एसईओ क्या है और SEO कैसे करें | Search Engine Optimization In Hindi

क्या आप जानते हैं SEO Kya Hai, SEO Full Form in Hindi, SEO कितने प्रकार का होता है, SEO कैसे करते हैं तथा SEO के फायदे और नुकसान क्या हैं, यदि नहीं तो चिंता की कोई बात नहीं क्योंकि आज के इस लेख में हम आपको SEO के बारे में उपरोक्त सारी जानकारी देने वाले हैं और हमें पूरा भरोसा है कि इस आर्टिकल को पढने के बाद आप SEO करना अच्छी तरह से सीख जायेंगे.

हम सभी लोग गूगल या किसी अन्य सर्च इंजन पर हर दिन कुछ ना कुछ सर्च करते रहते हैं और सर्च इंजन सेकंड से पहले हमारी Query से सम्बंधित लाखों वेबसाइट रिजल्ट पेज पर दिखा देते हैं. लेकिन हम उन्ही वेबसाइट को विजिट करते हैं जो पहले पेज पर होती हैं, बहुत कम ही ऐसे यूजर होते हैं जो दुसरे या तीसरे पेज पर जाते हैं.

एसईओ क्या है और SEO कैसे करें - Search Engine Optimization In Hindi

जो वेबसाइट पहले पेज में रैंक कर रही होती हैं उन्हें SEO करके ही टॉप में रैंक कराया जाता है. गूगल में Search Query का सारा ट्रैफिक पहले पेज पर ही होता है इसलिए सभी वेबमास्टर अपने ब्लॉग या वेबसाइट को पहले पेज में और टॉप पोजीशन में रैंक करवाने के लिए SEO करते हैं.

अगर आप एक ब्लॉगर हैं और अपने ब्लॉग से पैसे कमाना चाहते हैं तो आपको जरुरत पड़ती है Organic Traffic की जो कि आपको SEO से मिलेगा. इस लेख में हम आपको SEO करने की पूरी प्रोसेस को स्टेप वाइज बताएँगे जिससे आपको अपने ब्लॉग को रैंक करवाने में आसानी होगी.

तो चलिए आपका अधिक समय लिए बिना शुरू करते हैं आज के इस ब्लॉग पोस्ट को और जानते हैं SEO क्या होता है हिंदी में विस्तार से.

SEO क्या है (What is SEO in Hindi)

SEO यानि Search Engine Optimization एक ऐसी प्रोसेस होती है जिसके द्वारा वेबपेजों को सर्च इंजन के अनुकूल बनाया जाता है जिससे वेबपेज सर्च इंजन रिजल्ट पेज में Top Position में रैंक करते हैं. या ब्लॉग या वेबसाइट को सर्च इंजन के पहले पेज में रैंक करवाने के लिए जो भी तमाम प्रक्रियाएं ब्लॉगर करते हैं उसे SEO कहा जाता है.

SEO एक प्रकार से एल्गोरिथम होता है जिससे सर्च इंजन यूजर के द्वारा सर्च की गयी Query के हिसाब से रिजल्ट दिखाते हैं. SEO की मदद से ही सर्च इंजन यानि गूगल लोगों को सही रिजल्ट दिखा पाता है.

जैसे आप गूगल पर सर्च करेंगे SEO क्या है तो गूगल SEO को Related सभी वेबपेजों को रिजल्ट पेज पर दिखाता है. इनमें से जो वेबपेज टॉप पर रैंक करते हैं उन्हें SEO के द्वारा ही Top पर लाया जाता है. जिस वेबपेज का SEO सबसे बेहतर होता है वह पहले नंबर पर रैंक करता है और इसी प्रकार से यह क्रम चलता है. बिना SEO के कोई भी ब्लॉग या वेबपेज सर्च इंजन में रैंक नहीं कर सकता है.

