सॉफ्टवेयर क्या है प्रकार, परिभाषा, कैसे काम करता है - Computer Software in Hindi

सॉफ्टवेयर क्या है प्रकार, परिभाषा, कैसे काम करता है – Computer Software in Hindi

Computer Software In Hindi: क्या आप जानते हैं Computer Software क्या है इन हिंदी, सॉफ्टवेयर कितने प्रकार के होते हैं, सॉफ्टवेयर का क्या काम होता है और सॉफ्टवेयर की आवश्यकता क्यों पड़ती है. इसके अलावा कंप्यूटर सॉफ्टवेयर कैसे बनाते है.

कंप्यूटर और मोबाइल का इस्तेमाल तो आप लोग जरुर करते होंगे पर क्या आपको पता है बिना सॉफ्टवेयर के कंप्यूटर और मोबाइल बस एक खाली डिब्बा हैं. अगर कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर नहीं होगा तो यूजर कंप्यूटर का इस्तेमाल नहीं कर सकता है.

आज के इस लेख के माध्यम से हम आपको कंप्यूटर सॉफ्टवेयर के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं जिसकी मदद से आपको सॉफ्टवेयर के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त हो सकेगी. तो चलिए शुरू करते हैं इस लेख को और जानते हैं कंप्यूटर सॉफ्टवेयर क्या होता है परिभाषा सहित.

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर क्या है (What is Computer Software in Hindi)

कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर (Computer Software) निर्देशों या प्रोग्राम का एक समूह होता है जिसका इस्तेमाल कंप्यूटर को संचालित करने व कंप्यूटर में विशेष कामों को करने के लिए किया जाता है. सॉफ्टवेयर कंप्यूटर का एक महत्वपूर्ण भाग है इसके बिना कंप्यूटर एक प्लास्टिक के डिब्बे से कम नहीं है.

जिस प्रकार से हम हार्डवेयर को छू सकते हैं, देख सकते हैं लेकिन सॉफ्टवेयर को हम छू नहीं सकते हैं देख नहीं सकते हैं क्योकि सॉफ्टवेयर का कोई भौतिक अस्तित्व नहीं होता है यह एक आभासी है जिसे केवल समझा जा सकता है.

अगर कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर नहीं होते तो यूजर के लिए कंप्यूटर पर किसी भी काम को करना असंभव था. फोटोशोप, ब्राउज़र, एंटी वायरस, MS ऑफिस आदि ये सभी कंप्यूटर सॉफ्टवेयर का उदाहरण हैं.

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर की परिभाषा (Definition  of Computer Software in Hindi)

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर निर्देशों और प्रोग्रामों का एक समूह होता है जिसकी मदद से यूजर कंप्यूटर में विशेष प्रकार के कामों को कर सकता है. बिना सॉफ्टवेयर के यूजर कंप्यूटर पर काम नहीं कर सकता है.

सॉफ्टवेयर का इतिहास (History of Software in Hindi)

दुनिया का पहला प्रोग्राम Ada Lovelance ने 19 वीं सताब्दी में लिखा था जो कि Charles Babbage के एक Analytical Engine के लिए लिखा गया था. उन्होंने ही यह साबित किया था Engine Bernoulli Number को Calculate कैसे करेगा.

Alen Tuner ने अपने लेख “Computable Numbers, with an Application to the Entscheidungsproblem” में सॉफ्टवेयर के सिधांत के बारे में लिखा था. सॉफ्टवेयर शब्द की खोज Jhon Tukey ने किया था जो कि एक गणितज्ञ थे.

सॉफ्टवेयर के प्रकार (Type of Computer Software in Hindi)

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर मुख्यतः 2 प्रकार के होते हैं –

  • सिस्टम सॉफ्टवेयर
  • एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर

#1 – सिस्टम सॉफ्टवेयर (System Software)

किसी भी कंप्यूटर का सबसे मुख्य सॉफ्टवेयर सिस्टम सॉफ्टवेयर होता है. सिस्टम सॉफ्टवेयर कंप्यूटर को चालू करने में काम आता है. जब हम कंप्यूटर को On करते हैं तो सिस्टम सॉफ्टवेयर हार्डवेयर को सक्रिय करता है और फिर उसके कार्यों को नियंत्रित करता है.

