मेमोरी कार्ड क्या है इसके प्रकार और काम कैसे करता है (Memory Card in Hindi)

Memory Card Kya Hai In Hindiकंप्यूटर का डाटा बैकअप रखना काफी महत्वपूर्ण काम है. यदि कोई बिज़नस डाटा का बैकअप लेने में विफल रहता है, तो वह काम खो सकता है, कंपनी का पैसा बर्बाद कर सकता है और ग्राहकों को भी निराश कर सकता है. किसी महत्वपूर्ण चीज़ को गुम होने से बचाने के लिए, डाटा बैकअप रखना महत्वपूर्ण है. लोगों को बहुत सारे महत्वपूर्ण डाटा और सूचनाओं का बैकअप लेने की आवश्यकता हो सकती है.  उन्हें अपनी जानकारी और डाटा का बैकअप रखने के लिए एक मीडिया या डिवाइस की आवश्यकता होती है.

पिछले कुछ सालों में डाटा बैकअप रखने की तकनीकी में बहुत बदलाव हुए हैं. कुछ साल पहले बड़े बैकअप के लिए मैग्नेटिक टेप का इस्तेमाल किया जाता था और छोटे बैकअप के लिए फ्लॉपी डिस्क का इस्तेमाल किया जाता था. हालाँकि इन स्टोरेज डिवाइस से डाटा का बैकअप लेना आसान था, लेकिन डाटा खोने की संभावना भी अधिक थी. डाटा बैकअप को सुरक्षित रखने के लिए कड़ी मेहनत की जरूरत करनी पड़ती थी.

मेमोरी कार्ड क्या है इसके प्रकार और काम कैसे करता है (Memory Card in Hindi)

लेकिन अब जमाना बदल गया है. डाटा बैकअप को स्टोर करने के लिए कई Internal और External उपकरण हैं.डाटा बैकअप के लिए बैकअप मीडिया का स्थान पर अब CD, DVD, ज़िप डिस्क, मेमोरी स्टिक और मेमोरी कार्ड का इस्तेमाल किया जाता है. ये डिवाइस के स्लॉट में आसानी से फिट होते हैं.

आज के इस लेख में हम आपको Memory Card क्या है, मेमोरी कार्ड के प्रकार, मेमोरी कार्ड के फायदे और नुकसान के बारे में जानकारी देंगे. मेमोरी कार्ड का इस्तेमाल आप भी शायद अपने मोबाइल में डाटा बैकअप के लिए करते होंगे. इसलिए इस डिवाइस के बारे में आपको जानना भी महत्वपूर्ण है. तो चलिए शुरू करते हैं बिना किसी देरी के इस लेख – मेमोरी कार्ड क्या है इन हिंदी.

मेमोरी कार्ड क्या है (What is Memory Card in Hindi)

अनुक्रम दिखाएँ

मेमोरी कार्ड एक स्टोरेज डिवाइस होता है जिसका इस्तेमाल डाटा और मल्टी मीडिया को स्टोर करने के लिए किया जाता है. मेमोरी कार्ड एक Permanent और non volatile स्टोरेज होता है.

अर्थात इसमें स्टोर किये गए डाटा को तब तक हटाया नहीं जा सकता है जब तक यूजर डाटा को जानबूझकर हटा न दें, और पॉवर सप्लाई बंद हो जाने के बाद भी मेमोरी कार्ड में स्टोर डाटा मिटता नहीं है.

मेमोरी कार्ड का इस्तेमाल छोटे पोर्टेबल उपकरणों जैसे कैमरा, स्मार्ट फोन आदि उपकरणों में किया जाता है. मेमोरी कार्ड को फ़्लैश कार्ड के रूप में भी जाना जाता है. डाटा बैकअप रखने के लिए मेमोरी कार्ड एक बहुत उपयोगी स्टोरेज डिवाइस है. 

मेमोरी कार्ड के प्रकार (Types of Memory Card in Hindi)

जब भी आप बाजार में मेमोरी कार्ड खरीदने जाते हैं तो आपको अनेक प्रकार के मेमोरी कार्ड मिलते हैं. मेमोरी कार्ड कई प्रकार के होते हैं. जिनमें से कुछ प्रमुख प्रकार के मेमोरी कार्ड के बारे में हम इस लेख में जानेंगे –

मेमोरी कार्ड निम्न प्रकार के होते हैं.

SD Card (एसडी कार्ड)

SD कार्ड का फुल फॉर्म Secure Digital Card होता है. यह SD कार्ड का सबसे बेसिक फॉर्मेट है. एक Standard  SD की dimensions 32 mm by 24 mm by 2.1 mm होती है. इसकी स्टोरेज क्षमता भी 4 GB तक होती है.

microSD Memory Card (माइक्रोएसडी मेमोरी कार्ड)

जैसा कि नाम से ही पता चलता है Micro SD Memory Card आकार में बेसिक SD कार्ड से बहुत छोटे होते हैं. इनका इस्तेमाल अधिकतर पोर्टेबल उपकरण जैसे स्मार्टफोन में किया जाता है.