एक ब्लॉगर के लिए SEO करने का मुख्य उद्देश्य होता है कि अपने ब्लॉग को गूगल के टॉप पोजीशन में रैंक करवाकर अधिक से अधिक Organic ट्रैफिक प्राप्त करना और वहीँ सर्च इंजन के लिए SEO का उद्देश्य होता है कि यूजर की Query के सबसे Relevant वेबपेज को यूजर को दिखाना.

वैसे सभी सर्च इंजन के SEO के लिए अलग – अलग गाइडलाइन होती है लेकिन इस समय गूगल दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन है जिसकी सर्च इंजन मार्केटिंग में हिस्सेदारी लगभग 94 प्रतिशत की है इसलिए सभी वेब मास्टर अपने वेबसाइट का SEO करने के लिए गूगल की गाइड लाइन को ही फॉलो करते हैं/

SEO Full Form in Hindi

SEO का फुल फॉर्म Search Engine Optimization होता है जिसे कि हिंदी में जिसे कि हिंदी में सर्च इंजन अनुकूलन कहते हैं.

SEO के प्रकार (Types of SEO in Hindi)

SEO मुख्य रूप से 3 प्रकार के होते हैं, यहाँ हम इन तीनों प्रकार के बारे में विस्तार से समझने की कोशिस करेंगें.

  • On Page SEO
  • Off Page SEO
  • Technical SEO

#1 – On Page SEO क्या है

ब्लॉग को सर्च इंजन फ्रेंडली बनाने के लिए हम ब्लॉग के ऊपर जो भी तमाम प्रक्रियाएं करते हैं वह On Page SEO के अंतर्गत आती है. जैसे ब्लॉग पर SEO फ्रेंडली आर्टिकल लिखना, कीवर्ड रिसर्च करना, आर्टिकल में कीवर्ड प्लेसमेंट करना आदि. On Page SEO पूरी तरह से ब्लॉग ओनर के हाथ में होता है, आप ब्लॉग का On Page SEO अच्छे प्रकार से करके ब्लॉग को सर्च इंजन में रैंक करवा सकते हैं.

#2 – Off Page SEO क्या है

ब्लॉग को सर्च इंजन में रैंक करवाने के लिए हम ब्लॉग के बाहर से जो भी Activity करते हैं वह Off Page SEO के अंतर्गत आती है. ब्लॉग की रैंकिंग में जितना महत्वपूर्ण On Page SEO है उतना ही महत्वपूर्ण Off Page SEO भी है. ब्लॉग का Off Page SEO करके आप Instant ब्लॉग पर ट्रैफिक ला सकते हैं और ब्लॉग को पोपुलर बना सकते हैं.

लेकिन Off Page SEO पूरी तरह से ब्लॉग ओनर के हाथ में नहीं होता है क्योंकि इसमें आपको अपने ब्लॉग का लिंक दुसरे वेबसाइट पर बनाना पड़ता है, और एक High Quality बैकलिंक बनाना कोई आसान काम नहीं है.

Off Page SEO करने के लिए आप अपने ब्लॉग के Similar Website पर Backlink बना सकते हैं जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग आपके ब्लॉग पर विजिट कर पाए.

#3 – Technical SEO क्या है

ब्लॉग को सर्च इंजन में रैंक करवाने के लिए हम ब्लॉग पर तकनीकी रूप से जो भी काम करते हैं वह सब Technical SEO के अंतर्गत आता है. आज के समय में SEO केवल कंटेंट और बैकलिंक पर आधारित नहीं है बल्कि यह बहुत अधिक Advance हो चुका है. आपको अच्छी रैंकिंग प्राप्त करने के लिए अपने ब्लॉग को Technically रूप से भी Strong बनाना पड़ेगा और ब्लॉग में आने वाले हर एक error को दूर करना पड़ेगा.

हमने इस लेख में आगे आपको तीनों प्रकार के SEO को करने की पूरी प्रोसेस बताई है.

आर्टिकल को यहाँ तक पढने के बाद आप समझ गए होंगे कि SEO क्या है और यह कितने प्रकार का होता है. अब हम बात करेंगे कि आखिर SEO कैसे करते हैं.

