वीपीएन क्या है फायदें और कैसे काम करता है (VPN In Hindi)

VPN Kya Hai In Hindi: जैसे – जैसे इंटरनेट का उपयोग बढ़ता जा रहा है, वैसे ही इंटरनेट इस्तेमाल करने की सुरक्षा में भी कमी आई है. लोग ऑनलाइन खरीददारी, लेन – देन, निवेश, बिज़नस आदि सभी आज इंटरनेट के द्वारा ही करते हैं, ऐसे में कुछ बुरे लोगों ने इंटरनेट पर Fraud, Scam को अपना व्यवसाय बना लिया है.

 आपने अक्सर सुना भी होगा इंटरनेट के द्वारा कई लोगों के साथ धोखा – धडी हो जाती है, लोगों के बैंक अकाउंट खाली हो जाते हैं, पर्सनल इनफार्मेशन Leak हो जाती है. ऐसे में सभी के मन में यह सवाल तो जरुर रहता है कि इंटरनेट पर खुद को सुरक्षित कैसे करें. यही पर Concept आता है VPN का. VPN के द्वारा एक इंटरनेट यूजर बिना सुरक्षा की चिंता किये आजादी से इंटरनेट एक्सेस कर सकता है.

वीपीएन (VPN) क्या है इसके फायदें और कैसे काम करता है (VPN In Hindi)

इंटरनेट में VPN एक ऐसी टेक्नोलॉजी है जिसके बारे में हर एक इंटरनेट यूजर को पता होना आवश्यक है, इसलिए हमने आज का यह लेख आपके लिए लिखा है. इस लेख में आपको जानने को मिलेगा कि VPN क्या है, VPN काम कैसे करता है, VPN का इस्तेमाल कंप्यूटर और मोबाइल में कैसे करें, VPN के फायदे और नुकसान क्या हैं तथा VPN Proxy Server में क्या अंतर है.

अगर आप VPN के बारे में इस प्रकार की सभी जानकारी को प्राप्त करना चाहते हैं तो लेख को पूरा अंत तक जरुर पढ़ें. तो चलिए आपका अधिक समय ना लेते हुए शुरू करते हैं आज का यह लेख वीपीएन क्या है हिंदी में.

VPN क्या है (What is VPN in Hindi)

VPN (वीपीएन) जिसे कि Virtual Private Network कहा जाता है यह एक ऐसी नेटवर्क टेक्नोलॉजी है जो सार्वजनिक नेटवर्क (इंटरनेट) या निजी नेटवर्क (वाई – फाई) को सुरक्षित बनाती है.

VPN यूजर की लोकेशन, ऑनलाइन Identity, IP एड्रेस आदि को छुपा देती है जिससे यूजर की कोई इनफार्मेशन IPS (Internet Service Provider) या हैकर के पास नहीं जाती है. VPN यूजर की पहचान को पूरी तरह से गोपनीय रखता है, जिससे इंटरनेट एक्सेस करने पर यूजर का डेटा पूरी तरह से सुरक्षित रहता है.

डेटा सुरक्षित करने के अलावा VPN के द्वारा किसी ब्लॉक वेबसाइट तक भी पहुंचा जा सकता है. जैसे आप India में रहते हैं और किसी ऐसी वेबसाइट को एक्सेस करना चाहते हैं जो इंडिया में ब्लॉक है तो आप VPN के द्वारा किसी दुसरे देश के लोकेशन से उस ब्लॉक वेबसाइट को एक्सेस कर सकते हैं.

अनेक सारी कंपनी, संस्थाएं या Individual VPN का इस्तेमाल करते हैं. आप किसी भी डिवाइस लैपटॉप, कंप्यूटर, टेबलेट, स्मार्टफोन, iPhone आदि में VPN का इस्तेमाल कर सकते हैं.

VPN का फुल फॉर्म क्या है (VPN Full Form in Hindi)

VPN का फुल फॉर्म Virtual Private Network होता है, जिसे कि हिंदी में आभासी प्राइवेट नेटवर्क भी कहा जाता है.

लेख को यहाँ तक पढने पर आप समझ गए होंगे कि VPN क्या है, अब जानते हैं आखिर VPN काम कैसे करता है.

VPN कैसे काम करता है (How Does VPN Work in Hindi)

जब भी आप अपने वेब ब्राउज़र में किसी वेबसाइट को Open करने के लिए Request करते हैं तो यह Request पहले आपके ISP (Internet Service provider) के पास जाती है, IPS आपको उस वेबसाइट के सर्वर से जोड़ देते हैं.

इसमें सर्वर और आपके बीच जो भी डेटा का आदान – प्रदान होता है उसकी सारी जानकारी ISP और वेबसाइट के सर्वर के पास रहती है. ISP और सर्वर आपके IP एड्रेस, डिवाइस ID आदि के द्वारा पता कर लेते हैं कि Request कहाँ से आई थी. इसमें आपका डेटा गोपनीय नहीं रहता है. इसी समस्या के समाधान के लिए VPN का इस्तेमाल किया जाता है.