SDHC Card (सिक्योर डिजिटल हाई कैपेसिटी कार्ड)

SDHC Card का फुल फॉर्म Secure Digital High Capacity Card होता है. SDHC को HD वीडियो और हाई रेजोल्यूशन इमेज रिकॉर्डिंग के लिए बनाया गया था. इसका उपयोग कई SD-enabled डिवाइस में किया जाता है. SDHC की dimensions भी एक बेसिक SD Card के समान होती है, लेकिन इसकी स्टोरेज क्षमता 4GB से अधिक होती है.

जिस SD कार्ड की स्टोरेज क्षमता 4 GB से अधिक होती है उसे SDHC कार्ड के अंतर्गत रखा जाता है. वर्तमान में, SDHC की स्टोरेज क्षमता 4 GB से लेकर 32 GB तक होती है.

microSDHC Memory Card (माइक्रो सिक्योर डिजिटल हाई कैपेसिटी कार्ड)

यह माइक्रो SD कार्ड का नया version है जिसे कि 2007 में लांच किया गया था. इसकी स्टोरेज क्षमता 32 GB तक हो सकती है और प्रति सेकंड 10 MB की स्पीड से डाटा ट्रान्सफर हो सकता है.

SDXC Memory Card (सिक्योर डिजिटल एक्सटेंडेड कैपेसिटी कार्ड)

SDXC का फुल फॉर्म Secure Digital eXtended Capacity होता है. SDXC की स्टोरेज क्षमता SDHC कार्ड से अधिक होती है. SDXC कार्ड की स्टोरेज क्षमता 64 GB से शुरू होकर अधिकतम 2 TB तक हो सकती है.

microSDXC Memory Card (माइक्रो सिक्योर डिजिटल एक्सटेंडेड कैपेसिटी कार्ड)

SDXC कार्ड की तरह ही माइक्रो SDXC कार्ड की स्टोरेज क्षमता 32 GB से 2 TB के बीच होती है. माइक्रो SD और माइक्रो SDHC की तुलना में माइक्रो SDXC की डाटा ट्रान्सफर स्पीड अधिक होती है. इनका उपयोग केवल उन्हीं डिवाइस में किया जाता है जिनमें microSDXC-compatible slot होता है.

Compact Flash card (कॉम्पैक्ट फ़्लैश मेमोरी कार्ड)

इस प्रकार का मेमोरी कार्ड SD कार्ड से आकार में बड़े होते हैं और इसमें कई और कनेक्शन होते हैं. कॉम्पैक्ट फ़्लैश कार्ड आमतौर पर SD कार्ड के रूप में उपयोग नहीं किए जाते हैं. कुछ की स्टोरेज क्षमता बहुत अधिक होती है और कुछ बहुत तेज गति से चल सकती हैं. इस प्रकार के मेमोरी कार्ड आमतौर पर पेशेवर फोटोग्राफर द्वारा उपयोग किए जाते हैं.

मेमोरी कार्ड कैसे काम करता है

मेमोरी कार्ड एक फ्लैश मेमोरी पर काम करता हैं, मेमोरी कार्ड किसी भी डाटा को स्‍टोर करने के काम आता है. मीडिया स्टोरेज में अन्य storage डिवाइस में मेमोरी कार्ड बिल्कुल अलग होता है इसमें किसी भी डाटा को संग्रह करने और रखने के लिए किसी भी पावर की जरूरत भी नहीं होती है.

मेमोरी कार्ड के फायदे (Advantage of Memory in Hindi)

एक मेमोरी कार्ड के अनेक सारे फायदे होते हैं जिनमें से कुछ के बारे में हमने आपको आगे बताया है –

  • मेमोरी कार्ड एक non-volatile memory होती है जो पॉवर सप्लाई बंद हो जाने के बाद भी डाटा को स्टोर कर सकती है.
  • मेमोरी कार्ड को कम बिजली की आवश्यकता होती है.
  • आधुनिक मेमोरी कार्ड छोटे, हल्के और उच्च स्टोरेज क्षमता वाले होते हैं.
  • मेमोरी कार्ड अत्यधिक पोर्टेबल हैं. डिवाइस से निकालने के बाद भी आप कार्ड को कहीं भी ले जा सकते हैं.
  • पुराने बैकअप Devices की तुलना में मेमोरी कार्ड की स्टोरेज क्षमता अधिक होती है.
  • मेमोरी कार्ड काम के दौरान कोई शोर नहीं करते हैं.
  • मेमोरी कार्ड सभी प्रकार के आकार में आते हैं. 64GB SD कार्ड सबसे आम हैं.
  • मेमोरी कार्ड विभिन्न उपकरणों में मेमोरी कार्ड स्लॉट में आसानी से फिट हो सकते हैं और आसानी से हटाये भी जा सकते हैं.
  • मेमोरी कार्ड का उपयोग विभिन्न उपकरणों जैसे कैमरा, कंप्यूटर या मोबाइल फोन में किया जा सकता है.
  • मेमोरी कार्ड की कीमत भी अधिक नहीं होती है, कोई भी व्यक्ति आसानी से मेमोरी कार्ड को खरीदकर इस्तेमाल कर सकता है.