ब्लॉग वेबसाइट का SEO कैसे करें (SEO Kaise Kare)

आपको यह बात पता होना चाहिए कि SEO को सही तरीके से करने की प्रोसेस किसी को भी पता नहीं होती है. क्योंकि Google के 200 से भी अधिक रैंकिंग फैक्टर हैं जो पूरी तरह से केवल गूगल को पता हैं, और SEO के इन सभी रैंकिंग फैक्टर को गूगल समय – समय पर अपडेट करते रहता है जिससे SEO की तकनीक भी बदलते रहती है.

लेकिन हम आपको यहाँ SEO करने के ऐसे तरीकों के बारे में बताएँगे जिन्हें बड़े – बड़े SEO एक्सपर्ट Follow करते हैं और जो फैक्टर Constant हैं यानि SEO के यह तरीके पहले भी काम करते थे और आज भी काम करते हैं. हमने आपको यहाँ तीनों प्रकार के SEO को करने की प्रोसेस बताई है जिससे कि आपको SEO करने में आसानी होगी.

On Page SEO Checklist in Hindi

  • आर्टिकल लिखने से पहले कीवर्ड रिसर्च करें.
  • ब्लॉग पोस्ट के टाइटल को ऑप्टिमाइज़ करें और टाइटल के शुरुवात में फोकस कीवर्ड add करें.
  • पोस्ट के पहले पैराग्राफ में कीवर्ड का इस्तेमाल करें.
  • हैडिंग टैग (H1, H2, H3 आदि) का इस्तेमाल करें.
  • आर्टिकल में कीवर्ड प्लेसमेंट सही से करें. 1000 शब्दों के आर्टिकल में कम से कम 5 बार फोकस कीवर्ड का इस्तेमाल करें.
  • पोस्ट में LSI कीवर्ड का इस्तेमाल करें.
  • ब्लॉग पोस्ट के बारे में सर्च इंजन क्रॉलर को बेहतर तरीके से समझाने के लिए Schema Markup का इस्तेमाल करें.
  • Internal Link करें, यानि अपने एक ब्लॉग पोस्ट में दुसरे ब्लॉग पोस्ट को add करें.
  • जरुरत पड़ने पर External Link करें, यानि अपने एक ब्लॉग पोस्ट में किसी अन्य वेबसाइट के लिंक को add करें.
  • इमेज को Optimize करें.
  • Copyright Free इमेज का ही इस्तेमाल करें.
  • इमेज में Alt Tag का इस्तेमाल करें.
  • URL में भी फोकस कीवर्ड का इस्तेमाल करें.
  • ब्लॉग पोस्ट के Meta Description में फोकस कीवर्ड का इस्तेमाल करें.
  • ब्लॉग पोस्ट कम से कम 1500 शब्दों का लिखें.
  • यूनिक आर्टिकल लिखें, कहीं से Copy – Paste करके आर्टिकल ना लिखें.
  • आर्टिकल को समय – समय पर अपडेट करते रहें.
  • ब्लॉग में Meta Tag जरुर add करें. Meta Tag पूरे ब्लॉग के बारे में एक संक्षिप्त इनफार्मेशन सर्च इंजन को देते हैं.

Off Page SEO Checklist in Hindi

  • ब्लॉग की Visibility बढ़ाने के लिए ब्लॉग को सोशल मीडिया वेबसाइट पर शेयर करें.
  • Forum वेबसाइट जैसे Quora पर लोगों के सवालों का जवाब दें तथा Answer में अपने relevant ब्लॉग पोस्ट का लिंक add करें.
  • Relevant वेबसाइट से High Quality Backlink बनायें.
  • Spamy Backlink ना बनायें.
  • अपने Niche से सम्बंधित दुसरे Popular ब्लॉग पर कमेंट करें.
  • ब्लॉग में Push Notification लगायें.
  • अपने विजिटर को Permanent Reader बनाने के लिए ब्लॉग में Email Subscribe Form भी add करें.
  • अपने ब्लॉग से सम्बंधित एक YouTube चैनल बनायें.
  • अपने Niche से सम्बंधित वेबसाइट पर गेस्ट पोस्ट करें.
  • ब्लॉग को गूगल के अतिरिक्त अन्य Popular सर्च इंजन में सबमिट करें.