सिस्टम सॉफ्टवेयर के उदाहरण

  • Windows (विंडोज)
  • Android (एंड्राइड)
  • Anti Virus (एंटी वायरस)
  • Audio, Graphic Driver (ऑडियो, ग्राफ़िक ड्राईवर)

सिस्टम सॉफ्टवेयर भी 4 प्रकार के होते हैं

ऑपरेटिंग सिस्टम (Operating System)

Operating System सिस्टम सॉफ्टवेयर का एक उदाहरण है. Operating System कंप्यूटर के अन्य सभी सॉफ्टवेयर को संचालित करता है, इसे कंप्यूटर का Main Software भी कहते हैं. Operating System कंप्यूटर को Boot करने के आवश्यक है इसके अतिरिक्त अन्य सॉफ्टवेयर को चलने के लिए भी Operating System महत्वपूर्ण है. आज के समय में सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाले Operating System माइक्रोसॉफ्ट Window, Linux, Apple Mac OS हैं.

यूटिलिटी सॉफ्टवेयर (Utility Software)

Utility Software वे सॉफ्टवेयर कहलाते हैं जो कि कंप्यूटर के हार्डवेयर, Operating System, Application Software को सुरक्षा प्रदान करते हैं. इनको सर्विस प्रोग्राम भी कहा जाता है. Utility Software का सीधा संपर्क हार्डवेयर से नहीं होता है. Anti Virus Utility Software का एक उदाहरण है.

डिवाइस ड्राइवर (Device Driver)

Device Driver की मदद से कंप्यूटर के इनपुट और आउटपुट उपकरण कंप्यूटर से Communicate कर पाते हैं. Audio Driver, Video Player, Motherboard Driver आदि Device Driver का उदाहरण है.

प्रोग्रामिंग सॉफ्टवेयर (Programming Software)

प्रोग्रामिंग सॉफ्टवेयर वे सॉफ्टवेयर कहलाते हैं जिसकी मदद से एक डेवलपर अन्य सॉफ्टवेयर के Programming को लिख सकते हैं.कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर अलग – अलग Programming भाषाओं में लिखे जाते हैं लेकिन कंप्यूटर केवल Machine Language को ही समझता है इसलिए इनका अनुवाद करने के लिए प्रोग्रामिंग सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल किया जाता है. Compiler, Assemblers, Text Editor आदि प्रोग्रामिंग सॉफ्टवेयर के उदाहरण हैं.

#2 – एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर (Application Software)

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर का सीधा संपर्क यूजर से होता है इन्हें App भी कहते हैं. एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को एक विशेष प्रकार के काम के लिए बनाया जाता है. इस प्रकार के सॉफ्टवेयर को जरुरत पड़ने पर इनस्टॉल और अनस्टॉल किया जा सकता है. ये सॉफ्टवेयर यूजर को विशेष काम पूरा करने की छूट देते हैं.

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के उदाहरण

  • माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस
  • एडोब फोटोशॉप
  • विडियो एडिटर
  • कोरल ड्रा

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर भी 2 प्रकार के होते हैं

Basic Application Software

Basic Application का इस्तेमाल हम रोजमर्रा  के कार्यों को पूरा करने के लिए करते हैं. कंप्यूटर पर काम करने के लिए किसी भी यूजर को Basic Application का इस्तेमाल करना आना चाहिए. Multimedia Program, Graphic Application, Web Designing Application, Word Processing Program आदि Basic Application Software के अंतर्गत आते हैं.