मेमोरी कार्ड के नुकसान (Disadvantage of Memory Card in Hindi)

जहाँ फायदा है तो वहां नुकसान भी है, ये तो आपने सुना ही होगा. इसी प्रकार से मेमोरी कार्ड के एक ओर कई सारे फायदे हैं वहीँ दूसरी ओर इसके कुछ नुकसान भी हैं. मेमोरी कार्ड के कुछ नुकसान निम्न प्रकार से हैं –

  • मेमोरी कार्ड के Lifespan या जीवनकाल निश्चित होता है. चूंकि मेमोरी कार्ड फ्लैश मेमोरी का उपयोग करता है. इसमें डाटा को जितनी बार लिखा और हटाया जा सकता है, वह सीमित होता है (लगभग 100,000 बार). इसका मतलब है कि कार्ड के उपयोग होने पर Lifespan भी कम होता जाता है.
  • स्मार्टफोन की Internal Memory की तुलना में मेमोरी कार्ड की स्पीड कम होती है.
  • मेमोरी कार्ड आसानी से Damage हो जाते हैं, इसके अलावा अगर इन्हें संभाल कर नहीं रखा जाए तो ये छोटे आकार के कारण खो भी जाते हैं.
  • मेमोरी कार्ड में Electronic corruption की समस्या होती है. Electronic corruption के कारण मेमोरी कार्ड में स्टोर डाटा पूरी तरह से बरबाद हो जाता है क्योंकि ऐसी स्थिति में कंप्यूटर इन्हें read नहीं कर पाता है.

मेमोरी कार्ड से सम्बंधित सामान्य प्रश्न

क्या मेमोरी कार्ड की स्टोरेज क्षमता को बढाया जा सकता है?

जी नहीं, मेमोरी कार्ड की स्टोरेज क्षमता को नहीं बढाया जा सकता है. क्योंकि इसकी स्टोरेज क्षमता फिक्स होती है. अगर आपका मेमोरी कार्ड फुल हो गया है तो आप इसमें कुछ फाइलों को डिलीट कर सकते हैं.

SD कार्ड का पूरा नाम क्या होता है?

SD कार्ड का पूरा नाम Secure Digital Card होता है.

मेमोरी कार्ड किस प्रकार का डिवाइस है?

मेमोरी कार्ड एक स्टोरेज डिवाइस होता है जिसका इस्तेमाल कंप्यूटर में डाटा स्टोर करने के लिए किया जाता है.

मेमोरी कार्ड का काम क्या होता है?

मेमोरी कार्ड के द्वारा आप डाटा स्टोर कर सकते हैं, डाटा का बैकअप बना सकते हैं और डाटा को एक डिवाइस से दुसरे डिवाइस में ट्रान्सफर कर सकते हैं.

मेमोरी कार्ड ख़राब क्यों हो जाती है?

मेमोरी कार्ड में Electronic corruption की समस्या अधिक होती है. इस समस्या के कारण मेमोरी कार्ड में स्टोर डाटा को कंप्यूटर read नहीं कर पाता है. इसके अलावा मेमोरी कार्ड का जीवनकाल भी निश्चित होता है, इसमें डाटा को read और write करने की संख्या सीमित होती है. जिसके बाद मेमोरी कार्ड में डाटा को read और write नहीं किया जा सकता है, इस कारण से भी मेमोरी कार्ड ख़राब हो जाती हैं.

इन्हें भी पढ़े 

अंतिम शब्द: मेमोरी क्या है हिंदी में

मेमोरी कार्ड के इस्तेमाल लोग व्यापर्क रूप से डाटा स्टोर करने के लिए करते हैं. मेमोरी कार्ड को जिस डिवाइस से attach किया जाता है, मेमोरी कार्ड उस डिवाइस के लिए एक Permanent और Non volatile स्टोरेज प्रदान करता है. स्मार्टफ़ोन में बैकअप के लिए मेमोरी कार्ड Best स्टोरेज डिवाइस होते हैं.

उम्मीद करते हैं आपको हमारे द्वारा लिखा गया लेख Memory Card Kya Hai In Hindi जरुर पसंद आया होगा. इस लेख को फेसबुक, ट्विटर, लिंकडिन जैसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करें.

3/5 - (2 votes)

नमस्कार ! मेरा नाम रणजीत सिंह है और इस Best Hindi Blog का संस्थापक हूँ. मुझे ब्लॉग्गिंग, एसईओ और डिजिटल मार्केटिंग जैसे विषयों पर गहरी नॉलेज है! हमारे ब्लॉग पर आने के लिए धन्यवाद.

Leave a Comment