस्टिंग अन्य होस्टिंग की तुलना में बहुत महँगी होती है.

#3 – VPS (Virtual Private Server) Hosting (वर्चुअल प्राइवेट सर्वर)

VPS होस्टिंग ऐसी होस्टिंग होती है जिसमें एक सर्वर के अलग – अलग भाग कर दिए जाते हैं और प्रत्येक वेबसाइट के लिए एक निश्चित भाग प्रदान किया जाता है. आप इसे होटल के एक कमरे की तरह समझ सकते हैं, जब तक आप होटल में रहेंगे तो उस कमरे की सारी चीजें आपकी होती हैं. लेकिन आप होटल के मालिक नहीं हो. इसी प्रकार से VPS होस्टिंग भी होती है इसमें पूरा सर्वर आपका नहीं होता है लेकिन सर्वर का एक फिक्स भाग आपके पास होता है.

अगर आपकी अपनी वेबसाइट से अच्छी  कमाई कर रहे हैं तो VPS होस्टिंग का इस्तेमाल कर सकते हैं. यह होस्टिंग Dedicated Hosting की तुलना में सस्ती होती है साथ ही इसकी Performance, Security, Speed आदि Shared Hosting की तुलना में बेहतर होती है. और आप जरुरत के अनुसार VPS होस्टिंग की स्पेस को बढ़ा सकते हैं.

VPS होस्टिंग में केवल कमी यह है कि इसकी कीमत Shared Hosting से अधिक है और इसे मैनेज करने के लिए आपको Technical Knowledge की जरुरत होती है.

#4 – Cloud Hosting (क्लाउड होस्टिंग)

Cloud Hosting एक Advance और नए जमाने की होस्टिंग है. क्लाउड होस्टिंग Multiple Server के साथ काम करता है. इस प्रकार के सर्वर में आपका डेटा एक सर्वर में स्टोर न होकर क्लाउड के रूप में भिन्न – भिन्न सर्वर में स्टोर रहता है. पिछले कुछ सालों से क्लाउड होस्टिंग का प्रचलन बहुत अधिक बढ़ा है. अधिकतर Blogger भी क्लाउड होस्टिंग का इस्तेमाल कर रहे हैं.

Cloud Hosting एक बहुत Fast और Secure होस्टिंग है जो High Volume ट्रैफिक को भी आसानी से हैंडल कर सकती है. इस होस्टिंग में डेटा Loss होने का खतरा भी बहुत कम रहता है क्योंकि डेटा अलग – अलग सर्वर में स्टोर रहा है.

Cloud Hosting का नुकसान यह है कि इसकी कीमत अन्य होस्टिंग से अधिक होती है और Dedicated Hosting की तरह पूरा कण्ट्रोल आपके पास नहीं होता है.

#5 – Reseller Hosting (पुनर्विक्रेता होस्टिंग)

जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है इस प्रकार की होस्टिंग को आप कम्पनी से खरीदकर अन्य लोगों को बेच सकते हैं. Reseller Hosting को मुनाफा कमाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

अगर आप एक Web Developer हैं और आपको होस्टिंग का Technical Knowledge है तो आप अपने क्लाइंट की वेबसाइट को Reseller Hosting में होस्ट कर सकते हैं. ऑनलाइन पैसे कमाने के लिए Reseller Hosting का बिज़नस भी एक अच्छा विकल्प है.

#6 – Managed WordPress Hosting (मैनेज वर्डप्रेस होस्टिंग)

Managed WordPress Hosting एक प्रकार की Shared Hosting है जिसे कि ख़ास WordPress के लिए डिजाईन किया गया है. इस प्रकार के होस्टिंग में होस्टिंग कम्पनी आपके वर्डप्रेस वेबसाइट को मैनेज करती है, जैसे कि – बैकअप बनना, स्पीड मेन्टेन करना, होस्टिंग में टेक्निकल काम आदि. इसके बदले में कंपनी आपसे अत्तिरिक्त चार्ज लेती है. 

वेब होस्टिंग में कौन से फीचर होने चाहिए

जब भी आप होस्टिंग खरीदते हैं तो आपको होस्टिंग खरीदते समय निम्न Feature की जांच कर लेनी चाहिए. अलग – अलग कंपनी के होस्टिंग प्लान के अनुसार Feature भी भिन्न होते हैं. पर हमने आपको जो Feature बताये हैं वह सब बेसिक हैं. जिनका प्रत्येक वेब होस्टिंग में होना आवश्यक है.

#1 – Storage (भंडारण)

होस्टिंग खरीदते समय स्टोरेज का विशेष ध्यान रखना जरुरी है. क्योंकि आप वेबसाइट में जो भी कंटेंट अपलोड करते हैं वह सब होस्टिंग के स्टोरेज में स्टोर रहता है. इसलिए आप कोशिस करें कि थोड़ी ज्यादा स्पेस वाले होस्टिंग को ही खरीदें.

#2 – Bandwidth (बैंडविड्थ)

Bandwidth आपकी वेबसाइट में आये विजिटर को डेटा ट्रान्सफर करने की दर है. इसलिए होस्टिंग खरीदते समय Bandwidth का ध्यान रखना भी जरुरी है. अगर आप Low Bandwidth वाली होस्टिंग को खरीदते हैं तो आपकी वेबसाइट अधिक ट्रैफिक को हैंडल नहीं कर पाएगी. इसलिए हमेशा कोशिस करें कि High Bandwidth होस्टिंग को ही खरीदें.