जब आप VPN के द्वारा किसी वेबसाइट को Open करने के लिए Request करते हैं आपकी Request ISP के पास ना जाकर VPN के सर्वर के पास जाती है. अब VPN आपकी तरफ से अपनी IP एड्रेस का इस्तेमाल करते हुए वेबसाइट के सर्वर से जुड़ जाता है और आपके अनुरोध के अनुसार जानकारी लेकर आपको दिखाता है.

VPN in hindi
VPN का कार्य

VPN के द्वारा Request करने पर आपका IP एड्रेस, डिवाइस ID कुछ भी ISP और वेबसाइट के सर्वर के पास नहीं जाती है तथा आपके और आपके ब्राउज़र के बीच जो VPN सेटअप होता है वह पूरी तरह से Encrypted होता है. इस प्रकार से VPN आपकी पहचान को गोपनीय बनाता है. और आपकी सुरक्षित इंटरनेट एक्सेस करने में मदद करता है.

VPN का इस्तेमाल कैसे करें (How to Setup VPN in Hindi)

VPN का इस्तेमाल करना बहुत ही आसान है. आप कंप्यूटर और मोबाइल दोनों में VPN का इस्तेमाल कर सकते हैं. हमने आपको नीचे दोनों तरीकों के बारे में बताया है.

1 – कंप्यूटर में VPN का इस्तेमाल कैसे करें

  • कंप्यूटर में VPN का इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले आपको VPN सॉफ्टवेयर को इनस्टॉल करना होगा.
  • इसके बाद VPN को Open करें और VPN को Enable कर दें.
  • इस प्रकार से आप अपने कंप्यूटर में VPN को एक्टिवेट कर सकते हैं.
  • आप चाहें तो लोकेशन को भी बदल सकते हैं.

कंप्यूटर के लिए Best VPN

वैसे कंप्यूटर के लिए अनेक VPN सॉफ्टवेयर मौजूद हैं, जिनमें से कुछ फ्री है तो कुछ Paid. कुछ Best VPN के बारे में हमने आपको लेख में नीचे बताया है

  • Finch VPN
  • Cyber Ghost
  • Hotspot Shield
  • Total VPN
  • Surf Easy
  • Open VPN

2 – मोबाइल में VPN का इस्तेमाल कैसे करें

  • मोबाइल में आपको VPN का इस्तेमाल करने के लिए पहले VPN एप्लीकेशन को अपने Play Store या App Store से डाउनलोड करना होगा.
  • VPN App को मोबाइल में इनस्टॉल करने के बाद App को Open करें और अपनी मनचाही Location को Setup करें.
  • Location Set करने के बाद आप Connect पर क्लिक करके VPN से अपने मोबाइल ब्राउज़र को कनेक्ट करें.
  • Connect पर क्लिक करते ही आपके मोबाइल में VPN Active हो जाएगा.

मोबाइल के लिए Best VPN

कंप्यूटर की भांति ही मोबाइल के लिए भी अनेक सारे फ्री और Paid VPN एप्लीकेशन उपलब्ध हैं. मोबाइल के लिए कुछ लोकप्रिय VPN एप्लीकेशन निम्नलिखित हैं.

  • Nord VPN
  • Tiger VPN
  • Safer VPN
  • Express VPN
  • Buffered VPN

VPN के फायदे (Advantage of VPN in Hindi)

VPN इस्तेमाल करने के अनेक सारे फायदे यूजर को होते हैं जैसे कि –

  • VPN का इस्तेमाल करने से यूजर का डेटा हैकर से सुरक्षित रहता है.
  • VPN यूजर की पहचान को गोपनीय रखता है.
  • इंटरनेट की परफॉरमेंस को बढाने का कार्य भी VPN करता है.
  • VPN के द्वारा यूजर ब्लॉक वेबसाइट को भी एक्सेस कर सकता है.
  • VPN यूजर को सुरक्षित इंटरनेट एक्सेस करने की आजादी भी देता है. 

VPN के नुकसान (Disadvantage of VPN in Hindi)

VPN के फायदों के साथ – साथ कुछ नुकसान भी हैं जैसे कि –

  • VPN का इस्तेमाल करने से यूजर की पहचान इंटरनेट तक नहीं जाती है, लेकिन यूजर का सारा डेटा VPN सर्वर में मौजूद होता है.
  • सारे VPN प्रदाता भरोसेमंद नहीं होते हैं कुछ VPN Provider यूजर के डेटा को किसी तीसरे पक्ष के साथ शेयर करते हैं.
  • अधिकतर भरोसेमंद VPN फ्री नहीं होते हैं, इनके इस्तेमाल के लिए आपको Pay करना होता है.
  • कई हैकर भी VPN का इस्तेमाल करते हैं जिससे वह भी अपनी पहचान को छुपा सकते हैं.