Special Application Software

Special Application वे सॉफ्टवेयर होते हैं जिनको किसी विशेष कार्यों के लिए बनाया गया होता है. इनका इस्तेमाल सभी यूजर रोजमर्रा के कार्यों के लिए नहीं करते हैं. Accounting, Billing आदि प्रकार के Software Special एप्लीकेशन का उदाहरण है.

सॉफ्टवेयर कैसे बनाते हैं (How to make Software in Hindi)

सॉफ्टवेयर बनाने के लिए कंप्यूटर भाषा (कोडिंग या प्रोग्रामिंग) का ज्ञान होना आवश्यक है. अनेक प्रकार की कंप्यूटर भाषाएँ उपलब्ध हैं जिनकी मदद से कंप्यूटर सॉफ्टवेयर बनाये जाते हैं जैसे कि HTML, Java, JavaScript, Python आदि. आप भी कोडिंग को सीख कर सॉफ्टवेयर बना सकते हैं.

आप अपने मोबाइल में जितने भी एप्लीकेशन का इस्तेमाल करते हैं वह सभी कोडिंग के द्वारा बनाये जाते हैं. तथा कंप्यूटर में इस्तेमाल होने वाले सारे सॉफ्टवेयर जैसे Notepad, Ms Office, Anti Virus आदि सभी कोडिंग के द्वारा ही बनाये जाते हैं.

जो वयक्ति कंप्यूटर प्रोग्राम को लिखता है उसे Programmer, Developer या सॉफ्टवेयर इंजिनियर कहते हैं. और यही सॉफ्टवेयर को बनाते हैं. कंप्यूटर कोडिंग के बारे में अधिक सीखने के लिए आप हमारे ब्लॉग में Coding Category के आर्टिकल को पढ़ सकते हैं आपको काफी मदद मिलेगी.

सॉफ्टवेयर कैसे काम करता है (Function of Software in Hindi)

एक सॉफ्टवेयर क्या काम करेगा यह इस बात पर निर्भर करता है उस सॉफ्टवेयर को किस विशेष काम के लिए बनाया गया है. Operating System का इस्तेमाल कंप्यूटर में फाइल को मैनेज करने व कंप्यूटर को चालू करने के लिए किया जाता है.

इसी प्रकार से विभिन्न सॉफ्टवेयर के काम भी अलग – अलग होते हैं. जैसे Paint, Photoshop का इस्तेमाल ग्राफ़िक डिजाईन के लिए किया जाता है. कंप्यूटर में डॉक्यूमेंट बनाने के लिए Word, Notepad आदि का इस्तेमाल किया जाता है.

इसी प्रकार से एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर होते हैं, गेमिंग सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल गेम खेलने के लिए किया जाता है. मनोरंजन, स्वास्थ, शिक्षा आदि सभी के लिए अनेक प्रकार के एप्लीकेशन मौजूद हैं.

कुल मिलकर कहें तो सॉफ्टवेयर क्या काम करेगा यह इस बात पर निर्भर करता है सॉफ्टवेयर को किस उद्देश्य के लिए बनाया गया है.

सॉफ्टवेयर की आवश्यकता (Importance of Software in Hindi)

सॉफ्टवेयर के बिना कंप्यूटर बेजान है. अगर कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर नहीं होंगें तो यह केवल एक खली डिब्बा रह जाएगा और आप कंप्यूटर में किसी के प्रकार के काम को नहीं कर पाओगे. कंप्यूटर को Open करने से लेकर कंप्यूटर में विशेष प्रकार के सभी कामों को करने के लिए सॉफ्टवेयर बहुत ही महत्वपूर्ण है.

कंप्यूटर को चालू करने के लिए सिस्टम सॉफ्टवेयर की जरुरत पड़ती है. बिना Window, Android, Mac OS के बिना कोई कंप्यूटर चालू नहीं हो सकता है. अपने कंप्यूटर के संसाधनों को सुरक्षित रखने के लिए यूटिलिटी सॉफ्टवेयर की जरुरत पड़ती है.