Technical SEO Checklist in Hindi

  • ब्लॉग बनाने के बाद सबसे पहले आप अपने ब्लॉग को Google Search Console में सबमिट कर लीजिये.
  • ब्लॉग का Sitemap बनायें और उसे Google Search Console में सबमिट कीजिये.
  • ब्लॉग में SSL सर्टिफिकेट को इनस्टॉल कीजिए.
  • Robots.txt File बनायें और जो पेज महत्वपूर्ण नहीं हैं उनकी Indexing को रोकिये.
  • अपने डोमेन का एक ही वर्शन बनायें, यानि आपका डोमेन www और Non www दोनों में एक ही प्रकार से ओपन होना चाहिए.
  • ब्लॉग में बनने वाले सभी ब्रोकन लिंक को फिक्स करें.
  • ब्लॉग को मोबाइल फ्रेंडली बनायें.
  • ब्लॉग की लोडिंग स्पीड को कम करें.
  • ब्लॉग का Layout यूजर फ्रेंडली बनायें.
  • गूगल सर्च कंसोल में आने वाले सभी Error को फिक्स करें.
  • Spam Score को कम करें.
  • अपने ब्लॉग को 24*7 लाइव रखने के लिए अच्छी होस्टिंग खरीदें जो कि आप Hostinger से कर सकते हैं.

SEO कैसे सीखें (Learn SEO In Hindi)

वर्तमान समय में SEO सीखने के अनेक सारे प्लेटफ़ॉर्म मौजूद हैं आप ऑनलाइन YouTube विडियो, ब्लॉग या पेड कोर्स लेकर SEO सीख सकते हैं या फिर आप ऑफलाइन Institute से भी SEO सीख सकते हैं. SEO सीखने के कुछ प्रमुख सोर्स निम्नलिखित हैं –

  • YouTube विडियो देखकर ऑनलाइन फ्री में SEO सीखा जा सकता है. YouTube पर SEO सीखने के लिए आपको सही विडियो ढूढने के लिए थोडा बहुत रिसर्च करनी पड़ेगी.
  • इन्टरनेट पर ढेर सारे ऐसे ब्लॉग हैं जो SEO के बारे में सटीक जानकारी पाठकों तक पहुंचाते हैं, आप इन ब्लॉग को पढ़कर आसानी से SEO सीख सकते हैं.
  • इंटरनेट पर आपको ढेर सारे पेड कोर्स मिल जायेंगे जहाँ से आप SEO सीख सकते हैं.
  • आप डिजिटल मार्केटिंग इंस्टिट्यूट में एडमिशन लेकर भी SEO सीख सकते हैं.

SEO के फायदे (Advantage of SEO in Hindi)

Blogging में SEO बहुत Important होता है जिसके अनेक सारे फायदे आपको मिलते हैं. SEO के कुछ प्रमुख फायदे निम्नलिखित हैं –

  • SEO करने से सर्च इंजन रिजल्ट पेज में ब्लॉग की रैंकिंग बढती है.
  • ब्लॉग पर फ्री में अनलिमिटेड ट्रैफिक ले सकते हैं.
  • SEO से ब्लॉग की अथॉरिटी बढती है.
  • SEO करने से ब्लॉग पर ट्रैफिक आता है जिससे आपको कमाई Boost होगी.
  • SEO से आप अपनी सर्विस के लिए अधिक क्लाइंट प्राप्त कर सकते हैं.
  • अगर आपके पास कोई प्रोडक्ट है तो SEO से आप अपने प्रोडक्ट के लिए अधिक कस्टमर प्राप्त कर सकते हैं.