VPN का उपयोग किसे करना चाहिए

VPN का इस्तेमाल हर उस यूजर को करना चाहिए जो इंटरनेट पर संवेदनशील जानकारी विभिन्न वेबसाइटों पर शेयर करता हो, जैसे कि ऑनलाइन बैंकिंग, सरकारी एजेंसी, क्रिप्टोकरेंसी और शेयर मार्केट में ट्रेडिंग. ऐसे इंटरनेट यूजर को VPN का इस्तेमाल जरुर करना चाहिए.

लेकिन अगर आप सिर्फ मनोरंजन या कभी – कभार कोई जानकारी खोजने आदि के लिए इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं तो VPN का इस्तेमाल करना आपके लिए उतना भी जरुरी नहीं होता है.

क्या फ्री VPN का इस्तेमाल करना चाहिए

जैसा कि हमने ऊपर आपको बताया है कि अधिकतर फ्री VPN विश्वशनीय नहीं होते हैं, फ्री VPN आपके डेटा को पूरी तरह से सिक्योर नहीं करते हैं और साथ में ही यह आपके डेटा को किसी तीसरे पक्ष के साथ भी साझा कर सकते हैं, इसलिए फ्री VPN इस्तेमाल करने से आपको बचना चाहिए.

VPN और Proxy Server में अंतर

अगर आपने हमारे Proxy Server वाले लेख को पढ़ा है तो आपके मन में यह सवाल जरुर आ रहा होगा कि VPN और Proxy सर्वर में अंतर क्या है.

VPN और Proxy सर्वर दोनों यूजर की ऑनलाइन पहचान को गोपनीय बनाते हैं, यूजर को ब्लॉक वेबसाइट को एक्सेस करने में मदद करते हैं और यूजर के डेटा को हैकर से सुरक्षित रखते हैं. दोनों के काम लगभग एक जैसे ही हैं, लेकिन इनमें कुछ अंतर भी हैं जिसे कि हमने आपको नीचे सारणी के द्वारा बताया है.

VPN (Virtual Private Network)Proxy Server
VPN यूजर के सभी ट्रैफिक को encrypt करते हैं. यह आपको ISP ट्रैकिंग, सरकारी निगरानी और हैकर से बचाती है.जबकि प्रॉक्सी सर्वर पुरे ट्रैफिक को encrypt नहीं करते हैं
VPN ऑपरेटिंग सिस्टम स्तर पर काम करते हैं और VPN सर्वर के द्वारा यूजर के सभी ट्रैफिक को फिर से रूट कर सकते हैं.Proxy सर्वर एप्लीकेशन स्तर पर काम करते हैं, और केवल एक ब्राउज़र या एप्लीकेशन को फिर से रूट कर सकते हैं.
अधिकतर विश्वशनीय VPN के लिए आपको भुगतान करना होता है.जबकि अधिकतर प्रॉक्सी सर्वर फ्री होते हैं.
VPN कनेक्शन अधिक भरोसेमंद होते हैं.Proxy Server VPN की तुलना में कम भरोसेमंद होते हैं.
अगर आप किसी संवेदनशील जानकारी को सुरक्षित करना चाहते हैं तो इसके लिए VPN सबसे बेस्ट है.अगर आप केवल पहचान छुपाना और ब्लॉक वेबसाइट को एक्सेस करना चाहते हैं तो Proxy सर्वर का इस्तेमाल कर सकते हैं.
Difference between VPN and Proxy Server in Hindi

FAQ Section: VPN Kya Hai In Hindi

VPN का पूरा नाम क्या है?

VPN का पूरा नाम Virtual Private Network होता है जिसे कि हिंदी में आभासी निजी नेटवर्क भी कहा जाता है.

VPN क्या है समझाइए?

VPN एक नेटवर्क टेक्नोलॉजी है जो असुरक्षित कनेक्शन को सुरक्षित बनाता है और यूजर को आजादी के साथ इंटरनेट एक्सेस करने की अनुमति देता है.

VPN क्या करता है?

VPN यूजर के डेटा को गोपनीय रखता है तथा किसी ब्लॉक वेबसाइट को एक्सेस करने में यूजर की मदद करता है.

इन्हें भी पढ़े

निष्कर्ष: VPN क्या है हिंदी में

इस लेख में हमने कोशिस की है कि आपको VPN Kya Hai In Hindi के विषय में पूरी जानकारी आप तक पहुंचा सके. हमें उम्मीद है कि इस लेख को पढने के बाद आप VPN को अच्छे से समझ गए होंगें.

आशा करते हैं दोस्तों आपको यह लेख जरुर पसंद आया होगा, इस लेख को सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करें, और इसी प्रकार के लेख पढने के लिए हमारे ब्लॉग पर विजिट करते रहें. लेख को अंत तक पढने हेतु आपका धन्यवाद.

5/5 - (1 vote)

Techshole इंडिया की Best हिंदी ब्लॉग में से एक बनने की दिशा में अग्रसर है. यहाँ इस ब्लॉग पर हम Blogging, Computer, Tech, इंटरनेट और पैसे कमाए से सम्बन्धित लेख साझा करते है.

Leave a Comment