हम अपने कंप्यूटर या मोबाइल में गाने सुनते हैं, विडियो देखते हैं, गेम खेलते हैं यह सभी सॉफ्टवेयर के कारण संभव है. अगर सॉफ्टवेयर नहीं होते तो आप अपने दोस्तों से बातें नहीं कर सकते थे, उन्हें विडियो कॉल नहीं कर सकते थे. आपको समय – समय पर सॉफ्टवेयर को अपडेट भी करते रहना पड़ता है ताकि आप सॉफ्टवेयर के नवीनतम संस्करण का लाभ उठा सको.

कुल मिलाकर कहें तो बिना सॉफ्टवेयर के कंप्यूटर केवल एक खाली डिब्बा है सॉफ्टवेयर नहीं होंगे तो कंप्यूटर और एक प्लास्टिक के टुकड़े में कोई फर्क नही रह जाएगा. तो दोस्तों अब आप समझ गए होंगे कि कंप्यूटर सॉफ्टवेयर की क्या आवश्यकता है.

इन्हें भी पढ़े 

FAQ For Computer Software in Hindi

सॉफ्टवेयर क्या है समझाइए?

सॉफ्टवेयर निर्देशों और प्रोग्राम का एक समूह होता है जो यूजर को कंप्यूटर में विशेष कामों को करने की अनुमति देता है. सॉफ्टवेयर का कोई भौतिक अस्तित्व नहीं होता है इसे आप देख नहीं सकते हैं छु नहीं सकते हैं केवल समझ सकते हैं.

सॉफ्टवेयर कितने प्रकार के होते हैं?

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर मुख्यतः 2 प्रकार के होते हैं – Application Software और System Software.

सॉफ्टवेयर को कौन बनाता है?

सॉफ्टवेयर को एक Programmer , Developer या Software Engineer बनाता है.

सिस्टम सॉफ्टवेयर के उदहारण क्या हैं?

सिस्टम सॉफ्टवेयर के उदाहरण Operating System, Device Driver, Anti Virus आदि हैं.

मैं कैसे सॉफ्टवेयर बना सकता हूँ?

अगर आप कंप्यूटर सॉफ्टवेयर बनाना चाहते हैं तो आप भी Coding सीख कर कंप्यूटर सॉफ्टवेयर बना सकते हैं. कोडिंग सीखने के लिए आप Professional Course भी कर सकते हैं.

हमने क्या सीखा: कंप्यूटर सॉफ्टवेयर क्या है हिंदी में

इस लेख के माध्यम से हमने आपको Computer Software Kya Hai के बारे में पूरी जानकरी देने की कोशिस की है जिससे कि आपको सारी Information हमारे ब्लॉग से ही प्राप्त हो सके और आपको किसी अन्य ब्लॉग पर जाने की आवश्यकता नहीं पड़े.

इस लेख का पूरा निष्कर्ष निकालें तो बिना सॉफ्टवेयर के कंप्यूटर निर्जीव हैं और यूजर कंप्यूटर में किसी भी प्रकार के काम को नहीं कर सकता है. आप अपने कंप्यूटर या मोबाइल में जो भी काम करते हैं वह सब सॉफ्टवेयर की मदद से संभव है.

इस लेख में इतना ही उम्मीद करते हैं आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह लेख जरुर पसंद आया होगा, इस लेख What Is Computer Software In Hindi को अपने दोस्तों के साथ भी सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करें और इसे प्रकार के ज्ञानवर्धक लेख पढने के लिए हमारे ब्लॉग पर आते रहिये.

Editorial Staff
Editorial Staff

Techshole इंडिया की Best हिंदी ब्लॉग में से एक बनने की दिशा में अग्रसर है. यहाँ इस ब्लॉग पर हम Blogging, Computer, Tech, इंटरनेट और पैसे कमाए से सम्बन्धित लेख साझा करते है.

Leave a Comment