SEO के नुकसान (Disadvantage of SEO in Hindi)

SEO के फायदों के साथ – साथ कुछ नुकसान भी हैं, लेकिन इसके नुकसान बहुत ही कम हैं जिसे Ignore भी किया जा सकता है.

  • SEO Time Taking प्रोसेस है, इससे ब्लॉग को रैंक करवाने में 6 महीने से लेकर 1 साल तक का भी समय लग सकता है.
  • समय – समय पर गूगल के Algorithm में बदलाव होते रहता है जिससे SEO की तकनीक भी समय – समय पर बदलती रहती है.
  • अगर आपको SEO में आने वाले अपडेट के बारे में पता नहीं है तो आपके ब्लॉग की रैंकिंग में Effect पड़ सकता है.

FAQ: SEO In Hindi

SEO क्या करता है?

SEO किसी ब्लॉग या वेबसाइट की रैंकिंग को सर्च इंजन रिजल्ट पेज में सुधारने का काम करता है. जिससे ब्लॉग पर फ्री में सर्च इंजन से Organic Traffic आता है.

क्या SEO बदलते रहता है?

जी हाँ, SEO समय – समय पर बदलते रहता है क्योंकि सर्च इंजन यूजर के अनुभव को बेहतर बनाने के लिए अपने अल्गोरिथम में बदलाव करते रहते हैं.

क्या SEO करने के पैसे लगते हैं?

जी नहीं, SEO करने के कोई पैसे नहीं लगते हैं. यह फ्री में की जाने वाली एक प्रोसेस है.

SEO से ब्लॉग को रैंक करवाने में कितना समय लगता है?

इस प्रश्न का सटीक जवाब कोई नहीं दे सकता है, अगर आप Low Competition कीवर्ड पर काम करते हैं तो आप 3 महीने के अन्दर अपने ब्लॉग को SEO करके रैंक करवा सकते हैं. लेकिन यदि आप High Competition कीवर्ड पर काम करते हैं तो आपके ब्लॉग को रैंक करने में 2 साल या इससे भी अधिक का समय लग सकता है.

निष्कर्ष: SEO क्या है कैसे करते है हिंदी में

आज के इस ब्लॉग पोस्ट में हमने आपको SEO Kya Hai In Hindi और SEO कैसे करें की पूरी जानकारी प्रदान की है, और हमें पूरी उम्मीद है कि इस आर्टिकल को पढ़कर आप इतने सक्षम बन गए होंगे कि अपने ब्लॉग का SEO करके ब्लॉग को गूगल के पहले पेज पर रैंक करवा सकें.

यदि अभी भी आपके मन में SEO से सम्बंधित कोई प्रश्न हैं तो हमें कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं, और अगर इस लेख से आपको कुछ सीखने को मिला है तो इसे सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करें. हम मिलते हैं जल्दी ही एक नए लेख में तब तक आप पढ़ते रहिये Techshole ब्लॉग को.

5/5 - (1 vote)

नमस्कार ! मेरा नाम रणजीत सिंह है और मुझे इन्टरनेट पर लोगो की मदद करने में रूचि है. साथ ही Techshole.com का Fownder हु. इस Best Hindi Blog पर Blogging और Earn Money Online इत्यादि इन्टरनेट से जुडी जानकारी हिंदी में शेयर करता हु! हमारे ब्लॉग पर आने के लिए धन्यवाद.

7 thoughts on “एसईओ क्या है और SEO कैसे करें | Search Engine Optimization In Hindi”

  1. Suc a very nice and intresting article, i am just start my blog so this article is very important for me, thanks for the article.

    Reply
  2. Thanks for sharing us such a wonderful & Useful information. We also provide a Best Digital Marketing Services. Digianss Technologies is a Best Digital Marketing Services in Lucknow. Alongwith We have serving a Quality of work at affordable prices.

    Reply

Leave a Comment