#3 – Uptime (अपटाइम)

Uptime का मतलब होता है कि वेबसाइट कितने समय तक विजिटर के लिए ऑनलाइन रहेगी. वैसे आजकल सभी होस्टिंग कंपनी 99.9 प्रतिशत Uptime की गारंटी देती है.

#4 – Support (सपोर्ट)

होस्टिंग खरीदते समय कस्टमर सपोर्ट के बारे में भी पूरी जानकारी प्राप्त करना आवश्यक है. क्योंकि अगर होस्टिंग में कभी कोई समस्या आ जाती है तो उसे होस्टिंग कंपनी के Customer Executive को ठीक करके देनी होती है. अगर कंपनी का Customer Support अच्छा नहीं होगा तो आपको समस्या के समाधान के लिए घंटों इन्तजार करना पड़ सकता है.

#5 – Money Back Policy (मनी बेक पालिसी)

होस्टिंग खरीदते समय Money Back Policy का ध्यान रखना भी जरुरी होता है. आपको हमेशा Check करना चाहिए कि कंपनी Money Back की policy दे रही है या नहीं. अगर दे रही है तो कितने दिनों की दे रही है. क्योंकि अगर आपको होस्टिंग पसंद नहीं आती है तो आप अपने पैसे वापस ले सकते हैं, और दूसरी कंपनी से होस्टिंग खरीद सकते हैं.

अगर आप होस्टिंग खरीदते समय इन बातों का ध्यान रखते हैं तो आप एक अच्छी वेब होस्टिंग खरीद सकते हैं.

Linux और Window होस्टिंग क्या है

जब भी आप किसी कंपनी से होस्टिंग खरीदते हैं तो आपके सामने दो विकल्प रहते हैं Linux और Windows वेब होस्टिंग का. ये दोनों वेब वेब होस्टिंग एक दुसरे से बिल्कुल भिन्न हैं –

Linux एक Open Source Web Hosting जिसके लिए आपको कंपनी को कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं देना पड़ता है. जबकि Window Web Hosting का इस्तेमाल करने के लिए आपको License की जरुरत होती है इसके लिए आपको होस्टिंग कम्पनी को अतिरिक्त शुल्क देना पड़ता है.

इन्टरनेट पर अधिकतर वेबसाइट Linux Web Hosting का ही इस्तेमाल करती है क्योंकि इसकी कीमत Window Web Hosting से कम होती है.

वेब होस्टिंग कहाँ से खरीदें

इंटरनेट पर अनेक सारी Hosting Provider कंपनी है, जहाँ से आप अपने वेबसाइट की आवश्यकतानुसार होस्टिंग खरीद सकते हैं. होस्टिंग का भुगतान करने के लिए आपको क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड की जरुरत होती है. होस्टिंग खरीदने के बाद आपको डोमेन को होस्टिंग के साथ कनेक्ट करना होता है और अपनी वेबसाइट बनानी होती है.

होस्टिंग खरीदने के लिए कुछ बेस्ट कंपनियां निम्नलिखित हैं –

FAQ: Web Hosting In Hindi

वेब होस्टिंग क्या होती है?

वेब होस्टिंग एक ऑनलाइन स्पेस है जिसमें आपकी वेबसाइट का कंटेंट स्टोर रहता है और आपकी वेबसाइट Live रहती है.

वर्डप्रेस होस्टिंग क्या है?

वर्डप्रेस होस्टिंग एक शेयर्ड होस्टिंग ही है जो कि ख़ास वर्डप्रेस के लिए डिजाईन किया गया है. इस प्रकार की होस्टिंग में आपकी वेबसाइट होस्टिंग को होस्टिंग कम्पनी के द्वारा ही Configure किया जाता है जिसके आपको अतिरिक्त शुल्क चुकाना पड़ता है.

नए ब्लॉगर के लिए कौन सी होस्टिंग बेस्ट है?

एक नए ब्लॉगर के लिए Shared Linux Hosting सबसे बेस्ट है.

आपने सीखा – वेब होस्टिंग क्या है इसके प्रकार हिंदी में

इस लेख में हमने आपको बताया है कि Web Hosting क्या है, यह कितने प्रकार की होती है तथा होस्टिंग कहाँ से खरीदें. अगर आप ब्लॉगिंग करके ऑनलाइन पैसे कमाना चाहते हैं तो आपको होस्टिंग की जानकारी होना आवश्यक है, जो कि आपको इस लेख में बताया गया है.

अगर आपने लेख को ध्यानपूर्वक पढ़ा है तो हमें पूरा भरोसा है कि आपको होस्टिंग के बारे में बहुत कुछ सीखने को मिला होगा. अगर आप अपने ब्लॉगिंग करियर की शुरुवात में गलत होस्टिंग को चुन लेते हैं तो आपको बहुत नुकसान झेलना पड़ सकता है. इसलिए हमने इस लेख में आपको होस्टिंग लेते समय ध्यान रखने वाली बातों के बारे में बताया है.

अगर आपको इस लेख से कुछ फायदा मिला है तो इस अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करें. और इसी प्रकार के ज्ञानवर्धक लेख पढने के लिए हमारे ब्लॉग पर आते रहिये.  

5/5 - (1 vote)

नमस्कार ! मेरा नाम रणजीत सिंह है और इस Best Hindi Blog का संस्थापक हूँ. मुझे ब्लॉग्गिंग, एसईओ और डिजिटल मार्केटिंग जैसे विषयों पर गहरी नॉलेज है! हमारे ब्लॉग पर आने के लिए धन्यवाद.

Leave a Comment